Headline • जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए• शिकायत करने पर नहीं सुनी लेकिन जब आत्मदाह करने पहुंचा गरीब आदमी तो तुरंत जांच बैठा दी• चंद्रशेखर रावण और मदनी में गोपनीय बातचीत, शेरसिंह राणा ने भी पेश कर दी चुनौती• राजा भैया के पिता और प्रशासन में ठनी ! मोहर्रम के दिन भंडारे के कार्यक्रम में प्रशासन ने लगाई रोक• तीन तलाक पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अध्यादेश को दी मंजूरी• शामली : मठुभेड़ में दो बदमाश गिरफ्तार, एक को लगी गोली, 10 लाख कैश बरामद • दरोगा के बेटे ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, मां की बीमारी के चलते डिप्रेशन में था• बीजेपी विधायक देवेंद्र राजपूत की दबंगई, बिजली विभाग के जेई को पीटा,वीडियो वायरल• बहराइच में बुखार का कहर, 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत• 'समाचार प्लस' की खबर का असर,विकिपीडिया ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का निक नेम 'झांपू' हटाया• ब्लॉक प्रमुख से फोन पर मांगी गई 5 करोड़ की रंगदारी, न देने पर जान से मारने की धमकी• कानपुर : रैगिंग को लेकर भिड़े मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र,आधा दर्जन घायल• मेरठ : पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, एक बदमाश को लगी गोली• एशिया कप में अफगानिस्तान ने श्रीलंका को हराकर सभी को चौकाया• राज्यपाल ने की योगी सरकार की प्रशंसा, कहा-डेढ़ साल में बहुत बेहतर हुई है कानून-व्यवस्था• कांग्रेसियों ने लोगों को लॉलीपॉप बांटकर पीएम की 557 करोड़ की योजनाओं का उड़ाया मजाक• इलाहाबाद ने नहीं निकलेगा मुहर्रम का जुलूस, ताजिएदारों ने गड्ढों के कारण लिया फैसला• लड़कियों से जबरन सेक्स करवाता था होटल का मैनेजर, रुद्रपुर में सेक्स रैकेट का खुलासा• बीजेपी विधायक लोनी पुलिस पर लगाया परिवार को परेशान करने का आरोप, पहले भी उठाया था मुद्दा• महज 4 साल की उम्र में करता है लाजवाब घुड़सवारी, दूर-दूर से आते हैं बच्चे के हुनर को देखने• पेट्रोल पम्प मैनेजर ने दिखाया साहस, ग्रामीणों के साथ मिलकर पकड़ा लूटकर भाग रहे एक बदमाश को

कारोबारी ललित वर्मा के क़त्ल के मामले में बीएसपी की महिला विधायक को मिली क्लीन चिट

इलाहाबाद: इलाहाबाद में तीन फरवरी को हुए कारोबारी ललित वर्मा के क़त्ल के मामले में बीएसपी की महिला विधायक पूजा पाल को क्लीन चिट मिल गई है। इलाहाबाद पुलिस ने क़त्ल की इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए कहा है कि विधायक पूजा पाल और उनके भाई समेत नामजद कराए गए सभी सात लोगों को फर्जी फंसाया गया था और इस मामले से इन सभी लोगों का कोई लेना - देना नहीं था। पुलिस के मुताबिक़ कारोबारी को उसके चचेरे भाइयों ने ही बेइज़्ज़ती का बदला लेने और बीएसपी विधायक पूजा पाल को फर्जी फंसाने के लिए मौत के घाट उतारा था।

इलाहाबाद में ज्वेलरी का कारोबार करने वाले चालीस साल के ललित वर्मा ने कुछ दिनों पहले अपने चचेरे भाई विक्रम के साथ मिलकर रियल स्टेट का काम भी शुरू किया। शहर के धूमनगंज इलाके में पार्टी का दफ्तर बनाने के लिए बीएसपी विधायक पूजा पाल ने जो ज़मीन ली थी, उसके कुछ हिस्से पर ललित और विक्रम भी अपना हक़ जता रहे थे। दूसरी तरफ पैसों को लेकर ललित और विक्रम में पिछले कुछ दिनों से खटपट होने लगी थी। ललित ने विक्रम के भाई सुशील की पिटाई भी की थी।

पुलिस के मुताबिक़ विक्रम और उसका परिवार पिछले तीन महीने से ललित के क़त्ल की साजिश रच रहा था और उन्होंने तीन फरवरी की रात पाश इलाके सिविल लाइंस में रेलवे के आईजी के बंगले के बाहर ललित पर गोलियां बरसाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। इस वारदात के दौरान विक्रम खुद भी मामूली तौर पर ज़ख़्मी होकर अस्पताल में भर्ती हो गया। विक्रम ने इस केस का चश्मदीद गवाह होने का दावा करते हुए बीएसपी विधायक पूजा पाल, उनके छोटे भाई राहुल व पांच समर्थकों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई, लेकिन पुलिस ने तफ्तीश शुरू की तो पांच दिन बाद ही सच्चाई सामने आ गई। घटनास्थल के पास से मिले सीसीटीवी फुटेज ने पुलिस का काम आसान कर दिया।

पुलिस ने साफ़ कर दिया है कि इस मामले में विधायक पूजा पाल समेत नामजद कराए गए सातों आरोपी बेगुनाह हैं और इस मामले से उनका कोई लेना देना नहीं है। पुलिस ने ज़ख़्मी विक्रम को भी अस्पताल से निकालकर गिरफ्तार कर लिया है, जबकि वारदात में शामिल उसका बड़ा भाई सुशील व करीबी राजपाल अभी फरार हैं।

दरअसल विधायक पूजा पाल और उनके भाई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज होने के बाद यह मामला सुर्ख़ियों में आ गया है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद विधायक ने खुद को सियासी वजहों से फंसाये जाने का आरोप लगाया था। पुलिस के खुलासे के बाद विधायक और उनके समर्थकों ने अब राहत की सांस ली है।

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: