Headline • PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित • आंध्र प्रदेश में PM का विरोधी पोस्टरों से स्वागत, उपवास पर बैठे चंद्रबाबू नायडू • J&K: हिमस्‍खलन के बाद फसे पुलिसकर्मियों की तलाश जारी • SC ने तेजस्वी यादव को पटना में सरकारी बंगला खाली करने का दिया आदेश • इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के राज्य कर्मचारियों की हड़ताल को अवैध ठहराया • राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर PM मोदी पर सादा निशाना • ममता के धरने में शामिल होने वाले अधिकारियों पर गिर सकती है गाज• मुजफ्फरपुर आश्रय गृह में यौन उत्पीड़न: सुप्रीम कोर्ट ने बिहार से दिल्ली ट्रांसपर किया मामला• शेर से भिड़ा युवक, आत्मरक्षा के लिए शेर को ही मार डाला• PM मोदी 15 फरवरी को पहली स्वदेशी इंजन रहित वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी • मनी लॉन्ड्रिंग केस: रॉबर्ट वाड्रा आज फिर पहुंचे ED दफ्तर• सुष्मिता ने चुनरी चुनरी सॉन्ग पर दूल्हा और दुल्हन के साथ किया जमकर डांस • किम जोंग और डोनाल्ड ट्रंप की दूसरी शिखर वार्ता 27-28 फरवरी को वियतनाम में


वाराणसी: विश्व पटल पर भारत का मान बढ़ाने वाली काशी की गोल्डन गर्ल पूनम यादव के स्‍वागत में शुक्रवार को जहां वाराणसी की जनता ने पलक बिछा लिया था, वहीं शनिवार को काशी की इस बिटिया पर कुछ दबंगों ने हमला बोल देश को शर्मसार कर दिया।

दरअसल वाराणसी के रोहनिया थानाक्षेत्र स्‍थित अपनी बुआ से मिलने उनके घर पहुंचीं वेट लिफ्टर पूनम यादव के रिश्तेदारों पर कुछ लोगों ने हमला बोल दिया। हमले में उनके साथ मौजूद परिजन घायल हो गये हैं वहीं पूनम के साथ भी हाथापाई हुई ।

पूनम ने जब इसकी शिकायत डॉयल 100 पर की तो मौके पर दबंग पूनम से हाथापाई करने में जरा भी नहीं हिचकिचाए। मामला पुराने ज़मीनी विवाद का बताया जा रहा है। 

शुक्रवार को देश का मान बढाकर काशी पहुंची गोल्डन गर्ल को वाराणसी के रोहनिया थाने में अपनी सुरक्षा की गुहार लगानी पड़ी। आस्ट्रेलिया के गोलकोस्ट में 69 किलो भार वर्ग में भारत के लिए गोल्ड मैडल जीत पूनम यादव अपने घर वाराणसी पहुंची थीं। 

जीत का जश्न मनाने पूनम यादव और उसके परिवार के परिजन पूनम की बुआ के घर पहुंचे। बुआ के घर पर जीत का जश्न मानाने के मनाने के बाद पूनम और उसके परिवार के सदस्य जैसे ही निकले वैसे ही गावं के दबंगो ने पूनम के बुआ और परिजनों को मारने लगे। परिजनों को पीटता देख पूनम ने डॉयल 100 पर पुलिस को सूचना दिया, जिसके बाद दबंगों ने पूनम से हाथापाई करने लगे। 

इस सम्बन्ध में पूनम यादव के परिजनों ने बताया की कल जब पूनम शहर आयी तो उसकी रोहनिया थानांतर्गत मुंगवार की रहने वाली बुआ मंजू यादव मिलने नहीं आ पाई थीं। पूनम आज अपनी बुआ से मिलने मुंगवार गांव पहुंची थीं। उसी समय बुआ के पड़ोसियों ने उनके ऊपर हमला बोल दिया।

किसी तरह वो खुद को बचाकर रोहनिया थाने पहुंचीं। आरोप है कि थाने से पुलिस फ़ोर्स लेकर वापस जब पूनम मु्ंगवार गाँव आयीं, तो ग्राम प्रधान ने गोलबंदी करवाकर एक बार फिर हमला करवाया। जिसमें लोगों ने पूनम के साथ हाथापाई की गयी। इस दौरान पूनम के साथ मौजूद नेशनल स्तर के पहलवान राम आसरे का भी सिर फूटा है। इसके अलावा 4 अन्य लोग भी घायल हुए हैं। 

गोल्ड मैडल जितने वाली पूनम यादव इस घटना से सहमी हुई हैं।  पूनम यादव का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि उनके साथ ऐसा क्यों हुआ लेकिन जब मै अपनी बुआ के घर से निकलीं तब कुछ लोगो ने मेरे परिजनों पर हमला कर दिया। मौके पर ऐसा लग रहा था कि मुझे जान से मारने के लिए पूरा गांव ही टूट पड़ा हो ।  जैसे तैसे मैंने अपने बुआ के छोटे बच्चो को बचाया। 

प्रशासन की माने तो दोनों पक्षों में जमीन को लेकर विवाद हुआ था, जिसे लेकर आज दोनों पक्षों में झगड़ा हुआ। क्षेत्राधिकारी अंकिता सिंह ने बताया कि पूनम की बुआ ने हाल ही में एक ज़मीन का बैनामा लुलुर यादव से करवाया था। उसपर जब बिजली का कनेक्शन लिया जाने लगा तो पता चला की अभी ज़मीन का बंटवारा नहीं हुआ है, तो उसपर बिजली का कनेक्शन नहीं हो पायेगा। इसके बाद पूनम की बुआ के परिवार और ज़मीन बेचने वाले परिवार में विवाद हुआ था।

अंकिता सिंह ने बताया कि इस पूरे मामले में पूनम यादव का कोई विवाद नहीं था मात्र वह उस दौरान अपनी बुआ के घर पहुंची थीं हलाकि इस पूरे विवाद में पूनम यादव को चोट नहीं आयी  है। 

 

संबंधित समाचार

:
:
: