Headline • सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत• लखनऊ शूटआउट : विवेक तिवारी की पत्नी ने सीएम योगी से की मुलाकात• लखनऊ : कारोबारी के घर लाखों की डकैती, वारदात के बाद दंपती को बाथरूम में बंद कर फरार हुए नकाबपोश बदमाश • मुजफ्फरनगर : युवती का अपहरण कर रेप, जंगल में फेंककर हुए फरार• विवेक तिवारी हत्याकांड पर बीजेपी विधायक ने उठाए सवाल, सीएम योगी को लिखा पत्र• विवेक तिवारी हत्याकांड:CM योगी ने पीड़ित परिवार से फोन पर की बात,हर संभव मदद करने का दिया भरोसा• बस्ती : खराब बस को धक्का लगा रहे यात्रियों को ट्रक ने कुचला, 6 की दर्दनाक मौत• विवेक तिवारी हत्याकांड :'पुलिस अंकल, आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे... Please गोली मत मारियेगा'• लखीमपुर खीरी के यतीश ने तोड़ा लगातार पढ़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड, 123 घंटे पढ़कर बनाया कीर्तिमान• रुद्रप्रयाग : अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरी कार • फाइनल में सेंचुरी बनाने वाले लिटन दास को क्यों कहना पड़ा, मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता• ललितपुर : SDM ने होमगार्ड की राइफल से गोली मारकर की आत्महत्या• टेनिस की इस खिलाड़ी ने किया टॉपलेस वीडियो, कारण जानकार आप भी करने लगेंगे तारीफ• इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 800 पार पहुंची, अभी भी कई इलाकों में नहीं पहुंचा राहत दल• मेरठ : हिस्ट्रीशीटर की चाकुओं से गोदकर हत्या• एशिया कप के साथ फोटो शेयर कर इशारों इशारों में  बुमराह ने राजस्थान पुलिस को मारा ताना• तनुश्री के सपोर्ट में आईं कई हिरोईन तो नाना के समर्थन में आईं राखी सावंत, कहा, मरते दम तक साथ दूंगी• SHO और मुंशी के टॉर्चर से परेशान होकर महिला सिपाही ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा• मामा-भांजी को पेड़ से बांधकर की पिटाई, चचिया ससुर ने बदला लेने के  लिए किया ऐसा घिनौना काम• बदनामी के बीच आई यूपी पुलिस की एक ईमानदार छवि, केस से नाम हटाने को 4 लाख देने वाले को जेल भेजा• इस दिन रिलीज हो रहा है कंगना की मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' का टीजर• पुलिस के आतंक से पुरुषों ने गांव छोड़ा, दो पक्षों के झगड़े में सिपाही के घायल होने पर गांव में पुलिस का तांडव• स्वामी प्रसाद का सपा पर हमला, कहा-अखिलेश ने गरीब के पैसे और साइकिल कार्यकर्ताओं में बांट दिए


काशीपुरः यहां कुंडा थाना क्षेत्र में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जिसमें एक युवक द्वारा भरोसा कर अपने दोस्त को पत्नी उधार दी थी लेकिन उस दोस्त ने उसकी पत्नी को वापस नहीं किया। पीड़ित पति ने अपनी पत्नी को वापस लाने के लिए अदालत में इंसाफ की गुहार लगाई है।

सियासत का लालच किस हद तक जा सकता है यह कुंडा थाना क्षेत्र की अजीबोगरीब  घटना से समझा जा सकता है। जिसके मुताबिक यूपी के जिला मुरादाबाद के भोजपुर निवासी शादीशुदा एक व्यक्ति पर नेता बनने का ऐसा सुरूर चढ़ा कि पिछले साल मुरादाबाद क्षेत्र में जब नगर पंचायत की सीट पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हो गई तो उसने अपने दोस्त से उसकी पत्नी को उधार मांग लिया। इत्तेफाक से उधार की पत्नी चुनाव जीत कर चेयरमैन बन गईं।

इसके बाद अब 1 साल बीतने के बाद भी दोस्त ने उसको उसकी पत्नी लौटाने के बजाय उससे निकाह ही कर लिया। महिला भी पति और बच्चों की परवाह किए बिना ही नेता के साथ रह रही हैं। महिला के परेशान पति ने न्यायालय में प्रार्थना पत्र देकर पत्नी को वापस दिलाई जाने की गुहार लगाई है। 

दरअसल, कुंडा थाना क्षेत्र निवासी नसीम अहमद का यूपी के जिला मुरादाबाद के भोजपुर निवासी शफी अहमद अहमद उर्फ बाबू के साथ ठेकेदारी में साझा था और दोनों के बीच गहरा दोस्ताना था और एक दूसरे के घर में आना जाना था। नसीम अहमद के मुताबिक शफी अहमद उर्फ बाबू पिछले साल उत्तर प्रदेश में हुए निकाय चुनाव में अपनी पत्नी को नगर पंचायत अध्यक्ष पद पर चुनाव लडा़ना चाहता था लेकिन उसके क्षेत्र की सीट पिछड़ा वर्ग में आरक्षित हो गई जबकि वह सामान्य जाति से ताल्लुक रखता था।

चैयरमैन पद पर कोई गोटी फिट न होती देख शफी अहमद अपने दोस्त ग्राम बाबरखेड़ा निवासी नसीम अहमद के घर आया और नसीम अहमद से दोस्ती का वास्ता देकर उसकी पत्नी रहमत जहां को चुनाव लड़ाने के लिए उधार मांग लिया। जब नसीम अहमद इस पर राजी नहीं हुआ तो उसने उसकी पत्नी रहमत जहां को बहला-फुसलाकर अपने झांसे में ले लिया और कहा कि वह पूर्ववत उसके घर आकर बच्चों के साथ रहेगी।

रहमत जहां शफी अहमद के झांसे में आ गयी। पत्नी रहमत जहां के उसकी तरफ होने के चलते नसीम अहमद ने मज़बूरी में अपनी पत्नी को एक समझौते के तहत साथी ठेकेदार के साथ भेज दिया। ठेकेदार ने उसकी पत्नी से कोर्ट मैरिज कर ली। इत्तेफाक से महिला चुनाव जीतकर चेयरमैन चुनी गई।

नसीम अहमद का कहना है कि चेयरमैन चुने जाने के बाद उसने अपने मित्र से कई बार पत्नी को वापस भेजने की गुहार लगाई लेकिन वह चेयरमैन पद की व्यस्तता का हवाला देकर टालमटोल करता रहा। बाद में पता चला कि उसकी पत्नी ने चेयरमैन बनने के बाद ठेकेदार शफी अहमद से निकाह कर लिया और अब 1 साल बीत जाने के बाद उसने उसकी पत्नी को वापस भेजने से इनकार कर दिया।

पीड़ित कुंडा थाना प्रभारी को प्रार्थना पत्र के माध्यम से अपनी पत्नी को वापस दिलाने की गुहार लगाई, जिसके बाद कार्यवाही न होते देख उसने सीएम के यहां भी गुहार लगाई लेकिन कोई कार्यवाही ना होते देखा उसने अब न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: