Headline • टोटल धमाल ने मचाई स्क्रीन पर धूम• अमेरिकी डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरियाई किम जोंग के बिच 27-28 फरवरी को वियतनाम में होगा शिखर सम्मेलन • यूपी पुलिस ने देवबंद में 2 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया• दक्षिण कोरिया ने PM मोदी को सियोल शांति पुरस्कार से किया सम्मानित • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया


बस्ती. यूपी के बस्ती में सोमवार तड़के दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। यहां खराब में बस को धक्का रहे लोगों को पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने कुचल दिया. इस हादसे में छह लोगों के मौत होने की खबर है। वहीं दो गंभीर रुप से घायल हो गए है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उन्हें फैजाबाद रेफर कर दिया गया है। इस घटना पर सीएम योगी ने दुख जताया है। 

-जानकारी के मुताबिक, यह हादसा बस्ती जिले के छावनी थाना क्षेत्र में हुआ। 

-बताया जा रहा है कि प्रयाग डिपो की बस छावनी थाना क्षेत्र के एनएच-28 पर ख़राब हो गई।

-ड्राइवर ने यात्रियों से धक्का लगाने को कहा, आठ यात्री बस को धक्का लगाने उतरे तभी पीछे से आ रही तेज रफ़्तार ट्रक ने उन्हें रौंद दिया।

-इस हादसे में 6 यात्रियों की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं दो की हालत गंभीर बनी हुई है। जिनका इलाज चल रहा है। 

-पुलिस ने मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं ट्रक समेत ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। 

 

सीएम योगी ने जताया दुख 

-सीएम योगी ने इस घटना पर दुख जतायाा है और जिला प्रशासन को घायलों को हर संभव मदद मुहैया कराने और मृतकों को नियमानुसार मुआवजा देने के निर्देश दिए हैं।

 

रुद्रप्रयाग. उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में अनियंत्रित होकर कार खाई में जा गिरी इस हादसे में एक युवक की मौत हो गई है। वहीं दूसरे को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

-जानकारी के मुताबिक, यह हादसा रुद्रप्रयाग चोपता मार्ग पर हुआ है। 

-यहां बाज़ूण बेंड पर अनियंत्रित होकर कार खाई में गिर गई। इस हादसे में कार चला रहे युवक की मौत हो गई। वहीं दूसरे व्यक्ति को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिसकी हालत गंभीर बनी हुई है। 

-बताया जा रहा है कि अन्त्येष्टि में शामिल होने के लिए  दोनों युवक रुद्रप्रयाग आ रहे थे। 

मेरठ. यूपी के मेरठ में एक हिस्ट्रीशीटर को अज्ञात बदमाशों ने पीट-पीट कर और चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतार दिया। हिस्ट्रीशीटर पत्नी की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया जा रहा है कि हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ थाने में 12 मुकदमे दर्ज हैं।

-पुलिस के मुताबिक, यह घटना  टीपीनगर थाना क्षेत्र की है।

-हिस्ट्रीशीटर की पत्नी रूबी का कहना है कि देर रात तीन बजे दो युवकों ने दरवाजा खटखटाया। अनिल ने उठकर दरवाजा खोला और उनके साथ चला गया।

-रूबी का कहना है कि सुबह चार बजे अनिल लहूलुहान हालत में आया। उसके शरीर पर चाकुओं से हमले के निशान थे। सुबह 6 से 7 बजे के बीच में अनिल ने दम तोड़ दिया।

-रुबी ने जब अपनी पति से पूछा कि उसके साथ क्या हुआ तो अनिल ने सिर्फ इतना बताया कि तीन लोगों ने उस पर चाकुओं से हमला किया है। हमलावर कौन थे और घटना को कहां अंजाम दिया। इस सवाल पर अनिल ने हर बार कहा कि वह सिर्फ पुलिस को बताएगा। जिस वक्त अज्ञात युवक अनिल बुलाने आए, उस वक्त वह पत्नी व तीन बच्चों के साथ सोया हुआ था।

-लहूलुहान होकर आने के बाद वह बिस्तर पर पड़ा रहा। लेकिन, परिजनों उसे न तो अस्पताल ले गए और न ही पुलिस को सूचना दी।

-सुबह मौत होने पर परिजनों में विलाप हुआ तो पड़ोसियों को पता चला। इसके बाद पुलिस पहुंची और शव को पस्मार्टम को भेजते हुए छानबीन में जुट गई है

ललितपुर. यूपी के ललितपुर में एसडीएम ने होमगार्ड की राइफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इस घटना के बाद पुलिस और प्रशासन में हडकंप मच गया है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची है और मामले की जांच में जुटी हुई है। अभी तक आत्महत्या के कारण स्पष्ट नहीं हो सके हैं। 

-जानकारी के मुताबिक, मड़ावरा तहसील के एसडीएम हेमेंद्र कुमार ने गोली मारकर आत्महत्या की है। मौके पर खाना एवं दवाएं टेबल पर रखी  पाई गई

है। फिलहाल, पुलिस मौके पर है। खबर लिखे जाने तक ज्यादा जानकारी नहीं मिल सकी है। 

बाराबंकी. यूपी के बाराबंकी में महिला सिपाही ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला सिपाही का एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें अधिकारियों पर प्रताड़ना के आरोप लगाए है। सुसाइड नोट सामने आने से पुलिस महकमे में हडकंप मच गया और इस मामले में SHO व मुंशी को लाइन हाजिर कर दिया गया है। वहीं मामले की जांच ASP दक्षिणी को सौंपी गई है। 

-जानकारी के मुताबिक, हरदोई की रहने वाली महिला सिपाही मोनिका रावत हैदरगढ़ कोतवाली में तैनात थी। 

-वह यहां किराए पर रहती थी। रविवार को जब महिला सिपाही का फोन नहीं मिला तो पड़ोस में रहने वाला दूसरा सिपाही उसे खोजते हुए घर पर आया। 

-उसने कई बार दरवाजा खटखटाया लेकिन मोनिका ने कमरा नहीं खोला, इसके बाद सिपाही ने धक्का मारा तो दरवाजा खुल गया।

-कमरे के अंदर मोनिका का शव पंखे में रस्सी के फंदे पर लटका हुआ था। सिपाही ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी। 

-सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंची और मोनिका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथी ही महिला सिपाही के परिजनों को मामले की सूचना दी। 

-बताया जा रहा है कि महिला सिपाही ने अनुज नाम के एक शख्स को सुसाइड नोट व्हाट्सएप किया था। जिसमें सिपाही ने SHO परशुराम ओझा और मुंशी रुखसार अहमद पर प्रताड़ना का आरोप लगाया था। जिसके बाद एसपी ने एसएचओ और मुंशी को लाइन हाजिर कर दिया। 

 

क्या लिखा सुसाइड नोट में 

"मैं मोनिका थाना हैदरगढ़ बाराबंकी में आरक्षी के पद पर तैनात हूं, मैं कार्यालय में सीसीटीएनएस पर कार्यरत होने के बावजूद भी बार-बार बाहर ड्यूटी लगाकर टार्चर किया जाता है, जबकि बाकी CCTNS पर कार्यरत लोगों की कही बाहर ड्यूटी नहीं लगती है, इस डिपार्टमेंट में अगर कुछ खुद के साथ गलत हो रहा है तो उसका विरोध करना गुनाह है जो भी हो रहा है चुपचाप सहते जाओं तब ही शायद सभी खुश रहते हैं, जब मैंने इस चीज का विरोध किया तो कार्यालय में मौजूद  तैनात कांस्टेबल मोहर्रिर रुखसार अहमद व एसएचओ परशुराम ओझा द्वारा मुझे प्रताड़ित किया जाने लगा। मेरी गैरहाजिरी की रपट भी लिख दी। 29 सितंबर को जब मैं छुट्टी का प्रार्थना पत्र लेकर एसएचओ परशुराम ओझा के पास गई तो उन्होंने रजिस्टर फेंक दिया और कहा कि मैं छुट्टी नहीं दूंगा, सीओ से जाकर मिलो। छुट्टी अधिकार होता है उसके लिए भी अगर उच्चाधिकारियों के सामने भीख मांगने पड़े तो यह ठीक नहीं है। आखिर कब तक यह सब कर्मचारियों को झेलना पड़ेगा, अगर शायद आज छुट्टी दी गई होती तो यह कदम नहीं उठाना पड़ता और आज नहीं रोना व परेशान होना पड़ता। Sorry मम्मी-पापा जो भी आप लोगों के साथ किया, हो सके तो मुझे माफ कर देना Sorry'

 

:
:
: