Headline • बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे को क्यो किडनैप करना चाहते थे शोएब अख्तर• सानिया मिर्जां के साथ पार्टी करना शोएब मलिक को पड़ा भारी।• केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन हुए परिजनों के गुस्से का शिकार • 17वी लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी विपक्ष पर बोले • नाना पाटेकर को क्लिन चिट मिलने पर तनुश्री दत्ता ने कहा• बीजेपी, टीएमसी के बाद अब बंगाल में कांग्रेस का नाम भी आया राजनीतिक हिंसा में• आगामी भारत और पाकिस्तान के मैच में कैसा रहेगा, मैनचेस्टर में मौसम का मिजाज• मांगो को मानने के लिए ममता सरकार को 48 घंटे का डॉक्टरों ने दिया अल्टिमेटम• इतनी फिल्मे करने के बाद भी क्यों सलमान खान को लगता है समीक्षको से डर !• भारत और इंग्लैड के बीच होगा फाइनल मैच: गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई• बीजेपी के सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू बजट सत्र में करेगी तीन तलाक का विरोध • 'टिकटॉक' विडियों बनाने के चक्‍कर में सलमान को लगी गोली, 2 युवक पहुंचे जेल • लोक सभा के बाद अमित शाह ने हरियाणा विजय की खास रणनीति बनाई• घट सकती है दिल्ली मेट्रों का किराया, 30 लाख से अधिक यात्रियों को फायदा• चक्रवाती तूफान 'वायु' ने अपना रास्ता बदला लेकिन एजेंसियां अलर्ट पर अभी खतरा बाकी है • महेंद्र सिंह धोनी के सेना के 'बलिदान बैज' वाले दस्तानों पर बहस तेज• अफगानिस्तान सेना के दस्ते ने आतंकी संगठन तालिबान की जेल से छुड़ाए 83 नागरिक• जगन मोहन रेड्डी ने पलटा चंद्रबाबू सरकार का फैसला, अब आंध्र प्रदेश में CBI कर सकेगी जांच• नमाज के दौरान बेकाबू कार ने भीड़ को मारी टक्‍कर हुआ हगामा • गृह मंत्रालय का प्रभार संभालते ही बीजेपी चीफ अमित शाह ऐक्शन में, जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग पर विचार• मायावती की सपा-बसपा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद अब अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, 'सभी सीटों पर अकेले लड़ेंगे उपचुनाव'• लोकसभा चुनाव प्रदर्शन से नाखुश बसपा बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा फैसला, अब लड़ेगी सभी उपचुनाव • अमेरिका को चीन की युद्ध की धमकी से पड़ोसी देश चिंतित • भारतीय वायुसेना का एएन-32 विमान लापता, वायुसेना का सर्च ऑपरेशन जारी • अमेरिका ने भारत को GSP दर्जे से किया बाहर

देखें परंपरागत रीति रिवाज से हुई कुत्ते की शादी, 5 हजार बाराती हुए शामिल

उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जिले का पवारा गाँव एक ऐसे एतिहासिक शादी का गवाह बना जिसे लोग कई सालों तक नहीं भूल पाएंगे। यह शादी किसी इंसान की नहीं बल्कि एक कुत्ता व कुतिया की थी। शादी पूरी तरह हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार संपन्न कराई गई। इस अनोखी शादी में रिश्तेदारों के आलावा लगभग दर्जन भर गाँव के पांच हजार से अधिक बाराती शामिल हुए।

पवारा गाँव में बारतियों का पुरे जोश के साथ स्वागत किया गया। डीजे की धुन पर डांस करते बाराती दुल्हन के घर पहुंचे। जहाँ जयमाल की रस्म निभाई गई।

इस शादी के दुल्हा-दुल्हान यानी कुत्ते का नाम शुगन है और उसकी पत्नी का नाम शगुनिया। दोनों की शादी का कार्ड भी छपा था। कार्ड पर दुल्हे के नाम की जगह चिरंजीवी शगुन लिखा था, वहीं दुल्हन के नाम की जगह आयुष्मती कुमारी शगुनिया लिखाया गया था।

शगुन को शादी से नहलाया गया, गुलाबी रंग के कपड़े पहनाए गए। फिर दुल्हे शगुन अपनी दुल्हिनयां को लेने के लिए फूलों से सजी कामर में सवार होकर निकल पड़े। शुगन की कार के पीछे गानों की धुन पर थिरकते करीब 5 हजार बाराती भी थे।

शगुनिया के घर के बाहर जयमाल स्टेज बना हुआ है। जयमाल स्टेज पर रखी कुर्सी पर दुल्हे राजा बठे तो दुल्हन बनी शगुनिया जयमाल लिए सामने जा पहुंची। स्टेज पर दोनों ने एक दुसरे के गले में जयमाला डाला तो वहां मौजूद हजारों लोगों ने फुलों की वर्षा कर उनके नए जीवन में प्रवेश करने पर ख़ुशी जताया। जयमाल के बाद घर के अन्दर बने मंडप के नीचे कुत्ता व कुतिया की रीति रिवाज के साथ शादी संपन्न कराइ गई।

शगुनिया के संरक्षक जंग बहादुर का कहना है कि उन्होंने शगुनिया को अपनी बेटी की तरह पाला है, जिसकी वह आज पूरे रीति रिवाज से शादी कर रहे हैं।

शगुन व शगुनिया की शादी में शामिल हुए रिश्तेदारों व बारातियों के लिए लजीज पकवान की भी व्यवस्था की गई थी। दूल्हे व दुल्हन के लिए बकरे का मीट बनाया गयाए तो वहीं बरातियों के लिए सादे पनीर व पूड़ी बनाई गई थी।

विवाह के बाद गहनों व श्रंगार से सजी शगुनिया की विदाई के समय उसके जंग बहादुर अपने आंसुओं को नहीं रोक पाए और नम आंखों से शगुनिया की विदाई की। इस तरह शगुन और शगुनिया की शादी पूरे परंपरागत तरीके से संपन्न हुइ।

 

संबंधित समाचार

:
:
: