Headline • रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर


कुशीनगर. यूपी के कुशीनगर में एक शर्मनाक वाकया सामने आया है। जिसमें सत्ताधारी और विपक्षी दल के नेता लाशों पर राजनीति करते नजर आए। दरअसल, आकाशीय विजली गिरने से तीन लोगों की मौत के बाद शोक संतप्त परिवार को सांत्वना देने पहुंचे पूर्व राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह और सत्ताधारी दल के विधायक पवन केडिया वाह-वाही लूटने के चक्कर में एक दूसरे से भिड़ गए। हालात यहां तक पहुंच गया कि दोनों ओर से गाली गलौज शुरू हो गया। दोनों दलों के कार्यकर्ता एक दूसरे को देख लेने की धमकी देने लगे। इस बीच पूर्व मंत्री की गाड़ी से लाठी डंडा भी निकलने लगा। भाजपा नेता और हाटा नगर पालिका के चेयरमैन मोहन वर्मा को पूर्व राज्यमंत्री और उनके समर्थकों ने धक्का दे दिया। जिससे वे गिरते-गिरते बचे। इसके बाद माहौल गर्म हो गया और एक बार लगा कि दोनों पक्षों में मारपीट हो जायेगी लेकिन मौके पर मौजूद हाटा कोतवाली पुलिस की तत्परता से मामला बिगड़ते-बिगड़ते बच गया।

-यह मामला हाटा कोतवाली की मुडेरा उपाध्याय गांव में आकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गयी थी और पांच लोग गंभीर रूप से झुसल गये थे।

-घायलों को गंभीर हालत देखकर उन्हें गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया था।

-मेडिकल कालेज में उपचार करने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया था।

-आज कुछ लोगों की तबीयत फिर से बिगड़ गयी जिसके बाद लोग आक्रोशित हो गए।

-रात में शवों का पोस्टमार्टम होने के बाद परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया था।

-जिला प्रशासन द्वारा मृतक के परिवार को चार-चार लाख के मुआवजे की घोषणा भी की थी लेकिन ग्रामीण 5-5 लाख रूपये के मुआवजे की मांग कर रहे थे।

-दोनों मुद्दों को लेकर ग्रामीण धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों के साथ सपा के पूर्व राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह भी धरना देने लगे।

-इसके बाद मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाबुझाकर मामला शांत कराया।

-पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह गांव से बाहर जा रहे थे इसी बीच भाजपा विधायक पवन केडिया और हाटा नगर पालिका के चेयरमैन मोहन वर्मा अपने दल-बल के साथ गांव में आने लगे।

-रास्ते में दोनों लोगों के समर्थक मिल गये इसी बीच किसी ने पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह पर बेजह राजनीति ना करने की टिप्पणी कर दी ..इसके बाद पूर्व मंत्री के समर्थक आग बबूला हो गये।

-दोनों तरफ से कार्यकर्ता आकोशित हो गये और कफी गाली - गलौज करने लगे।

-दोनों दलों के लोग यह भूल गये जिल जगह वे अपनी गंदी राजनीति प्रदर्शित कर रहे हैं उस गांव तीन-तीन लाशें पड़ी हैं। बाद में भाजपा विधायक अपने समर्थकों के साथ डीएम के बंगले पर भी शिकायत लेकर पहुंच गये...दोनों राजनेताओं ने एक दूसरे पर गाली-गलौज करने का आरोप लगाया है।

-एक तरफ जहां दोनों राजनेता पीड़ित परिजनों को राहत दिलाने का क्रेडिट लेने के प्रयास में एक दूसरे से भिड़ गये तो वहीं आकाशीय बिजली से झुलसे पांचों लोगों को गोरखपुर मेडिकल कालेज ने रात में ही इलाज करने के बाद घर वापस भेज दिया।

-रात में घर पहुंचे लोगों में कई लोगों की सुबह हालत बिगड़ने लगी जिसके बाद उन्हें फिर से हाटा सीएचसी पीएचसी भर्ती कराया गया।

-मेडिकल कालेज प्रशासन द्वारा की गयी इस लापरवाही पर लोगों में काफी आक्रोश है।

-लोगों का कहना है कि मेडिलक कालेज प्रशासन द्वारा इलाज में घोर लापरवाही की गयी है...हाटा सीएचसी पर तैनात डाक्टर भी इसे मेडिकल कालेज की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं।

 

संबंधित समाचार

:
:
: