Headline • दलित किशोरी को अगवा कर गैंगरेप की कोशिश, हैवानों से लड़कर थाने पहुंचीं और रिपोर्ट दर्ज कराई• लुटेरी फैमिली गिरफ्तार, महिलाएं करती हैं गैंग का नेतृत्व, ज्वेलरी शॉप से उड़ाए थे 50 लाख के गहने• सांसद बालियान के प्रतिनिधि की आंख में मिर्च झोंककर लूट करने वाले बदमाश गिरफ्तार • विहिप नेता सुरेंद्र जैन बोले, योगी और मोदी पर पूरा भरोसा, 5 अक्टूबर को होगी आंदोलन की रूपरेखा तय• मेरठ पुलिस को शर्मिंदा करने वाला वीडियो वायरल, मेडिकल स्टूडेंट के साथ गाली गलौच और मारपीट• सपा नेता ने कहा, कांवड़ यात्रा का विरोध करता हूं, भोले और राम से लड़ना होगा, बीजेपी की जान इनमें है• सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मनोज तिवारी को फटकार, कहा-जगह बताइए हम आपको सिलिंग ऑफिसर बना देंगे• सड़क दुर्घटना में नामचीन गायक और पत्नी घायल, 2 साल की बेटी की मौत• चार माह तक बंद रहेंगी चमड़ा फैक्ट्रियां, शासनादेश जारी, होंगे 11 लाख मजदूर बेरोजगार • बंगलूरु के नशा मुक्ति केंद्र में इलाज करा रहे हैं कपिल शर्मा, जल्द स्वस्थ्य होकर लौटेंगे टीवी पर• अफगानिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का निर्णय, धोनी कर रहे है भारतीय टीम की कप्तानी• पुलिस के सामने मोबाइल चोर के आरोपी को भीड़ ने पीटा, मामला उछलने पर दिया कार्रवाई का भरोसा• वाह री मेरठ पुलिस! एफआईआर से आरोपी का नाम हटाकर ऐसे व्यक्ति का नाम जोड़ दिया जो इस दुनिया में नहीं है• हरिद्वार की अंडर-16 क्रिकेट टीम के चयन का मामला पहुंचा नैनीताल हाईकोर्ट  • संभल में एसिड अटैक की घटना निकली झूठी, ससुरालियों को फंसाने के लिए भाई से ही डलवा ली थी एसिड की कुछ छींटे • BJP नेता कुसुम राय पर आरोप, पुलिस पर दबाव डालकर गिरवाई पड़ोसी के घर की दीवार, पीड़ित की सुनवाई नहीं• योगी सरकार ने गन्ना किसानों को दी बड़ी सौगात• पुलिस ने 80 साल के बुजुर्ग को बनाया बलात्कारी, जेल में हुई मौत,परिजन मांग रहे न्याय• आज से शुरू होगा कसौटी जिंदगी की, प्रोमो में दिखी थी कोमोलिका की झलक• कन्नौज के डबल मर्डर के आरोपी ममेरे भाइयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 21 सितंबर को हुई थी हत्या• प्रेमिका की जिद पर बीवी को दिया फोन पर तलाक, फिर थाने में कर लिया प्रेमिका से निकाह• हमीरपुरः कंस मेले के रूट को लेकर बवाल, आयोजकों की जिद के आगे झुका प्रशासन• सफाईनायक से बीजेपी विधायक बोले, सुधर जाओ नहीं तो 1 घंटे में मुकदमा दर्ज कर सीधा जेल भिजवा दूंगा• बीएचयू में देर रात हुए बवाल के बाद हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टर,स्वास्थ्य सेवा चरमराई• सपना चौधरी को बर्थड़े पर मिला ये सरप्राइज, सेलिब्रेशन के वीडियो हो रहे वायरल


बरेलीः सपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद वीरपाल यादव का विवादित बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि देश मे अमन चैन कायम रखने के लिए अब समाजवादी पार्टी को भोले और राम से भी भिड़ना होगा।

सपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद वीर पाल सिंह ने तो यहां तक कह दिया कि हम कांवड़ वालों के विरोध में है। मुसलमानों पर ज्यादती बर्दाश्त नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी को भोले और राम से भी भिड़ना होगा क्योंकि भाजपा की जान इन्ही दोनो में अटकी हुई है। जब तक राम और शंकर पर अटैक नही करेंगे ये भाजपाई मरेंगे नहीं। उन्होंने कहा कि जब 2010 में दंगा हुआ था तो मौलाना तौक़ीर रज़ा को गिरफ्तार किया गया था हमने उनकी गिरफ्तारी का भी विरोध किया था।

वीरपाल सिंह यादव ने कहा की भाजपा ने अल्पसंख्यको को डराने की कोशिश की है। समाजवादी पार्टी उनके साथ कंधे से कन्धा मिलाकर खड़ी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के स्थानीय विधायक पप्पू भरतौल कई महीने से दंगा करवाना चाहते हैं। उन्होंने कई बार प्रयास किए और मोहर्रम पर वो कामयाब होने की कोशिश की लेकिन लेकिन पुलिस ने दंगा होने से बचा लिया । 

वीरपाल सिंह उमरिया गांव पहुंचे और जिन उपद्रवियों की गिरफ्तारी हुई है उनके परिजनों से मिले। मोहर्रम निपटने के बाद पुलिस ने ताजिये रखकर 6 घण्टे तक हाइवे जाम करने वाले और पुलिस पर हमला करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर 36 लोगो को गिरफ्तार किया है। इसके बाद से गांव में दहशत है।

पुलिस ने इस गांव के 800 लोगो पर एफआईआर दर्ज की है। उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिशें दी जा रही हैं।  नेशनल हाइवे-24 पर नकटिया पुलिस चौकी के पास हजारों ताजियेदारों ने सड़क पर ताजिये रखकर जमकर उत्पात मचाया था। हाथों में हथियार लेकर सरकार और पुलिस प्रसासन को अपशब्द कहे थे और 6 घण्टे तक हाइवे को बंधक बनाकर रखा था। 

वही विधायक पप्पू भरतौल ने कहा कि ऐसे वीरपाल को हिन्दू समाज कभी माफ़ नहीं करेगा। 

 

नई दिल्लीः दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी द्वारा सील तोड़े जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है। इस मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि बीजेपी सांसद कानून अपने हाथ में नहीं ले सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने तिवारी को एक हफ्ते में जवाब देने को कहा है।

मनोज तिवारी ने बीते 16 सितंबर को उत्तर पूर्वी दिल्ली के ही गोकुलपुर गांव के एक मकान की सीलिंग तोड़ी थी। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट की बनाई मॉनिटरिंग कमिटी ने सुप्रीम कोर्ट में इस बात की शिकायत की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मिस्टर तिवारी हमने आपके भाषण की सीडी देखी है। आपने कहा कि 1000 जगह सीलिंग होनी है और आप बताइए ये कौन सी जगह हैं। हम आपको सीलिंग अफसर नियुक्त कर देंगे।

कोर्ट ने कहा कि आप कानून को अपने हाथ में नहीं ले सकते। इस दौरान मनोज तिवारी कोर्ट में उपस्थित रहे और उनके वकील ने कोर्ट को बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का गलत इस्तेमाल हो रहा है। जो जगह सील हुई वो डेयरी थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि तिवारी सीडी देखें और एक हफ्ते में हलफनामा दाखिल कर जवाब दें। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें 3 अकटूबर को दोबारा पेश होने के लिए कहा है।

मनोज तिवारी ने बताया कि वह सुप्रीम कोर्ट को बताएंगे कि मॉनिटरिंग कमिटी की आड़ में एमसीडी के अधिकारी पिक एंड चूज़ कर रहे हैं और दिल्ली की जनता को परेशान कर रहे हैं। 

 

लखनऊ : योगी कैबिनेट बैठक में चीनी मिलों को 4000 करोड़ रुपये का सॉफ्ट लोन देने का फैसला किया। ये लोन उन्हीं मिलों को दिया जाएगा जिन्होंने किसानों के बकाए का कम से कम 30 फीसदी भुगतान किया होगा। सीएम योगी ने बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि इससे प्रदेश के करीब 40 लाख किसानों को फायदा होगा।

-सीएम योगी ने कहा कि सरकार किसानों के हित में काम करेगी। चीनी मिलों को जो पैसा दिया जाएगा उसे बकायादार किसानों के खाते में आरटीजीएस के माध्यम से सीधे खाते में जाएगा। सरकार के इस फैसले से करीब 40 लाख किसानों को फायदा होगा। 

-सीएम योगी ने कहा कि गन्ना का क्षेत्रफल काफी ज्यादा बढ़ा। प्रदेश के अंदर बंद चीनी मिलों को चलाने का कार्य किया गया। आज के दिन तक 119 चीनी मिलों को प्रदेश के अंदर संचालित करने का कार्य हम लोग कर रहे हैं। 

 -सीएम योगी ने कहा कि 24 चीनी मिलें हमारी सहकारी क्षेत्र की हैं और शेष निजी क्षेत्र की चीनी मिलें प्रदेश के अंदर संचालित हो रही हैंः

-सीएम योगी ने कहा कि चीनी मिलों से इस सीजन में लगभग 1,111.90 लाख टन गन्ने की पेराई हुई। देश के अंदर सर्वाधिक चीनी उत्पादन इस बार उत्तर प्रदेश के अंदर हुआ। जिसमें 120 लाख मीट्रिक टन चीनी का उत्पादन प्रदेश में हुआ है। 

आजमगढ़ः सत्ता के मद में भाजपा के नेताओं का जनता के प्रति व्यवहार बिगड़ता जा रहा है। इसका उदाहरण बलिया जिले के विधायक के डीआईओएस को थप्पड़ मारने के बाद अब आजमगढ की भाजपा नेत्री पूर्व राज्यसभा सांसद कुसुम राय पर सत्ता का दुरुपयोग कर अपने सगे पट्टीदार के बन रहे घर की दीवार को गिराने का मामला सामने आया है। कुसुम राय पर सत्ता का दुरुपयोग कर आधी रात को जेसीबी से दीवार गिराने का आरोप लगा है। 

आजमगढ़ के थाना बिलरियागंज थाना के मानपुर पटवध गांव में कुसुम राय का मायका है और ज्यादातर उनका यहां आना जाना रहता है। 

आरोप है कि पूर्व सांसद व उनके परिवार के लोगों ने सगे पट्टीदार पुलिस पर दबाव बनाकर आनंद राय का निर्माणाधीन मकान को जेसीबी से गिरवा दिया। पीड़ित का कहना है कि वह कमजोर है तथा कैंसर से पीड़ित है। जिसका उन्होंने जिक्र भी किया था लेकिन पुलिस ने एक न सुनी और मकान की दीवार गिरा दी।

पुराना मकान बारिश में ढह जाने की वजह से अपने बगल की जमीन में मकान का निर्माण शुरू किया था जिसको कुसुम राय ने अपने भाई, भतीजों तथा अन्य गोलबंद लोगों के साथ रोक दिया। जिसकी फरियाद लेकर वह एसडीएम सगड़ी के पास गये थे और एसडीएम ने इसी 23 तारीख को दोनो पक्षों को सुनने की तारीख तय की थी लेकिन 21 तारीख को ही अपने सत्ता का दुरुपयोग कर थानाध्यक्ष बिलरियागंज पर दबाव बनाकर धारा 151 में सिर्फ एकपक्षीय कार्रवाई करते हुए शांतिभंग में चालान कर दिया। 

पीड़ित के अनुसार अभी हम जमानत कराकर आ रहे है कि 22 की रात पुलिस बल एवं गुंडों के बल पर जेसीबी से लगाकर दीवार को गिरा दिया। 

पीड़ित परिवार का कहना है कि कुसुम राय ने उनसे कहा गया कि मेरी पार्टी की सरकार है मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। उन्होंने आम के पेड़ के बाग़ को काटने का आरोप लगाया गया जबकि एक पेड़ जर्जर हालत में था, इसका प्रमाण मौके पर देखा जा सकता है। ऐसी हालत मे जनपद स्तर पर न्याय न मिलने से पीड़ित पक्ष मुख्यमंत्री दरबार तथा उच्चाधिकारियों से अपनी फरियाद लेकर जाने की बात कह रहे हैं। 

बिजनौर। केंद्र सरकार तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं की भलाई के दावे करें, लेकिन तीन तलाक के मसले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं।

बिजनौर के थाना कोतवाली देहात की पुलिस ने पति द्वारा पत्नी को फोन पर तीन बार तलाक बोलकर तलाक ले लिया और पुलिस ने तलाक के बाद प्रेमी और प्रेमिका का निकाह थाने में करा दिया। निकाह पढ़ने की प्रथा भी थाने में प्रभारी निरीक्षक के कमरे के सामने हुई। बरहाल पुलिस इस मामले में अनभिज्ञता जताते हुए कुछ भी बताने को तैयार नहीं है।

थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव बरुकी का रहने वाला गुलफाम गांव की एक लड़की तरन्नुम से प्यार करता था। लड़के के घर वालों ने गुलफाम की शादी हल्दौर थाना क्षेत्र के रहने वाली लड़की सल्तनत से तय कर दी थी। गुलफाम की शादी 15 जुलाई 18 को सल्तनत के साथ हो गई थी।

कल अचानक से गुलफाम की प्रेमिका तरन्नुम अपने प्रेमी के घर पहुंच गई और गुलफाम से निकाह करने की जिद पर अड़ गई। हंगामे की सूचना पर थाने की पुलिस प्रेमी को थाने ले आई।

प्रेमिका के हंगामा और जहर खाने की बात पर गुलफाम ने फोन पर अपनी पत्नी को तीन तलाक बोलकर उससे तलाक ले लिया।

 

तलाक की सूचना पर सल्तनत के घर वाले थाने पहुंचे और दोनों पक्षो में बातचीत के बाद प्रेमी और प्रेमिका का निकाह थाने परिसर में पुलिस की मौजूदगी में मौलवी द्वारा करा दिया गया।

इस मामले को लेकर थाना प्रभारी ने थाने के अंदर निकाह की बात को इंकार करते हुए निकाह की बात और इस मामले से अनभिज्ञता जताई है।

 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: