Headline • इलाहाबाद में बीजेपी जिलाध्यक्ष ने अपने नाते रिश्तेदारों को बांट दिए सारे पद, युवाओं में भारी गुस्सा• भ्रष्टाचार की भेंट चढा बलरामपुर का विकास, लोगों ने शिकायत की तो बीजेपी विधायक बोले, गुंडे हैं ये लोग• सोशल मीडिया में आग लगा रही ही एक और भोजपुरी डांसर, डांस के लटके-झटके सपना चौधरी जैसे• आजमगढ़ में फिर मुठभेड़, बदमाश के साथ पुलिस अधिकारी को भी लगी गोली • प्रिंसिपल या जल्लाद! बच्चे को तबतक मारते रहे जब तक डंडा टूट न गया, क्लास में हंसने पर दी सजा• दामाद की हत्या के लिए 1 करोड़ की सुपारी दी, गैंग की लिंक आईएसआई से भी पाई गई• मृत महिला को जिंदा दिखाकर कर लिया मकान का बैनामा, असली मालिक पर घर छोड़ने की धमकी• महिलाओं ने सरेराह प्रधान में चप्पलों और लाठियों से की पिटाई, पति पत्नी के झगड़े को सुलझाना पड़ा भारी• भारत-पाक मुकाबले का रोमांच चरम पर, कानपुर में फैंस ने बप्पा से की टीम इंडिया की जीत की प्रार्थना• पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय, क्या कमाल कर पाएगी रोहित एंड कंपनी?• जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए• शिकायत करने पर नहीं सुनी लेकिन जब आत्मदाह करने पहुंचा गरीब आदमी तो तुरंत जांच बैठा दी• चंद्रशेखर रावण और मदनी में गोपनीय बातचीत, शेरसिंह राणा ने भी पेश कर दी चुनौती• राजा भैया के पिता और प्रशासन में ठनी ! मोहर्रम के दिन भंडारे के कार्यक्रम में प्रशासन ने लगाई रोक• तीन तलाक पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अध्यादेश को दी मंजूरी• शामली : मठुभेड़ में दो बदमाश गिरफ्तार, एक को लगी गोली, 10 लाख कैश बरामद • दरोगा के बेटे ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, मां की बीमारी के चलते डिप्रेशन में था• बीजेपी विधायक देवेंद्र राजपूत की दबंगई, बिजली विभाग के जेई को पीटा,वीडियो वायरल• बहराइच में बुखार का कहर, 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत• 'समाचार प्लस' की खबर का असर,विकिपीडिया ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का निक नेम 'झांपू' हटाया• ब्लॉक प्रमुख से फोन पर मांगी गई 5 करोड़ की रंगदारी, न देने पर जान से मारने की धमकी


कानपुर: जिले के हैलट अस्पताल में कथित तौर पर जूनियर डॉक्टर की लापरवाही से एक 9 महीने के मासूम की जान चली गई। बच्चे के परिजनों ने आरोप लगाया है कि जूनियर डॉक्टर द्वारा बच्चे को हैवी डोज़ का इंजेक्शन देने से ये दर्दनाक हादसा हुआ।

पूरा मामला जनपद उन्नाव का है जहां कंचन नगर निवासी उमेश के 9 महीने के बच्चे राज गौतम को कोल्ड डायरिया हो गया, जिसके बाद पिता उमेश ने अपने बच्चे को उन्नाव में डॉक्टर को दिखाया तो डॉक्टर ने बच्चे को कानपुर हैलट अस्पताल ले जाने की सलाह दी । बीती 25 दिसम्बर को उमेश अपने बच्चे को लेकर हैलट अस्पताल लाया और बाल रोग विभाग में भर्ती करा दिया । बच्चे का इलाज शुरू हुआ तो धीरे धीरे उसकी हालत में सुधार होने लगा और बच्चे के परिजनों को सीनियर डॉक्टर ने शुक्रवार को छुट्टी करने की बात कही। लेकिन आज बच्चे के परिजनों के अनुसार सीनियर डॉक्टर नहीं आए और जूनियर डॉक्टर ने स्वस्थ बच्चे को हैवी डोज़ इंजेक्शन लगा दिया जिससे उसकी हालत बिगड़ने लगी । परिजन जब अपने बच्चे की बिगड़ी हालत बताने डॉक्टर के लिए दौड़े तो जूनियर डॉक्टर तब तक वहां से नदारद हो चुके थे।

परिजन जब सीनियर डॉक्टर के चेंबर में पहुंचे तो आज सेकण्ड सटरडे होने के कारण कोई भी सरकारी डॉक्टर मौजूद नहीं थे। और डॉक्टरों की गैरमौजूदगी और लापरवाही के चलते मासूम बच्चे की मौत हो गई।

टीचर की हैवानियत, पिटाई के दौरान फटा बच्ची के कान का पर्दा

कानपुर- सुप्रीमकोर्ट के आदेश के बावजूद प्रदेश में टीचर द्वारा छात्रों की पिटाई के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे। कन्नौज जिले में एक बेरहम टीचर ने कक्षा-1 की मासूम बच्ची को इतनी बेरहमी से मारा कि बच्ची के कान का पर्दा फट गया।

पूरा मामला कन्नौज जिले की सदर कोतवाली क्षेत्र के हाजिगंज गंज का है, जहां एस.ए मेमोरियल पब्लिक स्कुल में पढ़ने वाली कक्षा 1 की छात्रा अलीमा का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने पेपर लेट किया था। इस मामूली बात पर टीचर निसात ने अलीमा की बेरहमी से पिटाई कर दी। टीचर की पिटाई से छात्रा अलीमा के कान का पर्दा फट गया। अलीमा दर्द से कराहती हुई घर पहुंची, तब अलीमा ने पूरा मामला अपने घरवालों को बताया।

परिजनों ने बताया कि अलीम को उसकी टीचल पसंद नहीं करती थी, क्योंकि टीचर निसात के गलत बर्ताव की शिकायत पहले भी अलीमा के परिजन कर स्कूल प्रबन्धन से कर चुके हैं।

परिजनों कि मांग हैं कि आरोपी टीचर पर सख्त कार्यवाई की जाए, ताकि आगे किसी बच्चे के साथ ऐसा न हो।

वहीं डॉक्टर पीडि़त बच्ची की हालात नाजुक बता रहे है, उन्होंने बच्ची को बेहतर इलाज के लिए दूसरे अस्पताल में रेफर कर दिया है।

पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी महिला टीचर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

ठंड के कहर से कानपुर में 5 लोगों की मौत

कानपुर- कानपुर देहात में महज 48 घंटे में ठंड से 5 लोगों की मौते हो चुकी है। ठंड से लोगों का बुरा हाल है, लेकिन प्रशासन के द्वारा अब तक ठंड से बचने के लिए न ही कंबल वितरित किए गए और न ही अलाव की कोई व्यवस्था की गई।

उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में कम्बल वितरण योजना है, जिसके अन्तर्गत गरीबों में कम्बल बांटे जाने थे, लेकिन अभी तक जनपद में कम्बल नहीं बाटे गये। सूबे के अधिकांश जिलों में कम्बल वितरण हो चुका है, लेकिन कानपुर देहात में अभी तक कम्बलों का टेन्डर तक नहीं हुआ है।

पूरे देश में बनाए गोडसे के मंदिर- आजम

कानपुर- यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खां अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में बने रहते हैं। मंगलवार को कानपुर में एक पर्सनल प्रोग्राम में शामिल हुए आजम खां के पूरे तेवर में दिखे। आजम हिंदू महासभा की ओर से गोडसे के मंदिर बनवाए जाने के सवाल पर गर्म हो गए। आजम ने कहा कि नाथूराम गोडसे का मंदिर एक जगह नहीं बल्कि पूरे देश में बनवाना चाहिए। इससे किसी को कोई आपत्ति नहीं होगी। इतना ही नहीं आजम ने तो गोडसे को भारत रत्न देने की बात कही।

आजम खां के बोल यहीं नहीं थमे, उन्होंने तो यह भी कहा कि अगर हिंदू महासभा के लोग ताजमहल पर गोडसे का मंदिर बनवाना चाहती है तो भी उसे इसकी अनुमति दी जाए। इसमें भी किसी को कोई ऑब्जेक्शन नहीं होगा।

वहीं धर्मांतरण के मुद्दे पर आजम ने कहा कि, पहले बीजेपी मुख्तार अब्बास नकवी और शहनवाज हुसैन की घर वापसी कराए। इसके बाद बाकि लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जाए।

दोस्ती की अनोखी मिसाल, बंदर ने बचाई बंदर की जान

कानपुर- कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर एक बंदर की दोस्ती की अनोखी मिसाल देखने को मिली। दरअसल दो बंदर बिजली के तारों के पास बैठे थे, उसी दौरान एक बंदर को हाई टेंशन तार से करंट लग गया।जिसके कारण बंदर बेहोश होकर नीचे गिर गया था। लोगों ने समझा की बंदर की मौत हो गई पर उसका एक साथी बंदर उसकी जान बचाने की ऐसी कोशिश, जिसको देखकर सब हैरान रह गए। साथी बंदर को होश में लाने के लिए बंदर ने उसको होश में लाने के लिए एक नाले के करीब ले गया और कई बार साथ को पानी में डुबोया फिर बाहर निकाला।

इतना ही नहीं बंदर लगातार अपने साथी को काटने लगा है ताकि उसके साथी को होश आ सके। बंदर कभी उसके मुंह पर, कभी उसके शरीर पर मारता रहा, जब तक उसके साथी को होश नहीं आ गया। बंदर की ये कोशिश करीब 20 से 25 मिनट तक चलती रही थी।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: