Headline • 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर• बिहार में लू के कारण 246 मौतें, लगी धारा 144 • बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे को क्यो किडनैप करना चाहते थे शोएब अख्तर• सानिया मिर्जां के साथ पार्टी करना शोएब मलिक को पड़ा भारी।• केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन हुए परिजनों के गुस्से का शिकार • 17वी लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी विपक्ष पर बोले • नाना पाटेकर को क्लिन चिट मिलने पर तनुश्री दत्ता ने कहा• बीजेपी, टीएमसी के बाद अब बंगाल में कांग्रेस का नाम भी आया राजनीतिक हिंसा में• आगामी भारत और पाकिस्तान के मैच में कैसा रहेगा, मैनचेस्टर में मौसम का मिजाज• मांगो को मानने के लिए ममता सरकार को 48 घंटे का डॉक्टरों ने दिया अल्टिमेटम• इतनी फिल्मे करने के बाद भी क्यों सलमान खान को लगता है समीक्षको से डर !• भारत और इंग्लैड के बीच होगा फाइनल मैच: गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई• बीजेपी के सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू बजट सत्र में करेगी तीन तलाक का विरोध • 'टिकटॉक' विडियों बनाने के चक्‍कर में सलमान को लगी गोली, 2 युवक पहुंचे जेल • लोक सभा के बाद अमित शाह ने हरियाणा विजय की खास रणनीति बनाई• घट सकती है दिल्ली मेट्रों का किराया, 30 लाख से अधिक यात्रियों को फायदा• चक्रवाती तूफान 'वायु' ने अपना रास्ता बदला लेकिन एजेंसियां अलर्ट पर अभी खतरा बाकी है

संत रविदास जयंती के मौके पर 22 फरवरी को वाराणसी आएंगे प्रधानमंत्री मोदी

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 फरवरी को संत रविदास जयंती के मौके पर अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी आ रहे हैं। रविदास जयंती के अवसर पर पंजाब और अन्य शहरों से एक लाख से अधिक तीर्थयात्री यहां वाराणसी पहुंचेंगे। रविदास मंदिर के समीप एक पंडाल लगाया जाएगा, जहां प्रधामंत्री मोदी सभा को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे के कार्यक्रम के मुताबिक, पीएम मोदी सुबह 9:50 बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचेगे। इसके बाद वह गोवर्धनपुर में रविदासियों से मुलाकात करेंगे और बीएचयू शताब्दी वर्ष के समारोह में भाग लेंगे।

बता दें कि, बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी ने प्रधानमंत्री मोदी को डाॅक्टर आॅफ लाॅ की मानद डिग्री से सम्मानित करने का प्रस्ताव रखा है। यूनिवर्सिटी में इस माह के अंत में होने वाले दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री मुख्य अतिथि होंगे और इसी दौरान उन्हें यह उपाधि दी जाएगी।

बीएचयू की ओर से जारी एक बयान के अुनसार, यूनिवर्सिटी 22 फरवरी को अपने शताब्दी वर्ष दीक्षांत समारोह का अयोजन करेगा, जिसमें प्रधानमंत्री मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने को निमंत्रण प्रधानमंत्री ने स्वीकार कर लिया है और वह समारोह में भाषण भी देंगे।

वीर जवान हनुमन थप्पा के लिए विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती में लोगों ने मिलकर की प्रार्थना

वाराणसी: सियाचिन हिमनद में हिमस्खलन के बाद 25 फुट मोटी बर्फ की परत के नीचे दबा सेना का जवान हनुमन थप्पा चमत्कारिक रूप से छह दिनों बाद जिंदा तो मिला, लेकिन उसकी हालत अभी गंभीर बनी हुई है। हनुमन थप्पा का दिल्ली के आर.आर.अस्पताल में उपचार चल रहा है और दुख की ऐसी घड़ी में पूरे देश के साथ- साथ काशी में विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती में जवान के स्वस्थ होने की प्रार्थना की गयी।

देश की सीमा की सुरक्षा करने वाले जवानों के कारण ही आज पूरा देश सुरक्षित है और इसलिए आज गंगा सेवा निधी द्वारा होने वाली इस विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती में मौत को हराकर जिंदा लौटे हनुमन थप्पा के जल्द स्वस्थ होने की कामना के लिए प्रार्थना की गई। साथ ही लोगों ने हिमस्खलन में मारे गये छ जवानों को यहां दीपदान कर श्रृद्धांजलि भी अर्पित किया। पूरे देश के साथ सम्पूर्ण काशीवासी भी जवानों के परिजनों के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं।

3 फरवरी को सियाचिन में भारी हिमस्खलन में 10 जवान लापता हो गये थे। जिसके बाद सभी जवानों की मारे जाने की पुष्टि कर दी गई थी। लेकिन हनुमन थप्पा मौत को जकमा देकर बर्फ की मोटी चादर के नीचे जिंदा मिले थे। सेना के इस बहादुर जवान के स्वास्थ्य लाभ के लिए गंगा आरती में खास तरह की पूजा की गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को जाएंगे वाराणसी

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 22 जनवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर आएंगे। इस दौरे के दौरान पीएम मोदी करीब 8000 दिव्यांगों (विकलांगों) को नये साल के तोहफे में कृत्रिम अंग एवं विशेष उपकरण भेंट करेंगे।

जिलाधिकारी राजमणि यादव ने गुरूवार को बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय से पीएम मोदी के वाराणसी के दौरे की सूचनादी गई है, जिसके आधार पर पीएम मोदी के स्वागत के लिए तैयारियां की जा रही हैं।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा वाराणसी जिले के 7766 दिव्यांगों को लगभग आठ करोड़ रुपये के सुनने, बोलने, चलने, देखने आदि में मददगार कृत्रिम अंग एवं विशेष उपकरण भेंट किये जाएंगे, जो अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड होगा। प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम का आयोजन डीरेका मैदान में किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मोदी दिव्‍यांगों को ट्राई साइकिल-फोन बांट बनाएंगे वर्ल्‍ड रिकॉर्ड

वाराणसी में एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आगमन सुनिश्चित हो गया है लेकिन इस बार मोदी का आगमन गिनीज़ बुक ऑफ़ रिकार्ड्स के लिए खास होगा। 22 जनवरी को प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी में 77066 दिव्यांगों (विकलांगों )को तोहफे देंगे। पीएम द्वारा तोहफे मिलने की खबर लगते ही वाराणसी स्थित अलग अलग विकलांग स्कूलों में ख़ुशी की लहर दौड़ गई है।

प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के डीरेका मैदान में समारोह के दौरान दिव्यांगों को टैबलेट ,स्मार्टफोन ,ट्राई साइकिल ,व्हीलचेयर कृत्रिम अंगों का तोहफा देंगे।कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सामाजिक अधिकारिता मंत्रालय संयुक्त सचिव ने वाराणसी में डेरा भी डाला हुआ है। हालाँकि अभीतक उन्होंने आधिकारिक बातचीत करने से मना कर दिया है लेकिन सूत्रों के हवाले से जानकारी के मुताबिक 77066 विकलांगों को उनके जरुरत की चीज़ें दी जाएँगी।

इस बाबत जब दिव्यांग बच्चों से बात की गई तो वे काफी उत्साहित दिखे और सबसे पहले पीएम मोदी का दिल से धन्यवाद देते हुए कहा कि दिव्यांग नाम पाकर सम्मानित महसूस कर रहे हैं। आज भी समाज में विकलांग उपेक्षित हैं नए सम्बोधन से नई ऊर्जा मिली है।

कार्यक्रम को लेकर दिव्यांगों और अध्यापकों में ख़ुशी की लहर है और अध्यापकों का कहना है कि प्रधानमंत्री का विकलांगों के लिए सोचना और उनके बीच में होना ही बड़ी बात है। अब लगता है कि विकलांगो की योजनाओं से उन्हें फायदा होने की उम्मीद है।

पीएम मोदी और शिंजो आबे ने वाराणसी में की गंगा पूजा

बनारस- तीन दिवसीय भारत यात्रा पर आए जापान के प्रधानमंत्री शिजों आबे ने शनिवार शाम को पीएम मोदी के साथ बनारस के दशाश्वमेध घाट पर गंगा की विधिवत पूजा-अर्चना की। वैदिक मंत्रोंच्चारण के साथ पीएम मोदी और आबे ने एक साथ घाट पर खड़े होकर दूध, घी और अन्य पूजन सामग्री के साथ पवित्र गंगा का अभिषेक किया। इसके बाद दोनों ने गंगा की महाआरती में हिस्सा लिया। मंच पर बैठकर दोनों नेताओं ने विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती का आन्नद लिया।

प्रधानमंत्री मोदी और शिंजों आबे के आगमन को लेकर वाराणसी में खास तैयारियां की गई थी। दोनों देशों के पीएम एक ही विमान से शनिवार शाम करीब साढ़ें चार बजे वाराणसी पहुंचे। उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाइक और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एयरपोर्ट पर पीएम मोदी और आबे का स्वागत किया। यहां से मोदी और आबे होटल ताज गेटवे के लिए रवाना हुए। 5 बजकर 30 मिनट पर दोनों प्रधानमंत्री दशाश्वमेध घाट के लिए निकलें। शाम 5 बजकर 45 मिनट पर दशाश्वमेध घाट पहुंचेकर जापान के पीएम शिंजो आबे ने प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में शाम 5 बजकर 50 मिनट की महा गंगा आरती में हिस्सा लिया। इसके लिए नदी में खास तौर पर तैरता हुआ मंच तैयार किया गया था। गंगा घाटों की खूब सजाया गया था और नदी की सफाई के लिए मुंबई से स्टीमर मंगाए गए थे। इस दौरान प्रशासन भी पूरा चाक-चौबंद रहा और हर चौक-चौराहों पर पुलिस की नाकेबंदी थी।

गंगा आरती में शिरकत के बाद जापानी प्रधानमंत्री होटल ताज रवाना हुए, जहां उन्होने कुछ खास लोगों के साथ मुलाकात की। रात्रि भोज में यूपी के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, कुछ केंद्रीय मंत्री, सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव, प्रख्यात संगीतज्ञ और पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित पंडित छन्नूलाल मिश्र, रचनाकार नीरजा माधव, काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट के पंडित अशोक द्विवेदी और समाज के विभिन्न वर्गों की जानीमानी हस्तियां भी शामिल रहीं। अपने तय कार्यक्रम के मुताबिक, आबे इसके बाद रात करीब नौ वाराणसी से दिल्ली के लिए रवाना हुए।

पिछले साल अगस्त में जब पीएम मोदी जापान गए थे, तो दोनों देशों के बीच वाराणसी को जापान के शहर क्योतो के तर्ज पर बसाए जाने का समझौता हुआ था।

:
:
: