Headline • विराट सेना' का आज कोलकाता से 'करो या मरो' का मुकाबला• कलंक' स्टार वरुण धवन ने कहा, मुझे असफलता से डर नहीं लगता• सूडान में कैदियों की रिहाई और कर्फ्यू समाप्‍त होने पर अमेरिका ने कि प्रशंसा• 24 साल बाद एक मंच पर दिखें माया-मुलायम• रूस के वैज्ञानिकों का दावा 42 हजार साल पहले दफन घोड़े में मिला खून, अब बनाएंगे क्‍लोन • दिनोंदिन आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का मजबूत होता रिश्‍ता रह सकते है लिव-इन पर • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान बीजेपी-टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा • लीबिया की राजधानी त्रिपोली में गृहयुद्ध की जंग में 205 की मौत, 913 के करीब घायल • लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण की 95 सीटों पर वोटिंग जारी• PM मोदी की फिल्‍म 'पीएम नरेंद्र मोदी' का ट्रेलर यूट्यूब से हटा • साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बीजेपी में हुई शामिल • फ्रांस की राजधानी पेरिस में स्थित 12वीं सदी का नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च आग लगने से तबाह • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र के माढा क्षेत्र में एक जनसभा को किया संबोधित • जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी को लेकर महिलाओं ने फूंके आजम खा के पोस्टर• चुनाव आयोग के फैसले को आजम के बेेटे अब्दुल्लाह आजम खान ने मुुुुसलमान विरोधी ठराया • कांग्रेस के इरादे और नीतियां ईमानदार नही धोखाधड़ी में की है पीएचडी: पीएम मोदी• बीजेपी ने गोरखपुर से भोजपुरी स्टार रवि किशन को दिया टिकट• योगी आदित्यनाथ और मायावती पर चुनाव आयोग की कार्यवाही • भारत ने विश्व कप टीम 2019 की घोषणा की, दिनेश कार्तिक इन, ऋषभ पंत और अंबाती रायडू लेफ्ट आउट• UAE के बाद अब रूस देगा पीएम मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान • केजरीवाल का PM मोदी को लेकर विवादित ट्वीट• भारतीय सेना और जवानों की चिट्ठी का मामला गर्माया • राहुल गांधी की सुरक्षा में बड़ी चूक कांग्रेस ने लिखा गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र• बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल राहुल गांधी नर्सरी का छात्र मोदी जी राजनीति के P.H.D • रैली के दाैैैरान अखिलेश यादव करेंगेे जनसभा कों संबोधित

माघ मेले में होंगे सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

इलाहाबाद- पाकिस्तान में हुए आतंकी हमलों से सबक लेते हुए इलाहाबाद के संगम तट पर 4 जनवरी से लगने वाले माघ मेले के सुरक्षा इंतजामों को लेकर नए सिरे से कवायद की जा रही है। इसके तहत मेले में आने वाले साढ़े तीन करोड़ श्रद्धालुओं की सुरक्षा की निगहबानी ड्रोन हेलीकाप्टर के जरिये भी किये जाने का फैसला किया गया है। यह पहला मौका होगा जब इलाहाबाद में कुंभ या माघ मेले की हवाई निगहबानी ड्रोन के जरिये की जाएगी। मेले में इसके अलावा एटीएस कमांडोज़ और पैरा मिलिट्री फ़ोर्स को भी लगाया जाएगा। ड्रोन एक तरह का हेलीकाप्टर कैमरा होता है जो आसमान में रहकर किसी भी जगह की तस्वीरें और वीडियो भेजता रहता है।

इलाहाबाद के संगम तट पर 4 जनवरी से लगने वाले दुनिया के सबसे बड़े सालाना धार्मिक आयोजन माघ मेले में इस बार सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम रहेंगे। मेले में एटीएस के कमांडों और पैरा मिलिट्री फ़ोर्स के जवान मोर्चा संभालेंगे तो गंगा और यमुना की लहरों पर जल पुलिस बल तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा ड्रोन के जरिये पहली बार मेले की हवाई निगहबानी भी की जाएगी। इलाहाबाद के पुलिस अफसरों की सिफारिश पर सरकार ने ड्रोन के जरिये मेले की हवाई निगरानी की मंजूरी दे दी है।

दरअसल एक महीने तक लगने वाले माघ मेले में देश के ज्यादातर साधू- संत यहां कल्पवास करते हैं तो रोज़ाना लाखों श्रद्धालु यहां आस्था की डुबकी लगाने के लिए आते हैं। इस बार के माघ मेले में साढ़े तीन करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद जताई जा रही है। इतनी भारी भीड़ और धार्मिक महत्व के चलते मेले पर हमेशा आतंकी छाया का डर बना रहता है। आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान में इसी हफ्ते हुई आतंकी घटनाओं के बाद ड्रोन के इस्तेमाल से हवाई निगरानी किये जाने से सुरक्षा में लगे अफसरों को काफी मदद मिल सकेगी।

संबंधित समाचार

:
:
: