Headline • इलाहाबाद में बीजेपी जिलाध्यक्ष ने अपने नाते रिश्तेदारों को बांट दिए सारे पद, युवाओं में भारी गुस्सा• भ्रष्टाचार की भेंट चढा बलरामपुर का विकास, लोगों ने शिकायत की तो बीजेपी विधायक बोले, गुंडे हैं ये लोग• सोशल मीडिया में आग लगा रही ही एक और भोजपुरी डांसर, डांस के लटके-झटके सपना चौधरी जैसे• आजमगढ़ में फिर मुठभेड़, बदमाश के साथ पुलिस अधिकारी को भी लगी गोली • प्रिंसिपल या जल्लाद! बच्चे को तबतक मारते रहे जब तक डंडा टूट न गया, क्लास में हंसने पर दी सजा• दामाद की हत्या के लिए 1 करोड़ की सुपारी दी, गैंग की लिंक आईएसआई से भी पाई गई• मृत महिला को जिंदा दिखाकर कर लिया मकान का बैनामा, असली मालिक पर घर छोड़ने की धमकी• महिलाओं ने सरेराह प्रधान में चप्पलों और लाठियों से की पिटाई, पति पत्नी के झगड़े को सुलझाना पड़ा भारी• भारत-पाक मुकाबले का रोमांच चरम पर, कानपुर में फैंस ने बप्पा से की टीम इंडिया की जीत की प्रार्थना• पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय, क्या कमाल कर पाएगी रोहित एंड कंपनी?• जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए• शिकायत करने पर नहीं सुनी लेकिन जब आत्मदाह करने पहुंचा गरीब आदमी तो तुरंत जांच बैठा दी• चंद्रशेखर रावण और मदनी में गोपनीय बातचीत, शेरसिंह राणा ने भी पेश कर दी चुनौती• राजा भैया के पिता और प्रशासन में ठनी ! मोहर्रम के दिन भंडारे के कार्यक्रम में प्रशासन ने लगाई रोक• तीन तलाक पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अध्यादेश को दी मंजूरी• शामली : मठुभेड़ में दो बदमाश गिरफ्तार, एक को लगी गोली, 10 लाख कैश बरामद • दरोगा के बेटे ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, मां की बीमारी के चलते डिप्रेशन में था• बीजेपी विधायक देवेंद्र राजपूत की दबंगई, बिजली विभाग के जेई को पीटा,वीडियो वायरल• बहराइच में बुखार का कहर, 45 दिनों में 70 बच्चों की मौत• 'समाचार प्लस' की खबर का असर,विकिपीडिया ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का निक नेम 'झांपू' हटाया• ब्लॉक प्रमुख से फोन पर मांगी गई 5 करोड़ की रंगदारी, न देने पर जान से मारने की धमकी


इलाहाबादः नार्थ सेन्ट्रल रेलवे के इलाहाबाद मंडल का इलाहाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन स्टेशनों में स्वच्छता रैंकिंग में  यूपी में ए वन कैटेगरी के नम्बर वन बन गया है। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय की ओर से 13 अगस्त को जारी की गई ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स में भले ही इलाहाबाद शहर 96वें पायदान पर पहुंच गया है।

 

लेकिन रेलवे बोर्ड की ओर से ही सोमवार को स्टेशनों की स्वच्छता को लेकर जारी की गई रैंकिंग में इलाहाबाद जंक्शन स्टेशन को बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। इलाहाबाद जंक्शन स्टेशन पिछले साल की रैंकिंग में जहां 45वें पायदान पर था। वहीं इस बार 12 स्थान की छलांग लगाकर 33 वें पायदान पर पहुंच गया है।

नार्थ सेन्ट्रल रेलवे के सीपीआरओ गौरव कृष्ण बंसल के मुताबिक रेलवे बोर्ड प्रोसेस इवैलुएशन, डॉयरेक्ट आब्जरवेशन और सिटिजन फीडबैक के आधार पर ए वन कैटेगरी के स्टेशनों की रैंकिंग तय करता है।

सीपीआरओ गौरव कृष्ण बंसल के मुताबिक इलाहाबाद जंक्शन पर स्वच्छता को लेकर कई कदम उठाये गए हैं। जिसमें साफ सफाई के साथ ही यात्री सुविधाओं में इजाफा करना भी शामिल है।

उन्होंने कहा है कि जनवरी 2019 में कुम्भ का आयोजन होने जा रहा है। ऐसे में रेलवे की पहले से स्वच्छता को लेकर की जा रही तैयारियों का भी कुम्भ के दौरान बड़ा फायदा मिलेगा। 

गौरतलब है कि रेल मंत्री ने सोमवार को भारतीय रेल के ए वन और ए श्रेणी के चार सौ स्टेशनों की 2018 की स्वच्छता सर्वे रैंकिंग जारी की है। रेल मंत्री ने कहा है कि अगली बार देश के 600 रेलवे स्टेशनों का स्वच्छता का सर्वे कराया जायेगा। 

 

इलाहाबादः यूपी की योगी सरकार ने भूमाफियाओं के खिलाफ अपने अभियान तेज कर दिए है। सरकार ने माफिया डॉन के तौर पर परिचित इलाहाबाद के पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद पर अपना शिकंजा कसा दिया है। अफसरों ने अतीक अहमद द्वारा अवैध तरीके से बसाई जा रही कई रिहाइशी कालोनियों पर बुलडोजर चलाकर उसे जमींदोज कर दिया। इस कार्रवाई में कई विभागों की टीमों के साथ ही बड़ी संख्या में पुलिस- पीएसी और आरएएफ के जवान तैनात किये गए थे।

इस कार्रवाई में उनके द्वारा बसाई गई 5 कालोनियों को गिराया गया। अभियान में तीन दर्जन से ज़्यादा बुलडोजर लगाए गए।

हालांकि इन कालोनियों में अभी ज़्यादा मकान नहीं बने थे और तमाम लोगों ने सिर्फ बाउंड्री कराकर ही जगह छोड़ दी थी। अफसरों के मुताबिक़ इनमे से ज़्यादातर अतीक अहमद की बेनामी संपत्ति थी। सौ बीघे से ज़्यादा एरिया में बसाई जा रही इन कालोनियों में कुछ ज़मीनें ग्राम सभा की थी और कुछ स्टेट लैंड थी।

इसके अलावा अतीक ने अपने करीबियों के नाम पर किसानों की उपजाऊ जमीन दबाव डालकर लिखवा ली थी। साल 2008 में तत्कालीन मायावती सरकार ने इन कालोनियों में किसी तरह के निर्माण पर रोक लगा दी थी। बाहुबली अतीक की जिन कालोनियों पर बुलडोजर चला है उनमे अलीना सिटी और अहमद सिटी प्रमुख रुप से शामिल है। अतीक अहमद पिछले साल फरवरी महीने से देवरिया जेल में बंद हैं। 

दस दिन पहले यूपी एसटीएफ की एक टीम ने इलाहाबाद आकर अतीक की बेनामी सम्पत्तियों की जांच की थी। जो कार्रवाई आज हो रही है, वह सभी यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के चुनाव सिटी वेस्ट इलाके में आती है। अभियान के दौरान पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया था।

हालांकि अभियान के दौरान कुछ लोगों ने एतराज भी जताया, लेकिन अफसरों ने सभी को मौके से हटा दिया और विकास प्राधिकरण के बुलडोजर लगातार अपना काम करते रहे।    

नई दिल्लीः इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में करारी हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि  टॉस की हार और मौसम की मार से टीम को लॉर्ड्स टेस्ट मैच चौथे दिन ही गंवाना पड़ गया।

कोहली ने कहा, मौसम भारत के पक्ष में नहीं रहा जिसे उस समय बल्लेबाजी करनी पड़ी जब आसमान में बादल छाए थे, जबकि इंग्लैंड ने अपने रन तीसरे दिन उस समय बनाए जब धूप खिली थी।

कोहली ने कहा, ‘काफी लोग हालात की बात कर रहे हैं, हमने मुश्किल समय में बल्लेबाजी की। जिस दिन हालात अच्छे थे उस दिन हमें गेंदबाजी करनी पड़ी और चौथे दिन फिर आसमान में बादल छाए थे और हमें बल्लेबाजी करनी पड़ी। अगर हम इन चीजों के बारे में सोचेंगे तो हम भविष्य की योजना नहीं बना सकते।’

उन्होंने कहा, ‘आप टॉस या मौसम पर नियंत्रण नहीं रख सकते। इस मैच में हमने अच्छा क्रिकेट नहीं खेला। हमने शुरुआत में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन लगातार अच्छी लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी नहीं की। हमें मैदान पर काफी मौके नहीं मिले, लेकिन बल्ले और गेंद से हमने जो किया उससे बेहतर कर सकते थे।’

कोहली ने कहा कि गेंदबाजों ने सीरीज के पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन लॉर्ड्स में उनके प्रदर्शन में निरंतरता नहीं थी। लॉर्ड्स में दूसरे टेस्ट में भारत दो पारियों में 107 और 130 रन ही बना पाया जिससे उसे कल यहां दूसरे टेस्ट में पारी और 159 रन से हार का सामना करना पड़ा।

 

नई दिल्लीः इंग्लैंड टीम इंडिया को एक पारी और 159 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ मेहमान टीम पांच मैचों की सीरीज में 2-0 से पिछड़ गई है। टीम इंडिया के बल्लेबाज दोनों ही पारियों में इंग्लैंड के गेंदबाजों के आगे नतमस्तक नजर आए। पहली पारी में टीम इंडिया जहां 107 रनों पर ढेर हो गई वहीं दूसरी पारी में 130 रनों पर ऑलआउट हो गई। 

इस हार के बाद बीसीसीआई कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली से जवाब मांगने की तैयारी कर रहा है।

टीम इंडिया कि इस हार के बाद सोशल मीडिया पर कोच रवि शास्त्री को बेदखल करने की मांग जोर पकड़ रही है। कुछ लोग राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया का नया कोच बनाने की सिफारिश कर रहे हैं तो कुछ लोग पूर्व में कुंबले को कोच पद से हटाए जाने को लेकर दुख व्यस्त कर रहे हैं।

एक ने लिखा, “भारतीय टीम के कोच बनने के रवि शास्त्री कभी काबिल नहीं थे। शायद बड़े खिलाड़ियों से दोस्ती उनके लिए काम कर गई। रवि बीसीसीआई के ब्लू आई बॉय रहे हैं।“

एक अन्य ने लिखा कि शेर और ढेर ये भारतीय क्रिकेट टीम के लिए दो बड़े शब्दे हैं। रवि शास्त्री को अब जवाब देना होगा कि आखिर एकाएक क्या गड़बड़ हो गई।

एक यूजर ने लिखा, रवि शास्त्री भारतीय टीम के कोच बनने के काबिल ही नहीं हैं।

 

शामलीः यहां कांवड़ियों द्वारा टेलीफोन एक्सचेंज पर लगाया गया तिरंगा उतारने पर ग्रामीण भड़क गए और जमकर हंगामा प्रदर्शन किया। घटना की सूचना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया।

आनन-फानन मैं पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और हंगामा कर रहे ग्रामीणों को किसी तरह समझा कर शांत किया। ग्रामीणों ने आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

बता दें कि यह पूरी घटना शामली सदर कोतवाली क्षेत्र के गांव लांक की है। करीब 20 लोगों का एक जत्था हरिद्वार से डाक कावड़ में तिरंगा झंडा लेकर गांव वापस पहुंचा था।

कांवड़िया देवराज, जितेंद्र, अरविंद ने तिरंगे को गांव के टेलीफोन एक्सचेंज की चोटी पर लहरा दिया था। जिसके बाद टेलीफोन एक्सचेंज पर तैनात कर्मचारी शिवचरण ने इसका विरोध करते हुए कांवड़ियों के साथ गाली-गलौच करते हुए तिरंगे को उतारकर अपमान भी किया। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया और ग्रामीणों ने इस बात को लेकर जमकर हंगामा शुरू कर दिया।

हंगामे की सूचना पर सीओ और एसडीएम कई थानों की पुलिस के साथ गांव पहुंच गए। पुलिस ने आरोपी कर्मचारी को हिरासत में ले लिया। इसके बाद अधिकारियों ने नये तिरंगा झंडा मंगाकर एक्सचेंज पर फहराया।

वहीं घटना को लेकर सीओ सिटी अशोक कुमार ने बताया कि तिरंगे के अपमान को लेकर के मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल आरोपी टेलीफोन एक्सचेंज के कर्मचारी को हिरासत में लिया गया है।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: