Headline • नाना पाटेकर को क्लिन चिट मिलने पर तनुश्री दत्ता ने कहा• बीजेपी, टीएमसी के बाद अब बंगाल में कांग्रेस का नाम भी आया राजनीतिक हिंसा में• आगामी भारत और पाकिस्तान के मैच में कैसा रहेगा, मैनचेस्टर में मौसम का मिजाज• मांगो को मानने के लिए ममता सरकार को 48 घंटे का डॉक्टरों ने दिया अल्टिमेटम• इतनी फिल्मे करने के बाद भी क्यों सलमान खान को लगता है समीक्षको से डर !• भारत और इंग्लैड के बीच होगा फाइनल मैच: गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई• बीजेपी के सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू बजट सत्र में करेगी तीन तलाक का विरोध • 'टिकटॉक' विडियों बनाने के चक्‍कर में सलमान को लगी गोली, 2 युवक पहुंचे जेल • लोक सभा के बाद अमित शाह ने हरियाणा विजय की खास रणनीति बनाई• घट सकती है दिल्ली मेट्रों का किराया, 30 लाख से अधिक यात्रियों को फायदा• चक्रवाती तूफान 'वायु' ने अपना रास्ता बदला लेकिन एजेंसियां अलर्ट पर अभी खतरा बाकी है • महेंद्र सिंह धोनी के सेना के 'बलिदान बैज' वाले दस्तानों पर बहस तेज• अफगानिस्तान सेना के दस्ते ने आतंकी संगठन तालिबान की जेल से छुड़ाए 83 नागरिक• जगन मोहन रेड्डी ने पलटा चंद्रबाबू सरकार का फैसला, अब आंध्र प्रदेश में CBI कर सकेगी जांच• नमाज के दौरान बेकाबू कार ने भीड़ को मारी टक्‍कर हुआ हगामा • गृह मंत्रालय का प्रभार संभालते ही बीजेपी चीफ अमित शाह ऐक्शन में, जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग पर विचार• मायावती की सपा-बसपा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद अब अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, 'सभी सीटों पर अकेले लड़ेंगे उपचुनाव'• लोकसभा चुनाव प्रदर्शन से नाखुश बसपा बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा फैसला, अब लड़ेगी सभी उपचुनाव • अमेरिका को चीन की युद्ध की धमकी से पड़ोसी देश चिंतित • भारतीय वायुसेना का एएन-32 विमान लापता, वायुसेना का सर्च ऑपरेशन जारी • अमेरिका ने भारत को GSP दर्जे से किया बाहर • देश में भीषण गर्मी का कहर, दिल्‍ली मे रेड अलर्ट जारी • इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय के बाद अब लखनऊ विश्‍वविद्यालय में पढ़ाया जाएगा अनुच्‍छेद 370• जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर• मोदी सरकार में अमित शाह गृहमंत्री, राजनाथ होंगे रक्षा मंत्री, निर्मला सीतारमन बनीं वित्‍त मंत्री

कानपुर: परेड बाजार इलाके में लगी भयंकर आग, एक बच्चे की मौत, कई दुकानें स्वाहा

कानपुर: कानपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र के परेड बाजार में संदिग्ध परिस्थितिओं में भीषण आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया और पच्चीस से तीस दुकानों को अपनी चपेट में ले लिया। इस हादसे में 10 साल की बच्ची की जलकर मौत हो गई। जबकि एक महिला और उसका बेटी गंभीर रूप से जख्मी हो गया है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आग इतनी विकराल थी कि दूर दूर तक आग की लपटे दिखाई दे रही थी। आग की सूचना मिलते ही दमकल की एक दर्जन से ज्यादा गाडियां मौके पर पहुंची औऱ आग बुझाने में जुट गई। फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है।

आग से करोड़ों रूपए के नुकसान की संभावना जताई जा रही है। आग कैसे लगी अभी इसके कारणों का पता नहीं चल सका है।

कानपुर में दिखी यूपी पुलिस की गुंडई, युवक को बेरहमी से पीटा

उत्तर प्रदेश में पुलिस पूरी तरह से गुंडई पर उतर आई है। पहले लखनऊ में डीआईजी साहब एक बुजुर्ग पर थप्पड़ बरसा देते हैं तो फर्रुखाबाद में कोतवाल साहब की गुंडई सामने आती। अब कानपुर में एक दारोगा अपनी वर्दी का रौब दिखाता हुआ नजर आया।

कानपुर देहात में एक दारोगा श्याम सिंह की कार एक ट्रक से छू भर गयी फिर क्या था दरोगा ने पूरे टोल प्लाज़ा पर जमकर तांडव किया। दारोगा ने गरीब ट्रक चालाक को दौड़ा दौड़ा कर बड़ी बेरहमी से पीटा और लोग तमाशबीन की तरह खड़े होकर देखते रहे।

इस पूरे वाक्या में दारोगा साहब उत्तर प्रदेश पुलिस की खाकी वर्दी तो पहने थे लेकिन उनकी गाड़ी पर समाजवादी पार्टी के नगर अध्यक्ष का पोस्टर लगा हुआ था और गाड़ी पर नंबर भी नहीं लिखे हुए थे।

दारोगा की दबंगई लगभग एक घंटे तक जारी रही। लेकिन इस दौरान ना तो थाने से और ना चौकी से कोई पुलिस कर्मी मौक पर आया।

कानपुर में सुब्रमण्यम स्वामी के काफिले पर फेंके गए अंडे, टमाटर और कूड़ा

कानपुर में बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सुब्रमण्यम स्वामी की कार पर टमाटर और अंडे फेंके और उन्हें रोकने का प्रयास किया। यही नहीं स्वामी को काले झंडे भी दिखाए गए। सुब्रमण्य स्वामी एक कार्यक्रम में शिरकत करने कानपुर पहुंचे थे।

हालांकि, पुलिस ने विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं पर हल्का लाठी चार्ज किया, जिसके बाद सभी कार्यकर्ता वहां से भाग खड़े हुए। पुलिस की इस कार्रवाई में कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं को मामूली चोटें आई।

बीजेपी जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने बताया कि शनिवार सुबह करीब 11 बजे सुब्रमण्यम स्वामी का काफिला सर्किट हाउस से एसडी कॉलेज की ओर जा रहा था जहां स्वामी को वैश्विक आंतकवाद पर एक संगोष्ठी को संबोधित करना था।

उन्होंने बताया कि, स्वामी का काफिले जैसे ही नरवना चौक पहुंचा, वहां मौजूद कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने उस पर कूड़ा, अंडे, टमाटर और कालिख फेंकना शुरू कर दिया।

मैथानी ने आरोप लगाया कि, सुब्रमण्यम स्वामी के कानपुर कार्यक्रम के बारे में जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन को पहले से सूचना दे दी गई थी, इसके बावजूद भी पुलिस ने उनकी सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं किया।

जेएनयू का नाम बदल कर सुभाष चंद्र बोस यूनिवर्सिटी हो : सुब्रमण्यम स्वामी

कानपुर- भाजपा नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने दिल्ली की जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (जेएनयू) का नाम बदलकर सुभाष चन्द्र बोस यूनिवर्सिटी रखे जाने की मांग रखी है। जेएनयू मामले पर बोलते हुए सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने जेएनयू को देश के खिलाफ साजिश करने वालों का अड्डा बताया है।

स्‍वामी ने कहा कि जेएनयू में जो कुछ हुआ उससे दुख है। जएनयू को चार महीने के लिए बंद कर देना चाहिए और वहां तलाशी अभियान चलाना चाहिए। उन्‍होंने कहा, जेएनयू देशद्रोह का केंद्र बन गया है। देश के कई हिस्‍सों में देशद्रोह की बातें होती हैं, लेकिन सबसे ज्यादा जेएनयू में है।

मीडिया में आई खबरों के अनुसार, बीजेपी नेता स्‍वामी ने कानुपर के वीएसएसडी कॉलेज में "वैश्विक आतंकवाद" विषय पर चर्चा के दौरान कहा, जेएनयू का नाम बदल कर सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखा जाना चाहिए।  क्योंकि जवाहरलाल नेहरू इतने पढ़े लिखे नहीं थे कि उनके नाम से किसी विश्वविधालय का नाम रखा जाए। उन्होंने आरोप लगाया कि कश्मीर में धारा 370 नेहरू के चलते ही लगी जबकि डॉ बाबा साहेब अंबेडकर ने इसका विरोध किया था।

कश्मीर मुददे पर उन्होंने कहा कि यह भारत का अभिन्न अंग है, कश्मीर का जो हिस्सा पाकिस्तान के कब्जे में है उसे वापस लेने की कोशिश की जानी चाहिये और कश्मीरी पंडितो की घर वापसी होनी चाहिये। इसके लिए एक फॉर्मूला सुझाते हुए स्वामी ने कहा कि कश्मीरी पंडितों के घरों में पूर्व सैनिकों को हथियारों के साथ कुछ समय के लिये रहने देना चाहिये और कुछ साल बाद वहां कश्मीरी पंडितो को बसा देना चाहिए। 

2017 में उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी अकेले लड़ेगी विधानसभा चुनाव : अखिलेश यादव

कानपुर- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को यहां साफ कर दिया कि समाजवादी पार्टी 2017 के आगामी विधानसभा चुनाव में अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। उन्होने कहा कि सपा ने तीन साल के भीतर सूबे में जितना काम किया है, उतना काम कहीं नहीं हुआ है और इसीलिए अपने काम के दम पर पार्टी विधानसभा चुनाव में उतरेगी।

यहां ग्रीनपार्क में आयोजित आशा यात्रा में शामिल होने के दौरान जब पत्रकार वार्ता में अखिलेश से सवाल किया गया कि प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी किस दल के साथ सहयोग कर सरकार बनाएगी, इस पर उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी प्रदेश में अगला चुनाव अपने दम पर अकेले लड़ेगी।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री किसी पार्टी का नहीं होता है, वह तरक्की करने के लिए समझौता करता है तथा आगे बढ़ने के लिए बलिदान करता है। अखिलेश ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि जो लोग इस तरह के पदों पर बैठे हैं, उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए। हम प्रदेश में विकास, बेराजेगारी और तरक्की पर काम कर रहे है।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता द्वारा राम मंदिर बनाए जाने के सवाल के पर अखिलेश ने बीजेपी का नाम लिए बिना कहा कि जो लोग माहौल बिगाड़ने का काम कर रहे है और माहौल खराब कर रहे है, उन्हें पकड़ो और उनसे सवाल पूछो। उन्होंने कहा कि आप जिस दल का नाम ले रहे हो वह भी तो प्रदूषण ही फैला रहा है।

सीएम अखिलेश ने कहा, 'कोई भी चीज अगर सीमा के बाहर है तो उसे प्रदूषण माना जायेगा। हर चीज सीमा के अंदर ही हो तो अच्छी लगती है, अगर सीमा के बाहर चली गई तो फिर वह गलत है। अब कौन सा दल प्रदेश या देश में प्रदूषण फैला रहा है यह बात आप हमसे बेहतर जानते है।'

:
:
: