Headline • सोशल मिडिया पर नुसरत जहां की हुई बड़ी तारीफ• 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बनी ऑस्ट्रेलिया• चंद्रबाबू नायडू का आलीशान बंगला बना खँडहर • पीएम मोदी के बयान पर सदन में हंगामा   • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।

 अखिलेश समर्थकों को शिवपाल यादव ने दिखाया बाहार का रास्ता

उत्तर प्रदेश से आज की सबसे बड़ी खबर आ रही हैं।

शिवपाल यादव ने चारों यूथ विंग के अध्यक्षों को बर्खास्त कर दिया हैं। बता दें कि शिवपाल यादव ने 7 यूथ नेताओं को बर्खास्त किया हैं।

आपको बता दें कि बर्खास्त किए गए यूथ विंग के अध्यक्षों के नाम सुनील सिंह यादव, आनंद भदौरिया, मो. एबाद, बृजेश यादव, संजय लाठर, गौरव दुबे,दिग्विजय सिंह हैं।

गौरतलब हैं कि संजय लाठर, आनंद भदौरिया, सुनीज यादव इससे पहले भी बर्खास्त हो चुके हैं। लेकिन अखिलेश यादव की नाराजगी के बाद इनकी वापसी हुई थी।

शनिवार को चारों यूथ अध्यक्षों ने अखिलेश के समर्थन में प्रदर्शन किया था। जिसके बाद प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने अपने बयान में कहा कि वीडियो फुटेज देखने के बाद नेताजी के आदेश पर ही ये कार्रवाई की गई हैं।

उन्होंने कहा कि 'नेताजी' के आदेश की अवहेलना बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जो भी गलत काम करेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी, चाहे वह परिवार का ही सदस्य क्यों न हो।

शिवपाल यादव ने कहा कि संगठन अनुशासन से चलता है। विवाद यदि कोई होता है तो उसे सुलह-समझौते से हल किया जाता है। अनुशासन तोडने की अनुमति किसी को नहीं है।

बताया जा रहा हैं कि चारो बर्खास्त अध्यक्ष अब सीएम अखिलेश से मिलने जा रहे हैं।

वही शिवपाल ने दिये अपने बयान में ये भी कहा कि पार्टी में किसी तरह की कोई अनुशासनहीनता बर्दाशत नहीं की जाएगी।

माना जा रहा हैं कि शिवपाल यादव ने अखिलेश यादव के समर्थक अध्यक्षों की बर्खास्तगी करके अखिलेश यादव को करारा जवाब दिया है।

वहीं दूसरी ओर अखिलेश यादव ने नेताओं की बर्खास्‍तगी के बाद कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को नेताजी के फैसले का सम्‍मान करना चाहिए। कोई भी कार्यकर्ता प्रदर्शन न करे।

साथ ही सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने का प्रयास करें।


संबंधित समाचार

:
:
: