Headline • रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर

इलाहाबाद में होली की शुरुआत हुई अनूठी हथौड़ा बारात से, सज-धज के निकला हथौड़ा

इलाहाबाद: होली की मस्ती के जितने रंग हैं, उतनी ही अलग व अनूठी हैं इसको मनाने की परम्पराएं। होली के रंगों को और चटख करती इन्ही परम्पराओं में एक हैं संगम नगरी इलाहाबाद के हुलियारों की अनूठी हथौड़ा बारात। सदियों से चली आ रही परम्पराओं के मुताबिक इलाहाबाद में होली के आगाज़ के एलान के लिए इस बार भी हथौड़े की बारात पुराने ख़ास अंदाज़ में पूरी शानो- शौकत के साथ निकाली गई। इस बारात के लिए सबसे पहले दूल्हे राजा यानी हथौड़े को सजाया गया। किसी की नज़र न लगे, इसलिए दूल्हे राजा की नज़र उतारी गयी, काला टीका लगाया गया और फिर शहर की मेयर अभिलाषा गुप्ता व दूसरे मेहमानों ने उसकी आरती की। घंटों संजने सँवरने के बाद  दूल्हे राजा बैंड बाजे और डीजे की धुनों के बीच पूरी शान से शहर की सड़कों पर निकले। आगे- आगे हाथी-घोड़े ख़ास अंदाज़ वाली इस शाही शादी की अगुआई कर रहे थे तो बिजली की रंगीन रोशनियां और भव्य आतिशबाजी इस बारात में चार चाँद लगा रहे थे। सिर पर लाल पगड़ी बांध बाराती बने सैकड़ों हुलियारों की टोली ढोल- नगाड़ों व बैंड बाजों पर थिरकती हुई मस्ती के अलग ही रंग बिखेर रही थी।

इस बार की हथौड़ा बारात में भी वही भव्यता नज़र आई, जो किसी शाही शादी में देखने को मिलती है। ख़ास होलियाना मूड में सराबोर बरातियों का स्वागत सब्जियों की माला के साथ किया गया तो इस बार हथौड़े की शादी महंगाई डायन के पुतले के साथ कराई गई, ताकि हथौड़ा अपने वार से उनका खात्मा कर सके।

हथौड़े की बारात के अगले दिन इलाहाबाद में मुदगर बारात और होलिका दहन के बाद मुर्दे की बारात निकाले जाने की भी परम्पराएं हैं। होली पर अपने ख़ास व अनूठे अंदाज़ में निकलने वाली इन बारातों को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। समूचे देश में होली भले ही एक दिन मनाई जाती हो लेकिन संगम नगरी इलाहाबाद की सड़कों पर होली के रंग पूरे तीन दिनों तक अलग- अलग अंदाज़ व परम्पराओं के बीच बिखेरे जाते हैं।

संबंधित समाचार

:
:
: