Headline • अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन ने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा की • पीएम मोदी ने किया वाराणसी में होने वाले मेगा रोड शो की शुरूआत • महेंद्र सिंह धोनी ने कहा रिटायर होने तक नहीं बताउंगा अपना सक्सेस मंत्र• अक्षय कुमार ने लिया प्रधानमंत्री का इंटरव्यू, पीएम ने जीता यूजर्स का दिल • अफ्रीका में लॉन्‍च किया दुनिया का पहला मलेरिया का टीका• CJI के खिलाफ आरोप: CBI, IB और दिल्ली पुलिस के ऑफिसर तलब• श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी, आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली• सीएम सहित रेलवे स्टेशनो को मिली आतंकवाद की धमकी• धोनी की बैटिंग देख विराट बोले- धोनी ने तो हमें डरा ही दिया था• पीएम मोदी के अनुरोध पर शाहरुख खान ने एक मजेदार विडियो बना लोगों से की वोटिंग की अपील • श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट: श्रीलंका में अब तक बम धमाकों में मरने वालों की संख्‍या 290 पहुंची • राहुल गांधी का ऐलान सरकार बनी तो राष्ट्रीय बजट के साथ किसानों के लिए करेंगे दूसरा बजट पेश• चुनावी माहौल में ट्विंकल खन्ना ने ली अरविंद केजरीवाल पर चुटकी• बाटला हाउस का जिक्र कर पीएम मोदी ने सादा कांग्रेस पर निशाना • यूएई में आज पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास समारोह• रेल हादसा: कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस पटरी से उतरी 100 के करीब लोग घायल • लोकसभा चुनाव 2019: बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुलायम के बाद अब आजम खां को दिया समर्थन • विराट सेना' का आज कोलकाता से 'करो या मरो' का मुकाबला• कलंक' स्टार वरुण धवन ने कहा, मुझे असफलता से डर नहीं लगता• सूडान में कैदियों की रिहाई और कर्फ्यू समाप्‍त होने पर अमेरिका ने कि प्रशंसा• 24 साल बाद एक मंच पर दिखें माया-मुलायम• रूस के वैज्ञानिकों का दावा 42 हजार साल पहले दफन घोड़े में मिला खून, अब बनाएंगे क्‍लोन • दिनोंदिन आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का मजबूत होता रिश्‍ता रह सकते है लिव-इन पर • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान बीजेपी-टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा • लीबिया की राजधानी त्रिपोली में गृहयुद्ध की जंग में 205 की मौत, 913 के करीब घायल


आगराः कवि, राजनेता और भारतरत्न से नवाजे गए देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी ने कल शाम इस दुनिया को अलविदा कह दिया। पूरे देश में शोक की लहर है। अटलजी का पैतृक गांव आगरा से 70 किलोमीटर दूर बटेश्वर है। उस गांव में भी माहौल गमजदां है। अटलजी के पैतृक गांव में आज भी उनके परिवार के रिश्तेदार और परिवारजन मौजूद हैं। जिनको अटलजी के जाने का बेहद दुख है।

गलियों में सन्नाटा पसरा हुआ है। लोग घरों के दरवाजे पर बैठे हैं। अटलजी के पिताजी का घर बटेश्वर में है। बाद में वे लोग यहां से ग्वालियर चले गए थे। 

अटलजी चार भाई तीन बहन हैं। अटलजी जन्म 1924 में ग्वालियर में हुआ था। अटलजी अक्सर बटेश्वर आते जाते रहे। अटलजी का मकान आज खंडहर में तब्दील हो चुका है। अटलजी जब प्रधानमंत्री बने तब बटेश्वर में रेलवे हॉल्ट का शिलान्यास किया था, कई साल पहले केंद्र सरकार ने उसे अमलीजामा पहनाया। 

अटलजी के पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी के मकान के ठीक बगल में अटलजी के भतीजे रमेशचंद वाजपेई का मकान है। उनका परिवार कई दिनों से उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए पूजा अर्चना कर रहे थे लेकिन कल शाम जब निधन की खबर आई तो पूरा परिवार शोक में डूब गया। 

अटलजी के घर के बाहर उनकी कुल देवी का मंदिर है। वहां भी आज सन्नाटा है। पूजा अर्चना करने वाले अटलजी के रिश्तेदार मंगल चरण शुक्ला का कहना है कि अटलजी की बहुत सी यादें जुड़ी है। अब किस किस का उल्लेख किया जाए। 

संबंधित समाचार

:
:
: