Headline • कर्नाटक: सिद्धगंगा मठ के मठाधीश शिवकुमार स्वामी का 111 साल की उम्र में निधन• Amazon ग्रेट इंडियन सेल: तीन दिनों की शानदार डील• मेक्सिको ईंधन पाइपलाइन ब्लास्ट में मरने वालों का आंकड़ा रविवार को बढ़कर 85 हो गया।• विपक्ष का गठबंधन नकारात्मकता और भ्रष्टाचार का है :पीएम मोदी• धोनी ने आलोचकों को दिया बल्ले से जमकर जवाब • रूसी विमान युद्धाभ्यास के दौरान जापान सागर पर आपस में टकराए • कंगना करणी सेना से नाराज बोली मैं भी राजपूत हूं बर्बाद कर दुंगी तुम्‍हें• मिशन 2019: चुनाव आयोग मार्च में कर सकता है। लोकसभा चुनाव का एलान • ममता की महारैली में विपक्ष का जमावड़ा, पहुंचे बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा• मेघालय, कोयला खदान से 35 दिनों के बाद 200 फीट की गहराई से निकला मजदूर का शव • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में चल रहा इलाज • रुपये में मजबूती शेयर बाजार 36 हजार के पार• World Bank के प्रमुख पद की दावेदार में इंद्रा नूई का नाम आगे • कर्नाटक में राजनीतिक उठा-पटक, कांग्रेस ने 18 को बुलाई विधायकों की बैठक• विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष राम जन्मभूमि मार्गदर्शक मंडल के सदस्य विष्णु हरि डालमिया का निधन• भदोही में एक निजी स्कूल वैन में लगी आग, 19 बच्चे झुलसे• मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर, रफ्तार का कहर 3 की मौत• जहरीली शराब कांड का इनामी बदमाश कानपुर पुलिस की गिरफ्त में• गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू की दस्तक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट• प्रयागराज में हर्ष फायरिंग दौरान, एक को लगी गोली• पेट्रोल-डीजल के दामों ने फिर दिया झटका, क्या रहे आपके शहर के दाम• RRB ग्रुप डी आंसर की जारी 14 से 19 जनवरी तक दर्ज कराएं अपनी आपत्ति• सवर्णों को 10% आरक्षण बिल को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती• अयोध्या विवाद संवैधानिक बेंच से जस्टिस यूयू ललित हटे, 29 जनवरी को फिर से होगी सुनवाई• जम्मू-कश्मीर के आईएएस शाह फ़ैसल ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए इस्तीफ़ा देने का किया ऐलान I

देखें परंपरागत रीति रिवाज से हुई कुत्ते की शादी, 5 हजार बाराती हुए शामिल

उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जिले का पवारा गाँव एक ऐसे एतिहासिक शादी का गवाह बना जिसे लोग कई सालों तक नहीं भूल पाएंगे। यह शादी किसी इंसान की नहीं बल्कि एक कुत्ता व कुतिया की थी। शादी पूरी तरह हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार संपन्न कराई गई। इस अनोखी शादी में रिश्तेदारों के आलावा लगभग दर्जन भर गाँव के पांच हजार से अधिक बाराती शामिल हुए।

पवारा गाँव में बारतियों का पुरे जोश के साथ स्वागत किया गया। डीजे की धुन पर डांस करते बाराती दुल्हन के घर पहुंचे। जहाँ जयमाल की रस्म निभाई गई।

इस शादी के दुल्हा-दुल्हान यानी कुत्ते का नाम शुगन है और उसकी पत्नी का नाम शगुनिया। दोनों की शादी का कार्ड भी छपा था। कार्ड पर दुल्हे के नाम की जगह चिरंजीवी शगुन लिखा था, वहीं दुल्हन के नाम की जगह आयुष्मती कुमारी शगुनिया लिखाया गया था।

शगुन को शादी से नहलाया गया, गुलाबी रंग के कपड़े पहनाए गए। फिर दुल्हे शगुन अपनी दुल्हिनयां को लेने के लिए फूलों से सजी कामर में सवार होकर निकल पड़े। शुगन की कार के पीछे गानों की धुन पर थिरकते करीब 5 हजार बाराती भी थे।

शगुनिया के घर के बाहर जयमाल स्टेज बना हुआ है। जयमाल स्टेज पर रखी कुर्सी पर दुल्हे राजा बठे तो दुल्हन बनी शगुनिया जयमाल लिए सामने जा पहुंची। स्टेज पर दोनों ने एक दुसरे के गले में जयमाला डाला तो वहां मौजूद हजारों लोगों ने फुलों की वर्षा कर उनके नए जीवन में प्रवेश करने पर ख़ुशी जताया। जयमाल के बाद घर के अन्दर बने मंडप के नीचे कुत्ता व कुतिया की रीति रिवाज के साथ शादी संपन्न कराइ गई।

शगुनिया के संरक्षक जंग बहादुर का कहना है कि उन्होंने शगुनिया को अपनी बेटी की तरह पाला है, जिसकी वह आज पूरे रीति रिवाज से शादी कर रहे हैं।

शगुन व शगुनिया की शादी में शामिल हुए रिश्तेदारों व बारातियों के लिए लजीज पकवान की भी व्यवस्था की गई थी। दूल्हे व दुल्हन के लिए बकरे का मीट बनाया गयाए तो वहीं बरातियों के लिए सादे पनीर व पूड़ी बनाई गई थी।

विवाह के बाद गहनों व श्रंगार से सजी शगुनिया की विदाई के समय उसके जंग बहादुर अपने आंसुओं को नहीं रोक पाए और नम आंखों से शगुनिया की विदाई की। इस तरह शगुन और शगुनिया की शादी पूरे परंपरागत तरीके से संपन्न हुइ।

 

गाज़ियाबाद के इन्द्रापुरम के एटीएस अपार्टमेंट में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या

गाज़ियाबाद: गाज़ियाबाद के इन्द्रापुरम के एटीएस अपार्टमेंट में बीती रात अर्शी मलिक नाम के एक शख्स की गोली मार कर हत्या कर दी गई है। मृतक अपने परिवार के साथ एटीएस सोसाइटी में रहता था।

पुलिस जांच में यह बात सामने आई है कि 13 जनवरी 2015 को भी अर्शी मलिक पर हमला किया गया था। जिसमें अर्शी 11 गोली लगने के बाद भी बच गया था। लेकिन उस हमले में अर्शी के भाई अमज़द की मौत हो गई थी। मृतक अमज़द इस हमले का अकेला गवाह भी था।

परिवार ने बताया कि, इस हमले के बाद से अर्शी को 2 पुलिस सिक्यूरिटी भी मिली हुई थी। लेकिन तीन चार महीने पहले ही अर्शी से सिक्यूरिटी हटा ली गई थी।

पीड़ित परिवार का कहना है की इस हमले के पीछे काले का हाथ है क्योंकि इससे पहले भी वह हमला कर चूका है। काले इस परिवार से 12 लाख रुपये भी फिरौती ले चूका है और अर्शी पर समझौते के लिए काफी समय से दवाब दे रहा था।

गाज़ियाबाद में पैसों के लेन-देन को लेकर हुए विवाद में 2 लोगों की गोली मारकर हत्या

गाज़ियाबाद: गाज़ियाबाद के मुरादनगर थाना इलाके में पैसों के लेन-देन को लेकर हुए विवाद में दरे रात 2 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। पुलिस ने दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं। बताया जा रहा है कि मुरादनगर के मोहल्ला व्यापारियान में रहने वाले वसीम ने भिक्कनपुर में डेयरी संचालक विजय को कर्ज दिया था, जिसे वो चुका नहीं रहा  था।

मंगलवार रात विजय ने फ़ोन करके वसीम को पैसा लेने बुलाया , जब वसीम अपने दोस्त नईम के साथ डेयरी पर पंहुच गया। लेकिन वहां दोनों पक्षों में विवाद हो गया जिसके बाद विजय और उसके कुछ दोस्तों ने मिलकर वसीम और नईम की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद से मुरादनगर इलाके में तनाव है। वहां भारी तादात में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

चार्जिंग में लगे फोन से गाना सुन रहे छात्र की करंट लगने से मौत

गाजियाबाद : अगर आप मोबाइल को चार्जिंग पर लगाने के दौरान ईयरफोन कान में लगाकर गाना सुनते हैं तो ये खबर जरूर पढ़े। गाजियाबाद के मुरादनगर में 11वीं के छात्र को मोबाइल पर गाना सुनने का शौक पूरा करने के चक्कर में अपनी जान गंवानी पड़ गई।

दरअसल छात्र मोबाइल फोन को चार्जिंग पर लगाकर ईयरफोन कान में लगाकर गाने सुन रहा था। इस दौरान अचानक करंट लगने से छात्र बुरी तरह से झुलस गया। छात्र की चीख सुनकर परिजन मौके पर पहुंचे तो वह बुरी तरह झुलसा हुआ था और उसके हाथ में मौजूद मोबाइल के दो टुकड़े हो गए थे। इसके बाद छात्र को तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

माना जा रहा है कि मोबाइल में करंट आने से यह हादसा हुआ है। इस घटना के बाद से छात्र के घर में मातम छा गया है। अपने बच्चे की मौत से पूरा परिजन सदमे में हैं।

बच्चे को खो देने के दर्द से करहा रहे परिवार ने पुलिस के डर से  जल्दबाजी में विशाल का अंतिम संस्कार भी कर दिया।

दीप्ति किडनैंपिंग में साइको आशिक ने एकतरफा में प्यार में रची फिल्मी कहानी, देखें वीडियो

गाजियाबाद: गाजियाबाद के कविनगर की रहने वाली दीप्ति सरना के अपहरण कांड की गुत्थी सुलझती गई है। पुलिस ने दीप्ति सरना के अपहरण कांड में पांच लोगों को हरियाणा से गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि दीप्ति का अपहरण एक तरफा प्यार में पड़े युवक की सोची समझी साजिश थी और इस साजिश का मास्टर माइंड देवेंद्र है, जो कुरुक्षेत्र जेल से भाग हुआ है। इसके ऊपर 15 हजार का इनाम भी है।

पुलिस को पूछताछ में पता चला कि, देवेंद्र मानसिक रोगी है। उसने दीप्ति को पहले कहीं देखा था और उसे लगा कि दीप्ति ही वह लड़की है, जो उसके लिए बनी है। इसी प्यार के चलते देवेंद्र ने दीप्ति को अगवा करने के बाद किसी को हाथ तक लगाने नहीं दिया। देवेंद्र एक कल्पना में जीता था। लेकिन जब दीप्ति के अपहरण का प्रेशर बढ़ा तो उसने उसे छोड़ दिया।

पुलिस ने बताया कि, देवेंद्र बीए पास है। उसे हिटलर की आत्मकथा का याद है और वह खुद को चंगेज खान का शिष्य बताता है। देवेंद्र को लगता था कि, वह लड़की का अपहरण कर उसे अपने दिल की बात बताएगा और लड़की मान जाएगी और वह दोनों नेपाल शिफ्ट हो जाएंगे।

24 वर्षीय दीप्ति सरना गुड़गांव में शॉपिंग वेबसाइट स्नैपडील की कंपनी में इंजीनियर हैं। वह रोजान की तरह बुधवार यानि 10 फरवरी को गाजियाबाद से अपने आॅफिस जाने के लिए घर से निकली थी। जिसके बाद शाम को आठ बजे दीप्ति घर जाने के लिए वैशाली मेट्रो स्टेशन पर उतरी थी और वहां से उसने ऑटो पकड़ा था। जिसके बाद मोहन नगर से उसने फोन किया। घरवालों से बात करते करते ही फोन कट गया और फिर बात नहीं हुई। इसी बीच कुछ आवाज़े भी परिवार को आई। वैशाली इलाका थाना इंदिरापुरम में आता है जबकि मोहन नगर इलाका साहिबाबाद थाना के अंतर्गत आता है।

:
:
: