Headline • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ- कानपुर की बेटियों ने पीएम को लिखा 100मीटर लंबा खत

कानपुर- यूपी की बेटियों ने अपनी सुरक्षा और सुनहरे भविष्य के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौ मीटर लंबा खत लिखा है। इस खत में प्रधानमंत्री से बेटियों की सुरक्षा बेहतर करने और उनकी पढ़ाई को बेहतर माहौल बनाने के लिए कहा गया है। यह खत कानपुर के एमपी और वरिष्ठ बीजेपी नेता मुरली मनोहर के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचाया गया है।

युग दधीची बेटी बचाओ अभियान के संयोजक मनोज सेंगर ने कहा कि, इस खत में लड़कियों ने अपनी सुरक्षा और शिक्षा पर अपनी राय रखी है।

बता दें कि, हरियाणा के पानीपत से गुरूवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रव्यापी ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान के शुभारंभ के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से बेटियों की हत्या करने की 18वीं सदी पुरानी मानसिकता से बाहर आने और बेटे-बेटी के बीच भेदभाव करने के ‘दोहरे मापदंड’ से दूर होने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि यदि लड़कियों के बारे में मानसिकता नहीं बदली तो इससे भावी पीढ़ी को खतरनाक स्थिति में डाल देगा।

मोदी ने कहा, लोग पढ़ी-लिखी बहू चाहते हैं, लेकिन अपनी बेटी को पढ़ाने पहले कई बार सोचते हैं। हमारे पास दोहरा मानक कितने समय तक रहेगा।

आज निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव, अब तक 8.6 प्रतिशत मतदान

कानपुर- कानपुर देहात और उन्नाव जिलों पर आधारित स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव में अब तक कानपुर शहर में केवल 8.6 प्रतिशत ही मतदान हुआ। चुनाव में 13 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होगा।

चुनाव को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं।अभी तक सभी स्थानों से शांतिपूर्वक मतदान की खबरें आ रही है । मतदान के लिये आज तीनों जिलों में 252 मतदान केंद्र बनाये गये हैं।
इनमें से कानपुर शहर जिले में 181, कानपुर देहात जिले में 18 और उन्नाव जिले में 53 केंद्र बनाये गये हैं।

बता दें कि, स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के इस चुनाव में बीजेपी की ओर से अरुण पाठक का मुकाबला मानवेंद्र स्वरुप से है जो दिवंगत विधानपार्षद जगेंद्र स्वरुप के बेटे हैं। जगेंद्र स्वरुप के निधन के कारण यह चुनाव हो रहा है।

टीचर की हैवानियत, पिटाई के दौरान फटा बच्ची के कान का पर्दा

कानपुर- सुप्रीमकोर्ट के आदेश के बावजूद प्रदेश में टीचर द्वारा छात्रों की पिटाई के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे। कन्नौज जिले में एक बेरहम टीचर ने कक्षा-1 की मासूम बच्ची को इतनी बेरहमी से मारा कि बच्ची के कान का पर्दा फट गया।

पूरा मामला कन्नौज जिले की सदर कोतवाली क्षेत्र के हाजिगंज गंज का है, जहां एस.ए मेमोरियल पब्लिक स्कुल में पढ़ने वाली कक्षा 1 की छात्रा अलीमा का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने पेपर लेट किया था। इस मामूली बात पर टीचर निसात ने अलीमा की बेरहमी से पिटाई कर दी। टीचर की पिटाई से छात्रा अलीमा के कान का पर्दा फट गया। अलीमा दर्द से कराहती हुई घर पहुंची, तब अलीमा ने पूरा मामला अपने घरवालों को बताया।

परिजनों ने बताया कि अलीम को उसकी टीचल पसंद नहीं करती थी, क्योंकि टीचर निसात के गलत बर्ताव की शिकायत पहले भी अलीमा के परिजन कर स्कूल प्रबन्धन से कर चुके हैं।

परिजनों कि मांग हैं कि आरोपी टीचर पर सख्त कार्यवाई की जाए, ताकि आगे किसी बच्चे के साथ ऐसा न हो।

वहीं डॉक्टर पीडि़त बच्ची की हालात नाजुक बता रहे है, उन्होंने बच्ची को बेहतर इलाज के लिए दूसरे अस्पताल में रेफर कर दिया है।

पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी महिला टीचर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कानपुर: जिले के हैलट अस्पताल में कथित तौर पर जूनियर डॉक्टर की लापरवाही से एक 9 महीने के मासूम की जान चली गई। बच्चे के परिजनों ने आरोप लगाया है कि जूनियर डॉक्टर द्वारा बच्चे को हैवी डोज़ का इंजेक्शन देने से ये दर्दनाक हादसा हुआ।

पूरा मामला जनपद उन्नाव का है जहां कंचन नगर निवासी उमेश के 9 महीने के बच्चे राज गौतम को कोल्ड डायरिया हो गया, जिसके बाद पिता उमेश ने अपने बच्चे को उन्नाव में डॉक्टर को दिखाया तो डॉक्टर ने बच्चे को कानपुर हैलट अस्पताल ले जाने की सलाह दी । बीती 25 दिसम्बर को उमेश अपने बच्चे को लेकर हैलट अस्पताल लाया और बाल रोग विभाग में भर्ती करा दिया । बच्चे का इलाज शुरू हुआ तो धीरे धीरे उसकी हालत में सुधार होने लगा और बच्चे के परिजनों को सीनियर डॉक्टर ने शुक्रवार को छुट्टी करने की बात कही। लेकिन आज बच्चे के परिजनों के अनुसार सीनियर डॉक्टर नहीं आए और जूनियर डॉक्टर ने स्वस्थ बच्चे को हैवी डोज़ इंजेक्शन लगा दिया जिससे उसकी हालत बिगड़ने लगी । परिजन जब अपने बच्चे की बिगड़ी हालत बताने डॉक्टर के लिए दौड़े तो जूनियर डॉक्टर तब तक वहां से नदारद हो चुके थे।

परिजन जब सीनियर डॉक्टर के चेंबर में पहुंचे तो आज सेकण्ड सटरडे होने के कारण कोई भी सरकारी डॉक्टर मौजूद नहीं थे। और डॉक्टरों की गैरमौजूदगी और लापरवाही के चलते मासूम बच्चे की मौत हो गई।

पूरे देश में बनाए गोडसे के मंदिर- आजम

कानपुर- यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खां अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में बने रहते हैं। मंगलवार को कानपुर में एक पर्सनल प्रोग्राम में शामिल हुए आजम खां के पूरे तेवर में दिखे। आजम हिंदू महासभा की ओर से गोडसे के मंदिर बनवाए जाने के सवाल पर गर्म हो गए। आजम ने कहा कि नाथूराम गोडसे का मंदिर एक जगह नहीं बल्कि पूरे देश में बनवाना चाहिए। इससे किसी को कोई आपत्ति नहीं होगी। इतना ही नहीं आजम ने तो गोडसे को भारत रत्न देने की बात कही।

आजम खां के बोल यहीं नहीं थमे, उन्होंने तो यह भी कहा कि अगर हिंदू महासभा के लोग ताजमहल पर गोडसे का मंदिर बनवाना चाहती है तो भी उसे इसकी अनुमति दी जाए। इसमें भी किसी को कोई ऑब्जेक्शन नहीं होगा।

वहीं धर्मांतरण के मुद्दे पर आजम ने कहा कि, पहले बीजेपी मुख्तार अब्बास नकवी और शहनवाज हुसैन की घर वापसी कराए। इसके बाद बाकि लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जाए।

:
:
: