Headline • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी का मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका • बिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर सादा निशाना• PM मोदी पर मायावती के विवादित बयान पर जेटली का हमला किसी पद के लायक नहीं बसपा सुप्रीमो• विकीलीक्‍स संस्‍थापक जुलियन असांजे के खिलाफ स्‍वीडन में दोबारा खुल सकता है यौन उत्‍पीड़न मामला• ममता के घर में अमित शाह की दहाड़ हिम्मत है तो करो मुझे गिरफ्तार• ट्विटर ने हटाए कई पाकिस्‍तानी अकाउंट, पाक सरकार ने लगाए थे देश नियमों के उल्‍लंघन का आरोप• कोई भी देश कमजोर सरकारों के होते शक्तिशाली नहीं बन सकता: PM मोदी• भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी मालवाहक विमान को वायुसेना ने जयपुर एयरपोर्ट पर उतरवाया• फ्रांस के स्‍कूल में भेड़ों का दाखिला • सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या भूमि विवाद की मध्यस्थता प्रक्रिया के लिए 15 अगस्त तक का समय बढ़ाया • दक्षिण चीन सागर में अमेरिका, भारत, जापान और फिलीपींस ने मिलकर किया सैन्य अभ्यास• प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान AAP उम्मीदवार आतिशी ने लगाए गौतम गंभीर पर आरोप• पीएम मोदी द्धारा पूर्व पीएम राजीव गांधी पर दिये गये बयान के बचाव में उतरी कांग्रेस• आईपीएल 2019: मुंबई के खिलाफ हार के बाद भड़के धोनी


लखनऊ.  विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर पति की हत्या की घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने विवेक तिवारी की हत्या के दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के साथ ही एक करोड़ रुपए का मुआवजा और यूपी पुलिस में नौकरी की भी मांग की है। 

कल्पना ने कहा कि मेरे दो छोटे छोटे बच्चे हैं। उनके सिर से पिताजी का साया उठ गया है। अब वे किस तरह बच्चों की परवरिश करेंगी। 

उन्होंने घटना का जिक्र करते हुए कहा कि विवेक ने फोन पर बताया था कि वो सना को छोड़ने के बाद घर पहुंचेंगे। मैंने बाद में फोन किया तो एक आदमी ने उठाया जिसने कहा कि एक्सीडेंट हो गया है, लोहिया अस्पताल पहुंचें आप।

कल्पना ने कहा 'मैं लोहिया अस्पताल गई तो मुझे गोली की बात नहीं बताई गई, कहा गया कि छोटा सा एक्सीडेंट था। बाद में डॉक्टर ने कहा कि उनके सिर पर चोट लगी थी जिसके बाद ब्लीडिंग बहुत हुई और उन्हें बचाया नहीं जा सका।'

सीएम को लिखे पत्र में कल्पना ने कहा कि उन्होंने कहा कि परिवार में विवेक ही जीविका चलाने के लिए कमाते थे। बच्चों की परवरिश के लिए सरकार को उन्हें पुलिस विभाग में नौकरी देनी चाहिए। 

 

 

मुरादाबाद-गलशहीद थाना क्षेत्र के चड्ढा रोड पर शराब पीकर हंगामा कर रहे पार्षद के भतीजे को रोकना महंगा पड़ गया। शराब पीने से रोकने पर पार्षद के भतीजे ने सिपाही की पिटाई कर दी जिसमे सिपाही की वर्दी फट गई। पार्षद और भाजपा नेताओं ने भतीजे को छुड़ाने के लिए रोडवेज चौकी पर जमकर हंगामा किया। पार्षद के भतीजे को धारा 151 में चालान कर जेल भेज दिया।

गुरुवार रात करीब बारह बजे कोतवाली के खुशहाल नगर निवासी प्रतीक कात्याल रोडवेज बस स्टैंड के पास चड्ढा रोड पर खड़े ठेले वालों से अभद्रता कर रहा था। जिसकी सूचना पुलिस को दी गयी।

लैपर्ड पर तैनात सिपाही प्रद्युम्न शर्मा होमगार्ड के साथ मौके पर पहुंचा। उसने प्रतीक को रोकने की कोशिश की, लेकिन ठेले वालों को छोड़कर प्रतीक ने सिपाही से अभद्रता करनी शुरू कर दी। आरोप है कि प्रतीक सिपाही के साथ मारपीट करने लगा।

मारपीट में सिपाही की वर्दी फट गई। तत्काल ही मामले की जानकारी मिलने पर चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। पुलिस प्रतीक को हिरासत में लेकर थाने ले गई। प्रतीक के रिश्ते का चाचा देश रतन कात्याल भी मौके पर पहुंचा।

देश रतन वार्ड 60 से भाजपा पार्षद हैं। पुलिस जब प्रतीक कत्याल का मेडिकल कराने के लिए ले जाने लगी तो पार्षद ने चौकी में घुसकर भतीजे को मेडिकल करने जाने से रोकने की कोशिश की लेकिन जैसे ही सिपाही प्रद्युम्न शर्मा प्रतीक को बाहर लेकर आया एक बार फिर सिपाही से धक्का मुक्की करने लगा।

सिपाही प्रद्युम्न शर्मा ने बताया कि एक बार नाले पर भी यह आपस मे शराब पीकर लड़ रहे थे तब मैंने समझा कर घर जाने के लिए कहा लेकिन थोड़ी देर बाद ठेले वाले शिकायत लेकर आये जब में दुबारा गया तो पहले इसने मेरी ही वीडियो बनाने लगा बाद में मेरी वर्दी के बटन तोड़ दिए और नेम प्लेट तक तोड़ दी जिसको लेकर में चौकी आ गया अब इसका मेडिकल करा कर कार्यवाही की जाएगी।

लखनऊ. मृतक एप्पल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की लाश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि उसके सर में गोली मारी गई है। स्पष्ट हो गया है कि विवेक की गोली लगने से ही हुई मौत।

पुलिस अफसर पोस्टमार्टम हाउस में कमरा बन्द करके डॉक्टरों से बातचीत की। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि मृतक विवेश के शरीर में एल्कोहल मिला है या नहीं।

मृतक के साले ने पूरे मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है। उन्होंने मीडिया से कहा कि विवेक को जानबूझ कर मारा गया है। अगर वे भाग रहे थे तो उनके पैर में या गाड़ी का नंबर नोट किया जा सकता था लेकिन उसे सिर पर गोली मारी गई है।

मृतक विवेक तिवारी के रिश्तेदार विष्णु शुक्ला ने कहा कि क्या वह आतंकवादी थे जो पुलिस ने गोली मार दी? हम योगी आदित्यनाथ को अपने प्रतिनिधि के रूप में चुनते हैं, हम चाहते हैं कि वह इस घटना का संज्ञान लें और निष्पक्ष सीबीआई जांच की मांग करें।

वहीं, मृतक विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी ने कहा कि पुलिस को मेरे पति को मारने का कोई हक नहीं था। मैं यूपी के सीएम से मांग करती हूं कि वह यहां आएं और मुझसे बात करें। 

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लखनऊ की घटना एन्काउंटर नहीं है। इस मामले की जांच की जा रही है। दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अगर जरूरत हुई तो सरकार सीबीआई जांच भी करा सकती है। 

बता दें कि एपल कंपनी के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की कांस्टेबिल ने गोली मार कर हत्या कर दी जब उन्होंने कार नहीं रोकी।

उन्हें शुक्रवार-शनिवार की रात उस वक्त गोली मार दी गई जब वे अपनी सहकर्मी को उसके घर छोड़ने जा रहे थे। उनका पोस्टमार्टम हो गया है। जिसमें सिर में गोली लगने से मौत बताई जा रही है। 

यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा कि इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

उन्होंने स्पष्ट किया कि पुलिस की ओर से विवेक के चरित्र पर कोई सवाल नहीं उठाए गए हैं। सिपाही प्रशांत मालिक और संदीप को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

 

लखनऊः राजधानी लखनऊ में शुक्रवार रात करीब एक बजकर 30 मिनट पर एक पुलिस कॉन्स्टेबल की ओर से गाड़ी रोकने का इशारा करने पर जब गाड़ी नहीं रोकी तो कॉन्टेबिल ने नजदीक से गोली चला दी। कॉस्टेबिल  की गोली से 38 साल के शख्स की मौत हो गई।

घटना रात के 1.30 बजे लखनऊ के गोमती नगर एक्सटेंशन इलाके की है। कार चालक की पहचान विवेक तिवारी के रूप में हुई है। जिस समय गोली मारी गई, उस समय कार में एक महिला भी थी। कुछ दूर चलने के बाद कार एक पोस्ट से टकरा गई। जहां पुलिस विवेक और महिला को अस्पताल ले गई, जहां विवेक की मौत हो गई। मृतक विवेक एप्पल कंपनी का एरिया मैनेजर था।

इस  मामले में पुलिस का कहना है कि विवेक तिवारी अपनी एक महिला साथी के साथ एसयूवी कार चला रहा था। गश्त पर मौजूद दो पुलिसकर्मियों ने उसे इशारा कर गाड़ी रोकने को कहा। पुलिस ने कहा कि तिवारी ने वहां से कथित तौर पर भागने का प्रयास किया, इसी क्रम में पहले उसने पहले पुलिस की पेट्रोलिंग वाली बाइक में और फिर बाद में दीवार को भी टक्कर मारी। पुलिस ने विवेक की महिला मित्र को उसके घर में ही नज़रबंद कर दिया है।

उधर विवेक की पत्नी ने लाश का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है। उन्होंने कहा कि जबतक सीएम योगी नहीं आएंगे तब तक लाश को उठने नहीं दिया जाएगा।

इस बीच सीएम योगी ने इस मामले में डीजीपी से बात की है। 

सवाल उठ रहा है कि पुलिस कांस्टेबल प्रशांत कुमार को गोली चलाने की नौबत क्यों आई। लखनऊ पुलिस का कहना है कि कॉन्स्टेबल ने आत्म-रक्षा के लिए गोली चलाई थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी कॉन्स्टेबल को लगा कि कार के भीतर शायद अपराधी हो सकते हैं।  

 लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि हमने उस पुलिस कर्मी को हिरासत में ले लिया है, जो उस वक्त घटनास्थल पर चेकिंग ड्यूटी पर था। उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। 

 

:
:
: