Headline • सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत• लखनऊ शूटआउट : विवेक तिवारी की पत्नी ने सीएम योगी से की मुलाकात• लखनऊ : कारोबारी के घर लाखों की डकैती, वारदात के बाद दंपती को बाथरूम में बंद कर फरार हुए नकाबपोश बदमाश • मुजफ्फरनगर : युवती का अपहरण कर रेप, जंगल में फेंककर हुए फरार• विवेक तिवारी हत्याकांड पर बीजेपी विधायक ने उठाए सवाल, सीएम योगी को लिखा पत्र• विवेक तिवारी हत्याकांड:CM योगी ने पीड़ित परिवार से फोन पर की बात,हर संभव मदद करने का दिया भरोसा• बस्ती : खराब बस को धक्का लगा रहे यात्रियों को ट्रक ने कुचला, 6 की दर्दनाक मौत• विवेक तिवारी हत्याकांड :'पुलिस अंकल, आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे... Please गोली मत मारियेगा'• लखीमपुर खीरी के यतीश ने तोड़ा लगातार पढ़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड, 123 घंटे पढ़कर बनाया कीर्तिमान• रुद्रप्रयाग : अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरी कार • फाइनल में सेंचुरी बनाने वाले लिटन दास को क्यों कहना पड़ा, मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता• ललितपुर : SDM ने होमगार्ड की राइफल से गोली मारकर की आत्महत्या• टेनिस की इस खिलाड़ी ने किया टॉपलेस वीडियो, कारण जानकार आप भी करने लगेंगे तारीफ• इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 800 पार पहुंची, अभी भी कई इलाकों में नहीं पहुंचा राहत दल• मेरठ : हिस्ट्रीशीटर की चाकुओं से गोदकर हत्या• एशिया कप के साथ फोटो शेयर कर इशारों इशारों में  बुमराह ने राजस्थान पुलिस को मारा ताना• तनुश्री के सपोर्ट में आईं कई हिरोईन तो नाना के समर्थन में आईं राखी सावंत, कहा, मरते दम तक साथ दूंगी• SHO और मुंशी के टॉर्चर से परेशान होकर महिला सिपाही ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा• मामा-भांजी को पेड़ से बांधकर की पिटाई, चचिया ससुर ने बदला लेने के  लिए किया ऐसा घिनौना काम• बदनामी के बीच आई यूपी पुलिस की एक ईमानदार छवि, केस से नाम हटाने को 4 लाख देने वाले को जेल भेजा• इस दिन रिलीज हो रहा है कंगना की मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' का टीजर• पुलिस के आतंक से पुरुषों ने गांव छोड़ा, दो पक्षों के झगड़े में सिपाही के घायल होने पर गांव में पुलिस का तांडव• स्वामी प्रसाद का सपा पर हमला, कहा-अखिलेश ने गरीब के पैसे और साइकिल कार्यकर्ताओं में बांट दिए


वाराणसीः काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के अस्पताल को एम्स का दर्जा मिल चुका है और इसकी घोषणा 15 अगस्त को प्रधानमंत्री करेंगे। लेकिन उसके पहले ही सर सुंदरलाल चिकित्सालय में एम्स जैसी सुविधा तैयार हो गई है। इसका भी उद्घाटन प्रधानमंत्री 15 अगस्त को दिल्ली से ही करेंगे। बीएचयू हॉस्पिटल में मरीजों को सहूलियत देते हुए एक स्‍मार्टफोन ऐप का निर्माण किया गया है। इस ऐप के लॉंन्च होने के बाद मरीजों को एक काउंटर से दूसरे काउंटर नहीं दौड़ना पड़ेगा। साथ ही कई अन्‍य सुविधाएं भी इस ऐप से मिलेंगी।

सर सुंदरलाल चिकित्सालय के एमएस डॉ विजयनाथ मिश्रा ने बताया कि 15 अगस्त को एक ऐसा ऐप लांच होने जा रहा है, जो इस अस्पताल से आस लगाए हुए 27 करोड़ भारतीयों के साथ साथ नेपाल के मरीजों के लिए भी लाभदयक होगा। यह ऐप बनकर लगभग तैयार है। इसको आने वाले स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री द्वारा लांच करवाने की तैयारी है। 

डॉ विजयनाथ मिश्रा ने बताया कि इस एप को डॉउनलोड करने के बाद कोई भी व्‍यक्‍ति बीएचयू के बारे में, यहां के अस्पताल के बारे में और अस्पताल की सुविधाओं के बारे में जान सकेगा।

इसके अलावा इस ऐप में यह खासियत होगी कि अलग-अलग चिकित्सा विभाग के साथ-साथ विभिन्‍न रोगों के स्‍पेशलिस्‍ट डॉक्टरों का नाम, उनकी डिग्री और ओपीडी में उनके उठने-बैठने का समय, दिन व स्थान भी पता चल जाएगा। सीएमएस ने बताया कि इससे मरीज़ के परिजनों को घर बैठे ही यह पता चल जाएगा कि कौन सा डॉक्टर कब मिलेगा। 

एमएस डॉ विजय नाथ मिश्रा ने बताया कि इस ऐप में हमने एचडीएफसी बैंक से टाई अप करके पेमेंट गेटवे भी डाला है। इस पेमेंट गेटवे से मरीज़ को टोकन कटवाने के लिए लंबी लाइन का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा। वो ऑनलाइन पेमेंट करके अपना टोकन ले सकता है। उसी नंबर पर मरीज़ को देख जाएगा। 

एमएस डॉ विजय नाथ मिश्रा ने बताया कि अस्पताल में भी एक विंडो से डिजिटल कार्ड बनाया जाएगा। मरीज़ के परिजन से पैसे लेकर उसे एक कार्ड, मनी वैल्यू के साथ दे दिया जाएगा। इससे उसे हर काउंटर पर पैसे देने की समस्या नहीं होगी, वो कार्ड दिखायेगा और उस कार्ड के नंबर की एंट्री के साथ उसका काम हो जाएगा। कार्ड में पैसे खत्म होने पर दुबारा से उसी विंडो पर जाकर रीचार्ज किया जा सकता है। 

एम्स बनने की तैयारी कर रहे सर सुंदर लाल चिकित्सालय की यह डिजिटल ऐप और डिजिटल कार्ड सेवा इस अस्पताल को नयी बुलंदियों पर ले जाएगी।

नई दिल्लीः वीरेंद्र सहवाग हमेशा से सोशल मीडिया पर चर्चा में रहते है। कभी बाबा का भेष धारण करने तो कभी अपने ट्वीट्स की वजह से। वह हर बार कई मुद्दों पर अपनी राय सोशल मीडिया के जरिए रखते हैं। वहीं सहवाग का ट्विटर पर किया हुआ एक ट्वीट चर्चा का विषय बन गया है। 

दरअसल अपने ट्वीट के जरिए उन्होंने शिक्षा विभाग को फटकार लगाई है। सहवाग ने प्राइमरी स्कूली बच्चों की किताब का एक फोटो शेयर किया है। जिसमें वीरू ने इंग्लिश की किताब में लिखे गई कुछ बातों पर सवाल किए हैं।

जिस किताब की फोटो सहवाग ने शेयर की है उसमें लिखा था कि लार्ज फैमिली कैन नाट एन्जॉय हैप्पी लाइफ यानी एक बड़ा परिवार कभी सुखी जीवन नहीं व्यतीत कर सकता।

जिसके बाद प्राइमरी स्कूल की किताब पर लिखी गई लाइनों को लेकर सहवाग ने आपत्ति जताई है। उनके इस बात से साफ जाहिर हो रहा है कि वह इस बात से बहुत नाराज हैं कि बच्चों को किताबों में क्या पढ़ाया जा रहा है।

किताब में बड़े परिवार पर दो वाक्य लिखे गए हैं। लिखे गए वाक्यों के मुताबिक बड़े परिवार का मतलब है उस परिवार में माता-पिता दादा-दादी और कई बच्चों का होना।

वहीं अगर सहवाग की शेयर की गई तस्वीर को ध्यान से देखें तो ऊपर लिखा गया है कि ’एक छोटा परिवार खुशी जीवन व्यतीत करता है।

सहवाग ने कहा कि ’स्कूल की किताबों मे बच्चों को बकवास बातें पढ़ाई जा रही है। इससे साफ है जो अथॉरिटी किताबों में कंटेंट के जिम्मेदार होती है वह निरीक्षण ठीक तरह से नहीं कर रही हैं। 

 

नई दिल्लीः भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा पहला टेस्ट मैच रोमांचक मोड़ पर पहुंच चुका है।  इस मैच के चौथे दिन का खेल जारी है और भारत को जीत के लिए 84 रन की दरकार थी तो वहीं इंग्लैंड को जीतने के लिए 5 विकेट चाहिए थे। शनिवार को भारत के बल्लेबाजों ने निराश किया। खबर लिखे जाने तक भारत ने आठ विकेट पर 152 रन बना लिए थे। हार्दिक पांडया और इशांत शर्मा हार को बचाने के लिए जी तोड़ प्रयास कर रहे थे। 

खेल के तीसरे दिन इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में 180 रन पर ऑल आउट हो गई थी और उसे 193 रन की बढ़त हासिल हुई थी। भारत को जीत के लिए 194 रन का लक्ष्य मिला था। अब भारत को जीत के लिए 84 रन की दरकार है तो वहीं इंग्लैंड को जीतने के लिए 5 विकेट चाहिए।

दूसरी पारी में भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम के ओपनर बल्लेबाज मुरली विजय दूसरी पारी में भी टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाए। वो महज 6 रन के निजी स्कोर पर स्टुअर्ट ब्रॉड की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। टीम के दूसरे ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन को भी ब्रॉड ने अपना शिकार बनाया। धवन 13 रन बनाकर ब्रॉड की गेंद पर ब्रिस्टो के हाथों कैच आउट हो गए। लोकेश राहुल भी पहली पारी की तरफ इस पारी में भी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। उन्हें बेन स्टोक्स ने 13 रन पर बेयरस्टो के हाथों कैच आउट करवा दिया। रहाणे 2 रन के स्कोर पर सैम कुर्रन की गेंद पर ब्रिस्टो के हाथों कैच आउट हुए। आर अश्विन को बल्लेबाजी के लिए उपर बुलाया गया लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। वो 13 रन बनाकर एंडरसन की गेंद पर ब्रिस्टो के हाथों कैच आउट हो गए। 

दूसरी पारी में भारत के खिलाफ स्टुअर्ट ब्रॉड ने दो जबकि एंडरसन, बेन स्टोक्स व सैम कुर्रन ने एक-एक विकेट लिए। 

 

नई दिल्लीः  क्या भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग बाबा बन गए है। सोशल मीडिया में यह सवाल लगातार पूछा जा रहा है। काम नहीं आया सहवाग का आशीर्वाद, पहले टेस्ट में टीम इंडिया हार गई

दरअसल सहवाग ने ट्विटर पर एक फोटो शेयर किया जो सोशल मीडिया पर अब खूब वायरल हो रहा है। इस फोटो में वीरेंद्र सहवाग एक जोगी के भेष में नज़र आ रहे हैं। 

सहवाग ने जोगी के भेष में भगवा रंग के कपड़े पहने एक तस्वीर अपलोड की और लिखा, ‘गुरु करना जान कर, पानी पीना छान कर। जय भोले, जय श्रीराम, जय बजरंगबली।’

ट्विटर के साथ-साथ सहवाग ने अपनी यही फोटो इंस्टाग्राम पर भी शेयर की। इंस्टाग्राम पर अपनी इस फोटो को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा, ’अर्जी हमारी, मर्जी आपकीँ! मेरा अशीर्वाद सदा है टीम इंडिया के साथ, जय भोले।’

जिस तरह से सहवाग अपनी बल्लेबाज़ी के लिए मशहूर थे, ठीक उसी तरह वो अब ट्विटर पर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं। वैसे बता दूं कि सहवाग का बाबा बनने का कोई इरादा नहीं है। वे सावन माह में कांवड़ियों को देखकर उन्होंने इस भेष में फोटो खिचवाई।

 

नोएडाः सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा के गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी के नए शैक्षणिक सत्र 2018-19 का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने विश्वविद्यालय के मुख्य सभागार में सभी नए और पुराने लगभग 3400 छात्रों को संबोधित किया। 

सीएम योगी ने प्रीपेड इकोफ्रेंडली साईकिल परियोजना का शुभारम्भ किया। इस योजना के अंतर्गत गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में  विश्वविद्यालय परिसर में सभी विद्यार्थियों, शिक्षकों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रयोग के लिए 25 नियत स्थानों पर साइकिलें उपलब्ध रहेंगी। यह सुविधा न्यूनतम दरों पर मोबाइल ऐप के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएंगी। फिलहाल साइकिलों की संख्या 200 है।

इसके अलावा सीएम ने विश्वविद्यालय परिसर में हरित ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए 50 भवनों के छत पर 2.84 मेगावाट क्षमता वाला रूफ टॉप सौर्य उर्जा संयत्र का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री योगी ने विश्वविद्यालय परिसर में स्थित प्रेक्षागृह के पीछे तीन एकड़ क्षेत्रफल में गीता उपवन का शुभारम्भ किया। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री व सांसद डॉ. महेश शर्मा, सांसद सतपाल सिंह, जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह, जीबीयू के कुलपति डॉ. प्रभात कुमार मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हमने एक कार्य अपने हाथ में लिया हमने सब ने संकल्प लिया है कि 16 नगर निगमों में एलईडी लगाएंगे। एलईडी लाइट लगने से 125 करोड़ की बचत हो रही है। यह बचत हम दूसरे लोक कल्याणकारी कार्य में लगा सकते हैं। 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: