Headline • आगरा को हॉकी के विश्व पटल पर मिलेगी नई पहचान:  चेतन चौहान• योगी पहुंचे गोरखपुर, कई योजनाओं को किया लोकार्पण व शिलान्यास, बांटे प्रमाण पत्र• चुड़ैल समझ कर महिला की हत्या कर दी, अपराध छुपाने के लिए लाश को जंगलों में फेंका• फर्रुखाबाद: सड़क दुर्घटना नहीं हत्या कर लाश फेंकी गई थी, पत्नी ने प्रेमी संग दी पति और भतीजे की हत्या की सुपारी• कायमगंज में अंबेडकर प्रतिमा का हाथ तोड़कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश, बसपा नेता ने स्थिति संभाली• नवरात्र पर प्रशासन चलाएगा शौचालय की पूजा का कार्यक्रम, कई संगठनों ने किया विरोध का ऐलान• मोहर्रम बवाल पर बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल समेत 150 पर केस, 750 ताजिएदारों पर भी केस• अध्यादेश के बाद राजधानी में आया तीन तलाक का मामला, दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर दिया तलाक• राजधानी में बदमाशों के हौसले बुलंदी पर, अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य रुमाना सिद्दीकी के बेटे को बुरी तरह पीटा• 'थोड़ी सी महंगाई बढ़ने पर सुषमा स्वराज बाल खोलकर सड़क पर उतर जाती थी, अब क्यों चुप है'• ओलांद के बयान के बाद राहुल गांधी का वार, बंद दरवाजे निजी तौर पर मोदी ने डील करवाई है• दो दिवसीय दौरे पर अगले हफ्ते फिर अमेठी आ रहे हैं राहुल गांधी, योजनाओं के लेकर मंत्रियों को लिखा खत• अवैध शराब बनाते बसपा के पूर्व विधायक गिरफ्तार, बंद पड़े स्कूल में चला रहे थे कारोबार• हापुड़ में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान युवक नहर में डूबा, गोताखोर तलाश करने में जुटे• नील नितिन मुकेश के घर आई एक नन्ही परी• जानें राजनीति में आने के सवाल पर राहुल द्रविड़ ने क्या जवाब दिया• विवादों के बाद सन्नी देओल की फिल्म मोहल्ला अस्सी रिलीज को तैयार, फर्स्ट लुक जारी• कातिल सौतन! पूर्व पति की शादी को नहीं कर पाई बर्दाश्त, कराया जानलेवा हमला, महिला की मौत• अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलीं पूर्व मेयर, कहा-समय पर लिया होता फैसला तो नहीं देखने पड़ते ये दिन• तारीख से लौट रहे दामाद को अगवा कर ससुरालियों ने की जमकर पिटाई, पुलिस ने बचाई जान• 80 मौत के बाद जागीं मंत्री अनुपमा, अस्पताल का लिया जायजा, कैमरों के साथ पहुंचीं मृतकों के घर• भारत ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी का फैसला, चोटिल पांड्या की जगह रविंद्र जाडेजा को मौका• बीच बचाव करने गए बुजुर्ग पर ही टूट पड़े, चौकी इंचार्ज ने जान पर खेलकर बचाई जान• कर्बला की ओर बढ़ते हर कदम के साथ हुसैन की कुर्बानी का दर्द और यजीद के खिलाफ गुस्सा दिखा • करीना कपूर ने फैमिली के साथ सेलिब्रेट किया अपना जन्मदिन, तस्वीरें आई सामने


नई दिल्लीः पाकिस्तान के बल्लेबाज फखर जमान ने विश्व रिकॉर्ड बनाया। बिना आउट हुए उन्होंने बना डाले 455 रन। सीरीज में 515 रन बनाने वाले फखर जमान इस 5 मैचों की सीरीज में सिर्फ दो बार आउट हुए। वह पहले मैच में 60 रन बनाकर आउट हुए थे।  फखर जमान ने बिना आउट हुए 455 रन बनाए।    

जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज में जमान ने 5 मैचों में 515 रन बना डाले और ’मैन ऑफ द सीरीज’ रहे। फखर ने आखिरी मैच में शानदार 85 रनों की पारी खेली। वो तो गनीमत रही कि शतक मुकम्मल नहीं कर पाए वरना वह वनडे में दोहरा शतक के बाद शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन जाते।

बहरहाल, भले ही जमान इस रिकॉर्ड को अपने नाम न कर पाए हों लेकिन उन्होंने इसी जद्दोजहद में 16 सालों पुराने रिकॉर्ड का काम तमाम कर दिया।

सीरीज में 515 रन बनाने वाले फखर जमान इस 5 मैचों की सीरीज में सिर्फ दो बार आउट हुए। वह पहले मैच में 60 रन बनाकर आउट हुए थे। इसके बाद उन्होंने दूसरे मैच में नाबाद 117, तीसरे मैच में नाबाद 43 और चौथे मैच में नाबाद 210 का स्कोर बनाया। पांचवें मैच में जाकर वह 85 रन बनाकर आउट हुए। इस तरह से वह वनडे में पूरे 7 दिन बाद 455 रन बनाकर आउट हुए।

यह कारनामा करने वाले फखर दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। उनके पहले यह रिकॉर्ड उनके ही हमवतन मोहम्मद यूसुफ के नाम था। यूसुफ ने साल 2002 में जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज में ही चार पारियों में 141 नाबाद, 76 नाबाद, 100 नाबाद और 88 रनों की पारियां खेलने के साथ कुल 405 रन बनाए थे। बहरहाल, 16 सालों के लंबे अंतराल के बाद यह रिकॉर्ड टूट गया है।

प्रवीण साहनी
 
2014 में अपने वॉन्टेड शो में मैंने सरदार सिंह गुर्जर की क्राइम कुंडली दिखायी थी। जिसके बाद सरदार सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया।
 
ये वॉन्टेड शो मेरे लिए एक मिशन था। जिससे हर अपराधी सलाखों के पीछे या ऊपर पहुंच जाए लेकिन आज झांसी से एक खबर आयी। जिसे देख कर लगा उत्तर प्रदेश में अपराधी जेल से अभी भी अपना नेटवर्क चला रहे हैं।
 
दरअसल मैंने अपने वॉन्टेड शो में संजय वर्मा व्यापारी नाम के भाई की हत्या कैसे सरदार सिंह ने की थी ये दिखाया था। आज उस संजय वर्मा पर सारेआम अंधाधुंध 20 गोलियां बरसाई गयीं।
 
जिसमें उसके ड्राईवर की मौके पर मौत हो गयी और संजय वर्मा की हालत गम्भीर बनी हुई है। अब एक सवाल मन में उठ रहा है कि सलाखों के पीछे पहुंच चुके अपराधी बिना किसी खौफ के अभी भी जेल से अपना नेक्सस चला रहे हैं।
 
ऐसे अपराधियों पर नकेल कब कसेगी, अभी कुछ दिन पहले ही मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या कर दी गयी। जिसके बाद जेलों में खूब छापेमारी और सख्ती बरतने की बड़ी-बड़ी बातें होने लगी लेकिन आज झांसी की घटना को देख कर लगता है ये सब दिखावा है।
 
आज भी अपराधी जेल के अंदर से ही बैठ-बैठे हत्याएं करवा रहे हैं। हमने 20 दिसंबर 2014 को इस कुख्यात अपराधी की पूरी क्राइम कुंडली दिखाई थी, देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें। 
 
 

पिथौरागढ़ः उत्तराखंड की नेशनल महिला बॉक्सर गीतिका राठौर ने जहरीला पदार्थ खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली है। पिथौरागढ़ के मुंगरोली गाँव की रहने वाली महिला बॉक्सर का घुटना फ्रेक्चर हो गया था जिस वजह से वो अपने भविष्य को लेकर काफी परेशान थीं। शुक्रवार को जहर खाकर उसने खुदखुशी कर ली।

नेशनल बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मैडल हासिल करने वाली पिथौरागढ़ की उभरती महिला बॉक्सर गीतिका राठौर हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कहकर चली गयीं। अपने बॉक्सिंग कैरियर को लेकर परेशान गीतिका ने जहर खाकर आत्महत्या कर लीं।

गौरतलब है कि देहरादून में हुई एक प्रतियोगिता के दौरान गीतिका का घुटना टूट गया था, ऑपरेशन के बाद उसका घुटना प्रत्यारोपित किया गया था। दुरुस्त होने के बाद गीतिका जब दोबारा बॉक्सिंग के मैदान में पहुंची तो उसे फिर से चोट आ गयीं। जिसके बाद गीतिका को वापस घर भेज दिया गया। इस वजह से गीतिका मानसिक अवसाद से गुजर रही थीं और अपने बॉक्सिंग करियर को लेकर परेशान थीं। 

18 साल की गीतिका राठौर की आत्महत्या को लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं। एक तरफ जहां लोग गीतिका के कोच पर सवाल खड़े कर रहे हैं तो कुछ लोग इसे राज्य सरकार की खेल और खिलाड़ियों की उपेक्षा करार दे रहे हैं।  

गीतिका राष्ट्रीय प्रतियोगिता में गोल्ड मेडलिस्ट थीं और उसने 2016 में हुई राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में राज्य का प्रतिनिधित्व भी किया था। दीपिका के जाने से उनके साथी खिलाड़ी और बॉक्सिंग फेडरेशन भी सदमे में हैं। 

राज्य में ये पहला मामला है जब अपने कैरियर को लेकर परेशान खिलाड़ी ने आत्महत्या कर ली है। ऐसे में जरूरत है उन प्रतिभावान खिलाड़ियों के भविष्य के बारे में सोचने की जो खेल के दौरान हुए हादसों में अपना भविष्य चौपट कर लेते हैं। 

अमरोहाः भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी आज अमरोहा पहुंचे और एक अख़बार के पर्यावरण कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए विकास भवन में वृक्षारोपण किया। शमी ने आज अपनी बेटी की ख़ुशी के लिए विकलांगो को ट्राई साइकिल वितरित किया। 

बेटी आयरा (बेबो ) का 17 जुलाई को जन्मदिन था। बेटी को याद करते हुए पहली बार अपने बड़े भाई हसीब को साथ लेकर विकलांगो को ट्राई साइकिल वितरित की और मिडिया के केमरो के सामने से बचते हुए निकल गए। 

 

वाराणसीः हॉकी खिलाड़ी पद्मश्री मोहम्मद शाहिद के परिवार की तरफ से सरकार की वादाखिलाफी से नाराज होकर पद्मश्री, अर्जुन पुरस्कार के अलावा अन्य पुरस्कार वापस किए जाने के फैसले 3 दिन बीत जाने के बाद खेल निदेशालय ने सीधा हस्तक्षेप किया है। निदेशक आरती सिंह ने मोहम्मद शाहिद की पत्नी प्रवीण को फोन कर उनकी हर मांग पूरी करने का आश्वासन दिया है। जिसके लिए खेल निदेशालय के अधिकारी वाराणसी आएंगे। 

मोहम्मद शाहिद के 2 साल पहले इंतकाल के बाद सरकार की तरफ से उनके नाम पर स्टेडियम का नाम रखने का वादा किया गया था। उनके नाम पर एक नेशनल टूर्नामेंट कराने और बेटे को एक अच्छी नौकरी देने का वादा भी किया गया था। लखनऊ में मोहम्मद शाहिद के नाम पर रखा गया जबकि बेटे को डीरेका में ही नौकरी मिली। 

हालांकि सरकार ने मोहम्मद शाहिद के नाम पर किसी तरह का कोई टूर्नामेंट नहीं कराया। इन बातों से नाराज मोहम्मद शाहिद की पत्नी परवीन का कहना है कि मोहम्मद शाहिद बनारस के होने की वजह से उनका नाम बनारस के ही किसी स्टेडियम का नाम उनके नाम पर करना चाहिए। 

2 दिन पहले वाराणसी के डीएम ने परवीन से मुलाकात कर जल्द से जल्द उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था लेकिन 2 दिन बीत जाने के बाद भी प्रशासन की तरफ से परिवार से कोई संपर्क नहीं किया गया।

इस बीच खेल निदेशालय निदेशक आर पी सिंह ने सीधे मोहम्मद शाहिद की पत्नी को फोन कर उनका हालचाल लिया। उन्होंने बताया कि खेल निदेशक ने उनकी मांगों के बारे में पूछा और यह भरोसा दिलाया कि जो भी बात होगी उन्हें पूरा किया जाएगा। 

वाराणसी में स्टेडियम का नाम मोहम्मद शाहिद के नाम से तो नहीं होगा लेकिन नए बन रहे एस्ट्रोटर्फ को शाहिद का नाम दिया जा सकता है। परवीन ने बताया कि खेल निदेशक ने भरोसा दिलाया है कि वह उनके बेटे ट्रांसफर के लिए रेल मंत्रालय से बात करेंगे। 

परवीन ने कहा कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वे पीएम से मिलकर सारे अवार्ड वापस कर देंगी। दिल्ली जाने के लिए टिकट भी बुक हो गया है। 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: