Headline • टोटल धमाल ने मचाई स्क्रीन पर धूम• अमेरिकी डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरियाई किम जोंग के बिच 27-28 फरवरी को वियतनाम में होगा शिखर सम्मेलन • यूपी पुलिस ने देवबंद में 2 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया• दक्षिण कोरिया ने PM मोदी को सियोल शांति पुरस्कार से किया सम्मानित • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया


नई दिल्लीः आम आदमी पार्टी से इस्‍तीफा देने के बाद आशुतोष ने दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। आशुतोष ने ट्वीट करके कहा है कि 23 साल के मेरे प‍त्रकारिता करियर में किसी ने मेरी जाति नहीं पूछी लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में मुझे उम्‍मीदवार घोषित किया गया तो मेरे उपनाम (सरनेम) का उल्‍लेख किया गया जबकि मैंने इसका विरोध किया था।

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट पर पार्टी की प्रभारी आतिशी मार्लेना ने अपना नाम अब केवल आतिशी कर लिया है।

प्रचार के लिए लग रहे या बन रहे किसी भी पोस्टर, बैनर, होर्डिंग, पैम्फलेट में अब केवल आतिशी ही लिखा जा रहा है। यही नही आतिशी मार्लेना का ट्विटर हैंडल को बदल कर सिर्फ आतिशी कर दिया गया है। पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर भी आतिशी ही लिखना शुरू कर दिया है।

आशुतोष ने ट्वीट करके कहा है कि मैं हमेशा अपने नाम से जाना जाता था लेकिन 2014 में जब मुझे लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने उम्‍मीदवार बनाया तो मुझे पार्टी वर्कर से मुलाकात के दौरान मेरे उपनाम का उल्‍लेख किया गया जबकि मैंने इसका विरोध किया था।

मुझसे बाद में कहा गया था कि सर आप जीतोगे कैसे, आपकी जाति के यहां काफी वोट हैं। आपको बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान आशुतोष के नाम के पीछे गुप्‍ता जोड़ा गया था। 

नई दिल्लीः एशियन गेम्स में उम्मीदों के मुताबिक ही नीरज चोपड़ा का परफॉर्मेंस रहा। सोमवार को 18वें एशियाई खेलों में पुरुषों की भाला फेंक स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। बता दें कि गेम्स के उद्घाटन मौके पर नीरज ही तिरंगा को लेकर चल रहे थे। 

नीरज ने अपनी सर्वश्रेष्ठ थ्रो 88.06 मीटर की फेंकी और स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। नीरज ने यह सोने का तमगा पांच में से दो प्रयासों में विफलता के बाद भी हासिल किया। रजत पदक जीतने वाले चीन के किझेन लियू 82.22 मीटर की थ्रो फेंक कर दूसरे स्थान पर तो वहीं पाकिस्तान के नदीम अरशद ने 80.75 की सर्वश्रेष्ठ थ्रो फेंक कांस्य पदक हासिल किया।

एशियन गेम्स के 9वें दिन भारत को मेडल तो मिला और निराशा भी मिली। दरअसल सायना नेहवाल को बैडमिंटन सेमीफाइनल में हार मिली है।

सायना नेहवाल चीनी ताइपे की ताइ जु यिंग से सीधे गेम में मैच हार गई। सायना नेहवाल ने 21-17, 21-14 से मैच गंवाया. वैसे सायना नेहवाल ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। वो एशियन गेम्स में मेडल जीतने वाली पहली महिला शटर हैं। भारत के एशियन गेम्स में 37 मेडल हो गए हैं।

पीवी सिंधु ने भी बैडमिंटन में इतिहास रचा। सिंधु ने अकाने यागामुची को सेमीफाइनल में हराकर अपना सिल्वर मेडल पक्का किया। सिंधु ने 21-17, 15-21, 21-10 से जीत हासिल कर फाइनल में जगह बनाई। फाइनल में सिंधु हार गई। उन्हें सिल्वर से ही संतोष करना पड़ा। 

भारत ने अबतक सात गोल्‍ड, 10 सिल्‍वर और 20 ब्रॉन्‍ज जीते हैं। जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा गोल्ड जीत सकते हैं। 

 

नई दिल्लीः एशियन गेम्स में भारत के लिए शुक्रवार को अच्छी खबर आई है। टेनिस के पुरुष डबल्‍स मुकाबले में रोहन बोपन्‍ना और दिविज शरन की जोड़ी ने कजाकिस्‍तान के अलेक्‍जेंडर बबलिक और डेनिस येवसेयेव को 6-3, 6-4 से पराजित किया।

भारत का एशियन गेम्‍स में यह छठा स्‍वर्ण है। शूटिंग में 10 मीटर एयर पिस्‍टल इवेंट में भारत की हीना सिद्धू ने कांस्‍य पदक जीता।

भारत के लिए रोइंग की क्‍वाड्रुपल स्‍कल्‍स इवेंट में सवर्ण सिंह, दत्‍तू भोकानल, ओमप्रकाश और सुखबीर सिंह ने देश को स्‍वर्ण पदक का तोहफा दिया।

इससे पहले, भारत ने शुक्रवार की शुरुआत दो कांस्‍य पदक जीतकर की थी। भारत की ओर से यह पदक रोइंग की लाइटवेट सिंगल्‍स स्‍कल्‍स इवेंट में दुष्‍यंत चौहान ने हासिल किया था।

रोइंग की डबल स्कल्स स्पर्द्धा में भारत के रोहित कुमार व भगवान दास ने कांस्य पदक जीता।

कबड्डी के महिला वर्ग के फाइनल में भारत को ईरान के हाथों 24-27 से हार का सामना करना पड़ा है। इस हार के साथ महिला टीम को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। इससे पहले, पुरुष वर्ग के सेमीफाइनल में भी भारतीय टीम, ईरान से हारकर कांस्‍य पदक ही हासिल कर पाई थी।

 

रायबरेलीः एशियन गेम्स में रायबरेली जनपद की एथलीट सुधा सिंह का 3000 मीटर स्टीपलचेज इवेंट सोमवार को है, इसे लेकर रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी ने पत्र के माध्यम से ईश्वर से सुधा सिंह के गोल्डमेडल जीतने की दुआ मांगी।

वही रायबरेली वासियों ने आज शहर स्थित हनुमान मंदिर में पूजन अर्चन कर रायबरेली की बेटी सुधा सिंह की जीत की प्रार्थना की।

लोग सुबह से मंदिर में पूजन अर्चन व हवन कर रहे है। कर रहे हैं। रायबरेली की बेटी एथेलिटिक्स सुधा सिंह की जीत व भारत की झोली में गोल्डमेडल डालने की ईश्वर से दुआ माग रहे हैं।  

दरअसल आज ही 3 हजार मीटर स्टिप्लचेस इवेंट है जिसमे भारत की तरफ से रायबरेली की बेटी सुधा सिंह मैदान में है। सुधा सिंह से रायबरेली वासियों को काफी उम्मीदें है, इसलिए रायबरेली वासी ईश्वर से दुआ मांग रहे है कि इस खेल में रायबरेली की बेटी ही विजयी हो और भारत की झोली में गोल्डमेडल लाये।  

इसी को लेकर सभी खेल प्रेमी हवन पूजन के साथ साथ भगवान का स्मरण कर रहे है और दुआएं माग रहे है। 

मेरठः क्रांतिकारियों की माटी मेरठ की धरती से एक से बढ़कर एक नगीने निकल कर आ रहे है। मेरठ के एक और 10वीं के छात्र ने एशियन गेम में रजत पदक हासिल कर परिवार और देश का नाम रोशन किया है।

 

शूटिंग के डबल ट्रेप में शार्दूल विहान ने ऐसा निशाना लगाया कि देश की झोली में एक और रजत पदक आ गिरा। घर मे जश्न का माहौल है। सब नाचकर खुशी का इजहार कर रहे हैं।

मेरठ के सिवाया गांव में रहने वाले दीपक विहान का बेटा केवल 15 साल का है और 10वीं का छात्र है। जकार्ता में हो रहे एशियन गेम्स के डबल ट्रैप में शार्दूल विहान ने रजत पदक हासिल किया है।

 

किसान परिवार के इस बालक ने इसकी तैयारी कई साल पहले शुरू कर दी थी। जिसका ये नतीज़ा है कि आज देश के लिए पदक ले लिया। उनके परिवार का हर सदस्य खुश है।

शार्दूल की मां का कहना है कि जब गया था तो मां के चरण छूकर गया था कि देश के लिए पदक लेकर आऊँगा। उसी को शार्दूल ने कर दिखाया है। मां की आखों से आंसू थम नहीं रहे हैं। 

:
:
: