Headline • मृत महिला को जिंदा दिखाकर कर लिया मकान का बैनामा, असली मालिक पर घर छोड़ने की धमकी• महिलाओं ने सरेराह प्रधान में चप्पलों और लाठियों से की पिटाई, पति पत्नी के झगड़े को सुलझाना पड़ा भारी• भारत-पाक मुकाबले का रोमांच चरम पर, कानपुर में फैंस ने बप्पा से की टीम इंडिया की जीत की प्रार्थना• पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय, क्या कमाल कर पाएगी रोहित एंड कंपनी?• जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए• शिकायत करने पर नहीं सुनी लेकिन जब आत्मदाह करने पहुंचा गरीब आदमी तो तुरंत जांच बैठा दी• चंद्रशेखर रावण और मदनी में गोपनीय बातचीत, शेरसिंह राणा ने भी पेश कर दी चुनौती• राजा भैया के पिता और प्रशासन में ठनी ! मोहर्रम के दिन भंडारे के कार्यक्रम में प्रशासन ने लगाई रोक• तीन तलाक पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अध्यादेश को दी मंजूरी• शामली : मठुभेड़ में दो बदमाश गिरफ्तार, एक को लगी गोली, 10 लाख कैश बरामद • दरोगा के बेटे ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, मां की बीमारी के चलते डिप्रेशन में था• बीजेपी विधायक देवेंद्र राजपूत की दबंगई, बिजली विभाग के जेई को पीटा,वीडियो वायरल• बहराइच में बुखार का कहर, 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत• 'समाचार प्लस' की खबर का असर,विकिपीडिया ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का निक नेम 'झांपू' हटाया• ब्लॉक प्रमुख से फोन पर मांगी गई 5 करोड़ की रंगदारी, न देने पर जान से मारने की धमकी• कानपुर : रैगिंग को लेकर भिड़े मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र,आधा दर्जन घायल• मेरठ : पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, एक बदमाश को लगी गोली• एशिया कप में अफगानिस्तान ने श्रीलंका को हराकर सभी को चौकाया• राज्यपाल ने की योगी सरकार की प्रशंसा, कहा-डेढ़ साल में बहुत बेहतर हुई है कानून-व्यवस्था• कांग्रेसियों ने लोगों को लॉलीपॉप बांटकर पीएम की 557 करोड़ की योजनाओं का उड़ाया मजाक• इलाहाबाद ने नहीं निकलेगा मुहर्रम का जुलूस, ताजिएदारों ने गड्ढों के कारण लिया फैसला


ग्रेटर नोएडा. दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में गुरुवार की रात असामाजिक तत्वों ने भीम राव अंबेडकर की मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया। इस घटना के बाद ग्रामीणों ने जमकर हंगामा कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया। फिलहाल, पुलिस ने ग्रामीणों की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बता दें कि 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती मनाई जाएगी। ऐसे में एक दिन पहले असामाजिक तत्वों ने मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया। 

-दरअसल, यह पूरा मामला ग्रेटर नोएडा के बिसरख के रिस्पाल गढ़ी गांव का है।

-यहां गुरुवार की रात को संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी गई। 

-शुक्रवार की सुबह जब गांव के लोग उठे तो उन्हें गांव में लगी अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त मिली। इसके बाद लोगों ने जमकर हंगामा किया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर शांत कराया। 

क्या बोले गांव के लोग 

-गांव के लोगों का कहना है हम सब लोग बाबा साहेब का जन्मदिन की तैयारी में लगे हुए थे और आज उनकी मूर्ति तोड़ दी गयी है ।

प्रशासन ने मंगाई नई प्रतिमा

-वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि लोगों की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है, जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

-प्रशासन की तरफ से बाबा साहेब की नई प्रतिमा मंगवाई गयी है और जल्द ही नई मूर्ति की सथापना कर दी जाएगी।

 

 

 

ग्रेटर नोएडा. यूपी के ग्रेटर नोएडा में 'मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना' में एक बड़ा घोटाला सामने आया है। यहां 11 जोड़ों पहले से शादीशुदा थे लेकिन 20 हजार की रकम, जूलरी और तोहफो के चक्कर में फिर से सरकारी शादी रचा ली।बताया जा रहा है कि इनमें से तीन जोड़ों के तो पहले से कई-कई बच्चे हैं। फिलहाल, डीएम ने जांच के आदेश दे दिए हैं। जांच के बाद घोटालेबाजो पर रिपोर्ट् दर्ज होगी। इसके लिए जांच टीम भी गठित हो गई है। 

-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 24 फरवरी को ग्रेटर नोएडा के वाईएमसीए क्लब में 66 जोड़ों का सामूहिक विवाह हुआ था।

-जब इस शादी की पड़ताल की गई तो पता चला कि 11 जोड़ों ने फर्जी तरीके से शादी रचाई थी। इसके बाद अधिकारियों में हड़कंप मच गया। 

-डीएम ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। इस जांच के बाद घोटालेबाजों पर रिपोर्ट दर्ज होगी। डीएम के आदेश के बाद घोटालेबाजों अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। 

नोएडा.गणतंत्र दिवस के चलते सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता होने का दावा पुलिस कर रही है, धारा 144 लगाई गई है, रेड एलर्ट जारी है। चप्पे चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। मगर इन सबके बावजूद थाना सेक्टर -49 क्षेत्र के बरोला गांव के भीड़भाड़ इलाके में केसर गार्डन एक रोडवेज बस पर ज्वलनशील पदार्थ फेंककर आग लगाने की कोशिश की। इस दौरान हंगामा कर रहे लोगों ने बस में तोड़फोड़ की। मौके पर पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपी भाग खड़े हुए। फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

 

 

-पुलिस के अनुसार, बुधवार शाम करीब 7:15 बजे फेज-2 की तरफ से रोडवेज की बस सेक्टर-35 जा रही थी। 

-सेक्टर-48 राधा स्वामी सत्संग के ठीक सामने लाठी डंडे लिए 10 से 15 युवकों ने बस को रुकवा लिया और तोड़फोड़ करने लगे। 

-बस ड्राइवर का कहना है कि प्रदर्शनकारियों में से कुछ युवकों ने बस पर ज्वलनशील पदार्थ फेंककर आग लगाने की कोशिश की। जिसे ड्राइवर राजकुमार ने उठाकर बाहर फेंक दिया। तोड़फोड़ के दौरान बस में सवार लोगों को हल्की चोटें आई हैं। 

-आरोपियों ने बस में घुसकर भी तोड़फोड़ की।

 

 

कहीं 'पद्मावत' फिल्म का विरोध तो नहीं !

-बस के परिचालक का कहना है कि बस पर पत्थरबाजी और तोड़फोड़ किसने की इस बात की तो कोई जानकारी नहीं है। मगर कुछ लोग बस पर हमला करने के लिए पहले से ही राधा स्वामी सत्संग के पास पार्क में बैठे थे। 

-ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि प्रदर्शनकारी फिल्म 'पद्मावत' को लेकर विरोध करने वाले भी हो सकते है। बस पर हमला होते ही सभी यात्री उतरकर मौके से फरार हो गए। 

-फिलहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ग्रेटर नोएडा. यूपी के ग्रेटर नोएडा में मंगलवार की रात एक दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई है। वहीं दो लोग घायल बताए जा रहे हैं। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

-यह हादसा बादलपुर थाना इलाके में हुआ है। यहां एम्बुलेंस और ट्रक की जोरदार टक्कर हो गई। इस हादसे में तीन की मौत हो गई और 2 घायल हो गए। 

-बताया जा रहा है कि ट्रक और एम्बुलेंस की टक्कर इतनी भयानक थी कि एम्बुलेंस में आग लग गई। 

-जिस समय यह हादसा हुआ। उस समय एन्बुलेंस दिल्ली के जीटीबी हॉस्पिटल से वापस लौट रही थी । 

-फिलहाल, पुलिस ने मृतकों की शिनाख्त कराने में जुटी हुई है। 

 

गाजियाबाद. नोएडा के बहुचर्चित निठारी कांड के 9वें मामले में गुरुवार को कोर्ट ने मनिंदर सिंह पंढेर और सुरेंद्र कोली को दोषी करार दे दिया है। शुक्रवार को इस मामले में सजा का ऐलान किया जाएगा। सीबीआई की विशेष अदालत ने मामले की सुनवाई की है। बता दें कि निठारी कांड के नौंवे मामले में फैसले के लिए सात दिसंबर की तारीख तय की गई थी। इससे पहले बुधवार को आरोपी सुरेंद्र कोली और सजायाफ्ता मोनिंदर सिंह पंधेर ने अदालत में अंतिम बहस की।

 

क्या है पूरा मामला 

- दरअसल, 12 साल पहले 20 जून, 2005 को आठ साल की एक बच्ची नोएडा के निठारी इलाके से अचानक गायब हो गई थी। 

-इसके बाद से इलाके में लगातार बच्चे गायब होने लगे थे। करीब एक साल लगातार बच्‍चों के गायब होने का यह सिलसिला चलता रहा और करीब दर्जनभर बच्चे गायब हो गए। 

-मामला राष्ट्रीय स्तर पर आने के बाद पुलिस की अलग-अलग टीमों ने एनसीआर समेत देश के कई इलाकों में सर्च ऑपरेशन चलाया।

-7 मई 2006 को 21 साल की एक और लड़की जब गायब हुई तो पुलिस को अहम सुराग उसके मोबाइल से मिला। 

-पुलिस ने उस नंबर की कॉल डिटेल निकलवाई। उसके बाद जब उसमे से एक नंबर पर कॉल की गई तो उसका नाम मनिंदर सिंह पंधेर का था। 

-जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में पंधेर और उसके नौकर कोली को आरोपी बनाया।

-इसके बाद पूरे निठारी मामले का खुलासा हुआ था, जिसमें 15 से ज्यादा बच्चियों और लड़कियों का रेप किया गया था। रेप के बाद उन्हें मारकर पंढेर के घर में दफन कर दिया गया था।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: