Headline • सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत• लखनऊ शूटआउट : विवेक तिवारी की पत्नी ने सीएम योगी से की मुलाकात• लखनऊ : कारोबारी के घर लाखों की डकैती, वारदात के बाद दंपती को बाथरूम में बंद कर फरार हुए नकाबपोश बदमाश • मुजफ्फरनगर : युवती का अपहरण कर रेप, जंगल में फेंककर हुए फरार• विवेक तिवारी हत्याकांड पर बीजेपी विधायक ने उठाए सवाल, सीएम योगी को लिखा पत्र• विवेक तिवारी हत्याकांड:CM योगी ने पीड़ित परिवार से फोन पर की बात,हर संभव मदद करने का दिया भरोसा• बस्ती : खराब बस को धक्का लगा रहे यात्रियों को ट्रक ने कुचला, 6 की दर्दनाक मौत• विवेक तिवारी हत्याकांड :'पुलिस अंकल, आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे... Please गोली मत मारियेगा'• लखीमपुर खीरी के यतीश ने तोड़ा लगातार पढ़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड, 123 घंटे पढ़कर बनाया कीर्तिमान• रुद्रप्रयाग : अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरी कार • फाइनल में सेंचुरी बनाने वाले लिटन दास को क्यों कहना पड़ा, मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता• ललितपुर : SDM ने होमगार्ड की राइफल से गोली मारकर की आत्महत्या• टेनिस की इस खिलाड़ी ने किया टॉपलेस वीडियो, कारण जानकार आप भी करने लगेंगे तारीफ• इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 800 पार पहुंची, अभी भी कई इलाकों में नहीं पहुंचा राहत दल• मेरठ : हिस्ट्रीशीटर की चाकुओं से गोदकर हत्या• एशिया कप के साथ फोटो शेयर कर इशारों इशारों में  बुमराह ने राजस्थान पुलिस को मारा ताना• तनुश्री के सपोर्ट में आईं कई हिरोईन तो नाना के समर्थन में आईं राखी सावंत, कहा, मरते दम तक साथ दूंगी• SHO और मुंशी के टॉर्चर से परेशान होकर महिला सिपाही ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा• मामा-भांजी को पेड़ से बांधकर की पिटाई, चचिया ससुर ने बदला लेने के  लिए किया ऐसा घिनौना काम• बदनामी के बीच आई यूपी पुलिस की एक ईमानदार छवि, केस से नाम हटाने को 4 लाख देने वाले को जेल भेजा• इस दिन रिलीज हो रहा है कंगना की मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' का टीजर• पुलिस के आतंक से पुरुषों ने गांव छोड़ा, दो पक्षों के झगड़े में सिपाही के घायल होने पर गांव में पुलिस का तांडव• स्वामी प्रसाद का सपा पर हमला, कहा-अखिलेश ने गरीब के पैसे और साइकिल कार्यकर्ताओं में बांट दिए


देवबन्दः गांव रणखंडी में गुरुवार सुबह ग्रामीणों ने क्षेत्रिय विधायक कुंवर बृजेश सिंह का पुतला बनाकर जूतों की माला पहनाकर आग के हवाले किया।

ग्रामीणों का कहना है कि विधायक कुंवर बृजेश के यहां पूजा में शामिल होने के लिए गये थे, वहां ग्रामीणों को नहीं बैठाया गया। जब ग्रामीण खुद ही चादर बिछाकर बैठ गए तो उनके साथ क्षेत्रीय विधायक ने अपशब्द कहे। और वहां से चले जाने के लिए कहा। 

ग्रामीण अपने गांव की समस्या भी लेकर गये थे। मगर विधायक ने उनकी समस्या नहीं सुनी। जिसके चलते ग्रामीणों में विधायक के प्रति रोष व्याप्त है।

क्षेत्रीय विधायक का पुतला पहली बार नहीं फूंका गया इससे पहले भी गांव जखवाला में क्षेत्रीय विधायक की कार्यशैली से नाखुश होने के कारण ग्रामीणों ने पुतला फूंका था।

बीजेपी जहां 2019 के चुनाव की तैयारी के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही है, वहीं भाजपा विधायक पार्टी की मेहनत पर पानी फेरने पर लगे हुए हैं। जनपद सहारनपुर में बीजेपी को 2019 में भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है क्योंकि विधायक के व्यवहार से क्षेत्रीय लोग खुश नहीं है।

शामलीः यहां गुरुवार सुबह दो गौवंशों की मौत के बाद बजरंग दल के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। कार्यकर्ताओं ने दोषियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर रोड जाम किया।

हंगामे की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों गौवंशों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। 

मामला शामली के आदर्श मंडी थाना क्षेत्र के माजरा रोड का है, जहां गुरुवार सुबह के समय बीच सड़क में 2 गौवंश के शव पड़े दिखाई दिए।

शवों को देख लोगों की भीड़ जुटती गई। सूचना पर बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के सैकड़ों कार्यकर्ता पहुंच गए और उन्होंने कई बार पशु चिकित्सा अधिकारी को फोन कर मौके पर बुलाने की बात कही, लेकिन घंटों तक भी पशु चिकित्सा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि इन दोनों गौवंश को जहर देकर मारा गया है।

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गौवंशों की मौत को लेकर जमकर हंगामा प्रदर्शन करते हुए रोड जाम कर दिया।

सूचना पर घटनास्थल पर पहुंची खान आदर्श मंडी पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को किसी तरह समझा बुझाकर शांत किया। जिसके बाद सड़क पर पड़े दोनों गोवंश के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

 

संभलः यहां के नखासा थाना क्षेत्र में बाइक सवार ग्रामीण को तेंदुआ दिखाई देने की खबर से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम भी गांव पहुंच गई। जिसने खेत में पैरों के निशान को देखा और आसपास के खेतों में कांबिंग भी की, लेकिन वह नहीं मिल सका।

खेत में तेंदुआ दिखाई देने की खबर लगने के बाद आसपास गांवों के ग्रामीणों में दहशत का माहौल फ़ैल गया है। वहीं फिलहाल ग्रामीण समूह बनाकर डंडे व भाला हाथों में लेकर निकल रहे हैं। 

दरअसल नखासा थाना इलाके के गांव लखौरी निवासी रामसिंह का बेटा कामेंद्र मंगलवार को किसी काम से पास के गांव भदरौला गया था। जहां से काम निपटाने के बाद वह शाम को बाइक से घर की ओर लौट रहा था।

कामेंद्र सिंह जब घर लौट रहा था तभी भदरौला और लखौरी गांव के बीच पहुंचा तभी अचानक ईख के खेत से तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया, लेकिन गनीमत रही कि तेंदुए का पैर ईख में फंस गया।

ऐसे में मौका पाते ही कामेंद्र ने बाइक की रफ्तार को बढ़ा दिया और गांव पहुंचकर ग्रामीणों को घटना के बारे में बताया तो ग्रामीण इकट्ठा होकर खेतों में पहुंचे हालांकि वहां तेंदुआ नहीं मिला लेकिन खेतों में मिले पंजों के निशान से तेंदुआ होने की पुष्टि हो गई।

बुधवार सुबह को ग्रामीण एक बार फिर खेतों में काम करने पहुंचे तो एक बार फिर ग्रामीणों को तेंदुआ जंगल किनारे टहलता हुआ दिखाई दिया लेकिन इसी बीच एक ग्रामीण ने तेंदुए के टहलते हुए वीडियो भी बनाया जहां तेंदुआ कैमरे में भी कैद हो गया।

वीडियो सामने आने के बाद वन विभाग को सूचना दी गयी तो वन विभाग के रेंजर अकेले गांव में पहुंच गए। हाल ये रहा जब ग्रामीणों ने जानकारी दी तो वन विभाग तेंदुए को तलाशने के लिए कोई व्यापक इंतजाम करने के बजाय अकेले रेंजर बिना किसी हथियार के खुद तेंदुआ तलाशने निकल गए।

जिसके बाद वन विभाग के रेंजर ने ग्रामीणों के साथ खेतों में जाकर तेंदुए की तलाश की। हालाँकि फिलहाल तेंदुए के वीडियो सामने आने के बाद पुष्टि होने पर ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है। 

वन विभाग के रेंजर अमरकांत का कहना है कि गांव के खेतों में जो निशान मिले हैं और वीडियो में जो दिख रहा है उससे इस बात की पुष्टि हो गयी है कि वह तेंदुआ ही है इसके लिए पिंजड़ा तैयार कराया जा रहा है। फिलहाल ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। 

गोरखपुरः जिले की पुलिस कानून व्यवस्था पर अपना ध्यान छोड़ प्रेमी जोड़ों की शादियां कराने में जुट गयी है। जी हां गोरखपुर जिले में दो थानों में पुलिस ने दो दिनों के अंदर दो शादिया कराई। 

गोरखपुर जिले के गगहा थाने पर और खजनी थाने पर हुई प्रेमी जोड़े की शादी गोरखपुर जिले में चर्चा का विषय बन गया है। बीते 2 दिनों में दो प्रेमी जोड़े की पुलिस द्वारा शादी कराए जाने का मामला सुर्खियों में है। 

जाति धर्म को पीछे छोड़ प्रेमी और प्रेमिका ने खजनी थाने में शादी रचाई। शादी खजनी थाना क्षेत्र के रहने वाला 21 वर्षीय शिव प्रताप सिंह का प्रेमिका अनामिका  जाति अनुसूचित 19 वर्ष के साथ छह साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

मगर मामूली बात पर विवाद होने से युवक ने शादी से इनकार कर दिया। इस पर युवती ने थाने में इसकी शिकायत की। इंस्पेक्टर मनोज राय ने मामला गम्भीर देख दोनों पक्ष के परिवारों को बुलाया और उन्हें समझाकर खजनी थाना के प्रांगण में रचा दी।

वहीं गगहा थाना क्षेत्र के कुसमौरा खुर्द निवासी रामचन्द्र पुत्र जीतबन्धन का दूर के रिश्तेदार की लड़की चवरिया निवासिनी वंदना से विगत 4 वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

बुधवार को वन्दना अपने प्रेमी के घर पहुंच गई तो लड़के के पिता ने इसकी सूचना गगहा थाने को दे दी।  गगहा पुलिस मौके पर पहुंचकर दोनों पक्ष को थाने पर बुलाकर समझा बुझाकर परिजनों की सहमति से थाने परिसर में शादी करा दी। 

 

मुजफ्फरनगरः केंद्र और प्रदेश की सरकारों पर  किसानों की अनदेखी  करने के आरोप को लेकर और सोई सरकार को जगाने के लिए भारतीय किसान यूनियन किसान द्वारा निकाली जा रही किसान क्रांति यात्रा में हजारों की संख्या में किसानों ने दिल्ली की ओर कूच कर दिया है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत व राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत के नेतृत्व में हजारों किसान उत्तराखंड के हरिद्वार से पैदल चलकर बुधवार शाम मुज़फ्फरनगर पहुंचे थे, जहां रात्रि में गुड मंडी में विश्राम के बाद सुबह फिर दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

कई हजार किसान अपने ट्रैक्टर ट्रॉलियों में सवार होकर किसान मसीहा चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत अमर रहे और भारतीय किसान यूनियन जिंदाबाद के नारे लगाते दिखाई दिए। 

किसानों की क्रांति यात्रा ने रात मुज़फ्फरनगर में विश्राम किया था जिसके बाद आज सुबह भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत अपने हजारों किसानों के दल बल के साथ दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

क्रांति यात्रा हरिद्वार के टिकैत घाट से शुरू होकर दिल्ली के जंतर मंतर पर पहुंचेगी। राकेश टिकैत के साथ हजारों किसान पैदल मार्च करते हुए दिल्ली पहुंचेंगे और सरकार को अपनी समस्याओं से अवगत कराएंगे। 

कांवड़ यात्रा के बाद दिल्ली देहरादून नैशनल हाइवे पर किसान क्रांति यात्रा का नजारा देखते ही बनता था। इस यात्रा में किसानों के साथ साथ महिलाओं की बड़ी संख्या में भागीदारी है।

राकेश टिकैत ने बताया कि देश का हर किसान आज बहुत परेशान है। किसानों की मांग को लेकर हम दिल्ली के लिए जा रहे हैं। इसके साथ ही वे सरकार को ढूंढने के लिए दिल्ली जा रहे हैं कि सरकार कहां सोई हुई है।

किसानों का पूरा गन्ना भुगतान हो या फिर 10 साल पुराने टैक्टरों पर जो रोक लगाई गई है उसे बहाल किया जाए। किसानों को फसलों का वाजिब दाम दिया जाए। 

 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: