Headline • पहले वाशिंगटन अपनी स्थिति बदले, फिर होगी परमाणु वार्ता: उत्तर कोरिया• करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफों की लगी कतार• लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राहुल गांधी दे सकते हैं इस्तीफा• पीएम मोदी का लोकसभा चुनाव के शानदार प्रदर्शन पर ट्वीट साथ+सबका विकास+सबका विश्वास=विजयी भारत। • लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: अमेठी में राहुल और स्मृति के बीच कड़ी टक्कर• लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: राजनीति में गंभीर की शानदार पारी, बड़ी जीत की ओर • लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: PM मोदी की सुनामी लहर में ढहा UPA• फ्रांस में भारतीय वायु सेना के राफेल कार्यालय पर कुछ अज्ञात लोगों द्वारा की गई तोड़फोड़ • चुनाव आयोग ने वीवीपीएटी की पर्चियों के ईवीएम से मिलान को लेकर विपक्षी दलों की मांग को किया खारिज • लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश फर्जी एग्जिट पोल से न हों निराश• ब्राजील के बार में हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, 11 लोगों की हुई • कांग्रेस ने नकारा एग्जिट पोल कहा इसके विपरीत होगा चुनाव परिणाम • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार, चुनाव आयोग से किया आग्रह • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी को मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका


फर्रुखाबाद : जब राजधानी लखनऊ एक सिपाही की करतूत से दहल रही  थी, उसी दरम्यान फर्रुखाबाद में एक बेलगाम सिपाही ने अपने ही भाई पर चाकुओं से हमला कर सनसनी मचा दी। भागने का कोई रास्ता न मिलने पर सिपाही ने खुद कमरे में बंद होकर गांव में मर्डर होने की सूचना पुलिस को दी। लेकिन पुलिस अधीक्षक संतोष मिश्रा की तत्परता काम आई और सिपाही की मंशा पूरी नहीं हो सकी। गंभीर हालत में लोहिया अस्पताल पहुंचे सिपाही के भाई को होश आ गया और उसे बचा लिया गया। फिलहाल, हमलावर सिपाही को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी सिपाही कानपुर में ट्रैफिक पुलिस में तैनात है। 

-जानकारी के मुताबिक, थाना क्षेत्र के मुस्लिम बहुल गांव भडोसा में कानपुर में तैनात ट्रैफिक पुलिस के सिपाही वकील अहमद ने अपने ही सगे भाई शकील पर चाकुओं से जानलेवा  हमला कर दिया और स्थिति बिगड़ने पर खुद कमरे में बंद होकर गांव में मर्डर होने की सूचना पुलिस को दी। 

-घटना की सूचना के बाद पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्र पूरी तरह से एलर्ट थे।

-उन्होंने मौके पर पहुंचकर जांच और पूछताछ से पहले बेसुध सिपाही के भाई शकील को मारुती वैन से लोहिया अस्पताल भिजवाया।

क्या बोले एसपी 

-एसपी संतोष कुमार मिश्र ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता शकील को अस्पताल पहुंचकर उसका इलाज शुरू कराने की थी. हमने ऐसा किया और शकील जिसे लोग मृत समझ रहे थे उसे बचा पाने में कामयाब हुए. ऐसी घटनाओं में हमें आगे भी पहले घायल को उपचार के लिए भेजने को प्राथमिकता देनी चाहिए। 

 

जमीन को लेकर चल रहा है विवाद 

-बताया जा रहा है कि तीन भाइयों में सबसे छोटे ट्रैफिक पुलिस के सिपाही वकील का भाई शकील से जमीन का विवाद चल रहा है।

-आरोप है कि शनिवार शाम वकील कार से चार-पांच साथियों को लेकर भाई शकील के घर पहुंचा और चाकू मार दिया। इस बीच शकील पर डंडे भी बरसाए। 

-शकील के चीखने पर जुटे आसपास के लोगों ने वकील को घेरकर पीटना शुरू कर दिया। उसके साथी कार से भाग निकले

-वकील ने भी ग्रामीणों की गिरफ्त से निकलकर एक और घर में पनाह लेने की कोशिश की। पीछा करते शकील के बेटे वहां पहुंच गए और पुलिस को सूचना दी।

-घटना की सूचना सिपाही के हाथों भाई की हत्या के रूप में प्रचारित होने से एसपी संतोष मिश्रा कुछ देरी में ही गांव पहुंच गए और आरोपी सिपाही को गिरफ्तार कर लिया. 

 

 

संबंधित समाचार

:
:
: