Headline • रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर

 PM की बात पर देश के सबसे बुजुर्ग ने पहली बार दिया वोट, भूख से हुई थी माता-पिता की मौत

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विचारों से प्रभावित होने वाले लोग बहुत हैं, लेकिन उनमें ज्यादातर लोग युवा है। काशी में बुधवार को मतदाने के दौरान कुछ ऐसा देखने को मिला, जिसे देखकर कोई भी कह सकता है कि पीएम मोदी सिर्फ युवाओं के ही नहीं बुजुर्ग के दिलों पर भी राज करते हैं। वाराणसी के रहने वाले शिवानंद बाबा की उम्र आज 121 साल हो गई, इन्हें देश का सबसे बुजुर्ग इंसान भी कहा जाता है। सोचने वाली बात है, शिवानंद बाबा ने अपने जीवन में पहली बार मतदान किया वो भी मोदी से प्रेरित होकर इस चुनाव में, बताया जाता है कि बाबा ने अपने जिंदगी में कभी मतदान नहीं किया था।

जब बाबा को देख चौंक पड़े लोग

-दुर्गाकुंड प्राथमिक पाठशाला के बूथ संख्या 385 पर 121 साल के एक बाबा वोट डालने पहुंचे।
-इस दौरान खास बात ये नहीं रही कि इन्होंने 121 साल की उम्र में वोट डाला।
-बल्कि लोगों का ध्यान खींचने वाली बात ये है कि बाबा ने पहली बार वोट डाला। 



पीएम से प्रभावित होकर किया वोट

-शिवानंद बाबा का कहना है कि देश में फैले भ्रष्टाचार, जातिवाद, बेरोजगारी और भुखमरी फैली हुई है।
-जिसके विरोध में उन्होंने आज तक कभी वोट नहीं डाला था।
-लेकिन इस बार वे पीएम मोदी से प्रभावित होकर वोट देने गये।

कहा- प्रदेश से परिवारवाद की राजनीति खत्म होनी चाहिए

-बाबा ने कहा कि भुखमरी, घर, रोजगार, भ्रष्टाचार और जातिवाद से जुड़ी समस्याएं देश से समाप्त होनी चाहिए।
-यूपी में वो सरकार बने, जो धर्म-जाति से ऊपर उठकर काम करे।
-उन्होंने कहा कि मैंने इन्हीं मुद्दों पर वोट दिया है।
-उनका कहना है कि मोदीजी में ये काबिलियत है कि वो इन मुद्दों पर काम कर समस्याएं खत्म कर सकते हैं।
-उनका ये भी कहना है कि यूपी से परिवारवाद की राजनीति भी खत्म होनी चाहिए।

भूख के कारण हुई परिजनों की मौत

-बाबा ने बताया कि उनका जन्‍म 8 अगस्‍त 1896 को बांग्‍लादेश के श्रीहट्ट जिले में एक गरीब परिवार में हुआ था।
-मां-बाप भीख मांगकर घर चलाते थे, इसलिए कभी भी उनका पेट नहीं भरा।
-गरीबी की ही वजह से उन्‍होंने खुद को बाबा गुरुदेव को सौंप दिया।
-1903 में जब वह अपने गांव श्रीहट्ट वापस गए तो पता चला कि भूख के कारण मां-बाप का भी निधन हो चुका था।
-इसके बाद वह वापस आश्रम आ गए और 1907 में गुरुजी से दीक्षा ली।
-गुरुजी की मौत के बाद 1977 में वृंदावन चले गए। 1979 के बाद काशी आए और यहीं रहने लगे।

संबंधित समाचार

:
:
: