Headline • पीएम मोदी ने किया दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत का शुभारंभ• सपा की साइकिल यात्रा के समापन पर एक साथ दिखे अखिलेश और मुलायम सिंह यादव • गोरखपुर : सीएम योगी ने किया 'आयुष्मान भारत योजना' का शुभारंभ • महंत नृत्य गोपालदास बोले- 'राम मंदिर का निर्माण नहीं कराया तो भाजपा और मोदी के लिए घातक होगा'• गोरखपुर : बाइक को टक्कर मारने के बाद जीप पलटी, 3 की दर्दनाक मौत, 5 घायल• बीजेपी के कार्यक्रम में बार-बालाओं ने किया डांस,सांसद बाबू लाल के स्वागत में लगे ठुमके• आज से शुरू होगी आयुष्मान भारत योजना,पीएम मोदी झारखंड से करेंगे शुभारंभ• आगरा में दर्दनाक सड़क हादसा, चार लोगों की मौत• बलिया: बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह की दादागिरी, डीएम के सामने डीआईओएस से की हाथापाई• आगरा को हॉकी के विश्व पटल पर मिलेगी नई पहचान:  चेतन चौहान• योगी पहुंचे गोरखपुर, कई योजनाओं को किया लोकार्पण व शिलान्यास, बांटे प्रमाण पत्र• चुड़ैल समझ कर महिला की हत्या कर दी, अपराध छुपाने के लिए लाश को जंगलों में फेंका• फर्रुखाबाद: सड़क दुर्घटना नहीं हत्या कर लाश फेंकी गई थी, पत्नी ने प्रेमी संग दी पति और भतीजे की हत्या की सुपारी• कायमगंज में अंबेडकर प्रतिमा का हाथ तोड़कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश, बसपा नेता ने स्थिति संभाली• नवरात्र पर प्रशासन चलाएगा शौचालय की पूजा का कार्यक्रम, कई संगठनों ने किया विरोध का ऐलान• मोहर्रम बवाल पर बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल समेत 150 पर केस, 750 ताजिएदारों पर भी केस• अध्यादेश के बाद राजधानी में आया तीन तलाक का मामला, दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर दिया तलाक• राजधानी में बदमाशों के हौसले बुलंदी पर, अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य रुमाना सिद्दीकी के बेटे को बुरी तरह पीटा• 'थोड़ी सी महंगाई बढ़ने पर सुषमा स्वराज बाल खोलकर सड़क पर उतर जाती थी, अब क्यों चुप है'• ओलांद के बयान के बाद राहुल गांधी का वार, बंद दरवाजे निजी तौर पर मोदी ने डील करवाई है• दो दिवसीय दौरे पर अगले हफ्ते फिर अमेठी आ रहे हैं राहुल गांधी, योजनाओं के लेकर मंत्रियों को लिखा खत• अवैध शराब बनाते बसपा के पूर्व विधायक गिरफ्तार, बंद पड़े स्कूल में चला रहे थे कारोबार• हापुड़ में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान युवक नहर में डूबा, गोताखोर तलाश करने में जुटे• नील नितिन मुकेश के घर आई एक नन्ही परी• जानें राजनीति में आने के सवाल पर राहुल द्रविड़ ने क्या जवाब दिया


 आगराः पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का आगरा से गहरा नाता है। शहर के तमाम पुराने भाजपाई कहते हैं कि अटलजी उन्हें देखते ही पहचान जाते थे। उन्होंने कभी किसी भी कार्यकर्ता को निराश नहीं किया। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली में भर्ती कराने के लिए खुद ही चले जाते थे।

एक मौका ऐसा भी आया, जब अटल बिहारी वाजपेयी ने आगरा के लोगों को खतरनाक कह दिया था। 25 दिसम्बर को अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिवस है। आगरा के जयपुर हाउस इलाके में अटल बिहारी की बहन कमला देवी का निवास भी है। जहां अक्सर अटल बिहारी आया जाया करते थे। और परिवार के अन्य लोगों से बातचीत, घूमना, फ़िल्म देखना और अच्छी अच्छी बातें सिखाने का शौक रखते थे।

बात 1988 की है। आगरा के कोठी मीना बाजार मैदान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ था। तब लालकृष्ण आडवाणी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे, लेकिन जलवा अटल बिहारी वाजपेयी का ही था। अधिवेशन के दौरान अटल-आडवाणी का स्वागत जुलूस निकाला गया।

दुकानों और घरों से जबर्दस्त पुष्पवर्षा हुई। इसके बाद अम्बेडकर पार्क, बिजलीघर में हुई सभा में अटल ने कहा था- भई, आगरा के लोग तो बहुत खतरनाक हैं। ये तो फूलों से घायल कर देते हैं। जरा बचके रहना। अटल जी ने फूलों से घायल करने वाले आगरा के खतरनाक लोगों की चर्चा कई अन्य सभाओं में भी की।

भाजपा के ब्रज क्षेत्र अध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने बताया कि अधिवेशन के दौरान अटल बिहारी वाजपेयी की कार अधिवेशन स्थल पर आई।  और अधिवेशन के सुरक्षा प्रमुख थे सुनील शर्मा एडवोकेट। उन्होंने कार को रोक दिया। उन्हें नहीं पता था कि इसमें अटल बिहारी वाजपेयी बैठे हैं।

वाजपेयी बाहर निकले और कारण पूछा तो उनसे कहा कि बिना प्रवेशिका के प्रवेश नहीं मिलेगा। इस पर अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रवशिका बनवाई और अंदर गए। अनुशासन का पालन करने के लिए उन्होंने सुनील शर्मा को शाबासी भी दी। सुनील शर्मा ने बताया कि अटल जी की यही खूबी उन्हें अजातशत्रु बनाती है।

आगरा वासी कहते है कि अटल बिहारी वाजपेयी को आगरा का नाश्ता बहुत पसंद है। बेड़ई-कचौड़ी पर तो मानो वे टूट ही पड़ते थे। स्वयं खाते थे औऱ दूसरों को भी खिलाते थे। मशहूर हलवाई देवीराम की जलेबी और बेडई खाने के शौकीन अटल बिहारी के क्रियाकलापों का हर कोई मुरीद है। हलवाई बताता है कि उस वक्त बेडई की कीमत करीब 5 पैसा होती थी। जब अटल बिहारी नाश्ता करते थे।

अटलजी ने बेलनगंज में रामागुरु की तेल की बेड़ई और प्रतापपुरा स्थित देवीराम के समोस खूब खाए हैं। समोसे तो कई बार मैंने लाकर खिलाए हैं।

भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता सुभाष भिलावली के परिवार का एक व्यक्ति बीमार हो गया। उसे आगरा से एम्स में भर्ती कराने के लिए ले गए। वहां तो बहुत मुश्किल थी। बात अटलजी तक पहुंची। वे स्वयं उठकर गए और एम्स में भर्ती करवाया। इस तरह की उदारता है उनके मन में। इसी कारण आगरा के तमाम लोग अटलजी पर आज भी अपना हक जमाते हैं।

वही अटल बिहारी बाजपेयी के पैतृकगांव में दुख का माहौल है। लोग उनके स्वास्थ्य के लिए पूजा अर्चना कर रहे है। अटल बिहारी बाजपेयी ने गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में 5वीं तक शिक्षाग्रहण की उसके बाद वे ग्वालियर चले गए।

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: