Headline • बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे को क्यो किडनैप करना चाहते थे शोएब अख्तर• सानिया मिर्जां के साथ पार्टी करना शोएब मलिक को पड़ा भारी।• केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन हुए परिजनों के गुस्से का शिकार • 17वी लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी विपक्ष पर बोले • नाना पाटेकर को क्लिन चिट मिलने पर तनुश्री दत्ता ने कहा• बीजेपी, टीएमसी के बाद अब बंगाल में कांग्रेस का नाम भी आया राजनीतिक हिंसा में• आगामी भारत और पाकिस्तान के मैच में कैसा रहेगा, मैनचेस्टर में मौसम का मिजाज• मांगो को मानने के लिए ममता सरकार को 48 घंटे का डॉक्टरों ने दिया अल्टिमेटम• इतनी फिल्मे करने के बाद भी क्यों सलमान खान को लगता है समीक्षको से डर !• भारत और इंग्लैड के बीच होगा फाइनल मैच: गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई• बीजेपी के सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू बजट सत्र में करेगी तीन तलाक का विरोध • 'टिकटॉक' विडियों बनाने के चक्‍कर में सलमान को लगी गोली, 2 युवक पहुंचे जेल • लोक सभा के बाद अमित शाह ने हरियाणा विजय की खास रणनीति बनाई• घट सकती है दिल्ली मेट्रों का किराया, 30 लाख से अधिक यात्रियों को फायदा• चक्रवाती तूफान 'वायु' ने अपना रास्ता बदला लेकिन एजेंसियां अलर्ट पर अभी खतरा बाकी है • महेंद्र सिंह धोनी के सेना के 'बलिदान बैज' वाले दस्तानों पर बहस तेज• अफगानिस्तान सेना के दस्ते ने आतंकी संगठन तालिबान की जेल से छुड़ाए 83 नागरिक• जगन मोहन रेड्डी ने पलटा चंद्रबाबू सरकार का फैसला, अब आंध्र प्रदेश में CBI कर सकेगी जांच• नमाज के दौरान बेकाबू कार ने भीड़ को मारी टक्‍कर हुआ हगामा • गृह मंत्रालय का प्रभार संभालते ही बीजेपी चीफ अमित शाह ऐक्शन में, जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग पर विचार• मायावती की सपा-बसपा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद अब अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, 'सभी सीटों पर अकेले लड़ेंगे उपचुनाव'• लोकसभा चुनाव प्रदर्शन से नाखुश बसपा बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा फैसला, अब लड़ेगी सभी उपचुनाव • अमेरिका को चीन की युद्ध की धमकी से पड़ोसी देश चिंतित • भारतीय वायुसेना का एएन-32 विमान लापता, वायुसेना का सर्च ऑपरेशन जारी • अमेरिका ने भारत को GSP दर्जे से किया बाहर


बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में पुलिस ने क्रिकेट में सट्टा लगाने वाले बीजेपी सभासद के बेटे समेत तीन को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मौके से 28 हजार रुपए, 8 मोबाइल फोन, कुछ पर्चियां, एक एलईडी भी बरामद की है। फिलहाल, पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है। पकड़े गए सटोरियों के दिल्ली के किसी बड़े बुकी से तार जुड़े हो सकते है।

-जानकारी के मुताबिक, नगर कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि मानसरोवर कॉलोनी के एक मकान में कुछ सटोरिये इंडिया और इंग्लैंड के बीच हो रहे मैच पर सट्टा लगा रहे हैं।

-सूचना मिलते ही सीओ सिटी और नगर कोतवाली प्रभारी, भारी पुलिसबल समेत मौके पर पहुंच गए।  

-इसके बाद पुलिस टीम जब घर के अंदर दाखिल हुई तो पुलिस को कमरे में तीन सटोरिए मिले जो फोन और पर्चीयों के जरिए कमरे से ही सारा खेल कर रहे थे।

-पुलिस ने रंगे हाथों तीनों सटोरियों को क्रिकेट पर सट्टा लगाते हुए पकड़ लिया। पकड़े गए सटोरियों में बीजेपी सभासद का बेटी अंकित शर्मा भी शामिल है। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

 

नई दिल्ली : सोशल मीडिया पर चली एक खबर ने पाकिस्तान के साथ दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों के चेहरे पर मायूसी छा दी थी। पाकिस्तान के पूर्व ऑलराउंडर अब्दुल रज्जाक की मौत की खबर सोशल मीडिया पर फैलने से लोगों के बीच चर्चा होने लगी। 

इस झूठी खबर में कहा गया कि एक दुर्घटना में अब्दुल रज्जाक की मौत हो गई है। इसके बाद फेसबुक सहित दूसरे सोशल मीडिया चैनलों पर ये खबर वायरल होने लगी। बाद में पाया गया कि यह एक झूठी ही खबर थी, लेकिन फिर भी कई लोगों ने इसे शेयर किया।

इस खबर के वायरल होने के बाद खुद अब्दुल रज्जाक सामने आए। उन्होंने ट्विटर और यूट्यूब पर एक वीडियो जारी कर इस बात की सफाई दी कि ये न्यूज फेक है। इसमें जरा भी सच्चाई नहीं है।

उन्होंने वीडियो जारी करते हुए कहा, फेसबुक पर किसी ने गलत न्यूज दे दी है। इसमें कहा गया है कि अब्दुल रज्जाक का एक्सीडेंट हो गया है। इस हादसे में उनकी मौत हो गई है। यह बहुत अफसोस की बात है। लोगों को ऐसा नहीं करना चाहिए। मैं बिल्कुल ठीक हूं।

पाकिस्तान में पहले भी क्रिकेटरें की मौत की झूठी खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी हैं। पाकिस्तानी ऑलराउंडर अब्दुल रज्जाक क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। पिछले दिनों वह आईस क्रिकेट में वीरेंद्र सहवाग और शाहिद आफरीदी के साथ खेलते नजर आए थे।

 

 बागपतः बागपत जिला जेल में पूर्वांचल के माफ़िया डॉन मुन्ना बजरंगी की दस गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। अब इस मामले में नया मोड़ आया है। हत्या से ठीक पहले जेल के अंदर ही मुन्ना का एक वीडियो सामने आया है। बताया जा रहा है कि हत्या से पहले का यह वीडियो है।

जिसमें कई पुलिस वाले भी खड़े नजर आ रहे है। रविवार रात को मुन्ना बजरंगी को बागपत जिला कारगार में शिफ्ट किया गया था। वीडियो में मुन्ना बजरंगी ऑरेंज कलर की टीशर्ट ओर लोवर पहने है। उसके इर्द-गिर्द पुलिसकर्मी ओर उसके कुछ सहयोगी खड़े हैं।

रंगदारी मामले में पेशी को लेकर मुन्ना बजरंगी को झांसी जेल से बागपत शिफ्ट किया गया था। लेकिन उससे पहले ही सोमवार सुबह कुख्यात सुनील राठी द्वारा जेल परिसर में ही उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई।

उधर, मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर मुन्ना बजरंगी का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में परिवार के लोग मौजूद थे।

 

बागेश्वरः अंडर-19 व‌र्ल्ड कप के स्टार ऑलराउंडर कमलेश नगरकोटी के गुरुवार को पैत्रिक जनपद पहुंचने पर जबर्दस्त स्वागत किया गया। नगरकोटी जब अपने पैतृक गृह जनपद बागेश्वर पहुंचे तो पहले से ही मौजूद क्रिकेट एशोसिएशन के पदाधिकारियों ने युवा क्रिकेटर का फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया। 

इस मौके पर नगरकोटी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य को रणजी क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए मान्यता मिल गई है। जिससे उत्तराखण्ड के उभरते क्रिकेटर को काफ़ी लाभ मिलेगा साथ ही यहां की प्रतिभाओं को अब आगे बढ़़ने के मौके मिलेंगे।  

वार्ता के दौरान युवा क्रिकेटर कलमेश नगरकोटी ने बताया अपने क्रिकेट के कैरियर में मैने काफ़ी संघर्ष किया। अच्छी क्रिकेट की वजह से अच्छे मुकाम में पहुंचा हूँ। 

आईपीएल में केकेआर टीम से खेलने का मौका मिला। यह मेरे लिए एक गुड चान्स साबित हुआ। आगे अभी रणजी मैच खेलने है। उसी की तैयारी कर रहा हूँ।

उन्होंने कहा कि अब उत्तराखंड राज्य में रणजी की मान्यता मिल गई। बीसीसीआई द्वारा यहां रहने वाले क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए बेहतर अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पहाड़ी जिलों में खेल सुविधाओं का अभाव है। बागेश्वर में तो एक खेल मैदान भी नहीं है। 

आज के समय मे खेलों में कैरियर की काफी बेहतर संभावनाएं है। महेंद्र सिंह धोनी, मनीष पांडे, उन्मुक्त चंद, आर्यन जुयाल जैसे खिलाड़ी यहां से निकले हैं। ये सभी राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। कमलेश को काफ़ी उम्मीदें हैं। उत्तराखण्ड राज्य से भी औऱ कई क्रिकेट प्रतिभाएं निकलेंगी जो राष्ट्रीय-अन्तरराष्ट्रीय जगत में अपना लोहा मानवाएंगी।

 

नई दिल्लीः महिला टी-20 क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर की डिप्टी डीएसपी की कुर्सी अब चली गई है। पंजाब सरकार ने उनसे डिप्टी एसपी रैंक छीन ली है। अब उन्हें कांस्टेबल की नौकरी मिल सकती है। दरअसल, जांच में उनकी स्नातक की डिग्री फर्जी पाई गई है। खबरों की मानें तो हरमनप्रीत से अर्जुन अवॉर्ड भी छिन सकता है। 

बता दें कि पंजाब के मोगा की रहने वाली हरमनप्रीत ने 1 मार्च, 2018 को डिप्टी एसपी पद पर जॉइन किया था। 

उन्होंने जॉइनिंग के वक्त जिस चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी, मेरठ से जारी स्नातक की डिग्री जमा की थी, उसे फर्जी बताया गया है। इस संदर्भ में पंजाब सरकार ने हरमनप्रीत को चिट्ठी लिखी कि आपकी क्वॉलिफिकेशन सिर्फ 12वीं तक ही मान्य है, ऐसे में आपको कांस्टेबल की नौकरी मिल सकती है।

पंजाब के एक अधिकारी ने बताया कि मौजूदा शैक्षिक योग्यता के हिसाब से उन्हें को डीएसपी की रैंक नहीं मिल सकती। पंजाब पुलिस के नियम 12 वीं पास शख्स को डिप्टी एसपी बनाने की इजाजत नहीं देते। 

दूसरी ओर, हरमनप्रीत के मैनेजर की ओर से कहा गया है कि उन्हें इस तरह को कोई भी लेटर नहीं मिला है। साथ ही उन्होंने डिग्री फर्जी होने पर सवाल किया है कि यही डिग्री रेलवे में भी जमा की थी तो यह फर्जी कैसे हो सकती है? 

इस मामले में एक और बात सामने आ रही है। वह यह कि अगर पंजाब पुलिस हरमनप्रीत के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करती है तो उनसे अर्जुन अवॉर्ड छिन सकता है। हालांकि, इस बारे में पंजाब सरकार की ओर से अभी तक कुछ नहीं कहा गया है। हरमन इससे पहले इंडियन रेलवे में कार्यरत थीं। 

:
:
: