Headline • सुशील मोदी बोले - भाजपा और जदयू का गठबंधन बना रहेगा, नीतीश के नेतृत्व में ही लड़ेंगे विधानसभा चुनाव • तेलंगाना सीएम KCR गांव वालों पर मेहरबान, हर परिवार को देंगे 10 लाख रुपये• सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा - केंद्रीय सूचना आयोग की स्‍वतंत्रता को नष्‍ट करना चाहती है सरकार• ब्रिटेन में आज होगा अगले पीएम का फैसला, बोरिस जॉनसन और जेरेमी हंट के बीच टक्कर• इसरो ने रचा इतिहास, मून मिशन चंद्रयान-2 लॅान्च• हिमा दास ने 20 दिन में 5वां गोल्ड जीता, जाबिर ने भी लगायी सुनहरी दौड़• अमेरिका में फिर हुई इमरान खान की फजीयत, भाषण के दौरान इमरान का विरोध • राहुल गाँधी के इस्तीफे के बाद पुणे के इंजीनियर की नजर कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर • यूपी - गरीब छात्रों को नए मेडिकल कालेजों में भी मिलेगा मौका• कर्नाटक : सरकार बचाने के लिए ज्योतिषियों और टोटकों की शरण में JDS नेता • पीसीबी पाकिस्तान के मुख्य चयनकर्ता इंजमाम पर करता रहा पैसों की बारिश, पर नहीं सुधरी टीम की हालत• अमेरिका ने हाफिज की पिछली गिरफ्तारियों को बताया 'दिखावा', कहा उसकी आतंकी गतिविधियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा• CM कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू का इस्‍तीफा मंजूर किया• "कांग्रेस को चाहिए ' गांधी ' अध्यक्ष, वर्ना टूट जाएगी पार्टी"• यूपी बोर्ड के छात्रों को मिलेगा धीरूभाई अंबानी स्कॅालरशिप पाने का मौका • छपरा में मवेशी चोरी के आरोप में 3 लोगों की पिट-पिटकर हत्या • ट्रम्प का दावा - अमेरिकी युद्धपोत ने मार गिराया है होरमुज की खाड़ी में ईरानी ड्रोन• कर्नाटक : बीजेपी विधायकों के लिए सदन में ब्रेकफास्ट लेकर पहुंचे कर्नाटक के डेप्युटी सीएम• इमरान खान के अमेरिका दौरे से पहले पाक को झटका, नहीं मिलेगी अमेरिकी सहायता• पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी गिरफ्तार • 90 बीघे जमीन के लिए चली अंधाधुंध गोलियां, बिछ गई लाशें• धौनी के माता-पिता भी चाहते है कि वो अब क्रिकेट से संन्यास ले• चंद्रयान-2 की आयी डेट; 22 जुलाई को होगा लॅान्च • कुलभूषण जाधव केस : 1 रुपये वाले साल्वे ने पाकिस्तान के 20 करोडं रुपये वाले वकील को दी मात • कांग्रेस को नहीं मिल पा रहा नया अध्यक्ष , किसी भी नाम को लेकर सहमति नहीं


भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी शुक्रवार को एक बिटिया के पिता बन गए। उनकी पत्नी साक्षी ने शहर के फोर्टिस अस्पताल में शाम को अपनी पहली संतान को जन्म दिया। अस्पताल सूत्रों के अनुसार मां और बच्चा दोनों ही स्वस्थ हैं।

परिवार से जुड़े लोगों ने बताया कि साक्षी को सुबह से प्रसव पीड़ा हुई, जिसके बाद दोपहर में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाम चार बजे के करीब उन्होंने बेटी को जन्म दिया। विश्व कप में भारत का खिताब बरकरार रखने टीम इंडिया के साथ ऑस्ट्रेलिया गए धोनी इस मौके पर अपनी पत्नी के साथ नहीं थे, लेकिन धौनी की मां और साक्षी की मां सहित दोनों ही परिवार के सदस्य अस्पताल में मौजूद रहे।

पिछले लगातार कई दिनों से मीडिया में साक्षी के गर्भवती होने की खबरें आ रही थीं, लेकिन परिवार के किसी भी सदस्य ने सार्वजनिक रूप से इसकी पुष्टि नहीं की थी। धौनी कभी भी अपने निजी जीवन की चर्चा करना पसंद नहीं करते। इसकी झलक धोनी की शादी के वक्त भी दिखाई दी थी। माही ने अपनी शादी की तारीख भी मीडिया में नहीं बताई थी।

2010 में धोनी अपनी दोस्त साक्षी के साथ शादी के बंधन में बंधे थे। विवाह समारोह का आयोजन देहरादून में किया गया था, जिसमें कुछ खास हस्तियों ने ही शिरकत की थी।

भारतीय गेंदबाजों की मदद के लिए ब्रेट ली तैयार

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली आगामी विश्व कप के लिए आयरलैंड टीम के मेंटर हैं लेकिन वह भविष्य में मौका मिलने पर भारतीय तेज गेंदबाजों की मदद करने को भी तैयार हैं।

ली ने कहा, ‘मैं भारतीय गेंदबाजों की मदद करने के लिए तैयार हूं लेकिन मैं पूर्णकालिक भूमिका चाहता हूं। मैं दुनिया भर के तेज गेंदबाजों की मदद को तत्पर हूं।’ हैमिल्टन में 10 मार्च को भारत का सामना विश्व कप में जाइंट किलर आयरलैंड से होगा। ली आयरलैंड के युवा तेज गेंदबाजों मैक्स सोरेंसेन, स्टुअर्ट थाम्पसन, क्रेग यंग और एलेक्स कुसाक की मदद करेंगे।

सायना के रवैये से नाराज बेडमिंटन संघ जाएगा कोर्ट!

भारतीय बैडमिंटन महासंघ (बाई) ने स्टार खिलाड़ी सायना नेहवाल के 79 वें सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैपिंयनशिप में भाग नहीं लेने के कारण न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है।

बाई के सचिव और यहां होने वाली राष्ट्रीय चैंपियनशिप के आयोजक सचिन पुनिया चौधरी ने कहा कि सायना पिछले पांच-छह सालों से किसी राष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले रही है। जबकि यह उनकी जिम्मेदारी बनती है कि ऐसी प्रतियोगिताओं में भाग लेकर खिलाड़ियों की अगली पीढ़ी को प्रोत्साहित करें।

सायना और परूपल्ली कश्यप जैसे शीर्ष खिलाडिय़ों की यह आदत बन गई है कि वह देश में होने वाली राष्ट्रीय चैपिंयनशिप जैसे बड़े आयोजनों से किनारा कर लेते हैं और फिर ई.मेल का भी जवाब नहीं देते। हम इस मसले को कोर्ट तक ले जाएंगे जिससे भविष्य में खिलाड़ी ऐसे फैसलों से बचें।'

चौधरी ने कहा, 'बड़े घरेलू टूर्नामेंटों में हिस्सा नहीं लेना बाई के नियमों का भी उल्लंघन है और हम इस मुद्दे को केंद्र सरकार के संज्ञान में भी लाएंगे।'

उल्लेखनीय है कि चाइना ओपन सुपर सीरीज के विजेता सायना और श्रीकांत के अलावा इस साल राष्ट्रीय चैंपियनशिप में विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता पी. वी. सिंधू, राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण विजेता कश्यप, युगल विशेषज्ञ ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा तथा अजय जयराम ने भी खेलों से नाम वापिस ले लिया है।

8 फरवरी को होगी BCCI की बैठक, श्रीनिवासन के भविष्य का होगा फैसला

बीसीसीआई की सालाना बैठक 8 फरवरी को बोर्ड की वर्किंग कमेटी चेन्नई में करेगी। इस बैठक में निर्वासित अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के भविष्य का फैसला किया जाएगा। 

गौरतलब है कि, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इसे टाल दिया गया था। 

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि, हमें सर्कुलर मिला है कि कार्यकारी समिति की बैठक 8 फरवरी को होगी। इसलिए चेन्नई में पांच फरवरी को होने वाली सदस्यों की अनौपचारिक बैठक अब नहीं होगी। उन्होंने कहा कि, कार्यकारी समिति में वे इकाईयां भी शामिल है जो पूरी तरह से श्रीनिवासन के खिलाफ है।

इस बैठक में बोर्ड के सभी सदस्य कोर्ट के फैसलों के बाद के माहौल पर बात करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने 5 मार्च का या उससे पहले चुनाव कराने का आदेश दिया था। चूंकि बीसीसीआई के नियम के तहत चुनाव के 21 दिन पहले इसकी सूचना देनी होती है, ऐसे में 12 फरवरी से पहले नोटिफिकेशन जारी करना होगा।

 

विश्वकप की टीम में नहीं चुने जाने से निराश हूं- युवराज सिंह

भारत की 2011 की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य युवराज सिंह और गौतम गंभीर ने इस बार क्रिकेट महाकुंभ का हिस्सा नहीं होने पर आज निराशा जतायी।भारतीय चयनकर्ताओं ने युवा खिलाडियों को तरजीह दी और युवराज, हरभजन सिंह, वीरेंद्र सहवाग, जहीर खान और गंभीर जैसे खिलाडियों को नहीं चुना।

युवराज ने कहा कि भारतीय चयनर्कताओं ने हरभजन, वीरेन्द्र सहवाग, जहीर, गंभीर और मुझ जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की जगह युवा प्रतिभओं को मौका दिया है। विश्व कप के लिए टीम में शामिल नहीं किया जाना निराशाजनक है। लेकिन इसमें आप कुछ नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि अब मेरा पूरा ध्यान घरेलू क्रिकेट में पंजाब टीम के लिए ज्यादा से ज्यादा रन बनाने पर है। मैं रणजी ट्रॉफी में बेहतर प्रर्दशन कर वापसी के लिए पूरी कोशिश कर रहा हूं। वहीं गौतम गंभीर ने भी निराशा जताते हुए कहा कि मेरे अंदर रनों की बहुत भूख बाकी है और मैं भारत के लिए अधिक से अधिक मैच जीतना चाहता हूं, मैं टीम में नहीं चुने जाने से निराश हूं।

:
:
: