Headline • सोशल मिडिया पर नुसरत जहां की हुई बड़ी तारीफ• 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बनी ऑस्ट्रेलिया• चंद्रबाबू नायडू का आलीशान बंगला बना खँडहर • पीएम मोदी के बयान पर सदन में हंगामा   • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।


 

 

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के शिविर पर हुुुुई एयर स्ट्राइक पर कहा कि 400 लोग पड़ोसी मुल्क में मारे गए लेकिन किसी का जनाजा नहीं दिखा।

उन्होंने कहा कि यह बात वह अपने देश से नहीं पड़ोसी मुल्क से पूछ रहे हैं। आगे आजम ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, अगर मैं प्रधानमंत्री होता तो पुलवामा हमले के बाद 40 सेकेंड का भी इंतजार नहीं करता और हमला कर देता। मुझे पता चला कि वायुसेना के हमले में 400 लोग पड़ोसी मुल्क में मारे गए है। लेकिन किसी का जनाजा नहीं दिखा। यह बात मैं अपने देश से नहीं पड़ोसी मुल्क से पूछ रहा हूं।

 

कांग्रेस पार्टी पर सपा और बसपा गठबन्धन के रिश्तों का रंग चढ़ना शुरू हो गया है। कांग्रेस ने गठबन्धन को अमेठी और रायबरेली सीट के बदले 6 सीटों का रिटर्न गिफ्ट देने का मन बना लिया है। जहां कांग्रेस ने यूपी में 11 सीटों पर प्रत्याशियों का एलान किया है। वहीं सपा ने 9 सीटों का एलान किया है।

सपा ने 9 प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की जिसमे मैनपुरी मुलायम सिंह यादव, कन्नौज से डिम्पल और फिरोजाबाद से अक्षय यादव के खिलाफ कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी नहीं उतारने की रणनीति बनाई है। वहीं जहां से अखिलेश यादव और मायावती चुनाव लड़ेंगे वहां कांग्रेस अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगी। वहीं एक सीट अन्य छोड़ सकती है। इसके अलावा सपा बसपा गठबन्धन के सहयोगी राष्ट्रीय लोकदल भी कांग्रेस से एक सीट पर सहयोग की उम्मीद लगाए है। शिवपाल यादव के खिलाफ भी कांग्रेस अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगी।

बदायूं सीट पर सपा बसपा गठबन्धन और कांग्रेस में जरूर पेंच फंसा है। दरअसल कांग्रेस पार्टी ने बदायूं से अपना प्रत्याशी सलीम इकबाल को उतार दिया है। वहीं सपा ने इस सीट पर धर्मेंद्र यादव को प्रत्याशी बनाया है। इस वजह से सपा प्रमुख अखिलेश यादव कांग्रेस से नाराज चल रहे हैं। अब देखना यह है कि क्या कांग्रेस अपने प्रत्याशी को चुनाव लड़ने से रोकेंगे। बातचीत के आधार पर इस सीट के झगड़े को कांग्रेस पार्टी निपटाने में जुटी है।

सहायक शिक्षक के लिए करीब 69 हजार पद की भर्ती परीक्षा के परिणाम घोषित करने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने सोमवार को 28 जनवरी तक रोक लगा दी है। 6 जनवरी 2019 को 69 हजार पदों के लिए हुई शिक्षक भर्ती परीक्षा का परिणाम 22 जनवरी को घोषित किया जाना था. सोमवार को लगभग दो घंटे चली बहस के बाद हाईकोर्ट ने फिलहाल यथास्थित बरकरार रखने का आदेश दिया है। मामले में अगली सुनवाई 29 जनवरी को होगी।

69 हजार शिक्षक भर्ती न्याय मोर्चा के नेतृत्व में छात्र इस मांग को लेकर पिछले 15 दिनों से आंदोलित हैं और PNP दफ्तर पर धरना दे रहे हैं। इस मौके पर हुई सभा में सुनील मौर्य ने कहा कि 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा की संशोधित उत्तर कुंजी अब 28 जनवरी तक नहीं आएगी। कहा कि हमारी लड़ाई पेपर आउट कराने वाली व्यवस्था से है। यूपी के 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा रद्द होगी तो भ्रष्टाचार करने वालों का हौसला कमजोर होगा।

उन्होंने कहा कि आंदोलन को 15 दिन हो गए लेकिन हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया। कहा कि आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार 69 हजार प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा रद्द नहीं कर देती।

 

 

रमजान महीने में लोकसभा चुनाव को लेकर जारी विवाद के बीच सोमवार को चुनाव आयोग का जवाब आया। आयोग ने यह साफ किया कि शुक्रवार के दिन वोटिंग नहीं रखी गई है। चुनाव आयोग ने कहा है कि रमजान के समय चुनाव रखे गए हैं क्योंकि चुनाव पूरे महीने नहीं हो ऐसा नहीं हो सकता था। हालांकि, मुख्य त्योहार की तारीख और शुक्रवार के दिन को वोटिंग से अलग रखा गया है।

चुनाव तारीखों के बाद से कुछ नेताओं ने रमजान में चुनाव को लेकर सवाल उठाए। आम आदमी पार्टी नेता अमानातुल्लाह ने ट्वीट कर लिखा कि 12 मई को दिल्ली में रमजान होगा। ऐसे में मुसलमान कम वोट देंगे और फायदा बीजेपी को मिलेगा। वहीं दूसरी ओर एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने इस पूरे विवाद को अनावश्यक बताते हुए कहा कि रमजान में मुस्लिम रोजा रखते हैं और वे बाहर जाते हैं और सामान्य जीवन जीते हैं। वे कार्यालय जाते हैं, यहां तक कि गरीब से गरीब व्यक्ति भी रोजा रखता है। मेरा मानना है कि इस महीने में मतदान प्रतिशत बढ़ेगा क्योंकि व्यक्ति सभी सांसारिक कर्तव्यों से मुक्त होगा।

लखनऊ. यूपी के उन्नाव गैंगरेप केस के मामले में पीड़िता के पिता पप्पू उर्फ सुरेंद्र की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। इस रिपोर्ट में पुष्टि हुई है मारपीट की वजह से उसकी बड़ी आंत फट गई थी। पीड़िता के पिता के शरीर पर 14 जगह चोट के निशान थे। बता दें कि सोमवार को गैंगरेप पीड़िता के पिता को जेल से अस्पताल लाया गया था, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी। जिसके बाद गैंगरेप पीड़िता के परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया था। 

-पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के पिता के शरीर में 14 चोटें आई थी। चोट लगने की वजह से खून का रिसाव होने लगा था। ऐसे में के शरीर में सेप्टीसीमिया की वजह से जहर फैल गया था।

-पीड़िता का पिता शॉक में चला गया था और  ये चोटें 6-7 दिन पुरानी है। 

-पोस्टमार्टम होने के बाद मंगलवार  सुबह शुक्लागंज घाट पर पीड़िता के पिता के शव का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान भारी पुलिस बल मौके पर तैनात रहा। 

कहा-कहां लगी चोट 

-पीड़िता के पिता के शरीर में सिर से लेकर पैर में गंभीर चोटों के निशान थे। 

क्या है परिजनों का आरोप 

-परिजनों का आरोप है कि बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई जय सिंह ने 4 अप्रैल को उसने गुंडों के साथ मिलकर पप्पू उर्फ सुरेंद्र की बेरहमी से पिटाई की थी।

-आरोप है कि पीड़ितों ने इसकी शिकायत थाने में की थी लेकिन पुलिस ने आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की बल्कि युवती के पिता को ही जेल भेज दिया था। 

-पुलिस ने इस मामले में पुलिस ने बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर के भाई अतुल सिंह समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

 

:
:
: