Headline • दलित किशोरी को अगवा कर गैंगरेप की कोशिश, हैवानों से लड़कर थाने पहुंचीं और रिपोर्ट दर्ज कराई• लुटेरी फैमिली गिरफ्तार, महिलाएं करती हैं गैंग का नेतृत्व, ज्वेलरी शॉप से उड़ाए थे 50 लाख के गहने• सांसद बालियान के प्रतिनिधि की आंख में मिर्च झोंककर लूट करने वाले बदमाश गिरफ्तार • विहिप नेता सुरेंद्र जैन बोले, योगी और मोदी पर पूरा भरोसा, 5 अक्टूबर को होगी आंदोलन की रूपरेखा तय• मेरठ पुलिस को शर्मिंदा करने वाला वीडियो वायरल, मेडिकल स्टूडेंट के साथ गाली गलौच और मारपीट• सपा नेता ने कहा, कांवड़ यात्रा का विरोध करता हूं, भोले और राम से लड़ना होगा, बीजेपी की जान इनमें है• सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मनोज तिवारी को फटकार, कहा-जगह बताइए हम आपको सिलिंग ऑफिसर बना देंगे• सड़क दुर्घटना में नामचीन गायक और पत्नी घायल, 2 साल की बेटी की मौत• चार माह तक बंद रहेंगी चमड़ा फैक्ट्रियां, शासनादेश जारी, होंगे 11 लाख मजदूर बेरोजगार • बंगलूरु के नशा मुक्ति केंद्र में इलाज करा रहे हैं कपिल शर्मा, जल्द स्वस्थ्य होकर लौटेंगे टीवी पर• अफगानिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का निर्णय, धोनी कर रहे है भारतीय टीम की कप्तानी• पुलिस के सामने मोबाइल चोर के आरोपी को भीड़ ने पीटा, मामला उछलने पर दिया कार्रवाई का भरोसा• वाह री मेरठ पुलिस! एफआईआर से आरोपी का नाम हटाकर ऐसे व्यक्ति का नाम जोड़ दिया जो इस दुनिया में नहीं है• हरिद्वार की अंडर-16 क्रिकेट टीम के चयन का मामला पहुंचा नैनीताल हाईकोर्ट  • संभल में एसिड अटैक की घटना निकली झूठी, ससुरालियों को फंसाने के लिए भाई से ही डलवा ली थी एसिड की कुछ छींटे • BJP नेता कुसुम राय पर आरोप, पुलिस पर दबाव डालकर गिरवाई पड़ोसी के घर की दीवार, पीड़ित की सुनवाई नहीं• योगी सरकार ने गन्ना किसानों को दी बड़ी सौगात• पुलिस ने 80 साल के बुजुर्ग को बनाया बलात्कारी, जेल में हुई मौत,परिजन मांग रहे न्याय• आज से शुरू होगा कसौटी जिंदगी की, प्रोमो में दिखी थी कोमोलिका की झलक• कन्नौज के डबल मर्डर के आरोपी ममेरे भाइयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 21 सितंबर को हुई थी हत्या• प्रेमिका की जिद पर बीवी को दिया फोन पर तलाक, फिर थाने में कर लिया प्रेमिका से निकाह• हमीरपुरः कंस मेले के रूट को लेकर बवाल, आयोजकों की जिद के आगे झुका प्रशासन• सफाईनायक से बीजेपी विधायक बोले, सुधर जाओ नहीं तो 1 घंटे में मुकदमा दर्ज कर सीधा जेल भिजवा दूंगा• बीएचयू में देर रात हुए बवाल के बाद हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टर,स्वास्थ्य सेवा चरमराई• सपना चौधरी को बर्थड़े पर मिला ये सरप्राइज, सेलिब्रेशन के वीडियो हो रहे वायरल


मेरठ: जिस मेरठ कॉलेज के छात्रों ने देश ही नहीं विदेशों में भी नाम जमाया है यहां के छात्र प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्य चुनाव आयुक्त, जैसे जिम्मेदार पदों पर रहे हैं, आज शिक्षा का माहौल को सुधरने की जरूरत पैदा हो गई है।

कालेज प्रशासन ने तय किया है कि अब कोई भी छात्रा कॉलेज में मुँह पर कपड़ा बांध कर नहीं आएगीे। केवल वहीं छात्र व छात्राएं आ सकेंगी जिनके पास परिचय पत्र होगा, इसके लिए अचानक चैकिंग की जा रही है इस कुछ छात्राओं ने समर्थन किया है तो कुछ की मिलीजुली राय है। 

मेरठ कॉलेज मेरठ का अपना एक गौरवशाली इतिहास रहा है। इस कॉलेज देश के प्रधानमत्री रहे चौधरी चरण सिंह, मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी, कई राज्यपाल और वर्त्तमान में बिहार के राजयपाल सत्यपाल मलिक ने यहाँ पर शिक्षा ली है। 

यहीं नहीं कुछ छात्रों में विदेशो में रहकर इस इस कालेज की शान में चार  चाँद लगाए हैं लेकिन अभी कुछ सालों से पढाई का स्तर नीचे आया है। 

इसी को ध्यान में रखते हुए कालेज प्रशासन में कड़े कदम उठाये हैं। अब कोई छात्रा मुँह पर कपड़ा बांधकर कालेज में नहीं आ सकेंगी। रही पहनावे की बात ये भी तय किया गया है कि शालीन कपडे पहनकर की आना होगा।

कॉलेज की प्रिन्सिपल और चीफ प्रॉक्टर का कहना है कि जिस छात्र या छात्रा पर कालेज का परिचय पत्र नहीं होगा उसको कालेज में प्रवेश नहीं करने दिया जायेगा। 

कॉलेज प्रशासन की इस फैसले से छात्राओं की मिली जुली राय सामने आई है। छात्राओं का कहना है कि यहाँ पर पढाई करने के लिए आते है ना कि घूमने के लिए। इसलिए कालेज प्रशासन का ये कदम सही है।  कुछ छात्राओं का मानना है कि सड़कों पर हर तरह  लोग रहते हैं। इस मुँह पर कपडे बंधे होने से बुरी नज़र से बचाव होता है लेकिन कॉलेज में कपड़ा नहीं होना चाहिए ।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर



वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: