Headline • दरोगा के बेटे ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, मां की बीमारी के चलते डिप्रेशन में था• बीजेपी विधायक देवेंद्र राजपूत की दबंगई, बिजली विभाग के जेई को पीटा,वीडियो वायरल• बहराइच में बुखार का कहर, 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत• मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को अपमानित करने की कौन रच रहा साजिश,विकिपीडिया ने सीएम का निक नेम लिखा 'झांपू'• ब्लॉक प्रमुख से फोन पर मांगी गई 5 करोड़ की रंगदारी, न देने पर जान से मारने की धमकी• कानपुर : रैगिंग को लेकर भिड़े मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र,आधा दर्जन घायल• मेरठ : पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, एक बदमाश को लगी गोली• एशिया कप में अफगानिस्तान ने श्रीलंका को हराकर सभी को चौकाया• राज्यपाल ने की योगी सरकार की प्रशंसा, कहा-डेढ़ साल में बहुत बेहतर हुई है कानून-व्यवस्था• कांग्रेसियों ने लोगों को लॉलीपॉप बांटकर पीएम की 557 करोड़ की योजनाओं का उड़ाया मजाक• इलाहाबाद ने नहीं निकलेगा मुहर्रम का जुलूस, ताजिएदारों ने गड्ढों के कारण लिया फैसला• लड़कियों से जबरन सेक्स करवाता था होटल का मैनेजर, रुद्रपुर में सेक्स रैकेट का खुलासा• बीजेपी विधायक लोनी पुलिस पर लगाया परिवार को परेशान करने का आरोप, पहले भी उठाया था मुद्दा• महज 4 साल की उम्र में करता है लाजवाब घुड़सवारी, दूर-दूर से आते हैं बच्चे के हुनर को देखने• पेट्रोल पम्प मैनेजर ने दिखाया साहस, ग्रामीणों के साथ मिलकर पकड़ा लूटकर भाग रहे एक बदमाश को• प्रदर्शन कर रहे सवर्ण समाज के लोगों से बीजेपी सांसद ने कहा, आप अकेले किसी को जीता नहीं सकते हो• तेज बुखार के चलते खाना बनाने से इनकार किया तो शौहर ने दे दिया तीन तलाक, सामूहिक में हुआ था निकाह• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' का पहला पोस्टर आया सामने, जबरदस्त लुक में नजर आएं अमिताभ बच्चन• छेड़खानी से क्षुब्द होकर लड़की ने की आत्महत्या, परिजनों की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज, आरोपी फरार• महिला का साहस देख सभी दंग, मारपीट के दौरान दूसरी महिला को गिराकर हाथ से तमंचा छीन लिया• सीएम योगी ने कहा-अब आंखों का जटिल ऑपरेशन भी बीएचयू में होंगे• मुरादाबादः एक और बच्चा बना आदमखोर तेंदुए का निवाला, वन विभाग की सुस्ती से ग्रामीणों में रोष• जब डायल 100 की गाड़ी खड़ी कर जमकर नाचे पुलिस वाले, वीडियो वायरल• गोरखपुर जिला अस्पताल में न सेवा, न ही सुविधा, सोमवार को ही सीएम ने किया था निरीक्षण• निकाह के लिए अलग-अलग धर्म के प्रेमी युगल को पकड़ा, लड़की का धर्म परिवर्तन कराने का आरोप


 नई दिल्लीः कांग्रेस के राष्टृय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यसमिति यानि कांग्रेस वर्किंग कमेटी की घोषणा कर दी। 51 सदस्यीय कमेटी में 23 सदस्यों को शामिल किया गया। इसके अलावा 18 लोगों को स्थायी सदस्य और दस लोगों को विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में शामिल किया गया। कांग्रेस कार्यसमिति में इस बार वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, सुशील कुमार शिंदे, मोहन प्रकाश, सीपी जोशी और जर्नादन द्विवेदी को शामिल नहीं किया गया है। 

 

 

 नई दिल्लीः तीसरे वन डे क्रिकेट मैच में टीम इंडिया ने विराट कोहली के 71रन, शिखर धवन के 44 और धोनी के 42 रन के दम पर 50 ओवर में 256/8 का स्‍कोर बनाया है। इंग्‍लैंड को मैच जीतने के लिए 257 रन बनाने हैं। नॉटिघंम में पहले मैच में आठ विकेट से जीत दर्ज करने के बाद लॉर्ड्स में टीम इंडिया को 86 रन की हार झेलनी पड़ी थी। जिससे दोनों टीमें तीन वनडे मैचों की सीरीज में 1-1 की बराबरी पर आ गयीं। 

टीम इंडिया की तरफ से कप्तान विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 71 रन बनाए जबकि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 42 रनों की पारी खेली। शिखर धवन ने भी 44 रनों की उपयोगी पारी खेली। इंग्लैंड के लिए आदिल राशिद और डेविड विली ने तीन-तीन विकेट लिए। मार्क वुड को एक-एक सफलता मिली।

टीम इंडिया की शुरुआत बेहद धीमी रही जिसका असर छठे ओवर में देखने को मिला जब रोहित शर्मा डेविड विली की गेंद पर मार्क वुड को कैच थमाकर पवेलियन लौट गए। रोहित शर्मा पिछले मैच की तरह इस मैच में भी फलॉप रहे। रोहित 2 रन बनाकर आउट हुए. भारत को 13 रन के कुल स्कोर पर पहला झटका लगा।

कप्तान विराट कोहली और शिखर धवन के बीच दूसरे विकेट के लिए हुई 71 रनों की पार्टनरशिप ने टीम इंडिया को संभाला।

लेकिन 18वें ओवर में भारत को दूसरा झटका लग गया क्योंकि शिखर धवन बेन स्टोक्स के बेहतरीन थ्रो पर रन आउट हो गए। धवन 44 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने अपनी 49 गेंदों की पारी में 7 चौके लगाए।

नई दिल्लीः सर्बिया के नोवाक जोकोविच विंबलडन सिंगल विजेता बन गए हैं। रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में नोवाक जोकोविच ने केविन एंडरसन को 6-2, 6-2, 7-6 (7/3) से हराकर चौथा खिताब अपने नाम किया। इससे पहले वह 2011, 2014 और 2015 में ट्रॉफी जीत चुके हैं। जीत की खुशी में जोकोविच ने मैदान की घास की जुगाली कर मनाया।

उन्होंने खिताब जीतने के बाद कहा, ‘यह घास सचमुच काफी स्वादिष्ट लगी। मैंने इस साल जश्न मनाने के लिए दोगुनी घास खाई।’

जोकोविच का सेंटर कोर्ट पर घास मुंह में डालना तब से विंबडन परंपरा बन गई है, जब उन्होंने 2011 फाइनल में राफेल नडाल को हराकर सबसे पहले ऐसा किया था।

31 साल के जोकोविच अपना दूसरा ग्रैंड स्लैम फ़ाइनल खेल रहे एंडरसन को हराकर चौथी बार विम्बलडन चैंपियन बने। 

जोकोविच ने पहला सेट 29 मिनट में ही अपने नाम किया और दूसरा सेट भी आसानी से जीत लिया।

जोकिविच को इस टूर्नामेंट में 12वीं वरीयता दी गई थी, जबकि एंडरसन आठवीं वरीयता के साथ टूर्नामेंट में उतरे थे।

इस पूरे मुकाबले में एंडरसन ने 10 और जोकोविच ने 6 ऐस लगाए, वहीं साउथ अफ्रीकन खिलाड़ी ने 5 तो जोकोविच ने 4 डबल फॉल्‍ट किए। हालांकि एंडरसन ने जोकोविच के 20 के मुकाबले 26 विनर्स लगाए, लेकिन खिताब गंवाने का उनका सबसे बड़ा कारण गलतियों पर गलतियां करना है। 

 

दिल्लीः फीफा विश्वकप फुटबॉल चैंपियनशिप में फ्रांस की जीत पर दूसरे दिन भी पूरे फ्रांस में जश्न चल रहा है। हर कोई खुशी में झूम रहा है। फाइनल में क्रोएशिया पर मिली 4-2 से जीत के बाद फ्रांस के खिलाड़ियों पर खुशी का रंग अभी भी चढ़ा हुआ है।

प्रवासी खिलाड़ियों के कारण अफ्रीकी टीम कही जा रही फ्रांस की टीम ने ना सिर्फ मैदान के अंदर बल्कि मैदान के बाहर भी जीत का जश्न मनाया। खिलाड़ियों ने पूरे विक्ट्री सेलिब्रेशन के दौरान मैदान पर जमकर मस्ती की। उन्होंने ट्रॉफी और फ्रांस के झंडे के साथ मैदान का कई चक्कर लगाया और पोज देते हुए कई फोटो भी खिंचाए।

लेकिन फ्रांसीसी खिलाड़ियों के जश्न मनाने का सिलसिला सिर्फ मैदान तक ही सीमित नहीं रहा, वे अचानक से प्रेस कॉन्फ्रेंस रूम मे घुस गए और संवाददाताओं को संबोधित कर रहे फ्रांस के कोच दिदियर डेशचैंप को शैंपेन से भिगो दिया।

फ्रांस के सभी खिलाड़ी यहां तक नहीं रूके उन्होंने पूरे प्रेस कॉन्फ्रेंस टेबल पर अपना कब्जा कर लिया और उसी पर खड़े होकर नाच-गाना करने लगे। सबसे अधिक उत्साहित विश्व कप सेमीफाइनल और फाइनल के हीरो रहे पॉल पोग्बा लग रहे थे।

 नई दिल्लीः दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन ने विंबलडन टेनिस ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में शुक्रवार को एक लंबे मुकाबले में अमेरिका के जॉन इस्नर को 7-6(6), 6-7(5), 6-7(9), 6-4, 26-24 से हराकर फाइनल में जगह बना ली है।

विंबलडन में पुरुष एकल के इतिहास में यह अब तक सबसे लंबा सेमीफाइनल मैच था। एंडरसन ने शानदार खेल दिखाते हुए 6 घंटे 36 मिनट में जॉन इस्नर को हराया। 

अकेले आखिरी सेट ही करीब तीन घंटे तक चला। दोनों खिलाड़ियों ने अपनी तरफ से एड़ी चोटी का जोर लगा दिया लेकिन आखिर में एंडरसन ने जीत दर्ज की। इसी के साथ वह पिछले 97 साल में विंबलडन के पुरूष एकल फाइनल में जगह बनाने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी बन गए हैं।

जॉन इस्नर के लिए इतना लंबा मैच कोई बड़ी बात नहीं थी। वह इससे पहले भी विंबलडन में ही साल 2010 में फ्रांस के निकोलस महूत के खिलाफ 11 घंटे 5 मिनट लंबे चले और तीन दिन तक चले मैच का हिस्सा रह चुके हैं। यह मुकाबला टेनिस के इतिहास का सबसे लंबा मैच था। हालांकि तब इस्नर जीतने में सफल रहे थे.

अब फाइनल में एंडरसन का मुकाबला राफेल नडाल और नोवाक जोकोविच के बीच दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।

 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: