Headline • धौनी के माता-पिता भी चाहते है कि वो अब क्रिकेट से संन्यास ले• चंद्रयान-2 की आयी डेट; 22 जुलाई को होगा लॅान्च • कुलभूषण जाधव केस : 1 रुपये वाले साल्वे ने पाकिस्तान के 20 करोडं रुपये वाले वकील को दी मात • कांग्रेस को नहीं मिल पा रहा नया अध्यक्ष , किसी भी नाम को लेकर सहमति नहीं• पाकिस्तान में मुंबई हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद गिरफतार • सावन मास के साथ शुरू हुई कांवड़ यात्रा• एपल भारत में जल्द शुरू करेगी i-phone की मैन्युफैक्चरिंग, सस्ते हो सकते हैं आईफोन• डोंगरी में इमारत गिरने से अबतक 16 लोगो की मौत, 40 से ज्यादा लोगो के मलबे में दबे होने की आशंका : दूसरे दिन भी रेस्क्यू जारी• मुंबई के डोंगरी में 4 मंजिला इमारत गिरी; 2 की मौत, 50 से ज्यादा लोगो के मलबे में फसे होने की आशंका• IAS टोपर को किया ट्रोल, मिला करारा जवाब • देर रात देखिये चंद्रग्रहण का नजारा, लाल नज़र आएगा चाँद • बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत के लिए खोले बंद हवाई क्षेत्र ।• महिला सांसदों पर किये गए टिपण्णी से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प• सुप्रीम कोर्ट ने की आसाराम की जमानत याचिका खारिज • धोनी को संन्यास देने की तयारी में है चयनकर्ता, बहुत जल्द कर सकते है फैसला • तकनीकी कारणों की वजह से 56 मिनट पहले रोकी गयी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, इसरो ने कहा - जल्द नई तरीक करेंगे तय • भविष्य के टकराव ज्यादा घातक और कल्पना से परे होंगे : सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत • इसरो के चेयरमैन ने बताई चंद्रयान-2 मिशन के लांच होने की तरीक, चाँद पर पहुंचने में लगेगा 2 महीने का समय • झाऱखंड के स्वास्थ मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी का रिशवत लेते वीडीयो वायरल, पुलिस ने की FIR दर्ज • राफेल भारत के लिए रणनीतिक तौर पर बेहद अहम साबित होगी : एयर मार्शल भदौरिया• उत्तराखंड : विधायक प्रणव सिंह चैंपियन BJP से बहार • चारा घोटाला मामले में लालू को मिली जमानत• आइटी पेशेवरों के लिए अमेरिका से अच्छी खबर• कर्नाटक संकट : बागी विधायक बोले इस्तीफे नहीं लेंगे वापस• 'अब बस' जाने क्या है मामला

वकीलों का पांच जनवरी तक कार्य बहिष्कार

इलाहाबाद- वेस्टर्न यूपी में इलाहाबाद हाईकोर्ट की अलग बेंच बनाए जाने के केंद्र सरकार के प्रस्ताव के विरोध में इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील आज से काम- काज ठप्प कर पांच जनवरी तक के लिए हड़ताल पर चले गए हैं। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की आमसभा में आज फैसला लिया गया है कि यहां के वकील अब पांच जनवरी तक हड़ताल पर रहेंगे और कोई भी न्यायिक कार्य नहीं करेंगे। इस दौरान किस तरह का आंदोलन किया जाएगा, इसकी रणनीति सोमवार को आम सभा की अगली बैठक में तय की जाएगी। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन का मानना है कि हाईकोर्ट का बंटवारा न्याय प्रक्रिया का बंटवारा है, जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

गौरतलब है कि वेस्टर्न यूपी के वकील मेरठ या आगरा में हाईकोर्ट की अलग बेंच बनाए जाने की मांग को लेकर पिछले काफी दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। आज केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा और संजीव बालियान का बयान सामने आने के बाद हाईकोर्ट के वकीलों को यह पता चला कि केंद्र सरकार इसी महीने मंत्रिपरिषद की बैठक में हाईकोर्ट की अलग बेंच के मुद्दे पर विचार करने के बाद कोई फैसला करने नहीं जा रही है। इस बयान के सामने आने के बाद हाईकोर्ट के वकीलों आक्रोषित हो गए, और वकीलों ने पांच जनवरी तक काम काज छोड़कर हड़ताल पर जाने का एलान कर दिया गया। 

सामूहिक विवाह का आयोजन

इलाहाबाद- इलाहाबाद में पिछड़ा वर्ग विकास समिति की ओर से सर्वसमाज सामूहिक विवाह में 51 जोड़ों की शादी करवाई गई। इस विवाह समारोह में जहां हिन्दू सामज और मुस्लिम समाज के लोगों ने एक साथ शादी कर , शांति की एक ओर मिसाल कायम की है।सभी 51 जोड़ों की हिन्दू रीति रिवाज के साथ विवाह के पवित्र बंधन में बंधे। रामबाग स्थित सेवा समिति विद्या मंदिर में विधि-विधान के साथ विवाह सम्पन्न किए गए। इस दौरान पांच आदिवासी जोड़े, छह ब्राह्मण, पांच कायस्थ, 14 दलित, 20 पिछड़ी जातियों के जोड़े परिणय बंधन में बंधे। वहीं काजी की मौजूदगी में रीति के मुताबिक मसीद-रुक्सा का निकाह भी हुआ।बारात महर्षि भारद्वाज विद्या मंदिर विद्यालय से निकलकर विद्या मंदिर मैदान पहुंची।

इलाहाबाद हाईकार्ट ने लगाई फटकार

 इलाहाबाद- इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कहा है कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को मौत के मामलों में जुर्माना लगाने का अधिकार नहीं है। कोर्ट ने यह आदेश गजीपुर जिले के थाना दिलदारनगर के तत्कालीन थानाध्यक्ष श्यामबाबू की याचिका पर दिया है। कोर्ट ने दारोगा के खिलाफ मानवाधिकार आयोग द्वारा अभिरक्षा में हुई मौत के मामले में दारोगा से दो लाख रूपये की वसूली के आदेश पर रोक लगा दी है। न्यायालय ने आयोग के निर्देश पर की जा रही ,सपी और प्रदेश सरकार की कार्रवाई पर भी रोक लगा दी है।

यह आदेश न्यायमूर्ति बी-अमित स्थालेकर ने दारोगा श्यामबाबू की याचिका पर दिया है। याची वर्तमान में जीआरपी भीमसेन कानपुर नगर में तैनात है। न्यायालय ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग व ,सपी तथा प्रदेश सरकार के आदेशों पर रोक लगाते हएु, विपक्षियों से छह सप्ताह में जवाब मांगा है। इस याचिका पर कोर्ट छह सप्ताह बाद सुनवाई करेगी।
 
मामले के अनुसार गाजीपुर जिले के थाना दिलदारनगर में वर्ष 2011 में थाने में पुलिस अभिरक्षा में शंभू सिंह कुशवाहा की मौत हो गयी थी। इस मामले में मानवाधिकार ने जांच की तथा याची समेत दो पुलिसकर्मियों पर तीन लाख रूपया जुर्माना लगाया था तथा निर्देश दिया था कि विभागीय कर इन दोषी पुलिसकर्मियों से जुर्माना की राशि वसूली जा,। याची के अधिवक्ता विजय गौतम का तर्क था कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयेाग को इस प्रकार आदेश पारित करने का अधिकार नहीं है। अधिवक्ता का तर्क था कि आयोग केवल जुर्माना की संस्तुति कर सकता है।

छात्रों ने प्रधानमंत्री का पुतला जलाया

इलाहाबाद- बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ बहाली को लेकर छात्र लगातार आंदोलन कर रहे हैं। उनकी मांग है की छात्र संघ बहाल कर के जल्द से जल्द चुनाव कार्य जाएं, इसके लिए कई बार छात्रों का प्रदर्शन हिंसक भी हो गया पर अभी तक बीएचयू प्रशासन ने इस पर कोई कदम नहीं उठाया। छात्रों का आंदोलन अब इलाहाबाद यूनिवर्सिटी तक पहुंच रहा है। आज इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों ने और समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार और प्रधानमन्त्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और पुतला जलाया। समाजवादी छात्रों का कहना है कि भाजपा छात्र हितों की विरोधी है इस लिए वो बीएचयू में चुनाव नहीं कराना चाहती है साथ इन नेताओं ने चेतावनी भी दी की यदि चुनाव जल्द नहीं कराये गए तो सारे छात्र आंदोलन करने के लिए सड़कों पर उतरेंगे और इलाहाबाद से लेकर बनारस तक अपना आंदोलन चलाएंगे।

 

 

काॅलेज परिसर में छात्रों का हंगामा

इलाहाबाद- इलाहाबाद के सीएमपी डिग्री काॅलेज में प्रॉक्टर को हटाये जाने की मांग को लेकर खूब हंगामा हुआ। छात्रों की मांग है की प्रॉक्टर पर पहले यौन शोषण का गंभीर आरोप लगा था फिर भी उनको यहाँ का प्रॉक्टर बनाया गया है, छात्र मांग कर रहे हैं कि प्राॅक्टर को काॅलेज से हटाया जाए। कई बार इन छात्रों ने इसकी शिकायत की लेकिन काॅलेज प्रशासन से सिर्फ आष्वासन ही मिला ,इससे नाराज छात्र काॅलेज की छत पर चढ़ गए और हंगामा करने लगे।

:
:
: