Headline • IPL 2019: 'मांकड़िंग' का शिकार हुए जोस बटलर • दिल्ली का नागरिक पाकिस्तानी आईएसआई के संपर्क में• अफगानिस्तान में हवाई हमला 13 लोग की मौत जिसमें 10 बच्चे शामिल• राहुल गांधी का ऐलान सरकार बनी तो गरीबों को देंगे 72 हजार सालाना• बुमराह के कंधे में लगी चोट, बढ़ सकती है मुंबई की मुश्किले• फर्जी हैं अक्षय की फिल्म में दिखाई गई कु़छ चीजें • अमेरिका की पाकिस्तान को चेतावनी भारत पर आतंकी हमला बहुत परेशानी लेकर आएगा• लोकसभा चुनाव 2019 का बीजेपी मिशन• भाजपा छत्तीसगढ़ में मौजूदा सांसदों का टिकट काटेगी• बीजेपी को हराने के लिए हमारे पास एक सामान्य लक्ष्य: प्रियंका गांधी • भगोड़े नीरव मोदी को लंदन पुलिस ने किया गिरफ्तार भारत को थी तलाश • दबाव झेल रहे चीन ने पहली बार माना मुंबई हमले को सबसे कुख्यात आतंकवादी हमला• CRPF के जवानों पर नक्‍सलियों का हमला मुठभेड़ में एक जवान शहीद • गोवा के नए सीएम बने प्रमोद सावंत• टोटल धमाल'की छपर फाड कमाई अभिताभ बच्चन की 'बदला' भी टक्कर में • न्यूजीलैंड की मस्जिदों के हमलावर को कोर्ट में किया पेश • मनोहर पर्रिकर के निधन के कुछ घंटों बाद ही गोवा में सियासी घमासान तेज• भारतीय वनडे टीम से बाहर होने पर आर अश्विन की नाराजगी• इस बार भी वर्ल्‍ड कप से पहले सीरीज हारना क्‍या रहेगा टीम इंडिया के लिए लकी• 17 साल बाद चीन को लगा बड़ा झटका आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर• एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान के साथ साथ भारत के भी कु़छ नेता परेशान: राजनाथ सिंह• कंगना रनौत की नाराजगी पर आमिर खान ने दिया बयान• सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मे क्रिकेटर श्रीसंत को दी राहत • न्यूजीलैंड की मस्जिदों में ताबातोड़ फायरिंग 40 की मौत 27 घायल • UNSC में मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चीन ने लगाया वीटो


नई दिल्लीः एशिया कप 2018 के फाइनल मुकाबले में शानदार शतक बनाकर बांग्लादेश के ओपनर लिटन दास ने सबकी नजरें अपनी ओर आकर्षित की। लिटन दास का नाम बांग्लादेश के साथ एशिया के दूसरे देशों में भी पॉपुलर हो गया। 

लिटन दास सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव हैं। लिटन दास की फेसबुक पोस्ट पर इतना विवाद हुआ था कि उन्हें कहना पड़ा था कि ’मेरी पहली पहचान यह है कि मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता।

यह पोस्ट दुर्गा पूजा से जुड़ी हुई थी। यह घटना अक्टूबर 2015 की है। लिटन ने अपनी पोस्ट के जरिये अपने फैंस को दुर्गा पूजा की शुभकामनाएं दी थीं लेकिन कुछ यूजर्स ने उन्हें निशाना बनाया था।

एक यूजर ने तो यहां तक लिख दिया था, “मैं आपसे (लिटन से) कह रहा हूं कि इस तरह की धार्मिक पोस्ट न करिए। एक यूजर ने उनसे इस पोस्ट को हटाने के लिए कहा था।

अपने तर्क में उस यूजर का कहना था कि इस्लाम में मूर्ति पूजा को स्थान नहीं है। बाद में विवाद बढ़ने पर दास ने पोस्ट डिलीट करते हुए लिखा था, ’मेरी पहली पहचान यह है कि मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता।

13 अक्टूबर 1994 को बांग्लादेश के दिनाजपुर में जन्मे लिटन दास का पूरा नाम लिटन कुमार दास है. उनके पिता बच्चा दास स्वर्णकार हैं। वह दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और विकेटकीपर भी हैं।

लिटन भारत के खिलाफ बहुत खेलते हैं. उन्होंने जून 2015 में भारत के खिलाफ टेस्ट और वनडे में डेब्यू किया था। बांग्लादेश के कई अखबारों ने लिटन दास को देश का भविष्य बताया है। फाइनल मैच में 117 गेंद में 121 रन की शानदार पारी खेली थी, जिसमें 4 छक्के शामिल थे। 

लिटन ढाका के प्रसिद्ध स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट बीकेएसपी के प्रोडक्ट हैं। इस इंस्टीट्यूट से ही शाकिब अल हसन, महमूदुल्लाह, मुशफिकर रहमान जैसे कई अंतरराष्ट्रीय स्टार निकले हैं। 

 

संबंधित समाचार

:
:
: