Headline • पहले वाशिंगटन अपनी स्थिति बदले, फिर होगी परमाणु वार्ता: उत्तर कोरिया• करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफों की लगी कतार• लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राहुल गांधी दे सकते हैं इस्तीफा• पीएम मोदी का लोकसभा चुनाव के शानदार प्रदर्शन पर ट्वीट साथ+सबका विकास+सबका विश्वास=विजयी भारत। • लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: अमेठी में राहुल और स्मृति के बीच कड़ी टक्कर• लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: राजनीति में गंभीर की शानदार पारी, बड़ी जीत की ओर • लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: PM मोदी की सुनामी लहर में ढहा UPA• फ्रांस में भारतीय वायु सेना के राफेल कार्यालय पर कुछ अज्ञात लोगों द्वारा की गई तोड़फोड़ • चुनाव आयोग ने वीवीपीएटी की पर्चियों के ईवीएम से मिलान को लेकर विपक्षी दलों की मांग को किया खारिज • लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश फर्जी एग्जिट पोल से न हों निराश• ब्राजील के बार में हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, 11 लोगों की हुई • कांग्रेस ने नकारा एग्जिट पोल कहा इसके विपरीत होगा चुनाव परिणाम • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार, चुनाव आयोग से किया आग्रह • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी को मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका

यूपी में अपने समधी को ‘लाल बत्ती’ दिलाएंगे लालू

बुलंदशहर- पिछले 18 साल से राजनीति में अपनी जगह बनाने में जुटे लालू प्रसाद यादव के समधी जितेंद्र यादव के अच्छे दिन आने वाले हैं। खबर है कि लालू यादव के समधी होने के नाते जितेंद्र यादव को लाल बत्ती का तोहफा मिल सकता है। माना जा रहा है कि लालू और मुलायम यादव की राजनीति में अच्छी पकड़ है, तो इस लिहाज से जितेन्द्र यादव को भी राजनीति में अपने बराबर लाने की कोशिश की जाएगी। मुलायम सिंह के इशारे सीएम अखिलेश यादव उन्हें मंत्री बना सकते हैं।

बता दें कि, जितेन्द्र यादव की राजनीति गाजियाबाद से शुरू हुई। वह समाजवादी युवजनसभा के जिलाध्यक्ष रहे हैं। उसके बाद मुलायम सिंह यादव ने उन्हें प्रदेश सचिव का पद दे दिया था। इस बीच जब भी विधानसभा के चुनाव हुए वह चुनाव लड़े तो सही पर जीत नहीं सके। जितेन्द्र यादव के बेटे राहुल की शादी लालू यादव की बेटी रागिनी से होने के बाद बुलंदशहर के सिकंदराबाद विधानसभा क्षेत्र से लालू यादव ने उन्हें टिकट दिलवाया था।

गौरतलब है कि, लालू की दो बिटियां यादव परिवार की बहु हो चुकी हैं, तो इस नाते लालू का समधी प्रेम उमड़ा लाजमि है।

सूत्रों के मुताबिक, जतेन्द्र यादव को लाल बत्ती दिलाने के लिए लालू के कहने पर मुलायम राजी हो गए हैं। सूत्र बताते हैं कि जब लालू यादव अपनी बेटी राजलक्ष्मी का रिश्ता लेकर मुलायम सिंह यादव के पास पहुंचे तो उनके साथ जितेन्द्र यादव भी थे।

संबंधित समाचार

:
:
: