Headline • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना

  राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज पहुंचेंगे काशी, स्वतंत्रता भवन में देंगे शताब्‍दी व्‍याख्‍यान

 

वाराणसी: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी गुरूवार को वाराणसी आएंगे। राष्ट्रपति यहां स्वतंत्रता भवन में आयोजित शताब्दी व्याख्यान में शिरकत करेंगे। इस समारोह में राज्यपाल राम नाईक बतौर अतिथि शामिल होंगे।

इस दौरान महामहिम प्रणब मुखर्जी से भारत अध्ययन केंद्र का शिलान्यास भी करेंगे।

समारोह में 100 रूपए का स्मृति सिक्का और 10 रूपए का सिक्का जारी किया जाएगा।

इसी बीच राष्ट्रपति समारोह में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के 100 साल के विकास यात्रा से संबंधित प्रदर्शनी के साथ-साथ काशी पर आकर्षक चित्रकला गैलरी का भी अवलोकन भी करेंगे।

इसके अतिरिक्त शाम 6 बजे संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओमकारनाथ ठाकुर प्रेक्षागृह में प्रख्यात कथक नृत्यांगना शर्मिष्ठा मुखर्जी द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी।

पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र के नाविकों को ईको फ्रेंडली नाव का देंगे तोहफा

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 1 मई को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी आएंगे। वाराणसी में डीरेका मैदान में प्रधानमंत्री मोदी एक हजार ई-रिक्शा और अस्सी घाट पर ईको फ्रेंडली नाव बाटेंगे।

प्रधानमंत्री के आगमन का आरंभिक प्रोटोकाल जिला प्रशासन को मिल गया है। पार्टी स्तर से पीएम के आगमन को लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही हैं।

पीएम कार्यक्रम के मुताबिक वाराणसी में 3.30 बजे डीरेका मैदान में ई-रिक्शा एवं 4 बजे अस्सी घाट पर ई-बोट का वितरण करेंगे।

बता दें कि, पीएम एक मई को वाराणसी के अलावा बलिया भी जाएंगे और वहां उज्ज्वला योजना की राष्ट्रव्यापी शुरुआत करेंगे।

पीएम दिल्ली से भारतीय वायुसेना के विमान से बाबतपुर आएंगे और यहां से हेलीकाप्टर से बलिया जाएंगे। बलिया से लौटने के बाद पीएम यहां डीरेका मैदान में ई-रिक्शा और ई-बोट बांटने आएंगे। ई-रिक्शा उन्हीं लोगों को मिलेगा, जो पैडल रिक्शा खींच रहे हैं। जो अब तक किराए पर रिक्शा चला रहे थे अब उनका खुद का ई-रिक्शा होगा।

वाराणसी : कोर्ट परिसर में वकील के तख्त के नीचे मि‍ले 2 हैंड ग्रेनेड को पुलि‍स ने कि‍या डि‍फ्यूज

वाराणसी : पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी के जिला कचहरी के मनोरंजन कक्ष के पास 2 हैंड ग्रेनेड बम मिलने के बाद अफतफरी मच गई थी। कचहरी में मौजूद लोग वकील और वादकारी इधर उधर भागने लगे। बम की सूचना पर पुलिस महकमे में भी हड़कम्प मच गया था। जिसके बाद मौके पर पहुंची डाग स्कायड और बम नरोधक दस्ते ने बम को डिफ्यूज कर दिया। कोर्ट परिसर को खाली करा कर पूरे परिसर की जांच की जा रही है।

जिला एवं स्तर न्यायलय वाराणसी में सुबह मिले हैण्ड ग्रेनेड के बारे में जहाँ एसएसपी आकाश कुल्हारी ने कहा कि इसमें डेटोनेटर नहीं लगा था जिसकी वजह से यह फट नहीं सकता था।

वहीं इस घटना के बाद पूरे शहर में हाई अलर्ट घोषित किया है। जिसके बाद वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन पर सीओ जीआरपी के नेतृत्व में सघन तलाशी और चेकिंग अभियान चलाया गया।

बता दें कि, 23 नवंबर 2007 को सिविल और कलक्ट्रेट परिसर में दो स्थानों पर ब्लास्ट हुए थे। घटना से पूरी वाराणसी थर्रा उठी थी। नौ लोगों की मौत के बाद संवेदना जताने के लिए सोनिया गांधी जैसे दिग्गज नेता तक आए थे।

सात मार्च 2006 को संकठ मोचन व कैंट स्टेशन पर सीरियल बम ब्लास्ट हुआ था जिसमें तीस से ज्यादा लोग मारे गये थे।

 सीएम अखिलेश पहुंचे वाराणसी, सपा के पूर्व सांसद की बेटी के विवाह समारोह में होंगे शामिल

वाराणसी: मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज सपा के पूर्व सांसद तूफानी सरोज की बेटी की शादी में शामि‍ल होने के लि‍ए वाराणसी पहुंचे हैं। सीएम का काफिला बाबतपुर एयरपोर्ट से सीधे पूर्व सांसद के गांव कठेरवां के लिए रवाना हुआ।

बाबतपुर एयरपोर्ट पर सीएम अखिलेश के स्वागत के लिए प्रशासन के आला अधिकारियों सहित पार्टी के प्रमुख पदाधिकारी मौजूद रहे।

बताया जा रहा है कि, सीएम विवाह समारोह में एक घंटा रूकेंगे और इसके बाद वह लखनऊ के लिए रवाना हो जाएंगे।

सीएम की स्क्यिूरिटी को मद्देनजर रखते हुए कठेरवा गांव में सुरक्षा व्यवस्थाएं दुरूस्त कराई गई हैं। सीएम की सुरक्षा के लिए बाबतपुर एयरपोर्ट से लेकर विवाह समारोह 1200 से अधिक जवानों को तैनात किया गया है। इसके अलावा मुख्य मार्ग से कठेरवां जाने वाले मार्ग पर किनारे बैरिकेडिंग लगाई गई है। इस रूट के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की पैनी नजर है।

गुलाम अली के विरोध में सड़क पर शिवसैनिक

वाराणसी: विश्वप्रसिद्ध संकट मोचन संगीत समारोह में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित और कलाकार गुलाम अली को न्यौता देने के का मामला तूल पकड़ता ही जा रहा है। हिंदू युवा वाहिनी के बाद भाजपा और शिवसेना भी इस प्रकरण में कूद पड़ी है। गुलाम अली के विरोध में शिवसेना ने वाराणसी में जगह-जगह पोस्टर लगा दिए गए हैं जिसमें लिखा है कि काशी से गुलाम अली वापस जाओ।

संकट मोचन के महंत विश्वंभर नाथ मिश्र ने 26 अप्रैल से शुरू हो रहे संकट मोचन संगीत समारोह में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित और गायक गुलाम अली को न्यौता दिया है। गुलाम अली संगीत समारोह की पहली निशा में अपनी प्रस्तुति देंगे।

बता दें कि, इसी संकट मोचन मंदिर 7 मार्च, 2006 को आतंकियों ने विस्फोट किया था जिसमें कई बेगुनाह मारे गए थे। मंदिर में विस्फोट पाकिस्तान के इशारे पर भारत में मौजूद आतंकी संगठनों ने किया था।
 
शुक्रवार की सुबह शिव सेना कार्यकर्ताओं ने ग़ुलाम अली के विरोध की हुंकार भारी और जगह जगह पोस्टर चिपका के अपना विरोध प्रदर्शन कियाA बताते चले कि पिछेले साल भी गुलाम अली संकटमोचन समारोह में शिरकत किये थे। लेकिन समारोह में उनके द्वारा गए गए एक गाने "हंगामा है क्यों बरपा, थोड़ी सी जो पी ली है "को लेकर काफी विवाद हुआ था।

:
:
: