Headline • पाकिस्तान में मुंबई हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद गिरफतार • सावन मास के साथ शुरू हुई कांवड़ यात्रा• एपल भारत में जल्द शुरू करेगी i-phone की मैन्युफैक्चरिंग, सस्ते हो सकते हैं आईफोन• डोंगरी में इमारत गिरने से अबतक 16 लोगो की मौत, 40 से ज्यादा लोगो के मलबे में दबे होने की आशंका : दूसरे दिन भी रेस्क्यू जारी• मुंबई के डोंगरी में 4 मंजिला इमारत गिरी; 2 की मौत, 50 से ज्यादा लोगो के मलबे में फसे होने की आशंका• IAS टोपर को किया ट्रोल, मिला करारा जवाब • देर रात देखिये चंद्रग्रहण का नजारा, लाल नज़र आएगा चाँद • बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत के लिए खोले बंद हवाई क्षेत्र ।• महिला सांसदों पर किये गए टिपण्णी से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प• सुप्रीम कोर्ट ने की आसाराम की जमानत याचिका खारिज • धोनी को संन्यास देने की तयारी में है चयनकर्ता, बहुत जल्द कर सकते है फैसला • तकनीकी कारणों की वजह से 56 मिनट पहले रोकी गयी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, इसरो ने कहा - जल्द नई तरीक करेंगे तय • भविष्य के टकराव ज्यादा घातक और कल्पना से परे होंगे : सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत • इसरो के चेयरमैन ने बताई चंद्रयान-2 मिशन के लांच होने की तरीक, चाँद पर पहुंचने में लगेगा 2 महीने का समय • झाऱखंड के स्वास्थ मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी का रिशवत लेते वीडीयो वायरल, पुलिस ने की FIR दर्ज • राफेल भारत के लिए रणनीतिक तौर पर बेहद अहम साबित होगी : एयर मार्शल भदौरिया• उत्तराखंड : विधायक प्रणव सिंह चैंपियन BJP से बहार • चारा घोटाला मामले में लालू को मिली जमानत• आइटी पेशेवरों के लिए अमेरिका से अच्छी खबर• कर्नाटक संकट : बागी विधायक बोले इस्तीफे नहीं लेंगे वापस• 'अब बस' जाने क्या है मामला• सबाना के सपोर्ट में स्वरा• कर्नाटक का सियासी संग्राम जारी • भारत और न्यूजीलैंड का 54 ओवर का खेल आज• भारत बनाम न्यूजीलैंड

काशी के घाट पर वाई-फाई का शुभारम्भ

वाराणसी- संचार एवं सूचना मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आज दशास्वमेघ और शीतला घाट पर लगे वाई फाई का शुभारम्भ फीता काट का किया। इस मौके पर उनके साथ घाट पर सहर दक्षिण के विधायक श्याम देव चैधरी और जिलाअधिकारी प्रांजल यादव BSNL के सीएमडी और अन्य अधिकारी गण भी मौजूद थे । पीएमओ की पहल पर इन दोनों घाटो को वाई -फाई से लैस किया गया है क्योंकि इन दोनों ही घाटों पर देश -विदेश से प्रतिदिन सैकड़ों तो कभी कभी हजारों सैलानी जुटते हैं, जिनके पास उपकरण तो होते है लेकिन वो इंटरनेट से नही जुड़ पाते है इन दोनों ही घाटो पर लीज लाइन के माध्यम से घाट पर वाई -फाई का मुख्य एंटीना लगाया गया है जिसके 4 सब एंटीना है जिसके एक एंटीना 100 मीटर क्षेत्र को कवर करेगा।

बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजनाओं के तहत प्रदेश के सभी पर्यटक स्थलों को वाई-फाई से जोड़ने की शुरुआत बनारस के गंगा घाट से होने जा रही है। दशाश्वमेध और शीतला घाट के बाद बनारस के बाकी घाटों को भी जल्द वाई-फाई से लैस किया जाएगा। गंगा घाटों के साथ विश्व प्रसिद्ध बौद्ध धार्मिक स्थल सारनाथ को भी वाई-फाई से लैस करने की तैयारी है।

इतना ही नहीं जब आप बनारस के दशाश्वमेध व शीतला घाट पर पहुंचेंगे तो बीएसएनएल की तरफ से आपके मोबाइल पर एक मैसेज आएगा। वेलकम टु वाई-फाई नेटवर्क,इसके बाद एक और मैसेज आएगा जिसमें आपका मोबाइल नम्बर, नाम और ई-मेल आईडी भी पूछेगा। यह बताने के बाद आपको वाई-फाई का पासवर्ड मिलेगा फिर आप नेट से जुड़ जाएंगे। इस सेवा के शुभारंभ के बाद एक महीने तक 24 घंटे में 30 मिनट फ्री सेवा है,उसके बाद चार्ज लगेगा।

 

रेडिएशन का ‘वाराणसी’ कनेक्शन, पीएमओ को भेजी जाएगी रेडिएशन की रिपोर्ट

वाराणसी- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के सेवापुरी ब्लॉक में एक ऐसा गांव है जहां करीब 90 लोग शरीरिक रूप से विकलांग है। वाराणसी का पुरा गाँव अर्थ रेडिएशन का शिकार हो गया है। जिसके परिणामस्वरूप पूरे गाँव में विकलांगता ने पैर पसार लिया है। एनर्जी एंड रेडिऐशन रिसर्च फाउंडेशन ने दावा किया है कि, यहां अर्थ रेडिएशन और इलक्ट्रोमैग्नेटिव रेडिएशन  दोनों ही हैं, जिसके कारण यहाँ नवजात शिशू भी विकलांगता के शिकार हो रहे हैं।

करीब दस हजार लोगों वाले इस गांव में हर एक मोड़ पर विकलांग बच्चे और युवक दिख ही जाएंगे। करीब चालीस साल से इस गांव में जो बच्चा पैदा होता है उनमें से अधिकतर बच्चे कुछ ही सालों में विकलांगता की चपेट में आ जाते हैं। शुरुआती दिनों में जब इस बावत रिसर्च किया गया तो सामने आया कि इस गांव में दूषित पानी के चलते विकलांगता हो रहा है। इसके बाद इस गांव मे जल निगम ने पेयजल के लिए टंकी का निर्माण करायाए लेकिन अब जब कुछ दिन पहले एक बच्चा विकलांग पैदा हुआ तो रेडिएशन रिसर्च की एक टीम ने गाव का सर्वे किया।

एनर्जी एंड रेडिएशन रिसर्च फाउंडेशन की ओर से शासन.प्रशासन को सौंपे जाने वाली रिपोर्ट तैयार करने का काम चल रहा है। फाउंडेशन के डायरेक्टर राजेश कुमार राय के मुताबिक पीएमओ को रिपोर्ट भेजने के पीछे मंशा यह है कि भारत सरकार के विशेषज्ञ मुकम्मल जांच कर रेडिएशन का प्रभाव रोकने या कम करने की दिशा में कदम उठाएंगे।

फाउंडेशन के डायरेक्टर की मानें तो अभी गांव के भूमिगत जल और मिट्टी की जांच होनी बाकी है। भूमिगत जल और मिट्टी में शटल लेबल;सूक्ष्म स्तरद्ध पर असर जानने के लिए अत्याधुनिक मशीनों की जरूरत होगीए जो केंद्रीय एजेंसियों के पास ही उपलब्ध हैं। जांच पूरी होने पर ही रेडिएशन रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाए जा सकते हैं।

 

यूपी के मंत्री शिवपाल ने पीएम मोदी पर कसे तंज, कहा ’मोदी बोलते ज्‍यादा हैं पर काम नहीं

वाराणसी- प्रदेश के मंत्री शिवपाल यादव दो दिन के दौरे पर गुरुवार को वाराणसी पहुंचे हैे। इस दौरान शिवपाल ने संस्कृति संकुल में समाजवादी पेंशन योजना का शुभारंभ किया। 500 महिलओं को पेंशन, 500 मजदूरों को साइकल और 300 युवक-युवतियों को टूल-किट प्रदान किया। इस मौके पर शिवपाल ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि, मोदी बोलते ज्यादा हैं पर उनका कोई काम दिखाई नहीं पड़ता। 

समारोह में उन्होंने कहा कि, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह बोलते कम और काम ज्यादा करते रहे पर वर्तमान पीएम ठीक उल्टे हैं। काम की जगह उनकी बातें ही जनता सुन रही है। 

शिवाल यादव के बोल यहीं नहीं थमे, और उन्होंने मोदी के कपड़ों पर भी तंज कस दिया। उन्होंने कहा कि, मोदी सिर्फ ड्रेस बदलते, विदेशों में घूमते और लोगों को मैनेज करके विदेश जे लाते हैं। गरीबों और देश के लिए अभी तक कुछ नहीं किया। यहां तक कि अपने संसदीय क्षेत्र बनारस की जनता के लिए भी आठ महीने बीतने के बाद भी कुछ कर नहीं पाए हैं।

 

यौन उत्पीड़न के मामले में बीएचयू प्रोफेसर निलंबित

बनारस- बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के एक शिक्षक को यौन उत्पीड़न के मामले में निलंबित कर दिया गया है। मामले में आरोपी शिक्षक के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई करने के लिये कुलपति गिरीशचंद्र त्रिपाठी ने आपातकालीन बैठक बुलाई थी, इसके बाद आरोपी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया।

आपको बता दें कि 30 जनवरी को छात्रा ने लंका पुलिस थाने में प्रबंधन विभाग के प्रोफेसर एस. के. सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कर यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था।

पुलिस ने भी छात्रा की शिकायत पर आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। इधर विश्वविद्यालय के कुलपति ने महिला शिकायत प्रकोष्ठ से कहा है कि वह मामले की जांच कर जल्द रिपोर्ट सौंपे, ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके। मामले में आरोपी प्रोफेसर ने स्वयं को निर्दोष बताया है। उसका कहना था कि वह दिल का मरीज है और दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती होकर अपना इलाज करा रहा है।

चार घंटे में नसबंदी के 73 आॅपरेशन

वाराणसी- वाराणसी में सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पर गुरूवार को एक महिला सर्जन ने महज चार घंटे में 73 नसबंदी के आॅपरेशन किए। स्वास्थ्य केंद्र में उपलब्ध सभी चार बेड फुल होने के बाद ठंड के मौसम में बाकि महिलाओं को जमीन पर लिटा दिया गया। वह भी खुले आसमान के नीचे, बरसात के कारण नम और सीलन भरी जमीन पर वो भी बिना किसी दरी-चादर के।

दरअसल, वाराणसी के चिरईगांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर अलग-अलग गांवों से आशा कार्यकर्ता महिलाओं को लेकर आईं। जिनमें कुल 76 पंजीकरण कराए गए थे।

आपको बता दें कि, इससे पहले छत्तीसगढ़ में नसबंदी के आपरेशन में लापरवाही के कारण दर्जनों महिलाओं को मौत के मुंह में जाना पड़ाए लेकिन डॉक्टर किसी की जान से खेलने से संकोच नहीं कर रहे हैं।

वैसे इस तरह के कैंप डाॅक्टरों के लिए कोई नई बात नहीं है। चंद पैसों की खातिर डाॅक्टर अपने काम को भूल कर आमनवीय काम कर जाते हैं, और इसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ता है।

 

:
:
: