Headline • आगरा को हॉकी के विश्व पटल पर मिलेगी नई पहचान:  चेतन चौहान• योगी पहुंचे गोरखपुर, कई योजनाओं को किया लोकार्पण व शिलान्यास, बांटे प्रमाण पत्र• चुड़ैल समझ कर महिला की हत्या कर दी, अपराध छुपाने के लिए लाश को जंगलों में फेंका• फर्रुखाबाद: सड़क दुर्घटना नहीं हत्या कर लाश फेंकी गई थी, पत्नी ने प्रेमी संग दी पति और भतीजे की हत्या की सुपारी• कायमगंज में अंबेडकर प्रतिमा का हाथ तोड़कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश, बसपा नेता ने स्थिति संभाली• नवरात्र पर प्रशासन चलाएगा शौचालय की पूजा का कार्यक्रम, कई संगठनों ने किया विरोध का ऐलान• मोहर्रम बवाल पर बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल समेत 150 पर केस, 750 ताजिएदारों पर भी केस• अध्यादेश के बाद राजधानी में आया तीन तलाक का मामला, दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर दिया तलाक• राजधानी में बदमाशों के हौसले बुलंदी पर, अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य रुमाना सिद्दीकी के बेटे को बुरी तरह पीटा• 'थोड़ी सी महंगाई बढ़ने पर सुषमा स्वराज बाल खोलकर सड़क पर उतर जाती थी, अब क्यों चुप है'• ओलांद के बयान के बाद राहुल गांधी का वार, बंद दरवाजे निजी तौर पर मोदी ने डील करवाई है• दो दिवसीय दौरे पर अगले हफ्ते फिर अमेठी आ रहे हैं राहुल गांधी, योजनाओं के लेकर मंत्रियों को लिखा खत• अवैध शराब बनाते बसपा के पूर्व विधायक गिरफ्तार, बंद पड़े स्कूल में चला रहे थे कारोबार• हापुड़ में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान युवक नहर में डूबा, गोताखोर तलाश करने में जुटे• नील नितिन मुकेश के घर आई एक नन्ही परी• जानें राजनीति में आने के सवाल पर राहुल द्रविड़ ने क्या जवाब दिया• विवादों के बाद सन्नी देओल की फिल्म मोहल्ला अस्सी रिलीज को तैयार, फर्स्ट लुक जारी• कातिल सौतन! पूर्व पति की शादी को नहीं कर पाई बर्दाश्त, कराया जानलेवा हमला, महिला की मौत• अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलीं पूर्व मेयर, कहा-समय पर लिया होता फैसला तो नहीं देखने पड़ते ये दिन• तारीख से लौट रहे दामाद को अगवा कर ससुरालियों ने की जमकर पिटाई, पुलिस ने बचाई जान• 80 मौत के बाद जागीं मंत्री अनुपमा, अस्पताल का लिया जायजा, कैमरों के साथ पहुंचीं मृतकों के घर• भारत ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी का फैसला, चोटिल पांड्या की जगह रविंद्र जाडेजा को मौका• बीच बचाव करने गए बुजुर्ग पर ही टूट पड़े, चौकी इंचार्ज ने जान पर खेलकर बचाई जान• कर्बला की ओर बढ़ते हर कदम के साथ हुसैन की कुर्बानी का दर्द और यजीद के खिलाफ गुस्सा दिखा • करीना कपूर ने फैमिली के साथ सेलिब्रेट किया अपना जन्मदिन, तस्वीरें आई सामने


बागपतः एशियन गेम्स की जूनियर कुश्ती प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर लौटे बागपत के पहलवान का सम्मान किया गया। ग्रामीणों ने पहलवान के स्वागत में जमकर ढोल नगाड़े बजाए। सम्मान सभा का आयोजन किया। कुश्ती प्रतियोगिता जीतकर लोटे पहलवान सचिन राठी के सम्मान में आयोजित सभा में हजारों ग्रामीणों ने हिस्सा लिया।

वहीं सभा में मुख्य अतिथि के रूप शामिल किसान नेता नरेश टिकैत ने कुश्ती को और बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण स्तर पर प्रतियोगिता कराने पर जोर दिया। 

उन्होंने कहा कि कुश्ती हमारा गांव का खेल है। बच्चा बच्चा यह खेल जानता है। अगर सुविधाएं मिले तो हर गांव से पहलवान निकल सकता है।

सचिन राठी ने कुश्ती में मंगोलिया के पहलवान को हराकर देश के नाम गोल्ड मेडल जीता। उसकी उपलब्धि पर ग्रामीणों में खुशी का माहौल है। पहलवान के गांव गांगनोली में हर घर में जश्न मनाया गया। 

21 जुलाई को दिल्ली में एशियन कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन हुआ था। जिसमें बागपत के पहलवान सचिन राठी ने मंगोलिया के पहलवान को हराया और स्वर्ण पदक जीता। जिसके बाद आज सचिन राठी अपने जनपद और घर वापस आया तो उसका जोरदार स्वागत किया गया। 

दर्जनों किलोमीटर तक गांव वाले सचिन को तिरंगे के साथ खुली गाड़ी में लेकर गए। वही सचिन ने बताया के अब वो आने वाले ओलंपिक में देश के नाम गोल्ड मेडल जीतना चाहता है। इससे पहले राज्य व नेशनल लेवल पर सचिन आधा दर्जन सिल्वर, ब्रोन्ज व गोल्ड मेडल जीत चुके हैं। 

 

गोरखपुर: क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान में अपने दोस्त के राजतिलक में क्या पहुंचे बवाल खड़ा हो गया। आखिर क्यों ना बवाल खड़ा हो।

सबसे बड़ी बात रही राजनीतिक गुरु और मुंहबोले पिता का निधन हो गया और चिता की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि दोस्त के राजतिलक में जाना जरूरी हो गया। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में नवजोत सिंह सिद्धू भारत से अकेले पहुंचे थे। 

इधर, पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई का निधन हो गया। अटल बिहारी वाजपेई को नवजोत सिंह सिद्धू अपना पिता मानते थे और राजनीतिक गुरु मानते थे।

उनकी चिता की आग भी ठंडी नहीं हुई थी नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान चले गए। और वहां पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल बाजवा से गले मिले। 

नवजोत सिंह सिद्धू दावत खाने भारत के दुश्मन पाकिस्तान में जाकर दावत खाना कितना उचित है जिसको लेकर भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया।

कार्यकर्ताओं ने नवजोत सिंह सिद्धू का प्रतीकात्मक पुतला फूंका। टाउनहाल गांधी प्रतिमा के समक्ष दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सिद्धू शर्म करो जैसे नारों के साथ पुतला फूंका। 

 

  नई दिल्ली : इंडोनेशिया में आज से 18वें एशियन गेम्स की शुरुआत हो गई है। इस बार 10 ऐसे खेल हैं, जो पहली बार इन खेलों का हिस्सा बने हैं।

18वें एशियन गेम्स जकार्ता और पालेमबांग में 18 अगस्त से होने हैं। यह खेल प्रतियोगिता 2 सितम्बर तक जारी रहेंगी। इसका उद्घाटन समारोह भारतीय समयानुसार शाम 5.30 बजे से हो गया । इसके बाद, प्रतिस्पर्धा करने वाले देशों की टीमों की परेड निकलेगी. इस समारोह का समापन रात नौ बजे होगा। 18 अगस्त से 2 सितंबर तक चलने वाले इस एशियाई महाकुंभ में 40 खेलों की लगभग 67 स्पर्धाएं होंगी। जहां 28 ओलंपिक स्पोर्ट्स, 4 नए ओलंपिक स्पोर्ट्स और 8 नॉन ओलंपिक स्पोर्ट्स खेले जाएंगे। इस बार भारत ने 34 खेलों में अपनी भागीदारी को तय किया है।

ताश के पत्तों का खेल पहली बार एशियन गेम्स का हिस्सा बना है। इसमें दो खिलाड़ियों की जोड़ी प्रतिद्वंद्वी टीम को टक्कर देती है। इसमें चार गोल्ड के लिए 14 देशों के 217 खिलाड़ी उतरेंगे।

3 गुणा 3 बॉस्केटबॉल : इस खेल में चार खिलाड़ियों की एक टीम शामिल होती है। बॉस्केटबॉल का खेल फुल कोर्ट पर होता है, जबकि इस इवेंट का खेल हॉफ कोर्ट पर होता है।

जेट स्की : इस खेल का आयोजन 23 से 26 अगस्त तक जकार्ता के एनकोल बीच पर होगा। 

पैराग्लाइडिंग : इस इवेंट में एथलीट दो वर्गो में हिस्सा लेंगे। इसमें छह गोल्ड मेडल दांव पर होंगे।

पेनकेक सिलाट : यह पारंपरिक इंडोनेशियाई मार्शल आर्ट्स का एक प्रकार है। मेजबान देश ने मार्शल आर्ट्स के ऐसे तीन इवेंट एशियन गेम्स में शामिल किए हैं। 

जु-जित्सु : शतरंज की तरह खेले जाने वाले इस मार्शल आर्ट्स इवेंट में रणनीति और योजना की भूमिका अहम होती है। इसमें आठ गोल्ड दांव पर होंगे।

साम्बो : बिना हथियारों के आत्मरक्षा का गुण सिखाने वाली इस इवेंट को भी पहली बार एशियन गेम्स में जगह मिली है। इसमें चार गोल्ड दांव पर हैं। 

कुराश : यह उज्बेकिस्तान का पारंपरिक मार्शल आर्ट्स है। यह जूडो और कुश्ती के संयोजन से बना है। 

क्लाइंबिंग : इसमें छह गोल्ड मेडल दांव पर होंगे।

रोलर स्पोर्ट्स : यह स्केटबोर्डिग और इन लाइन स्पीट स्केटिंग की स्पर्धा है। इसमें छह गोल्ड मेडल दांव पर होंगे।

 

मुजफ्फरनगर:  विश्व हिंदू परिषद की फायर ब्रांड नेत्री साध्वी प्राची शनिवार को फिर आक्रामक रूप में दिखाई दी। हमेशा से विवादित बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाली  साध्वी प्राची आर्य ने सिद्धू के पाकिस्तान जाने  को लेकर कांग्रेस पर जमकर प्रहार दिया। 

यहीं नहीं  साध्वी ने दिल्ली से हरिद्वार जाते समय मीडिया से रूबरू होते हुए कांग्रेस नेत्री श्रीमती सोनिया गांधी को गोरी चमड़ी वाली तक कह दिया और सिद्धू को कांग्रेस और सोनिया गांधी का जोकर बताते हुए उन्हें पाकिस्तान में ही रहने की सलाह दे डाली।

दरअसल, दिल्ली से हरिद्वार जाते वक्त  साध्वी प्राची आर्य मीडिया से रूबरू  हुई। बातचीत के दौरान वे कांग्रेस और नवजोत सिद्धू को जमकर निशाना बनाया। उनका कहना था कि इस समय हिंदुस्तान अटलजी के गम में डूबा हुआ है। लेकिन कांग्रेस के कुछ जोकर अपनी आदत से बाज नहीं आ रहे हैं।

कांग्रेस के संस्कार है यह कि पाकिस्तान जाकर कांग्रेस का जोकर पाकिस्तान के चीफ से गलबहियां कर रहा है। शर्म आनी चाहिए सोनिया गांधी को। यह कोई ना कोई नई साजिश रच रहे हैं।

प्राची ने कहा कि इन लोगों का पासपोर्ट जब्त किया जाना चाहिए और इन्हें पाकिस्तान में ही रहना चाहिए। हिंदुस्तान में ऐसे लोगों की कोई जरूरत नहीं है। सीमा पर खड़े होकर जवान हिंदुस्तान की रक्षा करते हैं और वह शहीद हो जाते हैं, क्या कभी यह जोकर ने शहीद की पत्नी से मुलाकात की है। 

पूर्व प्रधानमंत्री  अटल बिहारी के निधन के बाद  फिल्म इंडस्ट्रीज के लोगों द्वारा उनकी शोक सभा में शामिल  नहीं होने पर भी साध्वी काफी गुस्से में नजर आईं। उन्होंने कहा कि फिल्म इंडस्ट्रीज के लोग  अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के इशारे पर नाचते हैं। 

 

मेरठः दो युवकों ने दिनदहाड़े स्टेडियम में घुसकर एथलेटिक्स कोच को गोली मार दी ओर फरार हो गये। घायल कोच को आनन फानन में स्टेडियम के  खिलाड़ियों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पीड़ित की गंभीर हालात को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे आनंद हास्पिटल के लिए रेफर कर दिया।

हालांकि घायल कोच संदीप रंधावा ने दोनों आरोपियों को पहचान लिया है। घायल की निशानदेही पर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। 

बता दें कि सिविल लाइन थाना क्षेत्र के कैलाश प्रकाश स्पोटर्स स्टेडियम में खरखौंदा के रहने वाले संदीप रंधावा एथलेटिक्स के कोच हैं। स्टेडियम में सिविल सर्विस एथलिट के ट्रायल चल रहे हैं।

गुरुवार को संदीप खिलाड़ियों के ट्रायल ले रहे थे। सीओ राम अर्ज के अनुसार उसी समय स्टेडियम के अंदर कोच संदीप के पास अंशुल और शेखर नाम के दो युवक आये और  दोनों युवकों ने कोच संदीप से बात करनी शुरु कर दी।

बात करते समय अचानक से शेखर नाम के युवक ने कोच संदीप को तमंचे से गोली मार दी। जिससे कोच संदीप गंभीर रुप से घायल हो गये। दोनों युवक घटना को अंजाम देकर मौके से फरार हो गये। हालांकि पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए सीओ ने आरोपी युवकों की तलाश शुरु कर दी है।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: