Headline • अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित

माघ मेले के लिए 300 बसों की सौगात

गोरखपुर- इलाहाबाद में लगने वाले माघ मेले में जाने वाले यात्रियो की सुविधा के लिए परिवहन निगम पूरी तरह सतर्क है। परिवहन निगम ने माघ मेले के लिए गोरखपुर जिले से 300 बसों को लगाया है। यह बसें गोरखपुर बस स्टैण्ड के अलावा ग्रामीण क्षेत्रो में बने 22 केंद्रों से भी चलाई जा रही है यह सभी बसें 17 जनवरी से शुरू हो गयी है। यदि कोई इन बसों को बुक करा कर भी लेजाना चाहता है हो यह सुविधा भी परिवहन निगम प्रदान कर रही है। इलाहाबाद के भी झूसी में भी निगम द्वारा वह से आने की भी व्यवस्था की गयी है। इलाहाबाद जाने वाले यात्री परिवहन निगम की इस सुविधा से काफी खुश है क्योकि हर समय बसें उपलब्ध है।

महामना के परिवार में ‘भारत रत्न’ लेने पर विवाद!

इलाहाबाद- पंडित मदन मोहन मालवीय को ‘भारत रत्न’ मिलने की घोषणा होने के बाद अब उनके परिवार में ही विवाद खड़ा होता नजर आ रहा है। परिवार में विवाद इस बात को लेकर हो रहा है कि, भारत रत्न किसे दिया जाना चाहिए।

खबर है कि, पं मदन मोहन मालवीय के परिवार में सबसे बड़ी पौत्रवधू सरस्वती मालवीय जिनकी उम्र 92 वर्ष है।इनका मानना है कि, ‘उनके परिवार में सबसे बड़े सदस्य को यह सम्मान मिलना चाहिए। सरस्वती मालवीय का मानना है कि मोदी जी अगर यह सम्मान उन्हें देते हैं, तो यह खुशी की बात होगी। उन्होंने ने कहा कि,
महामना की उपाधि पहले भी पा चुके थे, लेकिन इस सम्मान को लेने की मैं हकदार हूं। मैं उनके साथ 6 साल तक थी। मैं मोदी जी से अनुरोध कर रही हूं कि भारत रत्न का सम्मान मुझे ग्रहण करने दिया जाए।’

नहीं बनेगी पश्चिमी यूपी में हाईकोर्ट बेंच

इलाहाबाद- इलाहाबाद हाईकोर्ट की प्रशासनिक कमिटी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट की बेंच की संभावनाओं पर विराम लगता दिख रहा है। क्योंकि हाईकोर्ट बेंच के पांच जजों की कमिटी को भंग कर दिया गया है। इस कमिटी का गठन पूर्व विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद के पत्र पर किया गया था। प्रशासनिक कमिटी ने राज्य सरकार की ओर से बेंच गठन के संबंध में कोई प्रस्ताव न होने के आधार पर विधि मंत्रालय के प्रस्ताव को भी खारिज कर दिया है। कमिटी के इस निर्णय के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकीलों की 28 दिनों से चल रही हड़ताल खत्म होने की संभावना दिखने लगी है।
बता दें कि, 25 अगस्त, 2014 के पूर्व विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद के पत्र पर विचार किया गया। इस पत्र के बाद चीफ जस्टिस ने जस्टिस विनीत शरन की अध्यक्षता में जजों की एक कमिटी बनाई थी। लेकिन कमिटी की एक भी बैठक अब तक नहीं हो पाई और न ही कमिटी ने बेंच के मुद्दे पर कोई रिपोर्ट चीफ जस्टिस को सौंपी गई।
खबरों के मुताबिक बैठक में राज्य सरकार की ओर से बेंच गठन से संबंधित कोई प्रस्ताव न होने के कारण विधि मंत्री के प्रस्ताव को खारिज करते हुए इस संबंध में बनी कमिटी को भी भंग कर दिया गया है।

चर्चा में प्रियंका वाड्रा के होर्डिंग

प्रियंका वाड्रा को पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग लगातार जारी है। इलाहाबाद में युवा कांग्रेसियों के द्वारा प्रियंका के होर्डिंग लगाए गए हैं। प्रियंका की होर्डिंग एक बार फिर चर्चाओं में आ गई है। और इस बार निशाने पर हैं राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह। सिविल लाइंस में लगाई गई होर्डिंग में स्लोगन के माध्यम से युवा कांग्रेसियों ने प्रियंका को पार्टी अध्यक्ष बनाने की गुहार लगाई है। यही नहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर अपनी बात रखने का प्रयास भी किया है।


आज प्रियंका वाड्रा का जन्मदिन है। इसके एक दिन पहले रविवार को प्रियका की होर्डिंग लगाई गई। इस होर्डिंग का स्लोगन ‘मइया बहना को दो जन्मदिन का पुरस्कार, अध्यक्ष बने प्रियंका तो आए कांग्रेस में निखार, दिग्विजय नहीं कार्यकर्ताओं की सुनो पुकार’ के माध्यम से सोनिया गांधी से प्रियंका को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग की है। युवा नेताओं ने इस संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र भी लिखा है।


यह कोई पहली बार नहीं हुआ है, जब इस तरह की होर्डिं लगाई गई हों, इससे पहले भी कई बार पोस्टर के माध्यम से कार्यकर्ता अपनी मंशा का इजहार कर चुके हैं। इन नेताओं का कहना है कि बीते डेढ़ वर्ष से प्रियंका सक्रिय राजनीति कर रही हैं, इसलिए उन्हें अध्यक्ष बनाना पार्टी हित में होगा।

इलाहाबाद- इलाहाबाद में आज यीशु दरबार की आड़ में कथित धर्मांतरण का विरोध कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं की जमकर पिटाई की गई। यीशु दरबार के संचालकों और वहां के सिक्योरिटी गार्ड्स ने प्रदर्शन कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं को घेरकर लाठी- डंडों के जमकर पीटा। इस हमले में एबीवीपी के आधा दर्जन कार्यकर्ता गंभीर रूप से जख्मी हो गए हैं। बता दें कि एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने सिक्योरिटी गार्ड्स पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है। वहीं एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हुए इस हमले के बाद बीजेपी के साथ ही हिन्दू संगठनों के लोग लामबंद होकर डीम्ड यूनिवर्सिटी की आड़ में चलाए जा रहे यीशु दरबार को घेरने की तैयारी में जुट गए हैं। 

इलाहाबाद के नैनी इलाके में शियाट्स (सैम हिंगिनबाटम इंस्टीट्यूट आफ एग्रीकल्चर, टेक्नॉलाजी एंड साइंसेज) डीम्ड यूनिवर्सिटी के वीसी राजेन्द्र बी लाल पिछले करीब दस सालों से यूनिवर्सिटी कैम्पस में ही यीशु दरबार का आयोजन करते हैं। वीसी राजेन्द्र बी लाल को दो साल पहले बिशप की पदवी भी दी गई थी।

बता दें कि, हर रविवार और कुछ खास मौकों पर लगने वाले इस यीशु दरबार में चंगाई के जरिये बीमार लोगों को ठीक करने व हरेक के दुख दर्द दूर किये जाने के दावे किये जाते हैं। यहाँ हर आयोजन में हजारों की भीड़ जुटती है और यहाँ आने वालों को आने जाने के खर्च के साथ ही खाना व पैसों की मदद भी दी जाती है। इसके बावजूद भी शुरू से ही यह आरोप लगता रहता है कि यीशु दरबार की आड़ में डीम्ड यूनिवर्सिटी कैम्पस में उसके वीसी द्वारा लोगों को ईसाई बनाया जाता है या फिर धर्मांतरण के लिए प्रेरित किया जाता है। यहाँ हिन्दू संगठनों द्वारा पहले भी कई बार विरोध प्रदर्शन व हंगामा किया जा चुका है।

:
:
: