Headline • बरेली :मोहर्रम पर ताजियों को लेकर पुलिस की बड़ी कार्रवाई,ढाई हजार से ज्यादा लोगों को जारी किए रेड कार्ड• इलाहाबाद में बीजेपी जिलाध्यक्ष ने अपने नाते रिश्तेदारों को बांट दिए सारे पद, युवाओं में भारी गुस्सा• भ्रष्टाचार की भेंट चढा बलरामपुर का विकास, लोगों ने शिकायत की तो बीजेपी विधायक बोले, गुंडे हैं ये लोग• सोशल मीडिया में आग लगा रही ही एक और भोजपुरी डांसर, डांस के लटके-झटके सपना चौधरी जैसे• आजमगढ़ में फिर मुठभेड़, बदमाश के साथ पुलिस अधिकारी को भी लगी गोली • प्रिंसिपल या जल्लाद! बच्चे को तबतक मारते रहे जब तक डंडा टूट न गया, क्लास में हंसने पर दी सजा• दामाद की हत्या के लिए 1 करोड़ की सुपारी दी, गैंग की लिंक आईएसआई से भी पाई गई• मृत महिला को जिंदा दिखाकर कर लिया मकान का बैनामा, असली मालिक पर घर छोड़ने की धमकी• महिलाओं ने सरेराह प्रधान में चप्पलों और लाठियों से की पिटाई, पति पत्नी के झगड़े को सुलझाना पड़ा भारी• भारत-पाक मुकाबले का रोमांच चरम पर, कानपुर में फैंस ने बप्पा से की टीम इंडिया की जीत की प्रार्थना• पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय, क्या कमाल कर पाएगी रोहित एंड कंपनी?• जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए• शिकायत करने पर नहीं सुनी लेकिन जब आत्मदाह करने पहुंचा गरीब आदमी तो तुरंत जांच बैठा दी• चंद्रशेखर रावण और मदनी में गोपनीय बातचीत, शेरसिंह राणा ने भी पेश कर दी चुनौती• राजा भैया के पिता और प्रशासन में ठनी ! मोहर्रम के दिन भंडारे के कार्यक्रम में प्रशासन ने लगाई रोक• तीन तलाक पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अध्यादेश को दी मंजूरी• शामली : मठुभेड़ में दो बदमाश गिरफ्तार, एक को लगी गोली, 10 लाख कैश बरामद • दरोगा के बेटे ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, मां की बीमारी के चलते डिप्रेशन में था• बीजेपी विधायक देवेंद्र राजपूत की दबंगई, बिजली विभाग के जेई को पीटा,वीडियो वायरल• बहराइच में बुखार का कहर, 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत• 'समाचार प्लस' की खबर का असर,विकिपीडिया ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का निक नेम 'झांपू' हटाया

 राजस्थान: बोरवेल में गिरने से 3 साल के मासूम की मौत

हनुमानगढ़: राजस्थान के हनुमानगढ़ में बीती शाम गहरे बोरवेल में गिरने से 3 साल के एक मासूम बच्चे की मौत हो गई। ये घटना हनुमानगढ़ जिले की पीलीबंगा तहसील के 18 एमओडी गांव की है। जहां खेलने के दौरान मासूम अनिल गहरे बोरवेक के गड्डे में गिर गया, जिसकी मौत हो गई।

मौके पर पहुंचे बचाव व राहत दल की मदद ली गई, लेकिन जब बच्चा बोरवेल से बाहर निकाला गया , तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

बताया जा रहा है बोरवेल की गहराई 200 से 250 फीट है।














200 फीट के गहरे गड्डे में गिरी मासूम बच्ची को सुरक्षित बाहर निकाला गया

दौसा: राजस्थान के दौसा जिले के बिहारीपुरा गांव में बोरवेल में गिरी ढाई साल की मासूम बच्ची को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। बच्ची का नाम ज्योति है, जो रविवार को अपनी चचेरी बहन के साथ घर के बाहर खेल रही थी, उसी दौरान ज्योति बोरवेल में गिर गई।

बच्ची की मां घर के सामने के खेत में काम रही थी। बताया जा रहा है कि, एक दिन पहले ही परिवार ने बोरवेल खुदवाया था।

ज्योति 200 फुट गहरे गड्डे में गिरी थी। जिसको 12 घंटे के बाद सेना के जवानों की मदद से सुरक्षित बोरवेल से निकाला गया। बच्ची के बाहर निकलते ही अस्पताल लाया गया, जहां डाॅक्टरों ने बच्ची का चेकअप कर उसे स्वास्थ बताया।

वसुंधरा सरकार ने  विशेष पिछड़ों, गरीबों को दिया आरक्षण, विधानसभा में बिल पास

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में मंगलवार को को राजस्थान विशेष पिछड़ा वर्ग एवं राजस्थान आर्थिक पिछड़ा वर्ग के लिए दो विधयेक पारित कर दिए गए। पहली बार अगड़ों को आरक्षण मिला है। जिसमें गुर्जरों को 5 फीसदी और आर्थिक रूप से पिछड़ों को 14 फीसदी आरक्षण दिया गया है। इन दोनों बिल के पास होने से राजस्थान में 68 फीसदी आरक्षण हो गया है। इससे आधार पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से निर्धारित आरक्षण की 50 फीसदी की सीमा पर हो गई है।

गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बताया कि, सरकार इस विधेयक को भी संविधान की नर्वी अनुसूची में शामिल करवाने की कोशिश करेगी, ताकि ये आरक्षण कानूनी दांव पेंचों में न फंस जाए।

गुर्जर, गाडि़या लोहार, बंजारा, गड़रिया, रेबारी आदि को विशेष पिछड़े वर्ग के रूप में अलग से पांच प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है।

राजस्थान में 68 प्रतिशत आरक्षण के तहत, अन्य पिछड़ा वर्ग 21 प्रतिशत, अनुसूचित जातियों को 16 प्रतिशत, अनुसूचित जनजातियों को 12 प्रतिशत, आर्थिक रूप से पिछड़ों को 14 प्रतिशत और विशेष पिछड़ा वर्ग को 5 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा।

10 घंटे की मशक्कत के बाद बाहर निकाला मटके में फंसे प्यासे पैंथर का मुंह

जयपुर/ राजसमंद- राजस्थान के राजसमंद जिले के एक गांव सादुलखेड़ा में एक पैंथर उस वक्त लाचार हो गया जब पानी पीने की कोशिश करने के दौरान उसका मुंह एक स्टील के मटके में फंसकर रह गया। दरअसल इस पैंथर को प्यास लगी थी। उसने प्यास बुझाने के लिए चारों ओर नजर दौड़ाई, तब उसकी निगाह खेत में रखे एक स्टील के मटके पर पड़ी। पैंथर ने जैसे ही पानी पीने के लिए उसमें मुंह डाला उसका मुंह मटके में फंस गया। इसके बाद वह छटपटाने लगा, इधर-उधर भागने लगा। लगभग दस घंटे की मशक्कत के बाद उस बेजुबान जानकर को इस मुसीबत से निकाला गया।

पानी पीने के दौरान मटके में फंसे पैंथर की छटपटाहट और आवाज सुनकर खेत में सो रहा किसान जग गया। उसने अन्य ग्रामीणों को आवाज दी। देर रात ग्रामीण जब खेत पर पहुंचे तो खूंखार जानवर को बेबस देख उसकी सहायता में लग गए। लोगों ने खुद की सुरक्षा के लिए पहले उसके चारो पैर रस्सी से बांध दिए। इसके बाद स्टील के मटके में फंसे पैंथर के मुंह को लगातार बाहर निकालने का प्रयास करते रहे, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी।

सुबह हो गई, लेकिन पैंथर का मुंह मटके से बाहर नहीं निकल पाया। इसके बाद वन विभाग को मामले की जानकारी दी गई। मौके पर पहुंचे वन विभाग के अधिकारियों ने भी काफी प्रयास किया, लेकिन उसका मुंह मटके से बाहर नहीं आया। अंत में थक-हार कर वन विभाग की टीम उस पैंथर को अपने साथ चौकी पर ले गई। वहां उसे ट्रंकुलाइज (बेहोशी का इंजेक्शन) किया गया और मटके को कटर से काटकर उसका सिर निकाला गया।

ग्रामीणों की मानें तो करीब 1 हफ्ते से इस क्षेत्र में एक नर और मादा पैंथर के साथ उसके 4 शावक नजर आ रहे थे। हालांकि ये गांव की ओर नहीं आते थे, लेकिन अक्सर इन्हें गांव के आस-पास वन क्षेत्र में देखा जा रहा था। इनको देखने के बाद ग्रामीणों में इनको लेकर दहशत भी थी।

अजमेर शरीफ में बम की खबर निकली अफवाह , नहीं मिला कोई बम

राजस्थान के अजमेर शरीफ में बम की खबर अफवाही निकली, पुलिस को कोई बम नहीं मिला। सोमवार सुबह को पुलिस को दरगाह में संदिग्ध चीज होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद आनन-फानन में दरगाह को खाला कराया गया। दरगाह में बम की खबर से अफरा-तफरी मच गई थी।

दरगाह में बम निरोधक दस्ता व पुलिस संयुक्त रूप से छानबीन कर, तलाशी अभियान जारी किया।

अजमेर में ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह में बम की खबर सुनने के बाद हजारों की संख्या में लोग दरगाह से बाहर आकर खड़े हो गए। पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया था।

वहीं, पुलिस इस खबर को गंभीरता से लेते हुए पता लगाने की कोशिश कर रही है कि दरगाह में बम की अफवाह किसने और क्यों फैलाई।

बता दें कि, अजमेर की दरगाज में देशभर से लाखों लोग आते हैं।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: