Headline • अब ऑनलाइन मिलेंगे मोदी और योगी जैसे कुर्ते, दीनदयाल धाम ने किया कई कंपनियों से समझौता• किराए के मकान में चल रहे अस्पताल, हर महीने करोड़ों होता है खर्च लेकिन लोगों को नहीं मिल रहा लाभ• चालान काटने वालों के खुद कटे चालान, हरदोई के एसपी के फरमान से पुलिसवालों की बढ़ी परेशानी• नोएडा : PNB में लूट की कोशिश, बदमाशों ने की दो गार्डों की हत्या• अमरोहा :टायर फटने से यात्रियों से भरी बस पलटी, 5 की मौत, 40 से ज्यादा घायल• जेल से बरामद पिस्टल से नहीं मारी गई थी मुन्ना बजरंगी को गोली,फोरेंसिक जांच में हुआ खुलासा • गोरखपुर :साड़ी सेंटर में लगी आग, चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पाया काबू• अलीगढ़ : पुलिस ने मीडिया को बुलाकर किया LIVE एनकाउंटर !,परिजनों का आरोप- चार दिन पहले घर से उठाकर लाई थी पुलिस• हमीरपुर : घरों में अचानक आई दरार, प्रशासन ने खाली कराए मकान• अमेठी : लोगों से भरी नाव पलटी,8 निकाले गए,3 लापता, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी • मोहर्रम को लेकर पुलिस-प्रशासन अलर्ट,पूर्व मंत्री राजा भैया के पिता को किया नजरबंद,छावनी में तब्दील हुआ कुंडा• जब अचानक बच्चों को स्कूल में पढ़ाने पहुंच गई डीएम, गंदगी देखकर टीचर्स को लगाई फटकार• पं. दीनदयाल उपाध्याय की हत्या के मामले में हो सकती है CBI जांच• ज्वैलरी शोरूम से 50 लाख के गहने लेकर फरार हुई महिलाएं, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात• गाजियाबाद की वसुंधरा कॉलोनी में नहीं रुक रही हैं चोरी की घटनाएं, लॉकर तोड़कर नगदी और लैपटॉप ले उडे़• स्वामी अग्निवेश ने दी आरएसएस प्रमुख को मॉब लिंचिंग पर खुली बहस की चुनौती• SC-ST एक्ट के विरोध में प्रदर्शन करने वाले 12 छात्रों के खिलाफ बीजेपी सांसद ने दर्ज कराई रिपोर्ट• लव, सेक्स एंड धोखा! दूसरे धर्म के युवक ने खुद को मराठी बताकर की शादी, न्याय के लड़की मुंबई से पहुंची मुरादाबाद• महिला के नहाते समय फोटो खींचने पर बवाल, दो पक्षों के बीच जमकर चले लाठी-डंडे, कई घायल• रानीखेत में भारत और अमेरिकी सैनिकों ने किया आतंकवादियों के खात्मे का संयुक्त अभ्यास• मायावती ने की घोषणा, छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी बसपा• मैच के बाद पाक कप्तान ने कहा, हम भुवनेश्वर की गेंदों को समझ नहीं पाए• 13 वर्षीय लड़की की जघन्य हत्या के बाद बनारस के एक इलाके में पुलिस के खिलाफ जबर्दस्त रोष• बिग बॉसः जसलिन ने सिंगल बेड लिया तो बगल वाला बेड लेने पहुंच गए अनूप जलोटा• प्रेम विवाह के तीन साल बाद ससुराल पहुंचा, शाम से कोई खोजखबर नहीं... दो दिन बाद मिली लाश


मेरठः यहां की पुलिस भले ही क्राइम कंट्रोल के लाख दावे करती हो, लेकिन बुधवार को हुई दिनदहाड़े डकैती ने पुलिस के दावों की पोल खोल दी। हैरानी की बात यह है कि बेखौफ बदमाशों के मन में पुलिस का कोई खौफ नहीं है।

इसकी बानगी तब देखने को मिली जब सिविल लाइन के ऑफिस से महज 10 कदम की दूरी पर आफिस के सामने बदमाशों ने दिनदहाड़े डकैती की वारदात को अंजाम दे डाला।

बदमाशों ने हथियारों के बल पर घर में घुसकर जमकर लूटपाट की। घर में रखे जेवरात और नकदी लूट ली और हथियार लहराते हुए फरार हो गए। घटना मेरठ के थाना सिविल लाइन क्षेत्र के मोहनपुर इलाके की है।

सिंचाई विभाग के रिटायर्ड जेई श्रीप्रकाश के घर में दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाश दाखिल हुए और हथियारों के बल पर परिवार के लोगों को बंधक बना लिया। जिसके बाद बदमाशों ने मकान मालिक को तो लूटा ही साथ ही उसी मकान में रह रहे दो किरायेदारों को भी बंधक बनाकर लूटपाट की।

घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। जिसके बाद पुलिस छानबीन कर रही है। साथ ही बदमाशों को जल्द पकड़ने का दावा भी कर रही है।

लेकिन बड़ा सवाल यही है कि अगर सीओ ऑफिस या थाने के आसपास ही बदमाश डकैती जैसी गंभीर वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाएंगे तो शहर के आम इलाकों में रहने वाले लोगों का क्या होगा।

 

रायबरेलीः जिले के मिलएरिया थाना क्षेत्र के देवानंदपुर में उस समय हड़कंप मच गया जब खाना बनाते वक्त एक घर मे स्टोव फटने पास में मौजूद पति-पत्नी व एक 6 साल का बच्चा गंभीर रूप से झुलस गया।

तीनों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया जहां इलाज के दौरान मां बेटे की मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि मृतका मालती स्टोव से खाना पका रही थीं वही पास में उसका 6 वर्षीय बेटा व पति मौजूद था।

तभी अचानक स्टोव फट गया जिससे तीनां लोग बुरी तरह झुलस गए। इस घटना में मां और बेटा ज्यादा झुलस गया। आनन फानन में सभी को जिला अस्पताल लाया गया, जहां इलाज के दौरान मां और बेटे की मौत हो गई।

फिलहाल पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 

सुल्तानपुरः यूपी की जेल अब कैदियों के लिए सुरक्षित नहीं रही। एक तरफ जहां अभी हाल ही में माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या कर दी गई थी,तो वहीं अब सुल्तानपुर जेल प्रशासन भी सवालों के घेरे में आ गया है।

सुल्तानपुर जिले के जिला कारागार में बीती देर रात उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब यह खबर फैली कि जेल में गैंगेस्टर व फिरौती जैसी संगीन धाराओं में निरुद्ध कैदी ने संदिग्ध अवस्था में फांसी लगा ली है। देखते ही देखते जिला कारागार में जिले के आलाधिकारियों व कई थानों की फोर्स का जमावड़ा लगने लगा। रातभर अफरा तफरी का माहौल बना रहा।

सुल्तानपुर जिले के जिला कारागार में बंद बृजेश कुमार शुक्ला निवासी गोपालापुर थाना लम्भुआ ने निर्माणाधीन बैरक में संदिग्ध अवस्था में फांसी लगा ली।

वह गैंगेस्टट व फिरौती जैसी संगीन धाराओं में लगभग दो सालों से निरुद्ध था। जैसे ही यह खबर फैली, अधिकारी और कई थानों की फोर्स जेल पहुंच गई।  

जिला कारागार में निरुद्ध कैदी को अपनी बैरक से दूसरे बैरक में जाने की इजाजत नहीं होती है, ऐसे में सवाल उठ रहा है कि मृतक कैदी बृजेश कुमार शुक्ल अपनी बैरक से निर्माणाधीन बैरक तक कैसे पहुंचा। जेल प्रशासन के अधिकारी इस सवाल का जवाब देने से कतरा रहे हैं।

अपर पुलिस अधीक्षक सूर्यकांत त्रिपाठी (ग्रामीण ) व अपर पुलिस अधीक्षक डॉ मीनाक्षी कात्यायन मीडिया के सवालों से बचते नजर आए। 

फर्रुखाबाद: प्रेम संबंधों पर पहरा सख्त हुआ तो दोनों ने दुनिया से रुखसत होने का फैसला कर लिया। खेत में प्रेमी और प्रेमिका दोनों के शव कुछ ही फासले से पड़े मिले। दोनों के परिवार वालों ने एक दूसरे पर हत्या करने का आरोप लगाया है। पोस्टमार्टम सूत्रों के अनुसार दोनों की मौत जहर खाने से होने की आशंका है। मौत का कारण स्पष्ट न होने के कारण बिसरा सुरक्षित कर लिया गया है।

मोहम्मदाबाद थाना क्षेत्र के गांव नकटपुरा की निवासी एक नाबालिग किशोरी का शव सुबह गांव से लगभग एक किलोमीटर दूर खेतों में पड़ा मिला। कुछ ही दूरी पर गांव के ही निवासी ट्रक चालक रामतीरथ का भी शव पड़ा मिला। दोनों में प्रेम प्रसंग की चर्चा है ।

दोनों के परिवार वालों ने एक-दूसरे पर हत्या कराने का आरोप लगाते हुए एक-दूसरे के खिलाफ पुलिस को तहरीर भी दी है। रामतीर्थ राजपूत ने सुबह अपने परिजन को सूचना दी कि उसकी हालत खराब है।

वह गांव से लगभग 100 मीटर दूर जवाहर लाल के खेत के पास पड़ा है। रामतीर्थ के परिजन ने डायल 100 को फोन किया। डायल 100 पुलिस के साथ ही कोतवाली पुलिस भी पहुंच गयी। मौके पर किशोरी का शव मिला तो कुछ फासले पर रामतीर्थ पड़ा था। पुलिस रामतीर्थ को अचेत समझ सीएचसी ले गई, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

किशोरी के पिता ने तहरीर में कहा है कि रामतीर्थ से पुत्री का प्रेमप्रसंग चल रहा था। इसके चलते पूर्व में भी रामतीर्थ के परिजन ने उनसे मारपीट की थी। वह अपने भाई के साथ  पुत्री के लिए लड़का देखने गए थे। देर रात उनकी पुत्री शौच के लिए खेत पर गई। वापस न आने पर खोजबीन की, लेकिन पता नहीं चला। 

सुबह खोजबीन के दौरान चीखपुकार की आवाज सुनाई दी। मौके पर पहुंचे तो देखा कि रामतीर्थ, गुरुबख्श व उनके पिता छक्कूलाल उनकी पुत्री को गिराकर पीटते हुए गला दबा रहे थे। जब तक पास पहुंचे, तब तक पुत्री की जान जा चुकी थी।

उधर, रामतीर्थ के पिता छक्कूलाल ने बताया कि किशोरी के परिजन ने पुत्र की जहर देकर हत्या की है। राम तीर्थ के भाई कुवंर सिंह ने बताया कि लड़की गाँव के स्कूल में पढ़ रही थी जबकि उसका भाई पढ़ाई छोड़ चुका था। दोनों के बीच कुछ समय से प्रेम सम्बन्ध चल रहे थे।

अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह ने बताया कि दोनों के बीच प्रेम सम्बन्ध थे। दोनों के शव गांव के खेत में पड़े मिले। शवों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

 

 

मेरठ. यूपी की मेरठ पुलिस के कारनामा सुनकर हर कोई दांतों तले अंगुलियां दबा लेगा। दरअसल, किठौर पुलिस ने एक मुकदमे में 15 साल पहले मर चुके व्यक्ति को गवाह दिखाकर बयान दर्ज कर लिए। मामले का खुलासा उस समय हुआ जब पुलिस की केस डायरी से जानकारी मिली। इस मामले में अब पुलिस अधिकारियों से शिकायत की गई है, लेकिन कोई एक्शन नहीं लिया गया है। आरोप है कि थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने से लेकर विवेचना तक तमाम गोलमाल किए और साजिश रची।

 

क्या है मामला

-किठौर में नई बस्ती मवाना रोड निवासी खिलाफत का इमरान, फरमान, आरिफ के साथ 12 जुलाई को विवाद हो गया था।

-इस मामले में खिलाफत पक्ष घायल हुआ। दोनों पक्षों की ओर से तहरीर दी गई थी।

-पुलिस ने फरमान की तहरीर पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद खिलाफत, सलीम, अजीम, नईम और तीन-चार अज्ञात के खिलाफ कार्रवाई कर दी। पुलिस ने खिलाफत को गिरफ्तार कर कातिलाना हमले में जेल भेज दिया।

-पुलिस ने केस डायरी के पर्चे काटे तो इसमें वादी के साथ गवाहों के भी बयान दर्ज किए गए।

-इन गवाहों में महफूज पुत्र वहीद निवासी मोहल्ला नई बस्ती के भी बयान पुलिस ने दर्ज किए हैं।

-खिलाफत पक्ष को मामले की जानकारी हुई। खिलाफत की पत्नी बेबी ने अधिकारियों से शिकायत करते हुए बताया कि पुलिस ने केस में फर्जीवाड़ा किया है। आरोप लगाया कि एक नेता के दबाव में फर्जी मुकदमा दर्ज कर दिया।

-मुकदमे में उस व्यक्ति महफूज को गवाह बनाकर बयान दर्ज कराए गए हैं, जिसकी 15 साल पहले मौत हो चुकी है।

-आरोप लगाया कि महफूज दूसरे पक्ष से इमरान के पिता हैं और उनकी मौत हो चुकी है। साथ ही आरोप लगाया कि इस प्रकरण में पुलिस ने विवेचना में खेल किया है।

-पुलिस ने घर पर हमले का मामला दिखाया है, जबकि घटनास्थल का नक्शा बनाने के दौरान घटनास्थल दोनों घरों के बाहर सड़क पर दिखाया

-वहीं इस पूरे मामले में किठौर के पूर्व चेयरमैन मतलूब गौड़ की शिकायत पर एसपी देहात राजेश कुमार ने सीओ को जांच सौंपी है

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: