Headline • आगरा को हॉकी के विश्व पटल पर मिलेगी नई पहचान:  चेतन चौहान• योगी पहुंचे गोरखपुर, कई योजनाओं को किया लोकार्पण व शिलान्यास, बांटे प्रमाण पत्र• चुड़ैल समझ कर महिला की हत्या कर दी, अपराध छुपाने के लिए लाश को जंगलों में फेंका• फर्रुखाबाद: सड़क दुर्घटना नहीं हत्या कर लाश फेंकी गई थी, पत्नी ने प्रेमी संग दी पति और भतीजे की हत्या की सुपारी• कायमगंज में अंबेडकर प्रतिमा का हाथ तोड़कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश, बसपा नेता ने स्थिति संभाली• नवरात्र पर प्रशासन चलाएगा शौचालय की पूजा का कार्यक्रम, कई संगठनों ने किया विरोध का ऐलान• मोहर्रम बवाल पर बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल समेत 150 पर केस, 750 ताजिएदारों पर भी केस• अध्यादेश के बाद राजधानी में आया तीन तलाक का मामला, दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर दिया तलाक• राजधानी में बदमाशों के हौसले बुलंदी पर, अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य रुमाना सिद्दीकी के बेटे को बुरी तरह पीटा• 'थोड़ी सी महंगाई बढ़ने पर सुषमा स्वराज बाल खोलकर सड़क पर उतर जाती थी, अब क्यों चुप है'• ओलांद के बयान के बाद राहुल गांधी का वार, बंद दरवाजे निजी तौर पर मोदी ने डील करवाई है• दो दिवसीय दौरे पर अगले हफ्ते फिर अमेठी आ रहे हैं राहुल गांधी, योजनाओं के लेकर मंत्रियों को लिखा खत• अवैध शराब बनाते बसपा के पूर्व विधायक गिरफ्तार, बंद पड़े स्कूल में चला रहे थे कारोबार• हापुड़ में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान युवक नहर में डूबा, गोताखोर तलाश करने में जुटे• नील नितिन मुकेश के घर आई एक नन्ही परी• जानें राजनीति में आने के सवाल पर राहुल द्रविड़ ने क्या जवाब दिया• विवादों के बाद सन्नी देओल की फिल्म मोहल्ला अस्सी रिलीज को तैयार, फर्स्ट लुक जारी• कातिल सौतन! पूर्व पति की शादी को नहीं कर पाई बर्दाश्त, कराया जानलेवा हमला, महिला की मौत• अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलीं पूर्व मेयर, कहा-समय पर लिया होता फैसला तो नहीं देखने पड़ते ये दिन• तारीख से लौट रहे दामाद को अगवा कर ससुरालियों ने की जमकर पिटाई, पुलिस ने बचाई जान• 80 मौत के बाद जागीं मंत्री अनुपमा, अस्पताल का लिया जायजा, कैमरों के साथ पहुंचीं मृतकों के घर• भारत ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी का फैसला, चोटिल पांड्या की जगह रविंद्र जाडेजा को मौका• बीच बचाव करने गए बुजुर्ग पर ही टूट पड़े, चौकी इंचार्ज ने जान पर खेलकर बचाई जान• कर्बला की ओर बढ़ते हर कदम के साथ हुसैन की कुर्बानी का दर्द और यजीद के खिलाफ गुस्सा दिखा • करीना कपूर ने फैमिली के साथ सेलिब्रेट किया अपना जन्मदिन, तस्वीरें आई सामने


नोएडाः सेक्टर 62 में पिछले दिनों हुई मुठभेड़ की हकीकत अब सामने आ गई है। पुलिस ने वाहवाही लूटने के लिए तीन बदमाशों को अलग-अलग जगह से उठा लिया और फिर पूरी फिल्मी कहानी अपनाते हुए सेक्टर-62 में फर्जी मुठभेड़ दिखाकर तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया लेकिन मुठभेड़ में घायल हुए बदमाश के परिवार ने दस्तावेज पेश कर पुलिस की फर्जी मुठभेड़ को जनता के सामने ला दिया है।


कैश लूटने की सूचना बताकर एनकाउंटर का दावा किया था

15 सितंबर की रात नोएडा के सेक्टर 62 नोएडा में एक एनकाउंटर हुआ था। लगभग 9 बजे नोएडा के फोर्टिस हॉस्पिटल का कैश लूटने की सूचना बताकर चार बदमाशों के साथ मुठभेड़ होने की बात कही गई। पुलिस की कहानी में मुठभेड़ में एक बदमाश के पैर में गोली लगी थी जिसका नाम आजम था जोकि गाजियाबाद का रहने वाला था।
-पुलिस ने बताया कि देर रात सभी बदमाश लूट के इरादे से नोएडा में दाखिल हुए लेकिन सेक्टर 58 थाने की पुलिस को मुखबिर की सूचना के बाद चारों बदमाशों को सेक्टर 62 के जंगलों के पास घेर लिया। जिसमें मुठभेड़ के बाद एक बदमाश को पैर में गोली लगी जबकि दो बदमाश गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने अपनी कहानी में बताया कि एक बदमाश मौके का फायदा उठाते हुए फरार हो गया। -नोएडा के एसपी सिटी अरुण कुमार ने एनकाउंटर पर अपनी होनहार पुलिस की पीठ थपथपाई। लेकिन पुलिस की कहानी उस मोड़ पर आकर अटक गई जब पुलिस ने कहा कि बदमाशों द्वारा ताबड़तोड़ फायरिंग की गई लेकिन मुठभेड़ के बाद एक भी खाली कारतूस बरामद नहीं हुआ।

पिता ने दस्तावेज पेश कर हकीकत से उठाया पर्दा

-नोएडा पुलिस की फिल्मी कहानी पूरी तरह से हिट साबित हुई। जिस बदमाश आजम के पैर में गोली लगी थी उसके परिवार ने दस्तावेज पेशकर पुलिस के फर्जी एनकाउंटर की कलई खोलकर रख दी। मुठभेड़ में घायल आजम के पिता ने मीडिया के सामने दस्तावेज पेश किए उससे पुलिस की फिल्मी कहानी पर से पर्दा पूरी तरह उठ जाता है। इससे साफ पता लगता है कि यह एनकाउंटर पूरी तरह से फर्जी था।
-दरअसल आजम 14 सितंबर को नोएडा कोर्ट में अपनी तारीख पर आया था। आजम जैसे ही कोर्ट से बाहर आया और अपने घर गाजियाबाद जा रहा था इसी बीच रास्ते में पुलिस ने उसे टैंपू से उतार कर अपनी हिरासत में ले लिया। आजम के देर शाम तक घर नहीं पहुंचने पर उसके पिता सलीम ने अपने वकील मुजम्मिल से फोन पर संपर्क किया।
-जिसमें आजम के एडवोकेट ने  उसके कोर्ट से जाने की बात कही लेकिन आजम के घर नहीं पहुंचने पर परिवार ने पूछताछ शुरू की जिसके बाद 15 सितंबर की सुबह आजम के पिता सलीम को पता लगा की उसके बेटे को नोएडा की फेस तीन थाना पुलिस ने अपनी हिरासत में ले रखा है।

हिरासत में की गई थी पिटाई

-आजम के पिता को जब पता लगा कि उसके बेटे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है उसके बाद उसने सीधा अपने वकीलों से संपर्क साधा। नोएडा में सीजेएम कोर्ट में उसने बेटे के साथ किसी अनहोनी की आशंका जाहिर करते हुए एक प्रार्थना पत्र दिया, इसके ठीक बाद 12 बजे गौतम बुद्ध नगर के एसएसपी लव कुमार से आजम के पिता सलीम ने मिलकर एक शिकायत पत्र देकर पूरे घटनाक्रम से अवगत भी कराया। साथ ही 1 बजे के लगभग उसने डायल हंड्रेड पर फोन कर बेटे के गायब होने की सूचना दी।

-डायल हंड्रेड की तरफ से शिकायत करने का मैसेज भी आजम के परिवार को मिला। आजम के पिता को नोएडा के फेस 3 थाने में बेटे के होने की सूचना जब उसे मिली तो सीधे थाने पहुंचने पर उसने बेटे को बुरी तरह पुलिस से पिटा हुआ देखा आजम के पिता की माने तो पुलिस ने उसे आजम से मिलने भी नहीं दिया लेकिन दूर से देखने पर उसे पता लगा कि आजम को मानवीय यातनाएं दी गई है। -नोएडा पुलिस की फिल्मी कहानी से बेखबर सलीम को यह पता नहीं था कि नोएडा की पुलिस उसके बेटे को फर्जी एनकाउंटर में भी दिखा सकती है लेकिन नोएडा पुलिस को खुद को होनहार साबित करने के लिए फर्जी मुठभेड़ का सहारा लेना पड़ा। क्योंकि नोएडा पुलिस जानती थी कि सीजीएम द्वारा मामले का संज्ञान लिए जाने के बाद जो मानवीय यातनाएं आजम को दी है उसको देखने के बाद सीजीएम कोर्ट उनके लिए मुश्किलें पैदा कर सकती है।

-अपनी दरिंदगी को छुपाने के लिए नोएडा पुलिस ने रात में नोएडा के सेक्टर 62 में डी पार्क के पास ले जाकर पूरा इलाका खाली करा दिया और फर्जी मुठभेड़ में तीनों बदमाशों को दिखाकर वाहवाही लूट ली साथ ही अगले दिन एसपी सिटी ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में नोएडा के फोर्टिस हॉस्पिटल के केस को लूटने का दावा करते हुए सभी बदमाशों को मुठभेड़ में गिरफ्तार भी दिखा दिया।

-आजम के पिता का कहना है कि उसके बेटे को फेस 3 थाने की पुलिस ने चमड़े की बेल्ट से पीटा जिसके दर्दनाक निशान अभी भी आजम के बदन पर मौजूद है। आजम के परिवार का कहना है कि अगर उसका बेटा लूट करने गया था और एनकाउंटर में घायल हुआ तो उसके बदन पर पिटाई के गंभीर निशान आखिर कैसे आए।


संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: