Headline • आगरा के बाजार में चमत्कार को नमस्कार, मोदी नाम का चूर्ण बेच रही कंपनी• न्‍यासा देवगन फिल्‍म इंडस्‍ट्री में अपना लक आजमायेंगी ? अजय देवगन ने की खुलकर बात• चीन को 28 साल में सबसे बड़ा झटका, अर्थव्यवस्था न्यूनतम स्तर पर पहुंची• यूपी 69 हजार शिक्षक भर्ती पर 28 जनवरी तक रोक• कर्नाटक: सिद्धगंगा मठ के मठाधीश शिवकुमार स्वामी का 111 साल की उम्र में निधन• Amazon ग्रेट इंडियन सेल: तीन दिनों की शानदार डील• मेक्सिको ईंधन पाइपलाइन ब्लास्ट में मरने वालों का आंकड़ा रविवार को बढ़कर 85 हो गया।• विपक्ष का गठबंधन नकारात्मकता और भ्रष्टाचार का है :पीएम मोदी• धोनी ने आलोचकों को दिया बल्ले से जमकर जवाब • रूसी विमान युद्धाभ्यास के दौरान जापान सागर पर आपस में टकराए • कंगना करणी सेना से नाराज बोली मैं भी राजपूत हूं बर्बाद कर दुंगी तुम्‍हें• मिशन 2019: चुनाव आयोग मार्च में कर सकता है। लोकसभा चुनाव का एलान • ममता की महारैली में विपक्ष का जमावड़ा, पहुंचे बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा• मेघालय, कोयला खदान से 35 दिनों के बाद 200 फीट की गहराई से निकला मजदूर का शव • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में चल रहा इलाज • रुपये में मजबूती शेयर बाजार 36 हजार के पार• World Bank के प्रमुख पद की दावेदार में इंद्रा नूई का नाम आगे • कर्नाटक में राजनीतिक उठा-पटक, कांग्रेस ने 18 को बुलाई विधायकों की बैठक• विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष राम जन्मभूमि मार्गदर्शक मंडल के सदस्य विष्णु हरि डालमिया का निधन• भदोही में एक निजी स्कूल वैन में लगी आग, 19 बच्चे झुलसे• मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर, रफ्तार का कहर 3 की मौत• जहरीली शराब कांड का इनामी बदमाश कानपुर पुलिस की गिरफ्त में• गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू की दस्तक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट• प्रयागराज में हर्ष फायरिंग दौरान, एक को लगी गोली• पेट्रोल-डीजल के दामों ने फिर दिया झटका, क्या रहे आपके शहर के दाम


वाराणसी : यूपी के वाराणसी जिले में डिप्रेशन के चलते एक अंडर ट्रेनी दरोगा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।  सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं पुलिस ने एक सुसाइट नोट भी बरामद किया है। 

-जानकारी के मुताबिक,यह घटना सुल्तानपुर थाना सारनाथ की है।

-सुल्तानपुर के शिवकुमार प्रजापति (30) वर्ष 2011-12 बैच में यूपी पुलिस में बतौर उपनिरीक्षक भर्ती हुआ था।

-इन दिनों शिवकुमार की पोस्टिंग गोरखपुर जनपद के शाहपुर थाने में अंडर ट्रेनिंग के तौर पर हुई थी।

-बताया जा रहा है कि काफी दिनों से तनाव में चल रहा शिवकुमार 15 दिन की छुट्टी लेकर घर आया हुआ था।

-परिजनों के अनुसार, वह पिछले कुछ महीनों से पुलिस की नौकरी छोड़ने की चर्चा हमेशा करता रहता था।

-पुलिस विभाग के बजाय शिक्षा क्षेत्र में शिवकुमार की रुचि थी।

-15 सितंबर को वह बिहार में एसोसिएट प्रोफेसर का इंटरव्यू देने जाने वाला था।

-इसके पहले ही बुधवार की शाम को अपने कमरे में फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

-देर शाम कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो पिता रामसेवक ने आवाज लगाई। फिर कोई गतिविधि न होने पर उन्होंने पड़ोसियों की सहायता से दरवाजा तोड़ दिया।

- सामने पंखे के सहारे शिवकुमार का शव लटकता देख सभी हैरान रह गए।

-फौरन इसकी सूचना स्थानीय थाने की पुलिस को दी गयी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को फंदे से नीचे उतारा. शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

 

क्या लिखा सुसाइड नोट में 

'मेरे प्यारे घर वालों मुझे माफ कर देना.. मैं यह कदम मानसिक रोग से परेशान होकर उठा रहा हूं, प्लीज मेरे घरवालों को पुलिस परेशान न करे। मैं जिंदा रहकर आप सबको परेशान ही करता रहूंगा, मुझे माफ करना, आप सभी को मेरा प्यार.. डाली मुझे माफ कर देना.... मैं साथ नहीं दे पाया। मेरे इस कदम में किसी का दोष नहीं है।'

 

 

 

वाराणासी. नई दिल्ली से राजगीर जा रही डाउन श्रमजीवी एक्सप्रेस ट्रेन में बम की सूचना ने हड़कंप मचा दिया। इसके चलते ट्रेन को शिवपुर स्टेशन करीब डेढ़ घंटे खड़े रहना पड़ा। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स, जीआरपी और स्थानीय पुलिस ने बम और डॉग स्क्वॉड के साथ ट्रेन के कोचों की बारीकी से जांच की। जब कुछ नहीं मिला तो ट्रेन को रवाना कर दिया गया। 

-बताया जा रहा है कि रेलवे को एक नंबर से कॉल पर आया था। 

-इसके चलते ट्रेन को शिवपुर स्टेशन पर भोर के लगभग 4:30 बजे रोका गया।

-इसके बाद मौके पर GRP, RPF, बम डिस्पोजल स्क्वाड एवं  डॉग स्कॉयड की टीम मौके पर पहुंची और गहन जांच की गई और सबकुछ सामान्य पाने पर ट्रेन को 06:05 पर अपने गंतव्य के लिए छोड़ा गया।

 

 

यूपी में जारी हाई अलर्ट के बाद वाराणसी में खुली सुरक्षा व्यवस्थाओं की पोल

उरी हमले के बाद भारत की एलओसी पर हुई जवाबी कार्यवाही के बाद तिलमिलाए पाकिस्तान के तेवरों के देखते हुए पूरे देश में हई अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली में अगले 48 घंटे में बड़े हमले की जानकारी दी है। जिस के बाद से दिल्ली सहित पूरे देश में मौजूद प्रमुख स्थलों पर चौकसी बढ़ा दी गई है।

आतंकी धमाकों का दंश झेल चुकी प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सुरक्षा व्यवस्था को और भी बढा दिया गया है। गौरतलब हो कि शहर के प्रमुख स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था बस नाम मात्र के लिए ही है।

शहर के दशाश्वमेध घाट पर लगा मेटल डिटेक्टर सिर्फ शो पीस बना हुआ है, तो वहीं कैंट रेलवे स्टेशन पर आने जाने वाले यात्रियों को कोई रोकने टोकने वाला भी नहीं है।

जिससे कोई भी संदिग्ध आसानी प्लेटफोर्म और ट्रेनों तक पहुंच सकता है। साथ ही साथ बीएचयू के मुख्य द्वार पर और संकटमोचन मंदिर पर भी सुरक्षा व्यवस्था ना के बराबर है।

पिछले दिनों जिला प्रशासन की पहल पर आईजी एसके भगत और एसएसपी आकाश कुलहरी ने जिला एवं सत्र न्यायालय में चेकिंग कर वहां लगे पुराने मेटल डिटेक्टर को बदलवाया था।

शहर के प्रमुख स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था आज भी पुराने तरीके से ही चल रही है। जिससे कभी भी कोई बड़ी अनहोनी हो सकती है।

वहीं कैंट स्टेशन पर मौजूद जीआरपी प्रभारी ने कहा कि हमने प्रशासन से मेटल डिटेक्टर की मांग की है। गौरतलब है कि साल 2007 में कैंट स्टेशन पर आतंकी धमाके में कई लोगों की जान गयी थी।

वाराणसी: 'मोदी जी के गमछे में आए थे लुटेरे, बैंक के बाहर से छीन ले गए रुपयों से भरा बैग'

वाराणसी. सूबे में कानून व्यवस्था को हर कीमत पर सही करने की बात करने वाले सूबे के सीएम को पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अपराधी प्रतिदिन चुनौती दे रहे हैं। इसी क्रम में सोमवार को शहर के अतिव्यस्त भेलूपुर इलाके में एक शोरूमकर्मी से एक लाख रुपये अपराधियों ने उस वक्त लूट लिए, जब वह उसे बैंक में जमा कराने जा रहा था। घटना की सूचना पर एसपी सिटी मौके पर पहुंचकर जांच कर रहे हैं। भुक्तभोगी के अनुसार बैंक सवार युवक मोदी जी का गमछा पहने हुए थे।

 

जानें क्या है मामला?

-उत्तर प्रदेश में योगी शासन आने के बाद युवाओं में केसरिया गमछे को लेकर क्रेज़ बढ़ा है।

-इस क्रेज़ से अपराधियों का भी हौसला बुलंद है। 

-भेलूपुर इलाके के शाकुम्भरी काम्प्लेक्स में स्थित वैल्यू प्लस नाम के शोरूमकर्मी संतोष चेतमणि युनियन बैंक की शाखा में जमा करने जा रहे थे। 

-संतोष ने बताया कि बाइक पर सवार दो युवक आये जिन्होंने भगवा रंग का गमछा बांध रखा था। वो मेरे हाथ से पैसे से भरा बैग लेकर भाग गये।

 

भगवा गमछा लपेटे आए थे लुटेरे 

-संतोष ने बताया कि हम अपने शोरूम का रोज़ इसी समय पैसा जमा कराने के लिए चेतमणि युनियन बैंक में आते थे। 

-पिछले दो साल से हम लगातार यह कार्य रोज़ सुबह कर रहे हैं। कभी कुछ नहीं हुआ यह पहली बार हुआ है। 

-शाकुम्भरी काम्प्लेक्स के पास हुई लूट में लूटेरों ग्लैमर गाड़ी से थे। जो काले कलर की थी और उसपर नम्बर प्लेट नहीं था।

-संतोष ने बताया कि दो लोग बाइक से थे जिन्होंने भगवा गमछे के साथ साथ चश्मा भी लगाये हुए थे।

-बता दे की इसके पहले भी वाराणसी में भगवाधारी बदमाशों ने रथयात्रा स्थित ज्वैलर्स की दूकान में दिन दहाड़े लूट की घटना को अंजाम देने का प्रयास किया था। 

-प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद भगवाधारी लुटेरों के आतंक से इन दिनों वाराणसी का हर वर्ग सहमा हुआ है।

-शहर में भगवा गमछे का क्रेज बढ़ जाने के कारण पुलिस के लिए बदमाशों और भाजपा कार्यकर्ताओं में फर्क करना मुश्किल हो गया हैं।

वाराणसी में अमित शाह ने बाबा काल भैरव के दरबार में टेका मत्था

वाराणसी: भाजपा के कर्णधार अमित शाह ने उत्तर प्रदेश चुनाव में पार्टी के अच्छे भविष्य के लिए शनिवार को काशी विश्वनाथ मंदिर और संकटमोचन मंदिर में दर्शन पूजन किया।

वहीं दो वर्षों से प्रधानमंत्री के काल भैरव दर्शन न करने आने पर आलोचना झेल रही भाजपा सरकार के सबसे करीबी अमित शाह ने बाबा काल भैरव के दरबार में मत्था टेक भाजपा के अच्छे भविष्य की कामना की। इसके बाद शाह संकटमोचन मंदिर पहुंचे। बता दें कि, संकटमोचन मंदिर मंदिर में हुई आतंकवादी घटना के बाद कोई भी इलेक्ट्रानिक सामन ले जाना मंदिर परिसर में मना है उसके बाद भी काफी समय तक अमित शाह ने मंदिर परिसर में मोबाइल से बात की वहीं उस दौरान शाह के कुछ प्रशंसकों ने उनके साथ सेल्फी भी ली।

राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह यूपी मिशन 2017 के मुद्दनेजर लगातार बूथ स्तर कार्यकर्ताओं का सम्मेलन कर रहे हैं। इसी कड़ी में शाह आज वाराणसी में कार्यकर्ताओं से मिलेंगे और स्वाभिमान रैली को संबोधित करेंगे।

वाराणसी के बाद शाह जौनपुर जाएंगे और वहां बूथ कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे।

:
:
: