Headline • वाह री मेरठ पुलिस! एफआईआर से आरोपी का नाम हटाकर ऐसे व्यक्ति का नाम जोड़ दिया जो इस दुनिया में नहीं है• हरिद्वार की अंडर-16 क्रिकेट टीम के चयन का मामला पहुंचा नैनीताल हाईकोर्ट  • संभल में एसिड अटैक की घटना निकली झूठी, ससुरालियों को फंसाने के लिए भाई से ही डलवा ली थी एसिड की कुछ छींटे • BJP नेता कुसुम राय पर आरोप, पुलिस पर दबाव डालकर गिरवाई पड़ोसी के घर की दीवार, पीड़ित की सुनवाई नहीं• योगी सरकार ने गन्ना किसानों को दी बड़ी सौगात• पुलिस ने 80 साल के बुजुर्ग को बनाया बलात्कारी, जेल में हुई मौत,परिजन मांग रहे न्याय• आज से शुरू होगा कसौटी जिंदगी की, प्रोमो में दिखी थी कोमोलिका की झलक• कन्नौज के डबल मर्डर के आरोपी ममेरे भाइयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 21 सितंबर को हुई थी हत्या• प्रेमिका की जिद पर बीवी को दिया फोन पर तलाक, फिर थाने में कर लिया प्रेमिका से निकाह• हमीरपुरः कंस मेले के रूट को लेकर बवाल, आयोजकों की जिद के आगे झुका प्रशासन• सफाईनायक से बीजेपी विधायक बोले, सुधर जाओ नहीं तो 1 घंटे में मुकदमा दर्ज कर सीधा जेल भिजवा दूंगा• बीएचयू में देर रात हुए बवाल के बाद हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टर,स्वास्थ्य सेवा चरमराई• सपना चौधरी को बर्थड़े पर मिला ये सरप्राइज, सेलिब्रेशन के वीडियो हो रहे वायरल• सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, दागी नेताओं के खिलाफ कानून बनाए सरकार • संभल: बाइक लूटकर भाग रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़,एक बदमाश को लगी गोली,दो पुलिसकर्मी भी घायल• ग्रेटर नोएडा :एलएलबी के छात्र को बदमाशों ने मारी गोली, अस्पताल में भर्ती• राहुल गांधी के अमेठी दौरे का आज दूसरा दिन, कार्यकर्ताओं से करेंगे मुलाकात• 2 घंटे तक आगरा में रहेंगे सीएम योगी आदित्यनाथ,ये है पूरा कार्यक्रम• इलाहाबाद : एनसीसी कैंप में खाना खाने से 30 से ज्यादा छात्र बीमार, अस्पताल में भर्ती• मेरठ : अलग-अलग मुठभेड़ में 25 हजार के इनामी समेत तीन बदमाश घायल• बीएचयू में देर रात आगजनी और तोड़फोड़,भारी पुलिस बल तैनात• राफेल पर राहुल का पीएम मोदी पर वार, कहा- 'चौकीदार ने अनिल अंबानी से चोरी करवाई'• मैनपुरी : चाचा ने नाबालिग भतीजी के साथ किया दुष्कर्म• कच्ची शराब का विरोध करना पड़ा भारी,दबंगों ने तोड़ दिया महिला का पैर• शादी के 20 साल बाद पति ने खत भेजकर पत्नी को दिया तीन तलाक


मुरादाबाद. बीजेपी अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री रमेश चंद्र रत्न ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि राहुल गांधी को कुर्सी के लिए मुसलमानों की याद आती है। दरअसल, पंचायत भवन में अनुसूचित वर्ग के छात्र-छात्राओं के प्रतिभा सम्मान समारोह में वह मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधते हुए नजर आए। 

-उन्होंने कहा कि क्या राहुल गांधी ने कभी अपने दादा (फिरोज गांधी) की मजार पर चादर चढ़ाई है।

-उन्होंने ये राहुल गांधी से सवाल पूछते हुए कहा कि 'तुम्हारी दादी इंदिरा का नाम (मैमून बेगम) था। नाम क्यों बदला।'

-राष्ट्रीय महामंत्री ने आगे कहा कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष मजबूती से रखा, तलाक के मुद्दे पर महिलाओं को अधिकार दिलाया। 

-सबका साथ सबका विकास हो रहा है। 

 

कांग्रेस ने पैदा की जाति की खेती 

-राष्ट्रीय महामंत्री रमेश चंद्र रत्न ने कहा कि कांग्रेस ने जाति की खेती पैदा की। बीजेपी ही ऐसी पार्टी है, जिसमें कोई जाति धर्म का अध्यक्ष बन सकता है।

- उन्होंने कहा कि अन्य पार्टियों ने दलितों का दोहन किया।

- भाजपा ने बाबा साहब भीम राव अंबेडकर के पांच तीर्थ बनाये। प्रतिभा सम्मान करके दलित बच्चों को सम्मान दिया है।

मुरादाबाद में सूडान के दो छात्रों पर नस्लीय हमला करने वाला आरोपी गिरफ्तार

मुरादाबाद- पकबाड़ा इलाके में सूडान के दो छात्रों पर नस्लीय हमला करने वाले एक आरोपी को पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया है। हमला करने वाले बाकी दो आरोपी अभी फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम को बरेली भेजा गया गया।
बताया जाता है कि नस्लभेद के शिकार छात्र पकबाड़ा के किसी प्राइवेट यूनिवर्सिटी टीएमयू में बीसीए की पढ़ाई कर रहे थे और ख्वाजा मोहल्ले में किराए के मकान में रहते थे। शनिवार की दोपहर टीएमयू के सात-आठ छात्रों ने उनके साथ बदसलूकी की। छात्रों के काले रंग को लेकर नस्लीय टिप्पणी के साथ उनके साथ मारपीट भी की गई। हमले में सूडान के छात्र अवर और चोल गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

जानकारी के अनुसार, अवर और चोल करीब आठ महीने से पकबाड़ा के ख्वाजा मोहल्ले में किराए के मकान में रह रहे थे। उनके काले रंग को लेकर कॉलेज के ही कुछ छात्र अक्सर आपत्तिजनक टिप्पणी करते थे। दोनों का क्लास में भी मजाक बनाया जाता था। ऐसे में वे कहीं आने-जाने से बचते थे। शनिवार को टीएमयू के करीब दस छात्र उनके कमरे में पहुंचे। दरवाजा खुलते ही सभी दोनों छात्रों पर टूट पड़े। उनकी जमकर पिटाई की। इससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। देर रात पुलिस को इसकी शिकायत की गई। पुलिस ने तफ्तीश करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपी फिलहाल फरार चल रहे हैं। उनकी तलाश की जा रही है। पुलिस का कहना है कि उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

देश से छुआछूत मिटाने के नाम पर RTI का बड़ा खुलासा

मुरादाबाद- देश से छुआछूत मिटाने के नाम पर केंद्र सरकार ने पानी की तरह पैसा बहाया है। इसके बावजूद भी समाज में अभिशाप बनी यह सामाजिक कुरीतियां ग्रामीण अंचल में अभी खत्म तो नहीं हुई लेकिन जनता का अरबो रुपया इस भेदभाव को खत्म करने के नाम पर खर्च हो गया है। चालू वित्तीय वर्ष के जुलाई माह तक केंद्र सरकार राज्यों को पांच हजार लाख रुपए से अधिक अवमुक्त कर चुकी है। इसमें उत्तर प्रदेश को सबसे ज्यादा ग्यारह सौ लाख रुपए मिले हैं। उत्तर प्रदेश ही नहीं महाराष्ट्र ,मध्य प्रदेश ,राजिस्थान और गुजरात को भी इस भेदभाव को मिटाने के लिए खूब बजट दिया गया। जबकि झारखंड ,उतराखंड ,असम ,पश्चिम बंगाल ,दिल्ली यह कुछ ऐसे राज्य हैं, जहाँ इन चैदह सालों में कुछ लाख रुपए ही दिए गए।

मुरादाबाद निवासी पवन अग्रवाल नामक आरटीआई कार्यकर्ता ने यह खुलासा बढ़ा किया हैं जिन्होंने इसी साल जुलाई 2014 को प्रधानमन्त्री कार्यालय से एक आरटीआई मांगी थी, जिसमे पूछा गया था, कि देश में छुआछूत मिटाने के नाम पिछले चैदह साल में राज्यों और ,नजीओ को वर्षवार कितने रुपए दिए गए तो प्रधानमन्त्री कार्यालय से जो जवाब मिला वह चैकाने वाला था, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश को इस अवधि में दस हजार लाख रुपए से भी अधिक की धनराशि आवंटित की गई है, इसके बावजूद उत्तर प्रदेश के हजारो गांव ऐसे हैं, जहाँ न तो अभी छुआछूत मिटी और न ही भेदभाव का अंत हुआ।

दरअसल में केंद्र सरकार प्रदेश की सरकारों को यह धन आवंटित करती है। इस धन को फिर जिलों में बांटा जाता है जिन जगहों पर भेदभाव के मामले ज्यादा मिलते हैं, इन्ही हिसाब से धनराशि मिलती है। अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो पूर्वांचल ,बुन्देलखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हजारों गांव ऐसे हैं, जहाँ अभी भी छुआछूत मौजूद है, जात-पात के नाम पर भेदभाव अभी भी जारी है।

वहीं आरटीआई क्टिविट पवन अग्रवाल का कहना है कि, सरकार ने छुआछूत मिटाने के लिए पैसा तो खूब खर्च किया, लेकिन जिस राज्य को पैसे की ज्यादा जरुरत थी, वहां पैसा सबसे कम दिया गया और वहां गलत तरीके से पैसे को आवंटित करके पैसे का दुरुपयोग किया गया है।

 

इमरजेंसी वार्ड में मरीज को बेड से उठाकर सोने वाले पुलिसकर्मी सस्पेंड

मुरादाबाद/ बिजनौर: मुरादाबाद में बेशर्मी करने वाले पुलिसकर्मियों पर गाज गिर गई है। डीआईजी रेंज ने दोषी पुलिसकर्मियों का सस्पेंड कर दिया। दरअसल, जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पुलिसकर्मियों ने अपनी दबंगई से मरीजों को बिस्तर से उठा दिया और खुद वहां रखे बेड पर सो गए। बताया जा रहा है कि पुलिसकर्मी एक महिला मरीज को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए लाए थे।

इस दौरान महिला मरीज जमीन पर लेटी नजर आई और पुलिसकर्मी बिस्तरों पर आराम से सोते हुए दिखाई दिये। इस पूरे प्रकरण पर मुरादाबाद के डीआईजी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया था। जिस पर कार्रवाई करते हुए सभी दोषी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

वहीं, बिजनौर में भी यूपी पुलिस का शर्मनाक चेहरा सामने आया है। यहां पुलिस एक गैंगरेप पीड़िता विक्षिप्त महिला के हाथ-पांव बांधकर उसे अस्पताल में भर्ती करने के लिए पहुंची। आरोपियों ने गैंगरेप के बाद विक्षिप्त महिला को सड़क पर फेंक दिया था। पुलिसकर्मी महिला को सड़क से उठाकर अस्पताल में भर्ती करने के लिए पहुंचे थे।

बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के मंच से मिली धमकियां

मुरादाबाद- उत्तर प्रदेश के आगरा में हुए धर्म परिवर्तन का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। आज मुरादाबाद में बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी की तरफ से एक जनसभा का आयोजन किया गया था । आयोजन में मुस्लिम नेताओं ने खुले आम मंच से आर पार की लड़ाई लड़ने की बात कही। नेताओं ने कहा कि हमारे हाथ में भी हथियार आ सकता है और मुजाहिद्दीन की टोली मुरादाबाद से दिल्ली की तरफ कूच कर सकती है।

मुस्लिम नेताओं ने खुलेआम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी , सपा प्रमुख मुलायम यादव और सीएम अखिलेश यादव को धमकी दी, और कहा कि हम विधान सभा में घुस जाएंगे, सारी कुर्सियां तोड़ कर फेंक देंगे और वहां अपना कानून चलाएंगे। इतना ही नहीं इन लोगों ने आर पार की धमकियाँ देते हुए आरएसएस का भगवा रंग का पुतला आग के हवाले किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता शहर इमाम सैय्यद मासूम अली आजाद ने की और आयोजक बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के अध्यक्ष सलीम अहमद थे। कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा गया। मंच पर शहर इमाम सय्यद मासूम अली आजाद, नायब शहर इमाम मुफ्ती फहाद अली, समाजवादी अल्पसंख्यक सभा के पूर्व जिला अध्यक्ष असलम पंचायती, बाबरी मस्जिद एक्शन कमिटी के सदस्य और 2000 में मेयर का चुनाव लड़ चुके सय्यद मुस्तफा अली, बाबरी मस्जिद एक्शन कमिटी के जिला संयोजक सलीम अहमद, जामा मस्जिद वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष निजाम हुसैन तम्मा, बाबरी मस्जिद एक्शन कमिटी के सदस्य आफताब अली, शोएब हसन पाशा पूर्व सपा महानगर अध्यक्ष मौजूद थे, जिन्होंने पूरे जलसे की कमान अपने हाथों में संभाल रखी थी।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: