Headline • कॉमेडी क्वीन भारती सिंह की सेहत में हुआ सुधार, अस्पताल से शेयर किया ये वीडियो• फिर विधायक सुरेंद्र सिंह के विवादित बोल, कहा-भारत में रहने वाले सारे मुसलमान परिवर्तित हिन्दू हैं• बरेली: विधायक पप्पू भरतौल ने सीएम से की एसएसपी की शिकायत, सच्चाई जानने बरेली पहुंच रहे हैं सुनील बंसल• औलख का करारा जवाब, कहा-एसआईटी रिपोर्ट आने की आहट से ही बौखला गए हैं आजम • आज हो सकती है पूर्व विधायक योगेश वर्मा की रिहाई, रासुका हटने के बाद रिहाई का रास्ता साफ• SC के फैसले का बसपा सुप्रीमो मायावती ने किया स्वागत,जानें क्या कहा...• सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला : बैंक अकाउंट और मोबाइल से आधार लिंक करना जरूरी नहीं• सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला,SC/ST को प्रमोशन में आरक्षण नहीं • मेरठ में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़,10 हजार का इनामी बदमाश घायल• नोएडा पुलिस की गाजियाबाद में रेड,कुख्यात बदमाश अमित भूरा चला रहा था अवैध शराब की फैक्ट्री• गाजियाबाद : युवती की हत्या कर शव को तेजाब से जलाया• पूर्व कांग्रेसी सांसद दिव्या ने पीएम मोदी पर किया आपत्तिजनक ट्वीट, FIR दर्ज • नोएडा : पीएनबी में दो गार्डों की हत्या कर लूट का प्रयास करने वाले बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़, तीन गिरफ्तार• हमीरपुर : कंस वध जुलूस के दौरान दो समुदाय आपस में भिड़े, छावनी में तब्दील हुआ इलाका, 300 से ज्यादा पर FIR दर्ज• दलित किशोरी को अगवा कर गैंगरेप की कोशिश, हैवानों से लड़कर थाने पहुंचीं और रिपोर्ट दर्ज कराई• लुटेरी फैमिली गिरफ्तार, महिलाएं करती हैं गैंग का नेतृत्व, ज्वेलरी शॉप से उड़ाए थे 50 लाख के गहने• सांसद बालियान के प्रतिनिधि की आंख में मिर्च झोंककर लूट करने वाले बदमाश गिरफ्तार • विहिप नेता सुरेंद्र जैन बोले, योगी और मोदी पर पूरा भरोसा, 5 अक्टूबर को होगी आंदोलन की रूपरेखा तय• मेरठ पुलिस को शर्मिंदा करने वाला वीडियो वायरल, मेडिकल स्टूडेंट के साथ गाली गलौच और मारपीट• सपा नेता ने कहा, कांवड़ यात्रा का विरोध करता हूं, भोले और राम से लड़ना होगा, बीजेपी की जान इनमें है• सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मनोज तिवारी को फटकार, कहा-जगह बताइए हम आपको सिलिंग ऑफिसर बना देंगे• सड़क दुर्घटना में नामचीन गायक और पत्नी घायल, 2 साल की बेटी की मौत• चार माह तक बंद रहेंगी चमड़ा फैक्ट्रियां, शासनादेश जारी, होंगे 11 लाख मजदूर बेरोजगार • बंगलूरु के नशा मुक्ति केंद्र में इलाज करा रहे हैं कपिल शर्मा, जल्द स्वस्थ्य होकर लौटेंगे टीवी पर• अफगानिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का निर्णय, धोनी कर रहे है भारतीय टीम की कप्तानी

इस बड़े अखबार के प्रधान संपादक थे सीएम योगी, लिखते थे एडोटोरियल, विदेशों में जाती थीं प्रतियां

गोरखपुर. योगी आदित्यनाथ आज यूपी के सीएम है। इससे पहले वह गोरखपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर पांच बार संसद भी जा चुके हैं। योगी को पूर्वांचल के लगभग सभी इलाकों की जानकारी है, क्योंकि मुख्यमंत्री बनने से पहले छोटी हो या बड़ी घटना वह गांव-कस्बों का भ्रमण करते रहते थे। आप को जानकर हैरानी होगी कि योगी ऐसा एक अखबार के लिए करते थे, वह एक साप्ताहिक अखबार के प्रधान संपादक रहे है। जिसकी वह संपादकीय भी लिखा करते थे और वह उस अखबार की प्रतियां विदेशों तक जाती थीं।

 

प्रधान सम्पादक थे योगी 

 

-योगी जिस साप्ताहिक अखबार के प्रधान संपादक थे उसका नाम ‘हिन्‍दवी’ था।

-अखबार के पूर्व संपादक और महाराणा प्रताप पोस्‍ट ग्रेजुएट कॉलेज जंगल धूसड़ के प्राचार्य डा. प्रदीप राव ने बताया कि यह अखबार पांच साल तक चला। 

-उन्होंने बताया कि यह 16 पेज का साप्‍ताहिक अखबार था। 

-प्रदीप ने कहा कि क्षेत्र के ऐसे मुद्दे जो अन्‍य अखबार में जगह नहीं पाते थे।

-उन मुद्दों को अखबार में ज्‍वलंत समस्‍याओं और मुद्दों के रूप में छापा जाता रहा है। 

-प्राचार्य ने बताया कि योगी आदित्‍यनाथ प्रधान सम्‍पादक ही नहीं पूर्ण रूप से पत्रकार भी रहे हैं।

खुद करते थे करेक्शन

 

-प्राचार्य डा. प्रदीप राव ने बताया कि शुक्रवार की रात में पेज फाइनल होने के बाद योगी जी खुद प्रूफ रीडिंग देखते रहे हैं।

-उन्होंने कहा कि योगी जी शहर से बाहर रहने के दौरान भी पेज मंगवाकर उसमें खुद करेक्‍शन करके सुधार करवाते रहे हैं। 

-प्रदीप ने बताया कि योगी जी रिपोर्टरों को रिपोर्टिंग पर जाने से पहले बताते थे कि कैसे रिर्पोटिंग करेंगे। 

-उनके पास आज भी अखबार की प्रतियां सुरक्षित हैं।

-प्राचार्य बताते हैं कि योगी जी खुद हर सप्‍ताह ‘हिन्‍दवी’ का संपादकीय लिखते रहे हैं।

 

देर रात में पेज बदलवा देते थे

 

-वहीं ‘हिन्‍दवी’ में बतौर पत्रकार रिपोर्टिंग कर चुके वेद प्रकाश पाठक बताते हैं कि प्रधान संपादक होने के बावजूद योगी जी ‘हिन्‍दवी’ को लेकर गंभीर रहे हैं।

-उन्होंने बताया कि अक्सर शुक्रवार की देर रात भी पेज बदलवा देते थे। 

-वेद ने कहा कि रिपोर्टिंग पर जाने के पहले वह अच्‍छी तरह से रिपोर्टरों को दिशा-निर्देश भी देते रहे हैं कि उन्‍हें किन-किन विषयों पर कार्य करना है। 

-इससे रिपोर्टिंग करना काफी आसान हो जाता रहा है और एक अच्‍छी खबर तैयार होकर अखबार में छपती रही है। 

 

विदेशों में भी जाता था हिन्दुवी

 

-कई ज्‍वलंत मुद्दों पर पत्रकारिता करने का उन्‍हें हिन्‍दवी में रहते हुए अवसर मिला।

-लेकिन योगी आदित्‍यनाथ की व्‍यस्‍तताओं के कारण बाद में पांच साल तक छपने के बाद अखबार को बंद करना पड़ा।

-इस अखबार मे बतौर फोटोग्राफर अपना करियर शुरू करने वाले विनय कुमार गौतम बताते हैं कि किस तरह से वह इस अखबार से जुड़े।

-उन्होंने बताया कि कैसे यह अखबार बहुत ही कम समय में लोगों के भीतर गहरी छाप छोड़ने में कामयाब रहा है। 

-विनय कुमार बताते हैं कि देश ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी यह अखबार जाता रहा है।

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: