Headline • सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत• लखनऊ शूटआउट : विवेक तिवारी की पत्नी ने सीएम योगी से की मुलाकात• लखनऊ : कारोबारी के घर लाखों की डकैती, वारदात के बाद दंपती को बाथरूम में बंद कर फरार हुए नकाबपोश बदमाश • मुजफ्फरनगर : युवती का अपहरण कर रेप, जंगल में फेंककर हुए फरार• विवेक तिवारी हत्याकांड पर बीजेपी विधायक ने उठाए सवाल, सीएम योगी को लिखा पत्र• विवेक तिवारी हत्याकांड:CM योगी ने पीड़ित परिवार से फोन पर की बात,हर संभव मदद करने का दिया भरोसा• बस्ती : खराब बस को धक्का लगा रहे यात्रियों को ट्रक ने कुचला, 6 की दर्दनाक मौत• विवेक तिवारी हत्याकांड :'पुलिस अंकल, आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे... Please गोली मत मारियेगा'• लखीमपुर खीरी के यतीश ने तोड़ा लगातार पढ़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड, 123 घंटे पढ़कर बनाया कीर्तिमान• रुद्रप्रयाग : अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरी कार • फाइनल में सेंचुरी बनाने वाले लिटन दास को क्यों कहना पड़ा, मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता• ललितपुर : SDM ने होमगार्ड की राइफल से गोली मारकर की आत्महत्या• टेनिस की इस खिलाड़ी ने किया टॉपलेस वीडियो, कारण जानकार आप भी करने लगेंगे तारीफ• इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 800 पार पहुंची, अभी भी कई इलाकों में नहीं पहुंचा राहत दल• मेरठ : हिस्ट्रीशीटर की चाकुओं से गोदकर हत्या• एशिया कप के साथ फोटो शेयर कर इशारों इशारों में  बुमराह ने राजस्थान पुलिस को मारा ताना• तनुश्री के सपोर्ट में आईं कई हिरोईन तो नाना के समर्थन में आईं राखी सावंत, कहा, मरते दम तक साथ दूंगी• SHO और मुंशी के टॉर्चर से परेशान होकर महिला सिपाही ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा• मामा-भांजी को पेड़ से बांधकर की पिटाई, चचिया ससुर ने बदला लेने के  लिए किया ऐसा घिनौना काम• बदनामी के बीच आई यूपी पुलिस की एक ईमानदार छवि, केस से नाम हटाने को 4 लाख देने वाले को जेल भेजा• इस दिन रिलीज हो रहा है कंगना की मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' का टीजर• पुलिस के आतंक से पुरुषों ने गांव छोड़ा, दो पक्षों के झगड़े में सिपाही के घायल होने पर गांव में पुलिस का तांडव• स्वामी प्रसाद का सपा पर हमला, कहा-अखिलेश ने गरीब के पैसे और साइकिल कार्यकर्ताओं में बांट दिए

महामना के परिवार में ‘भारत रत्न’ लेने पर विवाद!

इलाहाबाद- पंडित मदन मोहन मालवीय को ‘भारत रत्न’ मिलने की घोषणा होने के बाद अब उनके परिवार में ही विवाद खड़ा होता नजर आ रहा है। परिवार में विवाद इस बात को लेकर हो रहा है कि, भारत रत्न किसे दिया जाना चाहिए।

खबर है कि, पं मदन मोहन मालवीय के परिवार में सबसे बड़ी पौत्रवधू सरस्वती मालवीय जिनकी उम्र 92 वर्ष है।इनका मानना है कि, ‘उनके परिवार में सबसे बड़े सदस्य को यह सम्मान मिलना चाहिए। सरस्वती मालवीय का मानना है कि मोदी जी अगर यह सम्मान उन्हें देते हैं, तो यह खुशी की बात होगी। उन्होंने ने कहा कि,
महामना की उपाधि पहले भी पा चुके थे, लेकिन इस सम्मान को लेने की मैं हकदार हूं। मैं उनके साथ 6 साल तक थी। मैं मोदी जी से अनुरोध कर रही हूं कि भारत रत्न का सम्मान मुझे ग्रहण करने दिया जाए।’

चर्चा में प्रियंका वाड्रा के होर्डिंग

प्रियंका वाड्रा को पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग लगातार जारी है। इलाहाबाद में युवा कांग्रेसियों के द्वारा प्रियंका के होर्डिंग लगाए गए हैं। प्रियंका की होर्डिंग एक बार फिर चर्चाओं में आ गई है। और इस बार निशाने पर हैं राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह। सिविल लाइंस में लगाई गई होर्डिंग में स्लोगन के माध्यम से युवा कांग्रेसियों ने प्रियंका को पार्टी अध्यक्ष बनाने की गुहार लगाई है। यही नहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर अपनी बात रखने का प्रयास भी किया है।


आज प्रियंका वाड्रा का जन्मदिन है। इसके एक दिन पहले रविवार को प्रियका की होर्डिंग लगाई गई। इस होर्डिंग का स्लोगन ‘मइया बहना को दो जन्मदिन का पुरस्कार, अध्यक्ष बने प्रियंका तो आए कांग्रेस में निखार, दिग्विजय नहीं कार्यकर्ताओं की सुनो पुकार’ के माध्यम से सोनिया गांधी से प्रियंका को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग की है। युवा नेताओं ने इस संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र भी लिखा है।


यह कोई पहली बार नहीं हुआ है, जब इस तरह की होर्डिं लगाई गई हों, इससे पहले भी कई बार पोस्टर के माध्यम से कार्यकर्ता अपनी मंशा का इजहार कर चुके हैं। इन नेताओं का कहना है कि बीते डेढ़ वर्ष से प्रियंका सक्रिय राजनीति कर रही हैं, इसलिए उन्हें अध्यक्ष बनाना पार्टी हित में होगा।

इलाहाबाद- इलाहाबाद में आज यीशु दरबार की आड़ में कथित धर्मांतरण का विरोध कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं की जमकर पिटाई की गई। यीशु दरबार के संचालकों और वहां के सिक्योरिटी गार्ड्स ने प्रदर्शन कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं को घेरकर लाठी- डंडों के जमकर पीटा। इस हमले में एबीवीपी के आधा दर्जन कार्यकर्ता गंभीर रूप से जख्मी हो गए हैं। बता दें कि एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने सिक्योरिटी गार्ड्स पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है। वहीं एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हुए इस हमले के बाद बीजेपी के साथ ही हिन्दू संगठनों के लोग लामबंद होकर डीम्ड यूनिवर्सिटी की आड़ में चलाए जा रहे यीशु दरबार को घेरने की तैयारी में जुट गए हैं। 

इलाहाबाद के नैनी इलाके में शियाट्स (सैम हिंगिनबाटम इंस्टीट्यूट आफ एग्रीकल्चर, टेक्नॉलाजी एंड साइंसेज) डीम्ड यूनिवर्सिटी के वीसी राजेन्द्र बी लाल पिछले करीब दस सालों से यूनिवर्सिटी कैम्पस में ही यीशु दरबार का आयोजन करते हैं। वीसी राजेन्द्र बी लाल को दो साल पहले बिशप की पदवी भी दी गई थी।

बता दें कि, हर रविवार और कुछ खास मौकों पर लगने वाले इस यीशु दरबार में चंगाई के जरिये बीमार लोगों को ठीक करने व हरेक के दुख दर्द दूर किये जाने के दावे किये जाते हैं। यहाँ हर आयोजन में हजारों की भीड़ जुटती है और यहाँ आने वालों को आने जाने के खर्च के साथ ही खाना व पैसों की मदद भी दी जाती है। इसके बावजूद भी शुरू से ही यह आरोप लगता रहता है कि यीशु दरबार की आड़ में डीम्ड यूनिवर्सिटी कैम्पस में उसके वीसी द्वारा लोगों को ईसाई बनाया जाता है या फिर धर्मांतरण के लिए प्रेरित किया जाता है। यहाँ हिन्दू संगठनों द्वारा पहले भी कई बार विरोध प्रदर्शन व हंगामा किया जा चुका है।

नहीं बनेगी पश्चिमी यूपी में हाईकोर्ट बेंच

इलाहाबाद- इलाहाबाद हाईकोर्ट की प्रशासनिक कमिटी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट की बेंच की संभावनाओं पर विराम लगता दिख रहा है। क्योंकि हाईकोर्ट बेंच के पांच जजों की कमिटी को भंग कर दिया गया है। इस कमिटी का गठन पूर्व विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद के पत्र पर किया गया था। प्रशासनिक कमिटी ने राज्य सरकार की ओर से बेंच गठन के संबंध में कोई प्रस्ताव न होने के आधार पर विधि मंत्रालय के प्रस्ताव को भी खारिज कर दिया है। कमिटी के इस निर्णय के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकीलों की 28 दिनों से चल रही हड़ताल खत्म होने की संभावना दिखने लगी है।
बता दें कि, 25 अगस्त, 2014 के पूर्व विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद के पत्र पर विचार किया गया। इस पत्र के बाद चीफ जस्टिस ने जस्टिस विनीत शरन की अध्यक्षता में जजों की एक कमिटी बनाई थी। लेकिन कमिटी की एक भी बैठक अब तक नहीं हो पाई और न ही कमिटी ने बेंच के मुद्दे पर कोई रिपोर्ट चीफ जस्टिस को सौंपी गई।
खबरों के मुताबिक बैठक में राज्य सरकार की ओर से बेंच गठन से संबंधित कोई प्रस्ताव न होने के कारण विधि मंत्री के प्रस्ताव को खारिज करते हुए इस संबंध में बनी कमिटी को भी भंग कर दिया गया है।

माघ मेले में होंगे सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

इलाहाबाद- पाकिस्तान में हुए आतंकी हमलों से सबक लेते हुए इलाहाबाद के संगम तट पर 4 जनवरी से लगने वाले माघ मेले के सुरक्षा इंतजामों को लेकर नए सिरे से कवायद की जा रही है। इसके तहत मेले में आने वाले साढ़े तीन करोड़ श्रद्धालुओं की सुरक्षा की निगहबानी ड्रोन हेलीकाप्टर के जरिये भी किये जाने का फैसला किया गया है। यह पहला मौका होगा जब इलाहाबाद में कुंभ या माघ मेले की हवाई निगहबानी ड्रोन के जरिये की जाएगी। मेले में इसके अलावा एटीएस कमांडोज़ और पैरा मिलिट्री फ़ोर्स को भी लगाया जाएगा। ड्रोन एक तरह का हेलीकाप्टर कैमरा होता है जो आसमान में रहकर किसी भी जगह की तस्वीरें और वीडियो भेजता रहता है।

इलाहाबाद के संगम तट पर 4 जनवरी से लगने वाले दुनिया के सबसे बड़े सालाना धार्मिक आयोजन माघ मेले में इस बार सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम रहेंगे। मेले में एटीएस के कमांडों और पैरा मिलिट्री फ़ोर्स के जवान मोर्चा संभालेंगे तो गंगा और यमुना की लहरों पर जल पुलिस बल तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा ड्रोन के जरिये पहली बार मेले की हवाई निगहबानी भी की जाएगी। इलाहाबाद के पुलिस अफसरों की सिफारिश पर सरकार ने ड्रोन के जरिये मेले की हवाई निगरानी की मंजूरी दे दी है।

दरअसल एक महीने तक लगने वाले माघ मेले में देश के ज्यादातर साधू- संत यहां कल्पवास करते हैं तो रोज़ाना लाखों श्रद्धालु यहां आस्था की डुबकी लगाने के लिए आते हैं। इस बार के माघ मेले में साढ़े तीन करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद जताई जा रही है। इतनी भारी भीड़ और धार्मिक महत्व के चलते मेले पर हमेशा आतंकी छाया का डर बना रहता है। आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान में इसी हफ्ते हुई आतंकी घटनाओं के बाद ड्रोन के इस्तेमाल से हवाई निगरानी किये जाने से सुरक्षा में लगे अफसरों को काफी मदद मिल सकेगी।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: