Headline • रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर

वाराणसी : कोर्ट परिसर में वकील के तख्त के नीचे मि‍ले 2 हैंड ग्रेनेड को पुलि‍स ने कि‍या डि‍फ्यूज

वाराणसी : पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी के जिला कचहरी के मनोरंजन कक्ष के पास 2 हैंड ग्रेनेड बम मिलने के बाद अफतफरी मच गई थी। कचहरी में मौजूद लोग वकील और वादकारी इधर उधर भागने लगे। बम की सूचना पर पुलिस महकमे में भी हड़कम्प मच गया था। जिसके बाद मौके पर पहुंची डाग स्कायड और बम नरोधक दस्ते ने बम को डिफ्यूज कर दिया। कोर्ट परिसर को खाली करा कर पूरे परिसर की जांच की जा रही है।

जिला एवं स्तर न्यायलय वाराणसी में सुबह मिले हैण्ड ग्रेनेड के बारे में जहाँ एसएसपी आकाश कुल्हारी ने कहा कि इसमें डेटोनेटर नहीं लगा था जिसकी वजह से यह फट नहीं सकता था।

वहीं इस घटना के बाद पूरे शहर में हाई अलर्ट घोषित किया है। जिसके बाद वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन पर सीओ जीआरपी के नेतृत्व में सघन तलाशी और चेकिंग अभियान चलाया गया।

बता दें कि, 23 नवंबर 2007 को सिविल और कलक्ट्रेट परिसर में दो स्थानों पर ब्लास्ट हुए थे। घटना से पूरी वाराणसी थर्रा उठी थी। नौ लोगों की मौत के बाद संवेदना जताने के लिए सोनिया गांधी जैसे दिग्गज नेता तक आए थे।

सात मार्च 2006 को संकठ मोचन व कैंट स्टेशन पर सीरियल बम ब्लास्ट हुआ था जिसमें तीस से ज्यादा लोग मारे गये थे।

संबंधित समाचार

:
:
: