Headline • राफेल पर राहुल का पीएम मोदी पर वार, कहा- 'चौकीदार ने अनिल अंबानी से चोरी करवाई'• मैनपुरी : चाचा ने नाबालिग भतीजी के साथ किया दुष्कर्म• कच्ची शराब का विरोध करना पड़ा भारी,दबंगों ने तोड़ दिया महिला का पैर• शादी के 20 साल बाद पति ने खत भेजकर पत्नी को दिया तीन तलाक• गोरखपुर: धोखाधड़ी के मामले में भाई के साथ गिरफ्तार हुए डॉ. कफील खान• '67 साल में 65 एयरपोर्ट बने, हमने चार साल में 35 बनाए'• अमेठी : दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी, की शिव की पूजा, देखें वीडियो • 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया आमिर खान का लुक • पीएम मोदी ने किया सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन• अमेठी : दौरे से पहले लगे राहुल गांधी के 'शिव भक्त' वाले पोस्टर• मुरादाबाद में महिला की गोली मारकर हत्या, 4 पर मुकदमा दर्ज• गाजियाबाद : दबंगों ने किया दलित परिवार पर हमला, आरोप- झाड़ू-पोछा और गाड़ी साफ करने का दबाव बनाते हैं सोसाइटी के कुछ लोग• बुलंदशहर : खड़े ट्रक में घुसी रोडवेज बस, दो की दर्दनाक मौत, 2 दर्जन यात्री घायल• गोरखपुर : शोहदों और गुंडों का आतंक, स्कूल पर लगा ताला• अाज से दो दिवसीय अमेठी दौरे पर रहेंगे राहुल गांधी, जानिए मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम • अस्पतालों में बच्चों की मौत पर योगी के मंत्री का शर्मनाक बयान, कहा- मां-बाप है जिम्मेदार• पत्रकार सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे 'समाचार प्लस' के CEO उमेश कुमार• पीएम मोदी ने किया दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत का शुभारंभ• सपा की साइकिल यात्रा के समापन पर एक साथ दिखे अखिलेश और मुलायम सिंह यादव • गोरखपुर : सीएम योगी ने किया 'आयुष्मान भारत योजना' का शुभारंभ • महंत नृत्य गोपालदास बोले- 'राम मंदिर का निर्माण नहीं कराया तो भाजपा और मोदी के लिए घातक होगा'• गोरखपुर : बाइक को टक्कर मारने के बाद जीप पलटी, 3 की दर्दनाक मौत, 5 घायल• बीजेपी के कार्यक्रम में बार-बालाओं ने किया डांस,सांसद बाबू लाल के स्वागत में लगे ठुमके• आज से शुरू होगी आयुष्मान भारत योजना,पीएम मोदी झारखंड से करेंगे शुभारंभ• आगरा में दर्दनाक सड़क हादसा, चार लोगों की मौत


नई दिल्ली. हरियाणा में CBSE टॉपर और राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित छात्रा से गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि 19 साल की लड़की को कुछ युवकों ने लिफ्ट देने के बहाने किडनैप किया और रेप कर फरार हो गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दिया। 

-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह घटना रेवाड़ी जिले की है। 

-बुधवार को सेकेंड ईयर की छात्रा कोचिंग से घर के लिए निकली थी। तभी कार सवार तीन युवक उसके पास आए।

-आरोप है कि उन्होंने उसे आगे लिफ्ट देने के बहाने कार में बैठा लिया। रास्ते में आरोपियों ने उसे नशीला पदार्थ दे दिया। जिसके बाद उससे गैंगरेप किया गया। इसके बाद आरोपी उसे बस स्डैंड पर फेंककर फरार हो गए। 

-घटना के बाद पीड़िता किसी तरह घर पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने पीड़िता के परिजनों की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है। 

-छात्रा  CBSE की टॉपर रह चुकी है और दिल्ली में उसे राष्ट्रपति की ओर से सम्मानित भी किया गया  था। 

सहारनपुर. यूपी के सहारनपुर जिले के शब्बीरपुर जातीय हिंसा के मुख्य आरोपी भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण को सरकार ने समय से पहले रिहा कर दिया। चंद्रशेखर के साथ उनके दो साथियों को भी रिहा कर दिया गया है। शुक्रवार सुबह करीब 02 बजकर 25 मिनट पर उन्हें जेल से रिहा कर दिया गया। जेल से बाहर आते ही उन्होंने बीजेपी के खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया है। 

-सहारनपुर भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्रशेखर उर्फ रावण के रिहा होते हुए जेल के बाहर खड़े सैकड़ों लोगों की भारी भीड़ पुलिस फोर्स के सभी प्रतिबन्धों को तोड़ कर अपने नेता के स्वागत में जुट गए।

-इस मौके पर चन्द्रशेखर ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील के साथ ही अपनी रिहाई को इंसाफ की जीत बताई। 

बीजेपी पर बोला हमला

-मीडिया से बात करते हुए चन्द्रशेखर उर्फ रावण ने बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला। 

-उन्होंने कहा कि सरकार की हिम्मत नहीं है मेरा सामना करने की। वो रेस में अकेले दौड़कर ये कहना चाहती है कि हम बहुत बड़े बलवान है, मैं चाहता हूं कि मेरे बाहर रहने तक दौड़े वो मैं भी देख लूंगा कितने पानी मैं है सरकार...मेरा पूरा प्रयास है कि भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंके, लेकिन मेरा राजनीति करने का मन नहीं है, तो इसलिए 2019 में हम गठबंधन के साथ ही जाएंगे।  

16 महीने बाद हुई रिहाई 

-बता दें कि रावण रासुका के तहत 16 महीने से जेल में बंद था। चंद्रशेखर उर्फ रावण की रिहाई 1 नवंबर 2018 को होनी थी। लेकिन  रावण की मां के प्रार्थनापत्र पर शासन ने यह फैसला लिया है।

-चंद्रशेखर उर्फ रावण को पुलिस ने 8 जून 2017 को हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार किया गया था। 

 

जौनपुर :  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को जौनपुर पहुंचे। यहां सीएम ने सपा और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि धर्म, जाति, मजहब, गरीबी हटाने की बात करने वाले यह जान लें, समाजवाद, साम्यवादवाद नहीं राम राज्य से भारत चलेगा।

-सीएम ने कहा 1994-95 में प्रदेश में अराजकता चरम पर थी। इसके खिलाफ आवाज उठाते हुए शहीद हुए पूर्व मंत्री उमानाथ सिंह के नाम से अब जौनपुर में बन रहे राजकीय मेडिकल कॉलेज का नामकरण होगा। 

-मुख्यमंत्री ने कहा कि जौनपुर पंडित दीनदयाल जी की कर्मभूमि रही है। यहीं उन्होंने अंत्योदय की बात की थी। इसी भाव को शहीद हुए उमानाथ सिंह ने आगे बढ़ाया और तत्कालीन सपा सरकार के खिलाफ आवाज उठाई। उन्होंने वैचारिक प्रतिबध्दता को आगे बढ़या। अब सरकार समानता का भाव पैदा करने का काम कर रही है। पहली बार गरीबों के बैंक खाते खोले जा रहे हैं। इससे यदि सरकार के धन का एक-एक रूपया यदि किसी योजना के नाम पर भेज जाए तो वह सीधे उनके खाते में पहुंचे। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत  25 करोड़ खाते खोले गए। 82 करोड़ रुपये उनके द्वारा बैंक खाते में जमा किया गया।

-सीएम योगी ने कहा कि पीएम आवास 2022 तक आवास उपलब्ध कराने की योजना चल रही है, लेकिन पूर्व की राज्य सरकार ने इसमें रुचि नहीं ली, क्योंकि उनके संस्कारो की कमी है, जिसे उन्होंने जन्म से नहीं सीखा। 2014 से 8 लाख 85 हजार आवास तैयार किए। स्वच्छ भारत मिशन चलाया जा रहा है। दो अक्टूबर 2018 से 2 अक्टूबर 2020 तक विशेष कार्यक्रम चलेगा। गांधी दर्शन अभियान नहीं आंदोलन बनना चाहिए।

-सीएम योगी ने कहा कि गोरखपुर और उसके ज़िले में रोगों से सैकड़ो मौते हुई। मीडिया से खूब हल्ला किया। 40 साल के आकड़ें को देखेंगे तो अगस्त माह में 400 मरीज भर्ती होते थे, जिनमें सैकडों की मौत होती थी। इस बार 8 मौतें हुई है। 15 सितम्बर स्वछता ही देश सेवा है कार्यक्रम चलेगा। हर नागरिक की हिस्सेदारी होनी चाहिए।

-अंत में मुख्यमंत्री ने कहा कि दो अक्टूबर तक बेस लाइन सर्वे के आधार पर जिलों को ओडीएफ घोषित किया जाएगा। इसके बाद छूटे  बेस लाइन सर्वे से छूटे शौचालय विहीन लोगों के लिए भी एक-एक शौचालय का निर्माण कराया जाएगा।

नई दिल्लीः अरबों रुपए लेकर फरार हुए शराब कारोबारी विजय माल्या के बयान के बाद राजनीति में भूचाल आ गया है। कल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम से इसकी जांच कराने की मांग की थी तो आज राहुल गांधी ने प्रेसवार्ता कर जेटली पर आर्थिक अपराध में शामिल होने का आरोप लगाया।

राहुल गांधी ने कहा कि जेटली जी सभी मुलाकातों पर ब्लॉग लिखते हैं लेकिन इस मुलाकात पर कुछ नहीं कहा। इससे पता चलता है कि वे पूरे मामले को छिपाना चाहते थे। यह इकोनॉमिक ऑफेंडर है। 

राहुल गांधी ने कहा कि विजय माल्या द्वारा लगाए गए आरोप बेहद गंभीर हैं। प्रधानमंत्री को इस मामले में तुरंत एक स्वतंत्र जांच करानी चाहिए। जब तक जांच पूरी हो, तब तक अरुण जेटली को वित्त मंत्री के पद पर नहीं रहना चाहिए। 

बुधवार को प्रत्यर्पण के मामले में चल रही सुनवाई के दौरान शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बयान देकर भारतीय राजनीति में हलचल मचा दी। माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले वित्तमंत्री से मिलकर आए थे। माल्या ने कहा, ’वह सेटलमेंट को लेकर वित्त मंत्री से मिले थे, लेकिन बैंकों ने मेरे सेटलमेंट प्लान को लेकर सवाल खड़े किए।’ माल्या ने कहा कि वह अपना बकाया चुकाने के लिए तैयार हैं। 

इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ब्लॉग लिखकर इन सभी आरोपों को खारिज किया। जेटली ने अपने ब्लॉग में लिखा, ’विजय माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले सेटलमेंट ऑफर को लेकर मुझसे मिले थे। तथ्यात्मक रूप से यह बयान पूरी तरह झूठ है। 2014 से अब तक मैंने माल्या को मुलाकात के लिए कोई अपॉइंटमेंट नहीं दिया है, ऐसे में मुझसे मिलने का सवाल ही नहीं उठता।’ 

जेटली ने कहा, ’वह राज्यसभा सदस्य थे और कभी-कभी सदन में आते थे। सदन की कार्रवाई के बाद एक बार मैं अपने कमरे की तरफ जा रहा था। वह दौड़ते हुए मेरी तरफ आए। इस दौरान उन्होंने कहा था,’मैं सेटलमेंट के लिए एक ऑफर तैयार कर रहा हूं।’ मैंने उनके ऑफर को जानने की भी कोशिश नहीं की। मैंने माल्या से कहा, ’यह बात अपने बैंकों के सामने रखनी चाहिए।’ 

हालांकि इसके कुछ देर बाद विजय माल्या ने सफाई देते हुए कहा, ’मैंने संसद में उनसे मुलाकात की थी और उन्हें बताया था कि मैं लंदन के लिए निकल रहा हूं। 

वाराणसीः काशी हिन्दू विश्वविद्यालय यानि बीएचयू में मेस को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। कल विश्वविद्यालय के बिरला सी छात्रावास  के छात्रों द्वारा खाने के विवाद को लेकर की गई मारपीट और तोड़फोड़ के बाद से ही यूनिवर्सिटी में अराजकता का माहौल बना हुआ हैं।

गुरुवार को अय्यर छात्रावास के छात्र अपनी सुरक्षा और बवाल करने वाले छात्रों की बर्खास्तगी की मांग को लेकर छात्रावास के गेट के बाहर धरने पर बैठ गए।

बिरला सी छात्रावास के कई छात्रों की पहचान हुई हैं जो इस बवाल में भाग लिया था। अय्यर छात्रावास के शोध छात्रों के आक्रोश को देखते हुए अतिरिक्त फोर्स तैनात की गई है। छात्रों ने विज्ञान संकाय को बंद करने की अपील की है। 

विश्व विद्यालय के शोध छात्र शुभम ने बताया कि कल बड़ी संख्या में आए छात्रों ने हमारे दो साथियों को मारा और गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। छात्रावास के अंदर भी टेबल, मेज, मिरर को तोड़ दिया। जिन बवाली छात्रों की पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हुई हैं, उनको विश्व विद्यालय से बर्खास्त किया जाये।  होस्टल की सुविधा छीनी जाए।  

विज्ञान संकाय के छात्रों ने कहा कि बवाली छात्रों की गिरफ्तारी होनी चाहिए। साथ ही हमलोग के हुए नुकसान की भरपाई के साथ विश्वविद्यालय सुरक्षा की जिम्मेदारी भी लें।  

छात्र ने बताया कि कल शाम जब हम लोग कुलपति से मिलकर अपने नुकसान के बारे में बताया तो कुलपति ने कहा कि ये तुम्हारी जिम्मेदारी हैं। विश्वविद्यालय बच्चों की सुरक्षा के प्रति जिम्मेदार नहीं हैं।  वीसी चाहते हैं कि हमलोग धरने से उठ जाए। लेकिन अगर एफआईआर दर्ज नहीं होती हैं और गिफ्तारी नहीं होती है तो हम धरने से नहीं उठेंगे। 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: