Headline • जब अचानक बच्चों को स्कूल में पढ़ाने पहुंच गई डीएम, गंदगी देखकर टीचर्स को लगाई फटकार• पं. दीनदयाल उपाध्याय की हत्या के मामले में हो सकती है CBI जांच• ज्वैलरी शोरूम से 50 लाख के गहने लेकर फरार हुई महिलाएं, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात• गाजियाबाद की वसुंधरा कॉलोनी में नहीं रुक रही हैं चोरी की घटनाएं, लॉकर तोड़कर नगदी और लैपटॉप ले उडे़• स्वामी अग्निवेश ने दी आरएसएस प्रमुख को मॉब लिंचिंग पर खुली बहस की चुनौती• SC-ST एक्ट के विरोध में प्रदर्शन करने वाले 12 छात्रों के खिलाफ बीजेपी सांसद ने दर्ज कराई रिपोर्ट• लव, सेक्स एंड धोखा! दूसरे धर्म के युवक ने खुद को मराठी बताकर की शादी, न्याय के लड़की मुंबई से पहुंची मुरादाबाद• महिला के नहाते समय फोटो खींचने पर बवाल, दो पक्षों के बीच जमकर चले लाठी-डंडे, कई घायल• रानीखेत में भारत और अमेरिकी सैनिकों ने किया आतंकवादियों के खात्मे का संयुक्त अभ्यास• मायावती ने की घोषणा, छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी बसपा• मैच के बाद पाक कप्तान ने कहा, हम भुवनेश्वर की गेंदों को समझ नहीं पाए• 13 वर्षीय लड़की की जघन्य हत्या के बाद बनारस के एक इलाके में पुलिस के खिलाफ जबर्दस्त रोष• बिग बॉसः जसलिन ने सिंगल बेड लिया तो बगल वाला बेड लेने पहुंच गए अनूप जलोटा• प्रेम विवाह के तीन साल बाद ससुराल पहुंचा, शाम से कोई खोजखबर नहीं... दो दिन बाद मिली लाश•  फौजी के घर पर दबंगों ने किया कब्जा, शिकायत करने पहुंचा तो थानेदार ने थाने से भगाया• नई सरकार आने के बाद भी नहीं बदला पाक सेना का रवैया, बीएसएफ जवान के शव से की बर्बरता, आंख निकाली• मुलायम के पोते तेजप्रताप ने माना, शिवपाल के अलग होने से लोकसभा चुनाव की संभावना पर पड़ेगा प्रभाव• आयुष्मान की 'बधाई हो' का 'बधाईयां तैनू' रिलीज, हंस-हंस कर लोटपोट हो जाएंगे आप• शिक्षा विभाग को नहीं पता अटलजी का जन्म कब हुआ था, स्कूली किताब में गलत डेट डाली• कन्नौज : किशोरी की रेप के बाद हत्या, मनचले के डर से छोड़ दी थी पढ़ाई• रायबरेली के लाल ने किया कमाल, प्री रीजनल मैथमेटिक्स ओलंपियाड में हुआ चयन• अपने हक की लड़ाई से पीछे नहीं हटेंगी मुस्लिम महिलाएं, सायरा ने पीएम मोदी के प्रति जताया आभार• 'सड़क-2' का ट्रेलर रिलीज,फिर एक साथ दिखेंगे संजय दत्त और पूजा भट्ट• मौसा ने बनाया नाबालिग को अपनी हवस का शिकार, मौसी से मिलने आई थीं लड़की• पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत के बाद जश्न का माहौल, भुवी के घर पर जमकर हुआ नृत्य


गाजियाबाद. हिंडन नदी किनारे बने हज हाउस पर सोमवार की रात जमकर हंगामा हुआ। मामले को शांत कराने पहुंची पुलिस पर गुस्साई भीड़ ने जमकर पत्थरबाजी की। ऐसे में 10 पुलिस कर्मियों समेत एक महिला कांस्टेबल घायल हो गई है। पुलिस ने 17 लोगों को हिरासत में ले लिया है। आपको बता दें कि एनजीटी ने आदेश दिया था कि हजहाउस को हिंडन किनारे हटाया जाए। ऐसे में हज हाउस को बंद कर दिया था। लोगों ने हज हाउस को खुलवाने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की है। पिछले दिन से कुछ लोग इसे खुलवाने के लिए अनशन कर रहे थे। 

 

-दरअसल, लोग हज हाउस को खोलने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि हज हाउस बंद होने की वजह से हज यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

-इसी मांग को लेकर सैंकड़ों लोग अनशन कर रहे थे। यह अनशन हजहाउस के बाहर चल रहा था। लेकिन अचानकर सोमवार को यह प्रदर्शन हिंसक हो उठा। अचानक से प्रदर्शनकारियों की तादाद बढ़ गई। कई बड़े नेता भी मौके पर पहुंचे।  

-भड़की भीड़ ने ट्रैफिक इंस्पेक्टर की गाड़ी भी तोड़ दी और पुलिस टीम पर जमकर पथराव कर दिया। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज की। इसके बाद जाकर मामला कुछ शांत हुआ। 

-पुलिस का कहना है कि करीब 150 लोग बंद हज हाउस के दरवाजे को खोलने का प्रयास कर रहे थे। जब उन्हें रोका गया तो वे भड़क गए और अचानक पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। ऐसे में लोगों को शांत कराया गया। कई घंटों की मशक्कत के बाद भीड़ पर काबू पाया गया।  

 

गाजियाबाद. करप्शन को लेकर योगी सरकार बार-बार कहती है कि वह जीरो टाॅलरेंस की नीति अपना रही है लेकिन चार माह बाद भी सरकारी विभागों से करप्शन खत्म नहीं हो रहा है। ताजातरीन मामला आवास विकास परिषद का आया है। आवास विकास परिषद के वसुंधरा क्षेत्रीय कार्यालय में इन दिनों करप्शन को लेकर आई एक सीडी को लेकर हड़कंप मचा हुआ है। अधिकारी पूरे मामले को दबाने में लगे हुए हैं।

 

क्या है मामला

-एक आवंटी ने आवास विकास के कैशियर को घूस लेते वीडियो बनाया लिया है।

- वीडियो सामने आने के बाद अधिशाषी अभियंता राजीव कुमार ने जांच के लिए एक कमेटी बना दी है।

-कमेटी के सदस्य संपत्ति अधिकारी पवन उपाध्याय ने स्वीकार किया कि आवास विकास के एक कर्मचारी को घूस लेते हुए कैमरे में कैद कर लिया गया है। 

- हालांकि उन्होंने नाम नहीं बताया लेकिन आवास विकास के सू़त्रों ने उस कर्मचारी का नाम कैशियर धीरेंद्र श्रीवास्तव बताया।

-बताया जाता है कि हर काम के लिए कैशियर धीरेंद्र श्रीवास्तव कंज्यूमर से पैसे लेता है।

 

उड़े हुए हैं होश

- उसकी पैसे मांगने की आदत से परेशान होकर कंज्यूमर्स ने अफसरों से शिकायत की थी लेकिन अफसर नजरअंदाज करते रहे।

-अब स्टिंग हो जाने के बाद सभी अफसरों के होश उड़े हुए हैं। जांच की आंच अपने तक न आए इसके लिए अफसरों ने आनन-फानन में जांच कमेटी बना दी।

-करप्शन के लिए बदनाम है यूपी आवास विकास का वसुंधरा कार्यालय।

-कंज्यूमर्स से छोटे-छोटे कार्यों के लिए मांगा जाता है घूस।

अखिलेश यादव ने किया 'आला हज़रत हज हाउस' का लोकार्पण

ग़ाज़ियाबादः मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज ग़ाज़ियाबाद में आला हज़रत हज हाउस का लोकार्पण किया। उनके साथ इस सामारोह में सूबे के कद्दावर मंत्री आजम खां भी मौजुद रहे।

मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर के ज़रिये हिंडन एयरबेस फिर सड़क रास्ते से हज हाउस पहुंचें। यहाँ लोकार्पण के साथ लैपटॉप व साइकिल बांटने का कार्यक्रम भी है।

सुरक्षा के लिहाज से भी यहां एक हज़ार से ज़्यादा पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए मुख्यमंत्री का ग़ाज़ियाबाद दौरा महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इस सामारोह में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मोबाइल देने की घोषणा की है। 

गाज़ियाबाद में आयोजित हज हाउस उद्घाटन  के कार्यक्रम में पंहुची मुस्लिम महिला का पुलिस ने दुपट्टा और नकाब उतरवाकर बेअदबी की। पर्दे के लिए महिलाओं द्वारा ओढ़े गए काले दुपट्टे उतरवाए जाने से महिलाओं में नाराज़गी देखने को मिली।

कुछ महिलाओं का नकाब भी उतरवाया गया । ये महिलाएं हज हाउस के उद्घाटन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को देखने पंहुची थी। सुरक्षा के नाम पर मुस्लिम महिलाओं की इज़्ज़त से पुलिस ने खिलवाड़ किया।

हालांकि कैमरा देख पुलिस बैकफुट पर आ गयी और महिला को दोबारा नकाब पहनने को कहा। सवाल ये है की पुलिस को काले कपड़े से खौफ क्यों था ? कहीं पुलिस को ये तो नहीं लग रहा था कि कोई सीएम को काले कपड़े दिखाकर उनका विरोध न कर दे।

बहरहाल महिलाओं की बेइज़्ज़ती से काफी महिलाएं नाराज़ होकर वापस भी लौटने लगी है।

 



गाजियाबाद.ऐसा लग रहा है कि बीजेपी महानगर अध्यक्ष का विवादों से चोली दामन का साथ हो गया है। एक साल के कार्यकाल के दौरान उनसे जुड़े दर्जनों विवाद सामने आए है। अब फिर एक विवाद समाने आया है। त्यागी समाज के लोगों ने बीजेपी के पश्चिम क्षेत्र संगठन मंत्री को लेटर देकर उन्हें हटाने की मांग की है।

 

 

क्या है नया मामला

- बताया जाता है कि महानगर अध्यक्ष अजय शर्मा ने पार्टी के कार्यकर्ता दिनेश त्यागी ली को फोन पर गाली दी।

- होर्डिंग पर अजय शर्मा का छोटा फोटो लगाना महानगर अध्यक्ष को रास नहीं आया।

-महामंत्री का बड़ा फोटो देख भड़क गए महानगर अध्यक्ष। फोन कर कहा, तू बहुत बड़ा नेता बन रहा है। 

-त्यागी महासभा को इसकी जानकारी हुई तो इसके मेंबर्स भड़क गए।

 

इससे पहले भी कई विवादों में थे अजय शर्मा

-बीजेपी महानगर अध्यक्ष अजय शर्मा इससे पहले भी कई विवादों के केंद्र में रहे।

- हाल ही में स्वीमिंग पूल में आम पार्टी दी थी। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया में काफी वायरल हुई थी।

- अपने चहेते पदाधिकारियों को कार्यक्रमों का आयोजन देने के आरोप लगते रहे।

-नियमों के खिलाफ गोविंदपुरम में आवासीय इलाके में होटल चलाने का आरोप

- परिवर्तन यात्रा के दौरान पूर्व महानगर अध्यक्ष अशोक मोंगा को बस में चढ़ने से रोका था।

- फोन पर पैठ बाजार के ठेकेदार को धमकाने का आडियो हुआ था वायरल।

 

त्यागी समाज के लोगों ने किया प्रदर्शन

- बबली त्यागी के साथ दुव्यर्वहार के विरोध में त्यागी समाज के लोगों ने सोमवार को नेहरुनगर स्थित वेस्ट यूपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया।

- लोगों ने संगठनमंत्री चंद्रशेखर को मेमोरैंडम सौंपा है।

-मेमोरैंडम में कहा गया है कि अजय शर्मा के रहते त्यागी समाज बीजेपी से नहीं जुड़ सकता है।

गाज़ियाबाद पुलिस ने राहुल गांधी को बनाया ‘नौकर’!

गाज़ियाबाद: गाज़ियाबाद में पुलिस की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। जहां ए‍क फ्लैट में नौकर के वेरिफिकेशन के लिए पुलिस के पास फॉर्म भेजा गया। फॉर्म में राहुल गांधी की फोटो (नाम सहित) से आवेदन किया गया था। इसके बावजूद पुलिस ने फॉर्म वेरिफाई कर दिया। इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में इस मामले के खुलासे से पुलिस विभाग में हडकंप मचा हुआ है। हालांकि पुलिस का कहना है कि किसी ने फर्जी मोहर बनवाकर यह काम किया है।

मामला गाजियाबाद के वैभव खंड स्थित इंदिरापुरम इलाके का है। यहां की एचआरसी सोसाइटी में नौकरों को आईकार्ड जारी किया जा रहा थाV इस दौरान एओए (अपार्टमेंट ओनर एसोसिएशन) को एक ऐसा फॉर्म मिला, जिस पर राहुल गांधी का नाम, पता और फोटो लगी थी। इंदिरापुरम पुलिस से यह फॉर्म वेरिफाइड भी था। मामला सामने आने पर एओए के पदाधिकारियों ने इसकी शिकायत एसएसपी, एसपी सिटी और सीओ से की।

इस फॉर्म में राहुल गांधी, उनके पिता का नाम और तुगलक लेन का पता दर्ज है। फॉर्म पर एचआरसी प्रफेशनल के प्राइड-ए 1002 का पता दर्ज है। इसमें मकान मालिक के तौर पर अरुण शर्मा का नाम लिखा है। हालांकि गाज़ियाबाद पुलिस का कहना है कि किसी ने पुलिस की फर्जी मुहर का इस्तेमाल किया है। पुलिस से ऐसा वेरिफिकेशन होना नामुमकिन है। जल्द ही इस फर्जीवाड़े का खुलासा होगा।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: