Headline • सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत• लखनऊ शूटआउट : विवेक तिवारी की पत्नी ने सीएम योगी से की मुलाकात• लखनऊ : कारोबारी के घर लाखों की डकैती, वारदात के बाद दंपती को बाथरूम में बंद कर फरार हुए नकाबपोश बदमाश • मुजफ्फरनगर : युवती का अपहरण कर रेप, जंगल में फेंककर हुए फरार• विवेक तिवारी हत्याकांड पर बीजेपी विधायक ने उठाए सवाल, सीएम योगी को लिखा पत्र• विवेक तिवारी हत्याकांड:CM योगी ने पीड़ित परिवार से फोन पर की बात,हर संभव मदद करने का दिया भरोसा• बस्ती : खराब बस को धक्का लगा रहे यात्रियों को ट्रक ने कुचला, 6 की दर्दनाक मौत• विवेक तिवारी हत्याकांड :'पुलिस अंकल, आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे... Please गोली मत मारियेगा'• लखीमपुर खीरी के यतीश ने तोड़ा लगातार पढ़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड, 123 घंटे पढ़कर बनाया कीर्तिमान• रुद्रप्रयाग : अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरी कार • फाइनल में सेंचुरी बनाने वाले लिटन दास को क्यों कहना पड़ा, मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता• ललितपुर : SDM ने होमगार्ड की राइफल से गोली मारकर की आत्महत्या• टेनिस की इस खिलाड़ी ने किया टॉपलेस वीडियो, कारण जानकार आप भी करने लगेंगे तारीफ• इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 800 पार पहुंची, अभी भी कई इलाकों में नहीं पहुंचा राहत दल• मेरठ : हिस्ट्रीशीटर की चाकुओं से गोदकर हत्या• एशिया कप के साथ फोटो शेयर कर इशारों इशारों में  बुमराह ने राजस्थान पुलिस को मारा ताना• तनुश्री के सपोर्ट में आईं कई हिरोईन तो नाना के समर्थन में आईं राखी सावंत, कहा, मरते दम तक साथ दूंगी• SHO और मुंशी के टॉर्चर से परेशान होकर महिला सिपाही ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा• मामा-भांजी को पेड़ से बांधकर की पिटाई, चचिया ससुर ने बदला लेने के  लिए किया ऐसा घिनौना काम• बदनामी के बीच आई यूपी पुलिस की एक ईमानदार छवि, केस से नाम हटाने को 4 लाख देने वाले को जेल भेजा• इस दिन रिलीज हो रहा है कंगना की मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' का टीजर• पुलिस के आतंक से पुरुषों ने गांव छोड़ा, दो पक्षों के झगड़े में सिपाही के घायल होने पर गांव में पुलिस का तांडव• स्वामी प्रसाद का सपा पर हमला, कहा-अखिलेश ने गरीब के पैसे और साइकिल कार्यकर्ताओं में बांट दिए


इलाहाबादः यूपी की योगी सरकार ने भूमाफियाओं के खिलाफ अपने अभियान तेज कर दिए है। सरकार ने माफिया डॉन के तौर पर परिचित इलाहाबाद के पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद पर अपना शिकंजा कसा दिया है। अफसरों ने अतीक अहमद द्वारा अवैध तरीके से बसाई जा रही कई रिहाइशी कालोनियों पर बुलडोजर चलाकर उसे जमींदोज कर दिया। इस कार्रवाई में कई विभागों की टीमों के साथ ही बड़ी संख्या में पुलिस- पीएसी और आरएएफ के जवान तैनात किये गए थे।

इस कार्रवाई में उनके द्वारा बसाई गई 5 कालोनियों को गिराया गया। अभियान में तीन दर्जन से ज़्यादा बुलडोजर लगाए गए।

हालांकि इन कालोनियों में अभी ज़्यादा मकान नहीं बने थे और तमाम लोगों ने सिर्फ बाउंड्री कराकर ही जगह छोड़ दी थी। अफसरों के मुताबिक़ इनमे से ज़्यादातर अतीक अहमद की बेनामी संपत्ति थी। सौ बीघे से ज़्यादा एरिया में बसाई जा रही इन कालोनियों में कुछ ज़मीनें ग्राम सभा की थी और कुछ स्टेट लैंड थी।

इसके अलावा अतीक ने अपने करीबियों के नाम पर किसानों की उपजाऊ जमीन दबाव डालकर लिखवा ली थी। साल 2008 में तत्कालीन मायावती सरकार ने इन कालोनियों में किसी तरह के निर्माण पर रोक लगा दी थी। बाहुबली अतीक की जिन कालोनियों पर बुलडोजर चला है उनमे अलीना सिटी और अहमद सिटी प्रमुख रुप से शामिल है। अतीक अहमद पिछले साल फरवरी महीने से देवरिया जेल में बंद हैं। 

दस दिन पहले यूपी एसटीएफ की एक टीम ने इलाहाबाद आकर अतीक की बेनामी सम्पत्तियों की जांच की थी। जो कार्रवाई आज हो रही है, वह सभी यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के चुनाव सिटी वेस्ट इलाके में आती है। अभियान के दौरान पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया था।

हालांकि अभियान के दौरान कुछ लोगों ने एतराज भी जताया, लेकिन अफसरों ने सभी को मौके से हटा दिया और विकास प्राधिकरण के बुलडोजर लगातार अपना काम करते रहे।    

नई दिल्लीः इंग्लैंड टीम इंडिया को एक पारी और 159 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ मेहमान टीम पांच मैचों की सीरीज में 2-0 से पिछड़ गई है। टीम इंडिया के बल्लेबाज दोनों ही पारियों में इंग्लैंड के गेंदबाजों के आगे नतमस्तक नजर आए। पहली पारी में टीम इंडिया जहां 107 रनों पर ढेर हो गई वहीं दूसरी पारी में 130 रनों पर ऑलआउट हो गई। 

इस हार के बाद बीसीसीआई कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली से जवाब मांगने की तैयारी कर रहा है।

टीम इंडिया कि इस हार के बाद सोशल मीडिया पर कोच रवि शास्त्री को बेदखल करने की मांग जोर पकड़ रही है। कुछ लोग राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया का नया कोच बनाने की सिफारिश कर रहे हैं तो कुछ लोग पूर्व में कुंबले को कोच पद से हटाए जाने को लेकर दुख व्यस्त कर रहे हैं।

एक ने लिखा, “भारतीय टीम के कोच बनने के रवि शास्त्री कभी काबिल नहीं थे। शायद बड़े खिलाड़ियों से दोस्ती उनके लिए काम कर गई। रवि बीसीसीआई के ब्लू आई बॉय रहे हैं।“

एक अन्य ने लिखा कि शेर और ढेर ये भारतीय क्रिकेट टीम के लिए दो बड़े शब्दे हैं। रवि शास्त्री को अब जवाब देना होगा कि आखिर एकाएक क्या गड़बड़ हो गई।

एक यूजर ने लिखा, रवि शास्त्री भारतीय टीम के कोच बनने के काबिल ही नहीं हैं।

 

शामलीः यहां कांवड़ियों द्वारा टेलीफोन एक्सचेंज पर लगाया गया तिरंगा उतारने पर ग्रामीण भड़क गए और जमकर हंगामा प्रदर्शन किया। घटना की सूचना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया।

आनन-फानन मैं पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और हंगामा कर रहे ग्रामीणों को किसी तरह समझा कर शांत किया। ग्रामीणों ने आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

बता दें कि यह पूरी घटना शामली सदर कोतवाली क्षेत्र के गांव लांक की है। करीब 20 लोगों का एक जत्था हरिद्वार से डाक कावड़ में तिरंगा झंडा लेकर गांव वापस पहुंचा था।

कांवड़िया देवराज, जितेंद्र, अरविंद ने तिरंगे को गांव के टेलीफोन एक्सचेंज की चोटी पर लहरा दिया था। जिसके बाद टेलीफोन एक्सचेंज पर तैनात कर्मचारी शिवचरण ने इसका विरोध करते हुए कांवड़ियों के साथ गाली-गलौच करते हुए तिरंगे को उतारकर अपमान भी किया। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया और ग्रामीणों ने इस बात को लेकर जमकर हंगामा शुरू कर दिया।

हंगामे की सूचना पर सीओ और एसडीएम कई थानों की पुलिस के साथ गांव पहुंच गए। पुलिस ने आरोपी कर्मचारी को हिरासत में ले लिया। इसके बाद अधिकारियों ने नये तिरंगा झंडा मंगाकर एक्सचेंज पर फहराया।

वहीं घटना को लेकर सीओ सिटी अशोक कुमार ने बताया कि तिरंगे के अपमान को लेकर के मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल आरोपी टेलीफोन एक्सचेंज के कर्मचारी को हिरासत में लिया गया है।

नई दिल्लीः इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में करारी हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि  टॉस की हार और मौसम की मार से टीम को लॉर्ड्स टेस्ट मैच चौथे दिन ही गंवाना पड़ गया।

कोहली ने कहा, मौसम भारत के पक्ष में नहीं रहा जिसे उस समय बल्लेबाजी करनी पड़ी जब आसमान में बादल छाए थे, जबकि इंग्लैंड ने अपने रन तीसरे दिन उस समय बनाए जब धूप खिली थी।

कोहली ने कहा, ‘काफी लोग हालात की बात कर रहे हैं, हमने मुश्किल समय में बल्लेबाजी की। जिस दिन हालात अच्छे थे उस दिन हमें गेंदबाजी करनी पड़ी और चौथे दिन फिर आसमान में बादल छाए थे और हमें बल्लेबाजी करनी पड़ी। अगर हम इन चीजों के बारे में सोचेंगे तो हम भविष्य की योजना नहीं बना सकते।’

उन्होंने कहा, ‘आप टॉस या मौसम पर नियंत्रण नहीं रख सकते। इस मैच में हमने अच्छा क्रिकेट नहीं खेला। हमने शुरुआत में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन लगातार अच्छी लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी नहीं की। हमें मैदान पर काफी मौके नहीं मिले, लेकिन बल्ले और गेंद से हमने जो किया उससे बेहतर कर सकते थे।’

कोहली ने कहा कि गेंदबाजों ने सीरीज के पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन लॉर्ड्स में उनके प्रदर्शन में निरंतरता नहीं थी। लॉर्ड्स में दूसरे टेस्ट में भारत दो पारियों में 107 और 130 रन ही बना पाया जिससे उसे कल यहां दूसरे टेस्ट में पारी और 159 रन से हार का सामना करना पड़ा।

 

नई दिल्लीः भारत की टेनिस सुपरस्टार सानिया मिर्जा अपने खेल से नहीं बल्कि अपने इंस्टाग्राम वीडियो और तस्वीरों की वजह से सुर्खियों में छाई हुई हैं।

प्रेंगनेंसी की बाद से सानिया ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम से कई वीडियो और तस्वीरें पोस्ट की हैं, जिसमें प्रेग्नेंट होने के बाद भी टेनिस खेलती नजर आ रही है। वीडियो को उनके फैंस खूब पसंद कर रहे हैं।

जहां एक और प्रेंग्नेंसी में महिलाएं आराम को ज्यादा तवज्जो देती हैं, वहीं सानिया मिर्जा ऐसे में टेनिस खेलकर सुर्खियां बटोर रही हैं।

सानिया मिर्जा की डिलीवरी में तकरीबन दो महीने का वक्त बचा है। ऐसे में सानिया मिर्जा अपने टेनिस को एंज्वॉय कर रही हैं। सानिया मिर्जा ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा भी है कि- आप एक टेनिस प्लेयर को कोर्ट से तो दूर रख सकते हैं, लेकिन एक खिलाड़ी के भीतर से टेनिस को नहीं निकाल सकते।

बता दें कि पहले घुटने की चोट और उसके बाद गर्भवती होने के कारण टेनिस कोर्ट से दूर रह रहीं दिग्गज भारतीय खिलाड़ी सानिया मिर्जा का कहना है कि वह 2020 टोक्यो ओलम्पिक खेलों में वापसी की उम्मीद रखती हैं।

सानिया ने कहा कि उन्होंने अपना जीवन अपनी शर्तों पर जिया है. उनका कहना है कि खेल उनके जीवन के सबसे अच्छे शिक्षकों में से हैं इसलिए उन्हें टेनिस से दूर नहीं किया जा सकता है।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: