Headline • ओसाका में मोदी-एबी की मुलाकात• करों या मरों कि स्थिती में वेस्ट डंडीज़• तेज प्रताप का नया कारनामा तेज सेना का गठन• अमित शाह नें तोड़ा 30 साल का रिकार्ड• सोशल मिडिया पर नुसरत जहां की हुई बड़ी तारीफ• 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बनी ऑस्ट्रेलिया• चंद्रबाबू नायडू का आलीशान बंगला बना खँडहर • पीएम मोदी के बयान पर सदन में हंगामा   • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज


 

 

अंतराष्ट्रीय महिला दिवस पर PM मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणासी पहुंंच कर वह बड़ालालपुर स्तिथ हस्त कला स्‍कुुुल में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के सम्मलेन में शामिल हुए। इस सम्‍मलेन में उन्‍होंने संघर्ष से उपलब्धि तक का सफर तय करने वाली उन महिलाओं का सम्मान किया जिन्हें आगे बढ़ने के लिए किसी के सहायता की जरूरत नही हैैं। वे महिलाएं खुद समूह बनाकर अपनी आजीविका चला रही है। यहां उन्होंने इस मिशन के तहत समाज मे कार्य कर रही सात स्वयंमसेवी समूह की महिलाओं का सम्मान करने के साथ साथ यहां महिलाओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी को भी देखा। पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश के चिंहित स्वयं सहायता समूह को 63 करोड़ 18 लाख 96 हजार रुपये धनराशि प्रदान की।

 

वाराणसी में प्रियंका गाँधी को लेकर विरोध शुरू हो गया है। इसके लिए पोस्टर को जरिया बनाया गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने कुछ जगहों पर पोस्टर और होर्डिंग लगा कर प्रियंका गाँधी को लूटेरा दिखाया गया है। इन पोस्टरों पर लिखा है "आ रही हूँ यूपी लूटने। इसे सीधे तौर पर उनके पति रोबर्ट वाड्रा से जोड़कर इशारा किया गया है। इसी पोस्टर में अखिलेश यादव व मायावती की फोटो भी है जिसे ठगबंधन के तौर पर दिखाया गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने बताया कि मोदी को रोकने के लिए ठगबंधन किया गया और अब प्रियंका को उतारा दिया लेकिन इसका कोई फायदा नहीं होने वाला।

वाराणासी. नई दिल्ली से राजगीर जा रही डाउन श्रमजीवी एक्सप्रेस ट्रेन में बम की सूचना ने हड़कंप मचा दिया। इसके चलते ट्रेन को शिवपुर स्टेशन करीब डेढ़ घंटे खड़े रहना पड़ा। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स, जीआरपी और स्थानीय पुलिस ने बम और डॉग स्क्वॉड के साथ ट्रेन के कोचों की बारीकी से जांच की। जब कुछ नहीं मिला तो ट्रेन को रवाना कर दिया गया। 

-बताया जा रहा है कि रेलवे को एक नंबर से कॉल पर आया था। 

-इसके चलते ट्रेन को शिवपुर स्टेशन पर भोर के लगभग 4:30 बजे रोका गया।

-इसके बाद मौके पर GRP, RPF, बम डिस्पोजल स्क्वाड एवं  डॉग स्कॉयड की टीम मौके पर पहुंची और गहन जांच की गई और सबकुछ सामान्य पाने पर ट्रेन को 06:05 पर अपने गंतव्य के लिए छोड़ा गया।

 

 

वाराणसी : यूपी के वाराणसी जिले में डिप्रेशन के चलते एक अंडर ट्रेनी दरोगा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।  सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं पुलिस ने एक सुसाइट नोट भी बरामद किया है। 

-जानकारी के मुताबिक,यह घटना सुल्तानपुर थाना सारनाथ की है।

-सुल्तानपुर के शिवकुमार प्रजापति (30) वर्ष 2011-12 बैच में यूपी पुलिस में बतौर उपनिरीक्षक भर्ती हुआ था।

-इन दिनों शिवकुमार की पोस्टिंग गोरखपुर जनपद के शाहपुर थाने में अंडर ट्रेनिंग के तौर पर हुई थी।

-बताया जा रहा है कि काफी दिनों से तनाव में चल रहा शिवकुमार 15 दिन की छुट्टी लेकर घर आया हुआ था।

-परिजनों के अनुसार, वह पिछले कुछ महीनों से पुलिस की नौकरी छोड़ने की चर्चा हमेशा करता रहता था।

-पुलिस विभाग के बजाय शिक्षा क्षेत्र में शिवकुमार की रुचि थी।

-15 सितंबर को वह बिहार में एसोसिएट प्रोफेसर का इंटरव्यू देने जाने वाला था।

-इसके पहले ही बुधवार की शाम को अपने कमरे में फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

-देर शाम कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो पिता रामसेवक ने आवाज लगाई। फिर कोई गतिविधि न होने पर उन्होंने पड़ोसियों की सहायता से दरवाजा तोड़ दिया।

- सामने पंखे के सहारे शिवकुमार का शव लटकता देख सभी हैरान रह गए।

-फौरन इसकी सूचना स्थानीय थाने की पुलिस को दी गयी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को फंदे से नीचे उतारा. शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

 

क्या लिखा सुसाइड नोट में 

'मेरे प्यारे घर वालों मुझे माफ कर देना.. मैं यह कदम मानसिक रोग से परेशान होकर उठा रहा हूं, प्लीज मेरे घरवालों को पुलिस परेशान न करे। मैं जिंदा रहकर आप सबको परेशान ही करता रहूंगा, मुझे माफ करना, आप सभी को मेरा प्यार.. डाली मुझे माफ कर देना.... मैं साथ नहीं दे पाया। मेरे इस कदम में किसी का दोष नहीं है।'

 

 

 

वाराणसी: 'मोदी जी के गमछे में आए थे लुटेरे, बैंक के बाहर से छीन ले गए रुपयों से भरा बैग'

वाराणसी. सूबे में कानून व्यवस्था को हर कीमत पर सही करने की बात करने वाले सूबे के सीएम को पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अपराधी प्रतिदिन चुनौती दे रहे हैं। इसी क्रम में सोमवार को शहर के अतिव्यस्त भेलूपुर इलाके में एक शोरूमकर्मी से एक लाख रुपये अपराधियों ने उस वक्त लूट लिए, जब वह उसे बैंक में जमा कराने जा रहा था। घटना की सूचना पर एसपी सिटी मौके पर पहुंचकर जांच कर रहे हैं। भुक्तभोगी के अनुसार बैंक सवार युवक मोदी जी का गमछा पहने हुए थे।

 

जानें क्या है मामला?

-उत्तर प्रदेश में योगी शासन आने के बाद युवाओं में केसरिया गमछे को लेकर क्रेज़ बढ़ा है।

-इस क्रेज़ से अपराधियों का भी हौसला बुलंद है। 

-भेलूपुर इलाके के शाकुम्भरी काम्प्लेक्स में स्थित वैल्यू प्लस नाम के शोरूमकर्मी संतोष चेतमणि युनियन बैंक की शाखा में जमा करने जा रहे थे। 

-संतोष ने बताया कि बाइक पर सवार दो युवक आये जिन्होंने भगवा रंग का गमछा बांध रखा था। वो मेरे हाथ से पैसे से भरा बैग लेकर भाग गये।

 

भगवा गमछा लपेटे आए थे लुटेरे 

-संतोष ने बताया कि हम अपने शोरूम का रोज़ इसी समय पैसा जमा कराने के लिए चेतमणि युनियन बैंक में आते थे। 

-पिछले दो साल से हम लगातार यह कार्य रोज़ सुबह कर रहे हैं। कभी कुछ नहीं हुआ यह पहली बार हुआ है। 

-शाकुम्भरी काम्प्लेक्स के पास हुई लूट में लूटेरों ग्लैमर गाड़ी से थे। जो काले कलर की थी और उसपर नम्बर प्लेट नहीं था।

-संतोष ने बताया कि दो लोग बाइक से थे जिन्होंने भगवा गमछे के साथ साथ चश्मा भी लगाये हुए थे।

-बता दे की इसके पहले भी वाराणसी में भगवाधारी बदमाशों ने रथयात्रा स्थित ज्वैलर्स की दूकान में दिन दहाड़े लूट की घटना को अंजाम देने का प्रयास किया था। 

-प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद भगवाधारी लुटेरों के आतंक से इन दिनों वाराणसी का हर वर्ग सहमा हुआ है।

-शहर में भगवा गमछे का क्रेज बढ़ जाने के कारण पुलिस के लिए बदमाशों और भाजपा कार्यकर्ताओं में फर्क करना मुश्किल हो गया हैं।

:
:
: