Headline • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज


वाराणसीः जो लोग मुश्किलों का डट कर सामना करते हैं उनकी कभी हार नहीं होती है । यह बात सच साबित कर दिखाया है रामनगर के चैरहट निवासी गुड़िया किन्नर ने। अपनी कमी के बाद भी गुड़िया किन्नर ने समाज के सामने एक नजीर पेश की है। जहां लोग बेटियों को खत्म करने पर लगे हैं वहां गुड़िया दो बच्चियों को गोद लेकर उनकी परवरिश कर रही हैं । 

वाराणसी के जलीलपुर के एक बुनकर परिवार में जन्मी गुड़िया के घर वालों को जब पता चला कि वो किन्नर है तो उनपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। पर घर वालों ने गुड़िया का साथ दिया। 

गुड़िया बचपन में खाना बनाते समय जल गयी थी । उनका बदन का आधा हिस्सा जला हुआ है । जला हुआ शरीर मेरी रोजी रोटी के आड़े आने लगा जहां मैं गुरु के साथ बधाई गाने जाऊं तो लोग कहें कि आदमी मरने के बाद जलता है तुम तो शमशान से आ रही हो। गुरु का काम खराब  होने लगा था जिसपर मैंने गुरु को बताकर बधाई गाना छोड़ दिया और ट्रेन में भीख मांगने लगी ।

गुड़िया ने अपने बड़े भाई की मदद से और अपनी कमाई के पैसे से अपने घर मे एक पावर लूम लगा लिया । गुड़िया की वजह से भाई के परिवार में भी अंशाति होने लगी तो उसने भाई का घर छोड़ दिया और यहां जमीन लेकर मकान बनवा लिया ।

गुड़िया ने भाई की बड़ी बेटी, जो दिव्यांग है, उसे गोद ले लिया है ।उसे दीनी तालीम दे रही है। 

गुड़िया ने 4 साल पहले कैंट के लक्ष्मी मेडिकल हॉस्पिटल से एक घंटे की एक लडकी को गोद लिया है । जिसे गुड़िया स्कूल भेज रही है । गुड़िया बताती है कि मैं जैनब को डॉक्टर बनना चाहती हूं । इसलिए उसे पढ़ा रही हूं। लोग लड़कियों को कम आंकते हैं पर यही मेरे जीवन का सहारा हैं । 

गुड़िया किन्नर समाज मे अपना एक मुकाम बना चुकी हैं। समाज मे गलत निगाह से देखे जाने वाले किन्नर के घर से आज चार बेरोजगारों को काम मिल है और वो बुनकरी करके अपना पेट भर रहे हैं ।

 

संबंधित समाचार

:
:
: