Headline • पाकिस्तान में मुंबई हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद गिरफतार • सावन मास के साथ शुरू हुई कांवड़ यात्रा• एपल भारत में जल्द शुरू करेगी i-phone की मैन्युफैक्चरिंग, सस्ते हो सकते हैं आईफोन• डोंगरी में इमारत गिरने से अबतक 16 लोगो की मौत, 40 से ज्यादा लोगो के मलबे में दबे होने की आशंका : दूसरे दिन भी रेस्क्यू जारी• मुंबई के डोंगरी में 4 मंजिला इमारत गिरी; 2 की मौत, 50 से ज्यादा लोगो के मलबे में फसे होने की आशंका• IAS टोपर को किया ट्रोल, मिला करारा जवाब • देर रात देखिये चंद्रग्रहण का नजारा, लाल नज़र आएगा चाँद • बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत के लिए खोले बंद हवाई क्षेत्र ।• महिला सांसदों पर किये गए टिपण्णी से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प• सुप्रीम कोर्ट ने की आसाराम की जमानत याचिका खारिज • धोनी को संन्यास देने की तयारी में है चयनकर्ता, बहुत जल्द कर सकते है फैसला • तकनीकी कारणों की वजह से 56 मिनट पहले रोकी गयी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, इसरो ने कहा - जल्द नई तरीक करेंगे तय • भविष्य के टकराव ज्यादा घातक और कल्पना से परे होंगे : सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत • इसरो के चेयरमैन ने बताई चंद्रयान-2 मिशन के लांच होने की तरीक, चाँद पर पहुंचने में लगेगा 2 महीने का समय • झाऱखंड के स्वास्थ मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी का रिशवत लेते वीडीयो वायरल, पुलिस ने की FIR दर्ज • राफेल भारत के लिए रणनीतिक तौर पर बेहद अहम साबित होगी : एयर मार्शल भदौरिया• उत्तराखंड : विधायक प्रणव सिंह चैंपियन BJP से बहार • चारा घोटाला मामले में लालू को मिली जमानत• आइटी पेशेवरों के लिए अमेरिका से अच्छी खबर• कर्नाटक संकट : बागी विधायक बोले इस्तीफे नहीं लेंगे वापस• 'अब बस' जाने क्या है मामला• सबाना के सपोर्ट में स्वरा• कर्नाटक का सियासी संग्राम जारी • भारत और न्यूजीलैंड का 54 ओवर का खेल आज• भारत बनाम न्यूजीलैंड

बेलगाम डॉक्टर की खुली पोल, जबरन करता था अपने निजी अस्पताल में ईलाज

 सुल्तानपुर. उत्तर प्रदेश सरकार जहां एक तरफ आम जनता को अच्छी से अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए  डिटरमाइंड है। वहीं, दूसरी ओर सुल्तानपुर के जिला अस्पताल में तैनात ऑर्थो विभाग के चिकित्सक अपने दलाल के माध्य्म से अस्पताल में भर्ती मरीज को अपने निजी अस्पताल में ले जाकर आपरेशन करने का बोल रहे हैं। 

 

जानें पूरा मामला 

-बता दें कि कूरेभार ब्लॉक निवासी माधुरी की 6 जून को सड़क दुर्घटना में दोनो पैर टूट गए थे।

-सुल्तानपुर जिला अस्पताल में एक्सीडेंट में घायल महिला इलाज के लिए पहुंची थी। 

-महिला काफी गरीब होने के कारण जिला अस्पताल में भर्ती हुई।

-उसने सोचा कि इस अस्पताल में मेरा निशुल्क इलाज़ हो जायेगा और मैं ठीक हो जाऊंगी। 

-उसे क्या पता था कि मेरी मुलाकात उस लुटेरे बेलगाम डॉक्टर से हो जायेगी, जो सरकारी सेवा तो करता है।

-लेकिन सरकारी के नाम पर गरीबों का खून चूसता है। उसने लालच दिया कि मैं अपने नर्सिंग होम में इलाज (ऑपरेशन) कर ठीक कर दूंगा। 

-जो एक महीने तक जिला अस्पताल में रखने के बाद डॉ अपने नर्सिंग होम में लेजाकर ऑपरेशन किया और 20 से 30 हजार रुपये का खर्चा बताया।

-पहली किस्त 5 हज़ार रुपये पीड़ित माधुरी के परिजनों से एडवांस में ले लिया। 

 

क्या बोले अधिकारी 

-जिसके बाद परिजनों ने अधिकारियों से मामले की शिकायत की। 

-वहीं CMS  वी.बी.सिंह ने बताया कि शिकायत के आधार पर DM द्वारा 4 जुलाई को एक टीम गठित की गई थी।

-जिसमें 4 लोगो की टीम थी। DM के निर्देशानुसार रात 10 बजकर 10 मिनट पर छापा मारा गया था। 

-यह शिकायत के आधार पर छापेमारी की गई थी। 

-जिला अस्पताल में काम करने वाले डॉ रस्तोगी ने अस्पताल से माधुरी नामक रोगी को अपने निजी अस्पताल में उसके ऑपरेशन करने के लिए ले गए है। 

-छापेमारी के दौरान मौके पर माधुरी पाई गई। 

-मौके पर परिजनों से पूछतांछ की गई तो उन्होंने बताया कि डॉ रस्तोगी साहब एक दिन पहले मुझे यहां लाये और अभी 15 मिनट पहले ही ऑपरेशन करके लाकर यहां लाए हैं। 

 

वापस से मरीज को सरकारी अस्पताल में कर दी भर्ती 

-CMS वी.बी.सिंह ने बताया कि मै जिला हॉस्पिटल में राउंड पर था।

-मुझको वहीं मरीज फिर मिल गया और उसने बताया कि मुझको 6 जुलाई को फिर से जिला अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है।

-हमारे ही ओ. टी. में ले जाकर के 11 जुलाई को ये सो करने की कोशिश की गई है कि मरीज का ऑपरेशन यहां पर किया गया है।

-जब मैंने मरीज से पूंछा कि क्या ऑपरेशन यहां हुआ है तो मरीज ने कहा कि नहीं। 

-डॉ साहब बोले थे कि कुछ बोलना नहीं, तुम्हारा ऑपरेशन जिला अस्पताल में दिखा देंगे।

 

 

 

क्या बोले सुल्तानपुर DM 

-वहीं जब इस मामले में DM सुल्तानपुर से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जो जांच टीम द्वारा रिपोर्ट मेरे पास आई है।

-मैं उसके आधार पर कार्रवाई के लिए शासन को पात्र भेज दिया है। 

-DM को सूचना मिली की माधुरी नामक मरीज फिर जिला अस्पताल में भर्ती हो गई है।

-इसकी सूचना सीएमएस को DM ने दिया और कहा कि इसके ईलाज़ में कोई कोताही नहीं होनी चाहिए। 

-वहीं जब DM से रूपये लिए जाने के मामले में बात की गई तो उन्होंने कहा कि यदि कोई पैसे दे रहा है या ले रहा है।

-उसको टेप (वीडियो) कराये टेप में अपराधी पकडे जाए, तभी कार्रवाई भी संभव हो पाएगी। 

 

 

संबंधित समाचार

:
:
: