Headline • ब्राजील के बार में हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, 11 लोगों की हुई • कांग्रेस ने नकारा एग्जिट पोल कहा इसके विपरीत होगा चुनाव परिणाम • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार, चुनाव आयोग से किया आग्रह • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी को मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका • बिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर सादा निशाना• PM मोदी पर मायावती के विवादित बयान पर जेटली का हमला किसी पद के लायक नहीं बसपा सुप्रीमो• विकीलीक्‍स संस्‍थापक जुलियन असांजे के खिलाफ स्‍वीडन में दोबारा खुल सकता है यौन उत्‍पीड़न मामला• ममता के घर में अमित शाह की दहाड़ हिम्मत है तो करो मुझे गिरफ्तार• ट्विटर ने हटाए कई पाकिस्‍तानी अकाउंट, पाक सरकार ने लगाए थे देश नियमों के उल्‍लंघन का आरोप• कोई भी देश कमजोर सरकारों के होते शक्तिशाली नहीं बन सकता: PM मोदी• भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी मालवाहक विमान को वायुसेना ने जयपुर एयरपोर्ट पर उतरवाया• फ्रांस के स्‍कूल में भेड़ों का दाखिला • सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या भूमि विवाद की मध्यस्थता प्रक्रिया के लिए 15 अगस्त तक का समय बढ़ाया • दक्षिण चीन सागर में अमेरिका, भारत, जापान और फिलीपींस ने मिलकर किया सैन्य अभ्यास


गोरखपुरः जिले की पुलिस कानून व्यवस्था पर अपना ध्यान छोड़ प्रेमी जोड़ों की शादियां कराने में जुट गयी है। जी हां गोरखपुर जिले में दो थानों में पुलिस ने दो दिनों के अंदर दो शादिया कराई। 

गोरखपुर जिले के गगहा थाने पर और खजनी थाने पर हुई प्रेमी जोड़े की शादी गोरखपुर जिले में चर्चा का विषय बन गया है। बीते 2 दिनों में दो प्रेमी जोड़े की पुलिस द्वारा शादी कराए जाने का मामला सुर्खियों में है। 

जाति धर्म को पीछे छोड़ प्रेमी और प्रेमिका ने खजनी थाने में शादी रचाई। शादी खजनी थाना क्षेत्र के रहने वाला 21 वर्षीय शिव प्रताप सिंह का प्रेमिका अनामिका  जाति अनुसूचित 19 वर्ष के साथ छह साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

मगर मामूली बात पर विवाद होने से युवक ने शादी से इनकार कर दिया। इस पर युवती ने थाने में इसकी शिकायत की। इंस्पेक्टर मनोज राय ने मामला गम्भीर देख दोनों पक्ष के परिवारों को बुलाया और उन्हें समझाकर खजनी थाना के प्रांगण में रचा दी।

वहीं गगहा थाना क्षेत्र के कुसमौरा खुर्द निवासी रामचन्द्र पुत्र जीतबन्धन का दूर के रिश्तेदार की लड़की चवरिया निवासिनी वंदना से विगत 4 वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

बुधवार को वन्दना अपने प्रेमी के घर पहुंच गई तो लड़के के पिता ने इसकी सूचना गगहा थाने को दे दी।  गगहा पुलिस मौके पर पहुंचकर दोनों पक्ष को थाने पर बुलाकर समझा बुझाकर परिजनों की सहमति से थाने परिसर में शादी करा दी। 

 

संभलः यहां के नखासा थाना क्षेत्र में बाइक सवार ग्रामीण को तेंदुआ दिखाई देने की खबर से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग की टीम भी गांव पहुंच गई। जिसने खेत में पैरों के निशान को देखा और आसपास के खेतों में कांबिंग भी की, लेकिन वह नहीं मिल सका।

खेत में तेंदुआ दिखाई देने की खबर लगने के बाद आसपास गांवों के ग्रामीणों में दहशत का माहौल फ़ैल गया है। वहीं फिलहाल ग्रामीण समूह बनाकर डंडे व भाला हाथों में लेकर निकल रहे हैं। 

दरअसल नखासा थाना इलाके के गांव लखौरी निवासी रामसिंह का बेटा कामेंद्र मंगलवार को किसी काम से पास के गांव भदरौला गया था। जहां से काम निपटाने के बाद वह शाम को बाइक से घर की ओर लौट रहा था।

कामेंद्र सिंह जब घर लौट रहा था तभी भदरौला और लखौरी गांव के बीच पहुंचा तभी अचानक ईख के खेत से तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया, लेकिन गनीमत रही कि तेंदुए का पैर ईख में फंस गया।

ऐसे में मौका पाते ही कामेंद्र ने बाइक की रफ्तार को बढ़ा दिया और गांव पहुंचकर ग्रामीणों को घटना के बारे में बताया तो ग्रामीण इकट्ठा होकर खेतों में पहुंचे हालांकि वहां तेंदुआ नहीं मिला लेकिन खेतों में मिले पंजों के निशान से तेंदुआ होने की पुष्टि हो गई।

बुधवार सुबह को ग्रामीण एक बार फिर खेतों में काम करने पहुंचे तो एक बार फिर ग्रामीणों को तेंदुआ जंगल किनारे टहलता हुआ दिखाई दिया लेकिन इसी बीच एक ग्रामीण ने तेंदुए के टहलते हुए वीडियो भी बनाया जहां तेंदुआ कैमरे में भी कैद हो गया।

वीडियो सामने आने के बाद वन विभाग को सूचना दी गयी तो वन विभाग के रेंजर अकेले गांव में पहुंच गए। हाल ये रहा जब ग्रामीणों ने जानकारी दी तो वन विभाग तेंदुए को तलाशने के लिए कोई व्यापक इंतजाम करने के बजाय अकेले रेंजर बिना किसी हथियार के खुद तेंदुआ तलाशने निकल गए।

जिसके बाद वन विभाग के रेंजर ने ग्रामीणों के साथ खेतों में जाकर तेंदुए की तलाश की। हालाँकि फिलहाल तेंदुए के वीडियो सामने आने के बाद पुष्टि होने पर ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है। 

वन विभाग के रेंजर अमरकांत का कहना है कि गांव के खेतों में जो निशान मिले हैं और वीडियो में जो दिख रहा है उससे इस बात की पुष्टि हो गयी है कि वह तेंदुआ ही है इसके लिए पिंजड़ा तैयार कराया जा रहा है। फिलहाल ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। 

कन्नौज. गुरसहायगंज कोतवाली में तैनात दारोगा जीतेन्द्र कुमार को एंटी करेप्सन की टीम ने रंगे हांथो रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा आरोपी दरोगा ने दहेज उत्पीड़न के मामले में आरोपित का नाम निकालने के लिए एक लाख रुपये की मांग रहा था।

-पीड़ित शकील ने बताया की उसको निर्दोष फंसाया गया था वो इतने पैसे का इंतजाम नहीं कर पा रहा था उसने 50 हजार रूपए देने की बात कही तो दरोगा जीतेंद्र कुमार तैयार हो गया। 

-पीड़ित शकील भष्ट्राचार निवारण संगठन कानपुर के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार तिवारी से शिकायत की।

-इसमें निरीक्षक शंभूनाथ तिवारी को कमान सौंपी। उन्होंने दारोगा को रंगे हाथ पकड़ने के लिए एक टीम गठित की।

टीम ने दोपहर में पहुंचकर पीड़ित शकील से संपर्क साधा। साथ ही उन्हें सारी रूप रेखा बताई। उन्हें केमिकल लगाकर नोट दिए।

 -पीड़ित ने दारोगा से निकलने के लिए समय मांगा। टीम ने बताया कि दारोगा ने मिलने के लिए पीड़ित को पांच जगह भिन्न-भिन्न स्थानों पर दौड़ाया।

-आखिर में दारोगा ने उन्हें गुरसहायगंज तिराहे पर मिलने की बात कही। रुपये देते समय टीम ने आकर दरोगा को रंगे हाथ पकड़ लिया। 

-एंटी करप्शन टीम ते शंभू नाथ तिवारी ने बताया कि दरोगा के रिस्वत मांगने की शिकायत मिली थी जिसको लेकर भ्रष्टाचार निवारण संगठन के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार तिवारी के निर्देश पर , महिला निरीक्षक मनीषा भदौरिया, कांस्टेबल राकेश, अभिषेक, मधु यादव व चालक लक्ष्मण के साथ आये थे। पीड़ित की शिकायत सही पायी गयी। दरोगा जीतेन्द्र कुमार रिस्वत लेते हुए रंगे हांथों गिरफ्तार किया गया है। आरोपी दरोगा के खिलाफ मुकदमा लिखा जा रहा है। मामले की जांच के बाद कार्यवाही की जाएगी। 

 

मुजफ्फरनगरः केंद्र और प्रदेश की सरकारों पर  किसानों की अनदेखी  करने के आरोप को लेकर और सोई सरकार को जगाने के लिए भारतीय किसान यूनियन किसान द्वारा निकाली जा रही किसान क्रांति यात्रा में हजारों की संख्या में किसानों ने दिल्ली की ओर कूच कर दिया है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत व राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत के नेतृत्व में हजारों किसान उत्तराखंड के हरिद्वार से पैदल चलकर बुधवार शाम मुज़फ्फरनगर पहुंचे थे, जहां रात्रि में गुड मंडी में विश्राम के बाद सुबह फिर दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

कई हजार किसान अपने ट्रैक्टर ट्रॉलियों में सवार होकर किसान मसीहा चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत अमर रहे और भारतीय किसान यूनियन जिंदाबाद के नारे लगाते दिखाई दिए। 

किसानों की क्रांति यात्रा ने रात मुज़फ्फरनगर में विश्राम किया था जिसके बाद आज सुबह भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत अपने हजारों किसानों के दल बल के साथ दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

क्रांति यात्रा हरिद्वार के टिकैत घाट से शुरू होकर दिल्ली के जंतर मंतर पर पहुंचेगी। राकेश टिकैत के साथ हजारों किसान पैदल मार्च करते हुए दिल्ली पहुंचेंगे और सरकार को अपनी समस्याओं से अवगत कराएंगे। 

कांवड़ यात्रा के बाद दिल्ली देहरादून नैशनल हाइवे पर किसान क्रांति यात्रा का नजारा देखते ही बनता था। इस यात्रा में किसानों के साथ साथ महिलाओं की बड़ी संख्या में भागीदारी है।

राकेश टिकैत ने बताया कि देश का हर किसान आज बहुत परेशान है। किसानों की मांग को लेकर हम दिल्ली के लिए जा रहे हैं। इसके साथ ही वे सरकार को ढूंढने के लिए दिल्ली जा रहे हैं कि सरकार कहां सोई हुई है।

किसानों का पूरा गन्ना भुगतान हो या फिर 10 साल पुराने टैक्टरों पर जो रोक लगाई गई है उसे बहाल किया जाए। किसानों को फसलों का वाजिब दाम दिया जाए। 

 

आगरा. यूपी के आगरा में एससी आयोग के अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया की भतीजी उमा को परिवार समेत जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। आरोप है कि अज्ञात व्यक्ति ने उमा के मकान में आग लगा दी। इसके बाद परिवार के सभी लोगों से पड़ोसियों की मदद से छत से कूदकर अपनी जान बचाई। आग लगाने की यह वारदात कालोनी के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। जिसमें एक युवक आग लगाकर भागता हुआ नजर आ रहा है। 

-जानकारी के मुताबिक,  सिकन्दरा आवास विकास कॉलोनी सेक्टर-11 में रामशंकर कठेरिया की भतीजी उमा का घर है। 

-बताया जाता है कि बीती रात करीब 1:30 बजे एक व्यक्ति ने रामशंकर कठेरिया की भतीजी  वाले मकान को आग के हवाले कर दिया। 

-आरोपी ने पेट्रोल डालकर पूरे मकान में आग लगा दी और आरोपी मौके से फरार हो गया। 

-रामशंकर कठेरिया की भतीजी उमा और उसके ससुराल के  लोगों ने छत से कूदकर जैसे-तैसे अपनी जान बचाई।

-इस आग से कठेरिया की भतीजी उमा उनका अाठ माह का बेटा और सास पुष्पा देवी, पति कमल आग से झुलस गए है। 

-वहीं आग लगाने वाला युवक कॉलोनी के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में भी कैद हो गया है।

-सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। 

 

अस्पताल में चल रहा है इलाज 

-रामशंकर कठेरिया की भतीजी  उमा उसकी बेटी और उसके पति का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।  उमा रामशंकर कठेरिया के छोटे भाई की बेटी है । जो शुरू से ही रामशंकर कठेरिया के पास में पली बढ़ी हुई है। 

-यही वजह है कि रामशंकर कठेरिया उमा को अपनी बेटी मानते हैं और उमा की शादी में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  आशीर्वाद  देने आगरा आये थे। 

-मगर इस घटना के बाद कठेरिया परिवार में हड़कंप है। और  अब पुलिस के आला अफसर आरोपी संजय शर्मा से जांच-पड़ताल पूछताछ कर रहे हैं।

 

मौके पर पहुंचे एससी आयोग के चेयरमैन 

एससी आयोग के चेयरमैन और आगरा शहर के सांसद रामशंकर कठेरिया भी मौके पर पहुंच गए थे।  रामशंकर कठेरिया का कहना था कि  इस परिवार की किसी से भी रंजिश नहीं है।  फिर इस तरीके का घटनाक्रम क्यों हुआ।  इस बात की पुलिस जांच पड़ताल कर रही है।  तो वही भतीजी उमा और उसके ससुराल को जिंदा जलाने की कोशिश के मामले में रामशंकर कठेरिया भी सकते में आ गए है और पुलिस से कड़ी कार्यवाही की मांग की है। 

 

:
:
: