Headline • दलित किशोरी को अगवा कर गैंगरेप की कोशिश, हैवानों से लड़कर थाने पहुंचीं और रिपोर्ट दर्ज कराई• लुटेरी फैमिली गिरफ्तार, महिलाएं करती हैं गैंग का नेतृत्व, ज्वेलरी शॉप से उड़ाए थे 50 लाख के गहने• सांसद बालियान के प्रतिनिधि की आंख में मिर्च झोंककर लूट करने वाले बदमाश गिरफ्तार • विहिप नेता सुरेंद्र जैन बोले, योगी और मोदी पर पूरा भरोसा, 5 अक्टूबर को होगी आंदोलन की रूपरेखा तय• मेरठ पुलिस को शर्मिंदा करने वाला वीडियो वायरल, मेडिकल स्टूडेंट के साथ गाली गलौच और मारपीट• सपा नेता ने कहा, कांवड़ यात्रा का विरोध करता हूं, भोले और राम से लड़ना होगा, बीजेपी की जान इनमें है• सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मनोज तिवारी को फटकार, कहा-जगह बताइए हम आपको सिलिंग ऑफिसर बना देंगे• सड़क दुर्घटना में नामचीन गायक और पत्नी घायल, 2 साल की बेटी की मौत• चार माह तक बंद रहेंगी चमड़ा फैक्ट्रियां, शासनादेश जारी, होंगे 11 लाख मजदूर बेरोजगार • बंगलूरु के नशा मुक्ति केंद्र में इलाज करा रहे हैं कपिल शर्मा, जल्द स्वस्थ्य होकर लौटेंगे टीवी पर• अफगानिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का निर्णय, धोनी कर रहे है भारतीय टीम की कप्तानी• पुलिस के सामने मोबाइल चोर के आरोपी को भीड़ ने पीटा, मामला उछलने पर दिया कार्रवाई का भरोसा• वाह री मेरठ पुलिस! एफआईआर से आरोपी का नाम हटाकर ऐसे व्यक्ति का नाम जोड़ दिया जो इस दुनिया में नहीं है• हरिद्वार की अंडर-16 क्रिकेट टीम के चयन का मामला पहुंचा नैनीताल हाईकोर्ट  • संभल में एसिड अटैक की घटना निकली झूठी, ससुरालियों को फंसाने के लिए भाई से ही डलवा ली थी एसिड की कुछ छींटे • BJP नेता कुसुम राय पर आरोप, पुलिस पर दबाव डालकर गिरवाई पड़ोसी के घर की दीवार, पीड़ित की सुनवाई नहीं• योगी सरकार ने गन्ना किसानों को दी बड़ी सौगात• पुलिस ने 80 साल के बुजुर्ग को बनाया बलात्कारी, जेल में हुई मौत,परिजन मांग रहे न्याय• आज से शुरू होगा कसौटी जिंदगी की, प्रोमो में दिखी थी कोमोलिका की झलक• कन्नौज के डबल मर्डर के आरोपी ममेरे भाइयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 21 सितंबर को हुई थी हत्या• प्रेमिका की जिद पर बीवी को दिया फोन पर तलाक, फिर थाने में कर लिया प्रेमिका से निकाह• हमीरपुरः कंस मेले के रूट को लेकर बवाल, आयोजकों की जिद के आगे झुका प्रशासन• सफाईनायक से बीजेपी विधायक बोले, सुधर जाओ नहीं तो 1 घंटे में मुकदमा दर्ज कर सीधा जेल भिजवा दूंगा• बीएचयू में देर रात हुए बवाल के बाद हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टर,स्वास्थ्य सेवा चरमराई• सपना चौधरी को बर्थड़े पर मिला ये सरप्राइज, सेलिब्रेशन के वीडियो हो रहे वायरल


नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट टीम में तेज गेंदबाजी में धार देने वाले यूपी के तेज गेंदबाज रुद्रप्रताप सिंह ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने की घोषणा की है। मंगलवार शाम एक भावुक संदेश के साथ उन्होंने  क्रिकेट को अलविदा कह दिया। उन्होंने उसी तारीख को संन्यास लिया जिस तारीख को 13 साल पहले आगाज किया था।

उन्होंने ट्विटर पर एक भावुक संदेश को पोस्ट करके सबका शुक्रिया किया और मैदान पर फिर कभी ना उतरने का ऐलान किया। गौरतलब है कि पिछले कई सालों से आरपी सिंह मैदान से दूर हैं और अब वो पूरी तरह से कमेंट्री पर ध्यान देते हुए नजर आ रहे हैं। 

32 वर्षीय आरपी सिंह पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पसंदीदा गेंदबाजों में शुमार किए जाते थे। टी20 विश्व कप 2007 में जब भारत ने खिताब जीता था तब उस टीम में आरपी सिंह सबसे घातक गेंदबाज साबित हुए थे।

6 दिसंबर 1985 को उत्तर प्रदेश के राय बरेली में जन्मे आरपी सिंह ने अपने संन्यास का ऐलान उसी तारीख को किया जिस दिन उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आगाज किया था।

उन्होंने ट्विटर पर जो भावुक विदाई पत्र पोस्ट किया है उसकी शुरुआत भी वहीं से होती है। इस पत्र की पहली पंक्ति यही है कि, ’13 साल पहले आज ही के दिन, 4 सितंबर 2005 को मैंने पहली बार भारतीय जर्सी पहनी थी।’ इसके अलावा उन्होंने इस संदेश में अपने परिवार, बीसीसीआई और राज्य क्रिकेट संघ को भी शुक्रिया कहा।

उनके इस विदाई संदेश में भावुक आरपी ने एक जगह लिखा कि, ’मेरी आत्मा और दिल आज भी उस युवा लड़के के साथ है जिसने पाकिस्तान के फैसलाबाद में करियर का आगाज किया था, जो लेदर बॉल को अपने हाथ में रखते हुए सिर्फ खेलना चाहता था। शरीर अहसास दिला रहा है कि अब मेरी उम्र हो चुकी है और युवा खिलाड़ियों के लिए जगह खाली करने का समय आ गया है। 

 

नई दिल्लीः साउथम्प्टन में मिली करारी हार के बाद भारतीय टीम आलोचना झेल रही है। इस मैच के साथ इंग्लैंड ने पांच मैचों की सीरीज में 3-1 की विजयी बढ़त बना ली। इंग्लैंड के 245 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम 184 रन ही बना सकी।

इस हार के बाद भारत के पूर्व वर्ल्ड चैंपियन कप्तान कपिल देव ने कहा- ’क्रिकेट एक टीम गेम है, किसी एक या दो खिलाड़ी पर निर्भर नहीं करता है। विराट कोहली ने इस टेस्ट सीरीज में 500 से ज्यादा रन बनाए हैं, लेकिन इसके बावजूद अकेला विराट ही मैच जिताने के लिए पर्याप्त नहीं।’

कपिल ने कहा, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने सीरीज में उतने रन नहीं बनाए फिर भी इंग्लिश टीम ने सीरीज पर कब्जा कर लिया। टीम इंडिया ने अहम मौकों पर बहुत सी गलतियां की और एक के बाद एक लगातार विकेट गंवाए जो उसे महंगा पड़ा।

कपिल ने कहा, यदि आप सीरीज में पीछे मुड़कर देखें, तो आपको पता चलेगा कि हमारे पास मैच के नतीजे अपने पक्ष में करने के पर्याप्त मौके थे, लेकिन हमने बहुत सारी गलतियां की और इंग्लैंड को वापसी करने का न्योता दिया।

कपिल ने कहा, ’यह कहना बहुत आसान है कि हमने सीरीज गंवा दी, क्योंकि इंग्लैंड हमसे ज्यादा बेहतर क्रिकेट खेला. लेकिन, मुझे अभी भी विश्वास है कि हम उनके मुकाबले बेहतर टीम हैं। 

नई दिल्लीः जकार्ता में चल रहे एशियाई खेलों में शनिवार को भारत को एक और गोल्ड मेडल हासिल हुआ। प्रणब बर्धन और शिबनाथ सरकार ने पुरुषों की ब्रिज (ताश) कपल इवेंट का गोल्ड मेडल जीतकर गोल्ड मेडलों की संख्या 15 कर दी। 60 साल के प्रणब और 56 साल के शिबनाथ सरकार की जोड़ी 384 अंक हासिल करते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया।

इसी के साथ भारत ने 1951 में दिल्ली में खेले गए पहले एशियाई खेलों में जीते गए 15 गोल्ड मेडल की बराबरी कर ली है।

भारत के ही सुमित मुखर्जी और देबाब्रत मजूमदार 333 अंक लेकर नौवें स्थान पर रहे। सुभाष गुप्ता सपन देसाई की भारतीय टीम 306 अंकों के साथ 12वें स्थान पर रहीं।

भारत ने 1951 के एशियन गेम्स में 15 गोल्ड समेत 51 मेडल जीते थे। महिला स्क्वॉश टीम और बॉक्सर अमित फाइनल में पहुंच चुके हैं। यानी, भारत के पास इस बार सबसे अधिक गोल्ड जीतने का रिकॉर्ड बनाने का भी मौका है।

भारत ने एशियन गेम्स के 67 साल के इतिहास में सबसे ज्यादा मेडल 2010 में जीते थे। उसने तब ग्वांगझू गेम्स में 14 गोल्ड समेत कुल 65 मेडल जीते थे। उसका इस बार यह आंकड़ा पार कर लिया है। वह अब तक 15 गोल्ड समेत 67 मेडल जीत चुका है। इनमें 23 सिल्वर और 29 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं।

 

रुड़कीः यहां वीजा दिलाने के नाम पर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी से दो लाख 32 हज़ार की ठगी का मामला सामने आया है। रुड़की निवासी क्याकिंग कैनोइंग की अंतराष्ट्रीय खिलाड़ी सोनिया राणा ने चंडीगढ़ की एक कंपनी से कनाडा जाने के लिए वीज़ा का आवेदन किया था।

जिसके चलते चंडीगढ़ की कंपनी मैक ग्लोबल एजुकेशन एक्सपर्ट को साढ़े सात लाख का भुगतान किया गया था लेकिन कंपनी ने महिला खिलाड़ी के 2 लाख 32 हज़ार रुपये आजतक नहीं लौटाए। महिला खिलाड़ी सोनिया राणा पिछले दो माह से  पुलिस के   चक्कर काट रही है।

अब पुलिस के बड़े अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद सिविल लाइन कोतवाली पुलिस ने कंपनी के दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी करने का मुकदमा दर्ज किया गया है। 

इस मामले में महिला खिलाड़ी सोनिया राणा का कहना है कि कंपनी की लापरवाही के चलते उसका कैरियर बर्बाद हो चुका है। उसकी पढ़ाई भी छूट चुकी है ऐसी कंपनी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए । सोनिया का आरोप है कि उनकी कनाडा की पढ़ाई भी नहीं हो पाई है।

देहरादूनः राज्य मे स्पोर्ट्स कोड लागू होने के बाद खेल संघों मे पारदर्शिता बढ़ जायेगी। यह भी माना जा रहा है कि इससे खेल संघ सरकारी हस्तक्षेप से भी मुक्त हो जायेगें।

माना जा रहा है कि प्रदेश मे स्पोर्ट्स कोड लागू होने के बाद खेल और खिलाड़ियों के दिन भी बदलने वाले हैं।

कोड लागू होने के बाद खेल संघों के अध्यक्ष तीन टर्म और कोषाध्यक्ष व सचिव दो टर्म तक ही अपने पद पर रह सकते हैं। सरकारी अधिकारी या कर्मचारी को किसी भी फेडरेशन में पद पाने के लिए सरकारी अनुमति नहीं दी जायेगी।

इसके साथ ही खेल विभाग के अधिकारी किसी भी संघ के सदस्य नहीं होगें। 

खेल मंत्री अरविंद पांडेय ने बताया कि कैबिनेट ने स्पोर्ट्स कोड को लागू करने का निर्णय लिया है जिसके बाद आये दिन खेलों के नाम पर मनमानी करने वालों पर भी रोक लग सकेगी।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर



वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: